Connect with us

Sports

Suresh Raina Retires: धोनी के बाद सुरेश रैना ने भी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

Published

on

Suresh Raina Retires: धोनी के बाद सुरेश रैना ने भी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा
Suresh Raina Retires: धोनी के बाद सुरेश रैना ने भी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी सुरेश रैना (Suresh Raina) ने भी पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बाद (MS Dhoni) अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी है. इससे पहले शनिवार यानि आज भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एवं दिग्गज विकेटकीपर खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहते हुए सबको चौका दिया.

No signs of ageing, MS Dhoni still has cricket left in him: Suresh ...

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

#BiharNews- क्रिकेट में बेगूसराय को बड़ी उपलब्धि,दीपक बने BCCI लेवल-A क्रिकेट के कोच

Published

on

#BiharNews- क्रिकेट में बेगूसराय को बड़ी उपलब्धि,दीपक बने BCCI लेवल-A क्रिकेट के कोच
प्रमाण पत्र सौंपते क्रिकेट संघ के अधिकारी

बेगूसराय, देशज ब्यूरो। क्रिकेट के क्षेत्र में बेगूसराय को एक बड़ी उपलब्धि मिली है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बेगूसराय के हरदिया निवासी दीपक कुमार को लेवल-ए का कोच बनाया है। इसके लिए सोमवार को बीसीसीआई के नेशनल क्रिकेट एकेडमी की ओर से बेगूसराय जिला क्रिकेट संघ के माध्यम से दीपक को प्रमाण पत्र सौंपा।

 

जिला क्रिकेट संघ के कार्यालय में जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष राजीव कुमार, पूर्व सचिव संजय कुमार, संयुक्त सचिव मृत्युंजय कुमार वीरेश एवं कोषाध्यक्ष राजीव रंजन कुशवाहा ने संयुक्त रूप से प्रमाण पत्र सौंपने के बाद सम्मानित भी किया गया।

जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया, बेगूसराय के लिए गौरव की बात है कि अब बीसीसीआई लेवल-ए कोच के रूप में दीपक खिलाड़ियों के बीच काम करेंगे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) एवं बिहार क्रिकेट संघ द्वारा राजगीर में बिहार के कोच के प्रशिक्षण उपरांत परीक्षा ली गई थी।biharnews-deepak became bcci level-a cricket coach
इसमें दीपक लेवल-ए कोच में उत्तीर्ण हुए और बीसीसीआई की कोचिंग संस्थान नेशनल क्रिकेट एकेडमी की ओर से प्रमाण पत्र भेजा गया। पूर्व सचिव संजय कुमार वर्तमान संयुक्त सचिव मृत्युंजय कुमार वीरेश ने कहा कि बेगूसराय जिला क्रिकेट संघ द्वारा क्रिकेट के हित को लेकर कई प्रयास किए जा रहे हैं।biharnews-deepak became bcci level-a cricket coach
कई खिलाड़ी रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे और मुस्ताक अली टूर्नामेंट में शिरकत कर रहे हैं। सुदूर गांव का रहने वाला दीपक लेवल-ए का प्रमाण पत्र ले रहा है। खिलाड़ी बीसीसीआई के टूर्नामेंट में खेल रहे हैं, कोचिंग और स्कोरिंग में आगे बढ़ रहे हैं। आने वाले समय में बेगूसराय में एक अच्छे क्रिकेट एकेडमी का निर्माण किया जाएगा।biharnews-deepak became bcci level-a cricket coach
बिहार क्रिकेट संघ द्वारा बेगूसराय क्रिकेट के डेवलपमेंट और इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए बेगूसराय जिला क्रिकेट संघ को अनुदान राशि दिया गया। biharnews-deepak became bcci level-a cricket coach
Continue Reading

Sports

आजादी की शाम धोनी का बड़ा पैगाम, कहा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा

Published

on

आजादी की शाम धोनी का बड़ा पैगाम, कहा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा
आजादी की शाम धोनी का बड़ा पैमान, कहा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा

देशज टाइम्स स्पोट्रर्स डेस्क। क्रिकेट के बादशाह भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास लेने की बात कही है।  एमएस धोनी

 

 

 

Continue Reading

Sports

इस क्रिकेटर की गरीबी में गुजरा बचपन, पिता थे चौकीदार,आज पीएम मोदी भी इन्हें कहते ‘सर’

Published

on

इस क्रिकेटर की गरीबी में गुजरा बचपन, पिता थे चौकीदार,आज पीएम मोदी भी इन्हें कहते 'सर'

इस क्रिकेटर की गरीबी में गुजरा बचपन, पिता थे चौकीदार,आज पीएम मोदी भी इन्हें कहते 'सर'भारतीय क्रिकेट का वो खिलाड़ी जिसे पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी ‘सर’ कहते हैं। यहां तक की भारत के प्रधानमंत्री भी उन्हें ‘सर जडेजा’ कहकर संबोधित कर चुके हैं। जी हां, हम बात कर रहें है, भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाइयों तक ले जाने वाले ऑल राउंडर क्रिकेटर रविंद्र जडेजा की।

 

नई दिल्ली, देशज न्यूज। रवीद्र जडे़जा एक बहुत ही गरीब परिवार से आते हैं। शुरुआती दिनों में उन्हें गरीबी का सामना करना पड़ा। उनके पिता एक निजी कंपनी में चौकीदार हुआ करते थे। इसके बाद भी, जडेजा ने अपनी कड़ी मेहनत से भारतीय टीम में जगह बनाई। रवींद्र जडेजा ने 2002 में पहली बार सौराष्ट्र की अंडर-14 टीम में महाराष्ट्र के खिलाफ मैच खेला। पहले ही मैच में उन्होंने 87 रन बनाए और 4 विकेट भी लिए। 15 साल की उम्र में ही वो सौराष्ट्र की अंडर-19 टीम में आ गए थे। इसी फॉर्मेट में उन्होंने अपने करियर की पहली सेन्चुरी भी लगाई थी।

 

<p>रवींद्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध एक निजी कंपनी में चौकीदार थे। वो अपने बेटे को आर्मी अफसर बनाना चाहते थे लेकिन रविन्द्र जडेजा का रुझान शुरू से ही क्रिकेट की ओर था।</p>
रवींद्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध एक निजी कंपनी में चौकीदार थे। वो अपने बेटे को आर्मी अफसर बनाना चाहते थे लेकिन रविन्द्र जडेजा का रुझान शुरू से ही क्रिकेट की ओर था।जडेजा की मां चाहती थीं कि बेटा क्रिकेटर बने। आर्थिक परेशानी होने के बावजूद मां का सपना पूरा करने के लिए जडेजा ने कड़ी मेहनत कर इंडियन टीम में जगह बनाई, लेकिन 2005 में एक एक्सीडेंट में उनकी मां का निधन हो गया। इससे जडेजा इतने टूट गए थे कि उन्होनें क्रिकेट छोड़ने तक का मन बना लिया था।

 

दिसंबर, 2005 में उन्होंने वर्ल्ड कप अंडर-19 टीम में जगह बना ली। यहां जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार और पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट लेकर जबरदस्त परफॉर्मेंस दी।2008 में भी जडेजा अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम के मेंबर थे। ये टीम वर्ल्ड कप चैम्पियन रही थी।  टूर्नामेंट में जडेजा ने 10 विकेट लिए थे। फरवरी, 2009 में उन्हें टीम इंडिया के लिए वनडे और फिर टी-20 खेलने का मौका मिला। जडेजा ने 2012 में टेस्ट डेब्यू किया। 2012 में जडेजा ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तीन ट्रिपल सेंचुरी लगाई। ऐसा करने वाले वें दुनिया के आठवें और पहले भारतीय क्रिकेटर बने। इसके बाद ही उन्हें ‘सर जडेजा’ कहा जाने लगा।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: