Connect with us

Ranchi

रांची में दस लाख के इनामी नक्सली जीवन कंडूलना ने किया सरेंडर,सोमवार को होगा आधिकारिक घोषणा

Published

on

Notice of surrendering prize money of 10 lakh Naxalites

रांची। प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के 10 लाख के इनामी हार्डकोर नक्सली जीवन कंडूलना के रांची पुलिस के समक्ष सरेंडर करने की सूचना है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जीवन कंडूलना मूल रूप से खूंटी जिले के रानिया थाना क्षेत्र का रहने वाला है। सूत्रों ने बताया कि 10 लाख का इनामी माओवादी जीवन कंडूलना अपने कई अन्य साथियों Notice of surrendering prize money of 10 lakh Naxalites के साथ सरेंडर किया है।

मामले को लेकर सोमवार को झारखंड पुलिस मुख्यालय में आयोजित एक Notice of surrendering prize money of 10 lakh Naxalites समारोह में जीवन कंडूलना को आधिकारिक रूप से सरेंडर कराया जाएगा। नक्सली के सरेंडर को लेकर अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। 10 लाख इनामी जीवन कंडूलना चाईबासा जिले के पोड़ाहाट के जंगल में क्षेत्र में सक्रिय था।

सूत्रों के अनुसार पोड़ाहाट के जंगल में माओवादी सुरेश मुंडा-जीवन कंडुलना का दस्ता और सारंडा में अनमोल दा, मिसिर बेसरा व मोछू उर्फ लंबू का दस्ता सक्रिय है। ये तीनों सारंडा क्षेत्र के जंगलों में भ्रमणशील हैं। Notice of surrendering prize money of 10 lakh Naxalites उल्लेखनीय है कि सरकार के सरेंडर नीति से प्रेरित होकर भाकपा माओवादी के सबजोनल कमांडर बोयदा पाहन ने बीते 13 अक्टूबर 2020 को अपने तीन साथियों के साथ रांची पुलिस के समक्ष सरेंडर किया था। कांके स्थित न्यू पुलिस लाइन में आयोजित कार्यक्रम में सामने Notice of surrendering prize money of 10 lakh Naxalites हथियार डाला था। बोयदा पाहन पांच लाख का इनामी था।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ranchi

रांची चित्रगुप्त मंदिर परिसर में मां काली और दुर्गा मंदिर में भीषण चोरी, लक्ष्मी नारायण की मूर्ति सहित दो लाख के जेवरात ले उड़े चोर

Published

on

Thieves flew with two lakh jewelery including the idol of La
रांची।  डोरंडा थाना क्षेत्र के हिनू स्थित चित्रगुप्त मंदिर परिसर में मां काली और दुर्गा मंदिर में चोरों ने गेट का ताला तोड़कर लक्ष्मी नारायण की मूर्ति सहित दो लाख रुपये के माता पर चढ़े जेवरात ले उड़े। इस संबंध में मंदिर के मुख्य पुजारी सिद्धेश्वर नाथ मिश्रा ने डोरंडा थाने में शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुजारी ने बताया कि वह शुक्रवार सुबह मंदिर में पहुंचे तो देखा कि मंदिर का ताला टूटा हुआ है। इसके बाद आसपास के लोगों को मामले की जानकारी दी।
गुरुवार की रात चोरों ने मंदिर का ताला तोड़कर घटना को अंजाम दिया है। मिश्रा ने बताया कि मंदिर से लक्ष्मी नारायण की मूर्ति, तीन नथीया, मंगटीका, तीन मुकुट , दो सोना का बिंदी और दो दान पेटी कुल दो लाख रुपये की चोरी हुई है। घटना की सूचना मिलते ही डोरंडा थाना प्रभारी रमेश कुमार सशस्त्र बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और पूरे मामले की जांच पड़ताल की। थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। आसपास के सीसीटीवी को भी खंगाला जा रहा है।
Continue Reading

Ranchi

रांची सिविल कोर्ट में 10 माह बाद लौटी रौनक, फिजिकल कोर्ट शुरू

Published

on

रांची सिविल कोर्ट में 10 माह बाद लौटी रौनक, फिजिकल कोर्ट शुरू

रांची। रांची के सिविल कोर्ट में मंगलवार को 10 माह बाद फिजिकल कोर्ट शुरू हो गया। फिजिकल कोर्ट शुरू होने के बाद कोर्ट की रौनक बढ़ गई है। कोर्ट में प्रवेश करने के मुख्य द्वार पर थर्मल स्कैनिंग (टेंपरेचर मशीन )और हैंड सेनीटाइजर रखा गया है। कोर्ट परिसर में अंदर दाखिल होने के पहले हाथ में सैनिटाइजर लगाना अनिवार्य है।

पिछले साल मार्च के बाद से पहली बार फिजिकल कोट शुरू हो रहे हैं। मुख्य द्वार के पास लगातार एनाउंसमेंट भी हो रहा है। उसने कहा जा रहा है कि फिजिकल कोर्ट की शुरुआत हो गई है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें सुरक्षित दूरी बना कर रहे अंदर प्रवेश करने पर ढेरों अधिवक्ता नजर आ रहे हैं। कोर्ट की मुख्य इमारत सीबीआई कोर्ट बिल्डिंग के बरामदे में इक्का-दुक्का लोग नजर आ रहे थे। नए बाल भवन की इमारत के ग्राउंड फ्लोर और दूसरे तल्ले में भी ढेरों अधिवक्ता नजर आए।

अधिवक्ता राकेश पांडे ने बताया कि फिजिकल कोर्ट की शुरुआत हुई है ।इससे अधिवक्ताओं का आर्थिक स्थिति में सुधार आएगी। अधिवक्ता संजय चतुर्वेदी ने बताया कि कोरोना के गाइडलाइन का पालन करते हुए काम करना है। ईश्वर के कृपा से अब फिर कोर्ट बंद ना हो।

 

कोर्ट परिसर में कोविड नियमों का हुआ उल्लंघन
रांची सिविल कोर्ट में आधे से ज्यादा अधिवक्ता और वकील बिना मास्क के ही कोर्ट परिसर में घूमते हुए दिखे। कोर्ट के मुख्य द्वार पर बकायदा रजिस्टर सैनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था तो की गई है। लेकिन कई वकीलों और कोर्ट में अपने काम के लिए आए लोगों ने ना तो थर्मल स्कैनिंग कराई ना ही सैनिटाइजर लगवाए और ना ही अपनी जानकारी रजिस्टर में लिखवाई।

रांची सिविल कोर्ट परिसर में लगभग 33 वर्षों से मोची का काम कर रहे धनेश्वर राम कहते हैं कि अपने पूरे जीवन में उन्होंने ऐसा वक्त नहीं देखा था। लेकिन अब उन्हें उम्मीद है कि फिजिकल कोर्ट शुरु होने से वकीलों के साथ साथ उनकी भी स्थिति में सुधार आएगा। कोर्ट रूम में दिखा अलग नजारा कोर्ट रूम में भी फिजिकल हेयरिंग के पहले दिन नजारा काफी अलग दिखा। अपर आयुक्त 7 विशाल श्रीवास्तव की अदालत में जिस पहले मुकदमे की सुनवाई आमने सामने की गई। वो डबल मर्डर केस के आरोपी लोकेश चौधरी से जुड़ा हुआ था। इस मामले में उनके अधिवक्ता अनंत कुमार विज ने अदालत के समक्ष अपना पक्ष रखा।

 

 वकीलों को मिली थोड़ी राहत
 अधिवक्ता अनंत विज कहते हैं कि फिजिकल हियरिंग न्यायिक प्रक्रिया की रीढ़ है और वर्चुअल कोर्ट कोविड के वक्त लगे लॉकडाउन में न्यायिक प्रक्रिया को जारी रखने की महत्वपूर्ण जरूरत। वहीं सिविल कोर्ट के कुछ अधिवक्ता मानते हैं कि फिजिकल और वर्चुअल दोनों व्यवस्थाएं एक साथ चलने से उन्हें अदालतों में पैरवी करने में थोड़ी मुश्किल आ रही है। लेकिन उन्हें इस बात से काफी राहत है कि शुरुआती दौर में कुछ अदालतों में ही सही एक बार फिर से आमने-सामने सुनवाई की जा रही है।

Continue Reading

Ranchi

कोडरमा : ट्रक से भारी मात्रा में अवैध गांजा बरामद 10 बोरे गांजे की कीमत 15 लाख, दो गिरफ्तार

Published

on

कोडरमा : ट्रक से भारी मात्रा में अवैध गांजा बरामद 10 बोरे गांजे की कीमत 15 लाख, दो गिरफ्तार

कोडरमा,देशज न्यूज।  कोडरमा पुलिस ने एक ट्रक से भारी मात्रा में अवैध गांजा बरामद किया है। बरामद 10 बोरा गांजा की कीमत 15 लाख से अधिक बताई जाती है। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कोडरमा एसपी डॉ एहतेशाम वकारीब ने रविवार को चंदवारा थाना में प्रेसवार्ता कर उक्त जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर ट्रक (पीबी23जे 7541) को मदनगुण्डी के पास रोककर जांच की गई। ट्रक की तलाशी के दौरान डाले में बने एक विशेष बॉक्स से 10 बोरे में रखे लगभग 247 किलो गांजा बरामद किया गया, जिसकी कीमत लगभग 15 लाख रुपए बताई गई है। अवैध गांजे को ट्रक में बने विशेष बॉक्स में काफी चतुराई के साथ छुपाकर ले जाया जा रहा था। थाना प्रभारी सोनी प्रताप ने इसकी सूचना विभाग के वरीय पदाधिकारी को दी।

मौके पर पहुंचे डीएसपी संजीव कुमार ने गिरफ्तार चालक व उप चालक से गांजा के संबंध में पूछताछ की। इस बाबत कोई कागजात नहीं प्रस्तुत किया गया। वहीं दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें शमशाद खान, फतेहगढ़ (पंजाब) और गुरमीत सिंह, फरीदकोट (पंजाब) शामिल हैं।

एसपी श्री वकारीब ने बताया कि गांजा को उड़ीसा के संबलपुर से आगे सोनपुर से लोड कर बिहार शरीफ ले जा रहे थे। उक्त ट्रक को जब्त कर लिया गया है। वहीं गिरफ्तार लोगों के पास से 2 मोबाइल और 8 हजार रुपये बरामद किए गए हैं। यहां उल्लेखनीय हो कि जिले में कई लोगों द्वारा अवैध तरीके से गांजा का व्यवसाय करने की जानकारी मिली है। बिहार के कई इलाकों में भी कोडरमा होकर गांजा की सप्लाई की जाती है।

Continue Reading

लोकप्रिय

%d bloggers like this: