Connect with us

Uncategorized

Covid19: WHO का इस दवा को लेकर चेतावनी, कहा-मरीजों के ठीक होने के नहीं कोई सबूत

Published

on

Covid19: WHO का इस दवा को लेकर चेतावनी, कहा-मरीजों के ठीक होने के नहीं कोई सबूत

नई दिल्ली, देशज न्यूज। दुनिया में फैली महामारी के बीच तमाम देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। ऐसे में कई वैक्सीन ऐसे हैं जो अपने तीसरे और अंतिम चरण के ट्रायल में पहुंची चुकी हैं।

लेकिन अबतक वैक्सीन के स्थान पर एक विकल्प के रूप में एंटी वायरल दवा रेमडेसिवीर को अपनाया जा रहा है. हालांकि अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस दवा के इस्तेमाल को लेकर आगाह किया है. संगठन का दावा है कि इस दवा से हल्के या गंभीर लक्षण वाले कोरोना मरीजों के ठीक होने के किसी प्रकार के सबूत नहीं मिले हैं।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

संगठन ने अपने नई दिशानिर्देश में कहा कि पैनल को रेमडेसिवीर के बाबत किसी प्रकार के सबूत नहीं मिला है, ताकि ये पता चल सके कि इस दवा के इस्तेमाल के बाद मृत्युदर में कमी आई हो या फिर मरीजों को मैकेनिकल वेंटिलेशन की जरूरत हुई हो।

बता दें कि इस एंटी वायरल दवाई को सबसे पहले इबोला वायरस के इलाज के लिए बनाया गया था, लेकिन इस दवा को इबोल के इलाज में ज्यादा सफलता नहीं मिली।

हालांकि कोरोना महामारी फैलने के बाद इस दवा का इस्तेमाल कोरोना के मरीजों पर किया जाने लगा. कुछ मामलों में रेमडेसिवीर के परिणाम काफी अच्छे भी आए थे। इस कारण दुनियाभर के कई देशों में इस दवा के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई थी। हालांकि इन दवाओं का इस्तेमाल केवल अपातकालीन अवस्थाओं में ही करने की मंजूरी मिली थी।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

दरभंगा संस्कृत विवि के वीसी से सुखद वार्ता के बाद अब सपरिवार गुरुवार से आमरण अनशन पर नहीं बैंठेंगे मधुबनी ईशहपुर नंदन संस्कृत कॉलेज के सहायक प्राचार्य डॉ.काशीनाथ झा

Published

on

दरभंगा संस्कृत विवि के वीसी से सुखद वार्ता के बाद अब सपरिवार गुरुवार से आमरण अनशन पर नहीं बैंठेंगे मधुबनी ईशहपुर नंदन संस्कृत कॉलेज के प्राचार्य डॉ.काशीनाथ झा

वार्ता के बाद आमरण अनशन स्थगित
दरभंगा। संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. शशिनाथ झा की मौजूदगी में अन्य पदाधिकारियों से संतोषजनक वार्ता के बाद नंदन संस्कृत महाविद्यालय, ईशहपुर मधुबनी के सहायक प्राचार्य डॉ. काशीनाथ झा ने आमरण अनशन को स्थगित कर दिया है।

अपने वर्षों से अवरुद्ध वेतन भुगतान के लिए पीड़ित डॉ. झा कल 25 फरवरी यानी गुरुवार से अपने परिवार के अन्य सदस्यों संग विश्वविद्यालय परिसर में आमरण अनशन पर बैठने वाले थे।  इस आशय की सूचना उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को पहले ही दे रखी थी।

उक्त आशय की जानकारी देते हुए पीआरओ सह उपकुलसचिव प्रथम निशिकांत ने बताया कि डॉ काशीनाथ झा से विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा बुधवार-24 फरवरी को हुई वार्ता के दौरान उनके अवरुद्ध वेतन भुगतान की समस्या का जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया गया।

इस पर डॉ. काशीनाथ ने अपनी सहमती जताई और साथ ही 25 फरवरी से प्रस्तावित अनशन को तत्काल स्थगित करने का आश्वाशन दिया।
द्विपक्षीय वार्ता में कुलपति के अलावा कुलानुशासक डॉ. श्रीपति त्रिपाठी, कुलसचिव डॉ. शिवा रंजन चतुर्वेदी, प्रशाखा पदाधिकारी लेखा विनय मिश्र एवं डॉ. काशीनाथ झा उपस्थित थे।

Continue Reading

Uncategorized

बिहार में आगामी पंचायत चुनाव में 800 मतदाताओं पर एक मतदान केंद्र का गठन

Published

on

Formation of one polling station for 800 voters in panchayat

पटना। बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पंचायत आम चुनाव, 2021 को लेकर 800 मतदाताओं पर एक मतदान केंद्र  का गठन किया जाएगा। हाल ही में संपन्न, बिहार विधानसभा आम चुनाव के दौरान भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कोरोना महामारी को देखते हुए एक हजार मतदाताओं पर एक बूथ का गठन किया गया था।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक दो मार्च 2021 को पंचायत आम चुनाव को लेकर सभी बूथों की सूची का अंतिम प्रकाशन होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने 20 जनवरी से 27 जनवरी, 2021 तक पूर्व अनुमोदित प्रत्येक मतदान केंद्रों के भौतिक सत्यापन करने का निर्देश दिया था। बूथों की सूची के प्रारूप का प्रकाशन 28 जनवरी से 11 फरवरी के बीच किया गया। जबकि आपत्तियों का निपटारा 29 जनवरी से 13 फरवरी तक किए जाने का निर्देश दिया गया था। 15 फरवरी तक संशोधित एवं परिवर्द्वित सूची को अनुमोदन के लिए आयोग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया था। अब 17 फरवरी से 24 फरवरी तक मतदान केंद्रों की सूची पर आयोग द्वारा अनुमोदन का कार्य किया जाएगा। जबकि सभी बूथों की सूची की छपाई 25 फरवरी से 01 मार्च तक किया जाना है।

 वर्ष 2016 में हुए पंचायत चुनाव में एक लाख 19 हजार बूथों का हुआ था गठन

राज्य में वर्ष 2016 में हुए पिछले आम चुनाव में एक लाख 19 हजार बूथों का गठन किया गया था। इन बूथों का गठन 700 मतदाताओं के आधार पर किया गया था। इस प्रकार, इस बार एक सौ मतदाता हर बूथ पर बढ़ाए जाएंगे।

Continue Reading

Uncategorized

बिहार में बदला मौसम का मिजाज, ठंडी हवाओं के बीच बूंदा-बांदी, रविवार को भी होगी हल्की बारिश, खिलेगी धूप भी, चलेगी सर्द हवाएं भी हल्के-हल्के

Published

on

बिहार में बदला मौसम का मिजाज, ठंडी हवाओं के बीच बूंदा-बांदी, रविवार को भी होगी हल्की बारिश, खिलेगी धूप भी, चलेगी सर्द हवाएं भी हल्के-हल्के

पटना, देशज न्यूज। बिहार में मौसम अपने पूर्वानुमानों पर बिल्कुल खरा उतरा है। शनिवार की अहले सुबह से ही राजधानी पटना ,गया, मुजफ्फरपुर, भागलपुर सहित राज्य के अन्य हिस्सों में आसमान बादलों से ढका रहा ठंडी हवाओं के बीच रुक-रुक कर बूंदाबांदी होती रही ।

उत्तर बिहार में पूर्वी उत्तर प्रदेश में बने चक्रवात का प्रभाव दिखा। यहां भी बूंदाबांदी सुबह से जारी है। तेज हवा भी चल रही है। इसकी वजह से तापमान में कमी महसूस की जा रही है। आज सुबह से ही मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर में बूंदाबांदी होती रही जो 11 बजे तक चली।इससे लोगों को ठंड का एहसास हुआ। मौसम विभाग ने भी बूंदाबांदी की संभावना जताई थी। हालांकि चंपारण में सुबह आठ बजे ही बारिश बंद हो गई है। पश्चिम चंपारण में मौसम साफ है। अभी धूप खिली है।

पूर्वी चम्पारण में शुक्रवार को मामूली बूंदाबांदी के बाद शनिवार को मौसम साफ है। अभी तक धूप नहीं खिली है। ठंड के कहर में भी थोड़ी कमी आई है। अभी का तापमान 14 डिग्री सेल्सियस बताया गया है।बीते तीन दिनों में तेज धूप की गर्माहट से लोगों को ठंड से काफी राहत मिली थी। दिन का तापमान पिछले एक सप्ताह पूर्व जहां 16 से 17 डिग्री सेल्सियस तक रह रहा था वह बीते 3 दिनों में ऊपर चढ़ते हुए 24 से 25 डिग्री सेल्सियस तक गया था।

गया में बीते 72 घंटे पूर्व मौसम विज्ञानी डॉ. जाकिर हुसैन ने पांच और छह फरवरी को आसमान में आंशिक बादल छाए रहने का पूर्वानुमान बताया था। साथ ही हल्की बारिश अथवा बूंदाबांदी के भी आसार जताए थे। वह सच हुई। मौसम अपने अनुरूप अपना प्रभाव दिखाया है। आसमान में बादल छाने और ठंडी हवाओं के चलने से गया जिले में एक बार फिर से ठंड ने दस्तक दे दी है।  न्यूनतम तापमान भी सामान्य के आसपास पहुंचने की स्थिति में थी। इसी बीच बदले हुए मौसम ने एक बार फिर से गया जिला वासियों को ठंड के बीच ठिठुरने को मजबूर कर दिया है।

गया के मौसम विज्ञानी डॉ जाकिर हुसैन ने कहा कि आसमान में आंशिक बादल छाए रहेंगे। उन्होंने बताया कि रविवार को भी मौसम कुछ इसी तरह से रहने का अनुमान है। खिली धूप अभी उस तरह से नहीं निकलेगी। ठंडी हवा भी परेशान करेगी।

Continue Reading

लोकप्रिय

%d bloggers like this: