Connect with us

Uncategorized

थुम्हानी नदी की वजूद बचाने की कवायद नदारद,आंख मूंदी सरकार, आर्थिक नुकसान झेलते किसान

Published

on

थुम्हानी नदी की वजूद बचाने की कवायद नदारद,आंख मूंदी सरकार, आर्थिक नुकसान झेलते किसान

बेनीपट्टी रिपोर्टर, देशज टाइम्स/मधुबनी ब्यूरो। अस्सी के दशक में किसानों के लिए वरदान थुमहानी नदी विभागीय अनदेखी के कारण अस्तित्व को खो रहा है। अधवारा समूह के इस नदी से क्षेत्र के हजारों किसान नदी के किनारे हरी सब्जी के साथ तरबूज व खीरे की बहुतायत खेती कर अपना आर्थिक विपन्नता को चुनौती दे रहे थे।

किसानों की माली स्थिति नदी के कारण बदल गयी थी। उक्त अस्सी दशक के बाद अचानक ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गयी कि नदियों की उड़ाही तो दूर नदी को एक मायनो में भुला ही दिया गया। फलस्वरूप,नदी धीरे-धीरे नाले में परिणत होने लग गयी। नदी के अस्तित्व खत्म होने पर इस क्षेत्र के अधिकांश सब्जी उत्पादक किसान खेती के मूल सिद्धांत को त्याग कर धान व गेंहू की खेती की ओर रुख कर लिया।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

वहीं दर्जनों किसान खेती को छोड़कर दूसरे प्रदेश पलायन कर गए। आज स्थिति है कोरिया टोल के अधिकांश घरों के कमाऊ लोग घर से बाहर रह आजीविका चलाने के लिए मजबूर हो गए। स्थानीय किसान भुवनेश्वर महतो,ललित महतो,जग्गनाथ महतो,अजय ठाकुर, रामगुलाम महतो सहित कई किसानों ने बताया कि नदी का जब स्वर्णिम काल था, तब पटवन की समस्या नहीं थी।

उक्त समय हर खेत में सब्जी के साथ धान व रबी फसल का उत्पादन उत्साहवर्धक था। अस्सी दशक के बाद जहां लोगों ने नदी के किनारे का अतिक्रमण करना शुरु कर दिया। वहीं नदी का उड़ाही नहीं होने के कारण नदी नाले के रुप में तब्दील होने लगी। स्थिति ये है कि आज दूर से नदी के पेट को देख कह नहीं सकता है कि उक्त भाग थुम्हानी नदी का अंदरुनी भाग है।

अधवारा समूह की थुम्हानी नदी नेपाल के सीधे पहाड़ियों से निकल कर मधुबनी के विभिन्न जगहों से गुजरती है। थुम्हानी नदी क्षेत्र के हमेशा वरदान साबित होती रही है। नदी खनुआ टोल से गुजरते हुए सीधे उच्चैठ तक पहुंचती है। किसानों ने बताया कि नदी की उड़ाही हो तो क्षेत्र पुनः हरियाली से भर जाएगी।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

Good news for Darbhanga students: 4 जनवरी से खुलेंगे 9वीं से 12वीं तक के सभी विद्यालय

Published

on

Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम व बचाव को लेकर 25 मार्च 2020 से बंद किए गए 9वीं से 12वीं तक के सरकारी विद्यालयों के छात्रों के लिए अच्छी खबर है। 04 जनवरी 2021 से वैसे सभी विद्यालयों को पुनः (Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4) खोला जा रहा है।

जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एस एम की अध्यक्षता में उनके कार्यालय प्रकोष्ठ में ऐसे विद्यालयों को खोलने की तैयारी को लेकर बैठक की गई।
बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि नौवीं से बारहवीं तक के सभी सरकारी माध्यमिक/ उच्च माध्यमिक विद्यालयों को 04 जनवरी 2021 से चालू करने का निर्देश प्रधान सचिव, शिक्षा विभाग, बिहार की ओर से जारी (Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4) किया गया है।

जारी आदेश में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के सभी सरकारी माध्यमिक/ उच्च माध्यमिक Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4)  विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु दो-दो वासेबुल मास्क जीविका के माध्यम से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

दरभंगा के जिला प्रोग्राम प्रबंधक, जीविका को 31 दिसंबर 2020 तक 2 लाख 40 हजार 468 मास्क, 1 लाख 20 हजार 234 छात्र-छात्राओं Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4)  के लिए उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

सीआर सी के माध्यम से 03 जनवरी 2021 तक इन विद्यालयों के सभी छात्र-छात्राओं को मास्क उपलब्ध करा दिया जाएगा। बैठक में डीपीएम जीविका ने बताया कि उनके पास मास्क उपलब्ध हैं और शिक्षा विभाग को मास्क Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4) उपलब्ध करा दिया जाएगा।

जिलाधिकारी डॉ.त्यागराजन एसएमने खुलने वाले सभी विद्यालयों की साफ-सफाई एवं सैनिटाइज कराने के निर्देश दिए तथा डीपीएम, जिला स्वास्थ्य समिति को भी समन्वय स्थापित कर इसे करवाने को Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4)  कहा गया।

बैठक में उप विकास आयुक्त तनय सुल्तानिया, उप निदेशक Good news for Darbhanga students: All schools from 9th to 12th will open from January 4)  जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन दरभंगा संजीव कुमार सिन्हा, जिला शिक्षा पदाधिकारी डॉ महेश प्रसाद सिंह, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी कन्हैया कुमार देव, डी पी एम स्वास्थ्य विशाल कुमार उपस्थित थे।

Continue Reading

Uncategorized

NH 57 पर ट्रक ने सड़क किनारे बैठेे 6 लोगों को कुचला, 2 की मौत, 6 गाड़ियां आपस में टकराईं

Published

on

madhubani-two-persons-killed-in-road-accident-on-nh-57-highway-due-to-fog-

मधुबनी, देशज न्यूज। स्थानीय फुलपरास थाना क्षेत्र में  गुरुवार की कोहरे के कारण ट्रक ने सड़क किनारे बैठे दो लोगों समेत छह लोगों को कुचल दिया इस भीषण सड़क हादसे में दो लोगों की मौत घटनास्थल पर ही गई है। चार अन्य जख्मी हें। इसमें दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार फुलपरास थाना इलाके में एनएच-57 पर कोहरे से लोहिया चौक के पास सुपौल से दरभंगा जा रही बस में पीछे से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी। इससे ट्रक बेकाबू होकर सड़क किनारे बैठे लोगों को रौंदते पास की दुकान में घुस गया।

इसी बीच सड़क पर पीछे से आ रही आधा दर्जन से ज्‍यादा गाड़ियां एक दूसरे से टकरा गईं। दो लोगों की मौत मौके पर ही हो गई दोनों लोग  फुलपरास प्रखंड के निवासी राजा मिश्र व जोगी यादव थे।

मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को फिलहाल फुलपरास अनुमंडल अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं, सड़क दुर्घटना के बाद लोहिया चौक के पास एनएच -57 पर जाम की स्थिति है। पुलिस और प्रशासन जुटी है।

Continue Reading

Uncategorized

Covid19: WHO का इस दवा को लेकर चेतावनी, कहा-मरीजों के ठीक होने के नहीं कोई सबूत

Published

on

Covid19: WHO का इस दवा को लेकर चेतावनी, कहा-मरीजों के ठीक होने के नहीं कोई सबूत

नई दिल्ली, देशज न्यूज। दुनिया में फैली महामारी के बीच तमाम देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। ऐसे में कई वैक्सीन ऐसे हैं जो अपने तीसरे और अंतिम चरण के ट्रायल में पहुंची चुकी हैं।

लेकिन अबतक वैक्सीन के स्थान पर एक विकल्प के रूप में एंटी वायरल दवा रेमडेसिवीर को अपनाया जा रहा है. हालांकि अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस दवा के इस्तेमाल को लेकर आगाह किया है. संगठन का दावा है कि इस दवा से हल्के या गंभीर लक्षण वाले कोरोना मरीजों के ठीक होने के किसी प्रकार के सबूत नहीं मिले हैं।

संगठन ने अपने नई दिशानिर्देश में कहा कि पैनल को रेमडेसिवीर के बाबत किसी प्रकार के सबूत नहीं मिला है, ताकि ये पता चल सके कि इस दवा के इस्तेमाल के बाद मृत्युदर में कमी आई हो या फिर मरीजों को मैकेनिकल वेंटिलेशन की जरूरत हुई हो।

बता दें कि इस एंटी वायरल दवाई को सबसे पहले इबोला वायरस के इलाज के लिए बनाया गया था, लेकिन इस दवा को इबोल के इलाज में ज्यादा सफलता नहीं मिली।

हालांकि कोरोना महामारी फैलने के बाद इस दवा का इस्तेमाल कोरोना के मरीजों पर किया जाने लगा. कुछ मामलों में रेमडेसिवीर के परिणाम काफी अच्छे भी आए थे। इस कारण दुनियाभर के कई देशों में इस दवा के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई थी। हालांकि इन दवाओं का इस्तेमाल केवल अपातकालीन अवस्थाओं में ही करने की मंजूरी मिली थी।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: