Connect with us

Technology

IIT Delhi की कोरोना जांच किट, 650 रुपए कीमत, तीन घंटे में रिजल्ट, मेक इन इंडिया का जलवा

Published

on

IIT Delhi की कोरोना जांच किट, 650 रुपए कीमत, तीन घंटे में रिजल्ट, मेक इन इंडिया का जलवा

नई दिल्ली, देशज न्यूज। आईआईटी IIT दिल्ली ने एक नई टेस्टिंग किट को लॉन्च किया (iit-delhi-iit-delhi-coronavirus-testing-kit-low-price-rate-india) है। इस टेस्टिंग किट को बुधवार को लॉन्च किया गया है, जो सस्ते दामों में जल्द ही मार्केट में उपलब्ध होगी।

इससे मेक इन इंडिया मुहिम को काफी फायदा होगा। यह बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है।(iit-delhi-iit-delhi-coronavirus-testing-kit-low-price-rate-india) आईआईटी दिल्ली की ओर से  टेस्टिंग किट लॉन्च की गई है जिसकी कीमत काफी कम है।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत बनी इस किट इस किट से तीन घंटे के (iit-delhi-iit-delhi-coronavirus-testing-kit-low-price-rate-india)  अंदर कोरोना वायरस टेस्ट का रिजल्ट सामने आ जाएगा। इसकी कीमत सिर्फ 399 रुपए है।

वैसे, बाजार पहुंचने के बाद  इसकी कीमत 650 रुपए तक हो जाएगी। IIT दिल्ली का दावा  है, इस किट से तीन घंटे के अंदर कोरोना वायरस टेस्ट का रिजल्ट सामने आ जाएगा।  ऐसे में, अगर ये सफल होती है तो टेस्टिंग के मामले में (iit-delhi-iit-delhi-coronavirus-testing-kit-low-price-rate-india)  एक बड़ी सफलता मिल सकती है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Technology

आज पृथ्वी के पास से गुजरेगा बड़ी बस के आकार का क्षुद्रग्रह, जानिए क्या कह रहा है नासा

Published

on

आज पृथ्वी के पास से गुजरेगा बड़ी बस के आकार का क्षुद्रग्रह, जानिए क्या कह रहा है नासा
आज पृथ्वी के पास से गुजरेगा बड़ी बस के आकार का क्षुद्रग्रह, जानिए क्या कह रहा है नासा

नई दिल्ली, देशज न्यूज। आज सौरमंडल में एक और क्षुद्रग्रह हमारी पृथ्वी के पास से होकर गुजरने वाला है। यह बात नासा ने कही है। वैसे, सौर मंडल में क्षुद्रग्रह का पृथ्वी के पास से गुजरना व पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से खिंच कर पृथ्वी पर आना कोई बड़ी बात नहीं है। ऐसी घटना हर साल देखने को मिल जाती है। नासा का कहना है,क्षुद्रग्रह का आकार एक बड़ी स्कूल बस के बराबर है।

नासा के अनुसार, यह क्षुद्रग्रह पृथ्वी के 13,000 मील (22,000 किमी) के पास से गुजर सकता है। नासा के जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी में सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज़ के निदेशक पॉल चोडास का कहना है, इस आकार के क्षुद्रग्रह साल में दो या उससे ज्यादा बार पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करते रहते हैं।

यह दूरी पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले कई संचार उपग्रहों के पास बताई जा रही है। वैज्ञानिकों का कहना है, आज दोपहर दक्षिण-पूर्वी प्रशांत महासागर के ऊपर से यह क्षुद्रग्रह गुजर सकता है. वैज्ञानिकों का अनुमान है कि क्षुद्रग्रह का आकार 15 फीट और 30 फीट (4.5 मीटर से 9 मीटर) के बीच है।  पृथ्वी के पास सूर्य का चक्कर लगाने वाले इन छोटे क्षुद्रग्रह की संख्या लगभग 100 मिलियन हो सकती है।

Continue Reading

Technology

मारुति ने रिकॉल की 1.34 लाख से ज्‍यादा कारें, फ्यूल पंप में ​मिली खामी,घटी जून में 54 फीसद बिक्री

Published

on

मारुति ने रिकॉल की 1.34 लाख से ज्‍यादा कारें, फ्यूल पंप में ​मिली खामी,घटी जून में 54 फीसद बिक्री

नई दिल्‍ली,देशज न्यूज। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने बुंधवार को बताया कि उसने 1,34,885 वैगनआर और बलेनो मॉडल की कारें (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR) वापस मंगाई (रिकॉल की) हैं।

 

एमएसआई ने कहा कि उसके ईंधन (फ्यूल) पंप में खामी मिली है, जिसे जांच के बाद बदलकर कंपनी देगी। इसके लिए कंपनी के अधिकृत डीलर्स की ओर से संबंधित कार मालिक से संपर्क किया (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR)  जाएगा।

एमएसआई ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है वह स्वैच्छिक तौर पर ये काम कर रही है। कंपनी ने बताया है कि उसने 15 नवंबर, 2018 से लेकर 15 अक्टूबर, 2019 के बीच विनिर्मित वैगन-आर (एक लीटर) (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR)  और 8 जनवरी, 2019 से लेकर 4 नवंबर, 2019 के बीच विनिर्मित बलेनो (पेट्रोल) कारों को वापस मंगाया है।

कंपनी मुफ्त में दूर करेगी यह गड़बड़ी 

कंपनी के मुताबिक इस वापसी में कंपनी के दोनों तरह के कुल 1,34,885 वाहन वापस आ सकते हैं। एमएसआई इस पहल से वैगन-आर की 56,663 इकाइयों और बलेनो की 78,222 इकाइयों में ईंधन पंप खराब होने का (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR)  मामला हो सकता है। कंपनी ने बताया कि इसमें खराब हिस्से को बिना किसी शुल्क के बदला जाएगा।


मारुति की बिक्री जून में 54 फीसदी गिरी  

मारुति सुजुकी इंडिया की जून महीने में कुल बिक्री 54 फीसदी घटकर 57,428 यूनिट रह गई थी, जबकि मारुति ने पिछले साल जून में 1,24,708 गाड़ियां बेची थीं। (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR)  वहीं, मारुति की घरेलू बिक्री जून में 53.7 फीसदी घटकर 53,139 यूनिट रही। ये आंकड़ा जून 2019 में 1,14,861 यूनिट का था।
एमआईएस ने कहा कि उसने जून में 4,289 गाड़ियों का (Maruti Suzuki to recall 1.34 lakh units of Baleno, WagonR)  निर्यात किया, जो पिछले साल के समान महीने के मुकाबले 56.4 फीसदी कम है। इसी तरह जून के दौरान मारुति की ऑल्टो और वैगनआर जैसी छोटी कारों की बिक्री 10,458 यूनिट्स रही, जो 44.2 फीसदी कमी को दर्शाती है।
Continue Reading

Technology

Technology News – NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन

Published

on

Technology News - NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन
Technology News - NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन
देशज टाइम्स, टेक डेस्क । टेक कंपनी गूगल (Google) ने डाटा की सुरक्षा को ध्यान में रखकर वीडियो कॉफ्रेंसिंग एप जूम (Zoom) पर बैन लगा दिया है। साथ ही कंपनी ने अपने कर्मचारियों को जूम एप इस्तेमाल न करने का आदेश दिया है।  गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा कि हाल ही हमारी सिक्योरिटी टीम ने कर्मचारियों से कहा है कि वे अब जूम ऐप को कॉर्पोरेट कम्प्यूटर्स पर नहीं चला पाएंगे, क्योंकि ये हमारे ऐप के सिक्योरिटी स्टैंडर्ड्स को मैच नहीं करता है। साथ ही कंपनी ने कहा कि जो लोग लैपटॉप में जूम एप का उपयोग कर रहे हैं, वह तुरंत अपने डिवाइस में से इसे डिलीट करें।

Technology News - NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन
बता दें कि नासा और स्पेस एक्स जैसी कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को जूम एप का इस्तेमाल करने से मना किया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐपल के कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं ऐसे में भविष्य के प्लान और प्रोडक्ट को लेकर भी मीटिंग्स की जा रही हैं, जिससे डाटा लीक होने का खतरा बढ़ जाता है। बता दें कि लॉकडाउन में अधिकतर लोग अपने घरों से काम कर रहे हैं।

Technology News - NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन

वहीं ऐसे में ऑफिस में होने वाली मीटिंग्स भी घरों से ही हो रही हैं। इसके साथ ही ऑनलाइन मीटिंग्स के लिए स्काइप और जूम जैसे एप्स का उपयोग हो रहा है। इसके साथ ही जूम वीडियो कॉलिंग एप को इस वक्त दुनिया के 141 देश इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन अब नासा और स्पेस एक्स जैसी कंपनियों के बाद गूगल ने भी अपने कर्मचारियों को जूम इस्तेमाल करने से साफ मना कर दिया है।

Technology News - NASA और SpaceX के बाद अब Google ने लगाया Zoom पर बैन

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: