Connect with us

Ranchi

रेलवे ने दी खुशखबरी: झारखंड, बिहार और बंगाल के लिए 15 अक्टूबर से शुरू होंगी 100 ट्रेनें

Published

on

रेलवे ने दी खुशखबरी: झारखंड, बिहार और बंगाल के लिए 15 अक्टूबर से शुरू होंगी 100 ट्रेनें
रेलवे ने दी खुशखबरी: झारखंड, बिहार और बंगाल के लिए 15 अक्टूबर से शुरू होंगी 100 ट्रेनें

रांची, देशज न्यूज। कोरोना संकट की वजह से यदि आप लंबे अरसे से घर बाहर फंस गये हैं, तो अब आपके लिए घर जाना आसान होने वाला है। भारतीय रेलवे ने आपके लिए बहुत बड़ी खुशखबरी दी है। खासकर झारखंड, बिहार और बंगाल में रहने वाले लोगों के लिए। दुर्गापूजा, दशहरा, दीपावली और छठ पर्व को देखते हुए भारतीय रेलवे ने इन तीन राज्यों को जोडऩे वाली 100 ट्रेनें चलाने का एलान कर दिया है। ट्रेनों की संख्या बढ़ भी सकती है।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वीके यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि त्योहारों के मौसम में भारतीय रेलवे 200 स्पेशल ट्रेनें चलाने जा रहा है। उन्होंने कहा कि इनमें से आधी से ज्यादा ट्रेनें बिहार, झारखंड और बंगाल को जोडऩे वाली होंगी। श्री यादव ने यह भी कहा कि अभी वह अनुमान के आधार पर बता रहे हैं कि 200 ट्रेनें चलेंगी। इसकी संख्या ज्यादा भी हो सकती है।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन श्री यादव ने जोन के महाप्रबंधकों को निर्देश दिया है कि वे स्थानीय प्रशासन के साथ मीटिंग करें। बातचीत करने के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करें और अपनी रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को सौंपें। स्थानीय प्रशासन और रेलवे के जोन महाप्रबंधकों की बैठक के बाद जो रिपोर्ट उनके पास पहुंचेगी, उसके आधार पर ही यह फैसला किया जायेगा कि फेस्टिव सीजन में कितनी स्पेशल ट्रेनें चलानी हैं।

श्री यादव ने कहा कि फिलहाल उनका अनुमान है कि करीब 200 स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि अभी यह उनका सिर्फ अनुमान है। स्पेशल ट्रेनों की संख्या और ज्यादा भी हो सकती है। भारतीय रेल कोरोना काल में इतनी ज्यादा ट्रेनों का एक साथ परिचालन शुरू करते समय सभी स्वास्थ्य प्रोटोकॉल को ध्यान में रखेगा। लोगों की सेहत से किसी तरह का समझौता नहीं किया जायेगा। यहां बताना प्रासंगिक होगा कि 25 मार्च, 2020 को लॉकडाउन की घोषणा के बाद से देश भर में यात्री ट्रेनों पर ब्रेक लगा दिया गया था।

हालांकि, कुछ ही दिनों बाद जब लोग अपनी जान हथेली पर लेकर पैदल ही अपने घरों की ओर निकलने लगे, टैंकर, कंटेनर और मिक्सर में छिपकर अपने गांव रवाना हो गये, तो सरकार ने लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए सीमित संख्या में स्पेशल ट्रेन शुरू करने की अनुमति दी, ताकि जो लोग मुसीबत में फंसे हैं, वे अपने घर जा सकें।

सबसे पहले 1 मई, 2020 को झारखंड के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चली थी। 12 मई, 2020 से दिल्ली को देश के अलग-अलग राज्यों से जोडऩे वाली 15 स्पेशल राजधानी ट्रेनों का संचालन शुरू किया। 1 जून, 2020 से लंबी दूरी की 100 स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत हुई। 12 सितंबर, 2020 को भारतीय रेलवे ने 80 अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन शुरू किया।

त्योहार में पहले भी बढ़ती थीं ट्रेनें

त्योहारों के मौसम में पहले भी भारतीय रेलवे स्पेशल ट्रेनें चलाता रहा है। खासकर दुर्गा पूजा, दीपावली और छठ के दौरान। दरअसल, इन फेस्टिव सीजन में रेल यात्रियों की संख्या काफी बढ़ जाती है। रेलवे की कमाई भी अच्छी-खासी हो जाती है। यही वजह है कि लॉकडाउन के दौरान जब त्योहारों का मौसम आया है, तो माल की ढुलाई से बंपर कमाई करने वाला रेलवे अब यात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेनें चलाकर लोगों को यात्रा की सहूलियत देने के साथ-साथ अतिरिक्त कमाई का मौका भी देख रहा है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ranchi

लालू यादव को एक और मामले में मिली जमानत, फिर भी जेल से नहीं आ सकेंगे बाहर

Published

on

लालू यादव को एक और मामले में मिली जमानत, फिर भी जेल से नहीं आ सकेंगे बाहर
लालू यादव को एक और मामले में मिली जमानत, फिर भी जेल से नहीं आ सकेंगे बाहर

रांची,देशज न्यूज। चारा घोटाले में जेल में बंद RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को एक और मामले में जमानत मिल गई है। लालू प्रसाद को चाईबासा ट्रेजरी केस में रहत मिली है। लालू के वकील ने बताया, इस मामले में 2 लाख रुपए जमा करने होंगे। वहीं, तरफ लालू की जमानत के लिए सीबीआई के वकील ने विरोध किया जिसे ख़ारिज करते हुए कोर्ट ने जमानत दे दी। हालांकि, इसके बावजूद वह फिलहाल जेल से बाहर नहीं आ सकेंगे। सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू यादव को करोड़ों के चारा घोटाले में दोषी ठहराया है। ऐसे में वे जेल में हैं। जानकारी आ रही है,

 

झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की केन्द्रीय महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने बुधवार को साफ किया कि राजद प्रमुख, चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव कहां रहेंगे, कहां नहीं, इसका फैसला उनकी पार्टी नहीं करती है बल्कि इसका फैसला जेल प्रशासन एवं रिम्स प्रबंधन करेगा।

 

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे राष्ट्रीय जनता दल से एक भी सीट न पाने के बाद झामुमो के बिहार में अकेले ही चुनाव मैदान में उतरने के फैसले से उपजी परिस्थितियों में रांची में रिम्स निदेशक के बंगले में इलाजरत लालू प्रसाद को मिली तमाम छूट वापस लिये जाने के कयासों के बीच बुधवार को भट्टाचार्य ने यह स्पष्टीकरण दिया।

Continue Reading

Ranchi

झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी का कोरोना से निधन

Published

on

झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी का कोरोना से निधन
झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी का कोरोना से निधन

रांची, देशज न्यूज। कोरोना संक्रमित झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी का निधन हो गया है। कुछ दिन पहले उन्हें इलाज के लिए रांची के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हाजी हुसैन अंसारी जेएमएम के कद्दावर नेता थे।देवघर जिले के मधुपुर विधानसभा क्षेत्र से वे कई बार निर्वाचित हुए थे। हाजी हुसैन अंसारी जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन के काफी करीबी थे।

जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने झारखण्ड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, हाजी हुसैन अंसारी साहब के निधन से अत्यंत आहत हूं। हाजी साहब ने झारखंड आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाई थी। वे सरल स्वभाव वाले जन नेता थे। परमात्मा हाजी साहब की आत्मा को शांति प्रदान करें। परिजनों को दुःख की इस घड़ी को सहन करने की शक्ति दें।

Continue Reading

Ranchi

प्रेमी के साथ पति की हत्या, ग्रामीणों ने महिला समेत प्रेमियों को पीटकर मार डाला, 4 की हत्या

Published

on

प्रेमी के साथ पति की हत्या, ग्रामीणों ने महिला समेत प्रेमियों को पीटकर मार डाला, 4 की हत्या
प्रेमी के साथ पति की हत्या, ग्रामीणों ने महिला समेत प्रेमियों को पीटकर मार डाला, 4 की हत्या

गुमला, देशज न्यूज। रायडीह थाना क्षेत्र के डेरंगडीह गांव में पति-पत्नी समेत चार लोगों की हत्या कर दी गई है। हत्या के पीछे अवैध संबंध माना जा रहा है। पहले प्रेमी संग मिलकर पत्नी ने अपने ही पति मरियानुस कुजूर को मार डाला। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने महिला नीलम कुजूर व उसके दो प्रेमियों को पीट-पीट कर मार डाला। मरने वालों में दो लोग बाहर के हैं रहने वाले हैं। फिलहाल अवैध संबंध में हत्या होने की आशंका से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। घटनास्थल पर पुलिस पहुंच कर मामले की छानबीन में जुटी है।

जानकारी के अनुसार, पहले प्रेमी संग मिलकर पत्नी ने अपने ही पति मरियानुस कुजूर को मार डाला। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने महिला नीलम कुजूर व उसके दो प्रेमी को पीट-पीट कर मार डाला। बताया जा रहा है,जिन दो लड़कों की हत्या की गई है, उनमें एक लड़के का महिला से अवैध संबंध था। इसी अवैध संबंध को लेकर महिला ने दोनों लड़कों के साथ मिलकर अपने पति की हत्या करवा दी। उसके बाद जब गांव वालों को इसकी जानकारी हुई तो गांववालों ने लड़कों समेत  की पीटकर हत्या कर दी. हत्या के बाद गांववालों ने की भी हत्या कर दी।

घटना उस समय घटी, जब दंपती के तीनों बच्चे सो रहे थे। ग्रामीणों के अनुसार, दो अंजान युवक सोमवार की रात को डेरंगडीह गांव पहुंचे। इसके बाद नीलम कुजूर से मिलकर मरियानुस कुजूर की हत्या कर दी। जब इस बात की जानकारी गांव वालों को हुई, तो ग्रामीण एकजुट हुए. लाठी-डंडा लेकर घर से निकले और मरियानुस के घर पहुंच गए।

हत्यारोपी प्रेमी भागने की कोशिश की लेकिन ग्रामीणों ने दबोच कर उसकी बेरहमी से पीट कर हत्या कर दी। गुस्साए ग्रामीणों ने मरियानुस की पत्नी नीलम की भी पीट-पीटकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि नीलम के दोनों प्रेमी को रस्सी से बांधकर पीटने से मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: