Wednesday, May 5, 2021

England : पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने कहा-यह एक ऐसा देश है जिसे मैं बहुत प्यार करता हूं मगर भारत की वर्तमान परिस्थिति देखकर...

अहमदाबाद। देश भर में विनाशकारी रुप ले चुके कोविड-19 के दूसरे लहर को देखते हुए इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने मंगलवार को...

खबरों से जुड़े रहने के लिए आज ही डाउनलोड करें Deshaj Times APP

अभी-अभी

Allahabad High Court: हाईकोर्ट यूपी पर सख्त, कहा-अस्पतालों को ऑक्सीजन नहीं देना नरसंहार है, जांच रिपोर्ट, फुटेज तलब

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी में कोरोना संक्रमण के चलते अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति न करने को लेकर कहा कि यह न केवल आपराधिक...

Supreme Court ने महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण को असंवैधानिक बताया, कहा-मराठों को एसईबीसी श्रेणी में जोड़ने वाला महाराष्ट्र का प्रावधान गलत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण को असंवैधानिक करार दिया है। कोर्ट ने कहा कि संविधान का 102वां संशोधन वैध है। मराठों को एसईबीसी...

Amitabh Bachchan: कोरोना वायरस के प्रकोप पर जानिए बिग-B अमिताभ बच्चन ने क्या की है सबों के लिए प्रार्थना

देश में इन दिनों कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप दिन पर दिन बढ़ता जा रहा हैं। देश में हर दिन तीन लाख से ज्यादा...

Nepal-India: अब भारत नेपाल मिलकर लड़ेंगे कोरोना से, सीमा सील, सीमावर्ती क्षेत्रों में दोनों देशों की स्वास्थ्य महकमा अलर्ट

मधुबनी। भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रों में कोविड संक्रमण सुरक्षा बचाव व रोकथाम को व्यापक व्यवस्धा की गई है।   सीमावर्ती इलाका में स्वास्थ्य कर्मियों की सिफ्ट में...

Supreme Court ने महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण को असंवैधानिक बताया, कहा-मराठों को एसईबीसी श्रेणी में जोड़ने वाला महाराष्ट्र का प्रावधान गलत

पढ़िए Deshaj Times को सीधा अपने व्हाट्सएप पर, कम समय में जानें दिन भर की महत्वपुर्ण खबरें, विश्लेषण के साथ

पढ़िए देशज टाइम्स हिंदी मैगजीन, कम समय में जानें हफ्तेभर की महत्वपुर्ण खबरें, सटीक विश्लेषण के साथ।

ई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण को असंवैधानिक करार दिया है। कोर्ट ने कहा कि संविधान का 102वां संशोधन वैध है।
मराठों को एसईबीसी श्रेणी में जोड़ने वाला महाराष्ट्र का प्रावधान गलत है। कोर्ट ने कहा था आरक्षण सीमा 50 फीसदी से अधिक नहीं हो सकती है। कोर्ट ने कहा था आपात स्थिति बताकर संविधान का उल्लंघन किया गया। लेकिन ऐसी कोई स्थिति नहीं थी। जस्टिस गायकवाड़ रिपोर्ट से ऐसी कोई बात निकलकर सामने नहीं आई थी।
सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने कहा है कि इंदिरा साहनी फैसले पर दोबारा विचार की ज़रूरत नहीं। महाराष्ट्र में कोई आपात स्थिति नहीं थी कि मराठा आरक्षण जरूरी हो। अबतक मराठा आरक्षण से मिली नौकरी और कॉलेज एडमिशन बरकरार रहेंगे। आगे आरक्षण नहीं मिलेगा।
पांच जजों की बेंच में से तीन जजों ने कहा कि सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्ग का निर्धारण राज्य सरकारें नहीं कर सकती हैं, ये अधिकार केंद्र सरकार का है। जबकि दो जजों ने कहा कि शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्ग का निर्धारण राज्य सरकारों के अलावा केंद्र सरकार भी कर सकती हैं।
पिछले 26 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली इस बेंच में जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस एस अब्दुल नजीर, जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस एस रविंद्र भट्ट शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 9 सितंबर 2020 को महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण पर रोक लगाते हुए इस मामले को पांच जजों या उससे ज्यादा की संख्या वाली बेंच को विचार करने के लिए रेफर कर दिया था।
27 जून 2019 को बांबे हाईकोर्ट ने मराठा आरक्षण की वैधता को बरकरार रखा था, लेकिन इसे 16 प्रतिशत से कम कर दिया। बांबे हाईकोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार के 16 प्रतिशत आरक्षण को घटाकर शिक्षा के लिए 12 प्रतिशत और नौकरियों के लिए 13 प्रतिशत करते हुए यह पाया कि अधिक कोटा उचित नहीं था।

Latest Posts

Allahabad High Court: हाईकोर्ट यूपी पर सख्त, कहा-अस्पतालों को ऑक्सीजन नहीं देना नरसंहार है, जांच रिपोर्ट, फुटेज तलब

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी में कोरोना संक्रमण के चलते अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति न करने को लेकर कहा कि यह न केवल आपराधिक...

Supreme Court ने महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण को असंवैधानिक बताया, कहा-मराठों को एसईबीसी श्रेणी में जोड़ने वाला महाराष्ट्र का प्रावधान गलत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण को असंवैधानिक करार दिया है। कोर्ट ने कहा कि संविधान का 102वां संशोधन वैध है। मराठों को एसईबीसी...

Amitabh Bachchan: कोरोना वायरस के प्रकोप पर जानिए बिग-B अमिताभ बच्चन ने क्या की है सबों के लिए प्रार्थना

देश में इन दिनों कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप दिन पर दिन बढ़ता जा रहा हैं। देश में हर दिन तीन लाख से ज्यादा...

Nepal-India: अब भारत नेपाल मिलकर लड़ेंगे कोरोना से, सीमा सील, सीमावर्ती क्षेत्रों में दोनों देशों की स्वास्थ्य महकमा अलर्ट

मधुबनी। भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रों में कोविड संक्रमण सुरक्षा बचाव व रोकथाम को व्यापक व्यवस्धा की गई है।   सीमावर्ती इलाका में स्वास्थ्य कर्मियों की सिफ्ट में...

ख़बरें

बिहार में लाॅकडाउन पर तेजस्वी ने क्यों कहा, निम्नस्तरीय नौटंकी और राजनीति से बाहर आइए, बाज आइए, तो हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी ने...

पटना, देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। बिहार में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण और इससे हो रही मौतों में वृद्धि को देखते हुए राज्य सरकार...

IPL 2021: कोरोना की काली नज़र अब क्रिकेट पर, BCCI ने सस्पेंड किया IPL

नई दिल्ली, देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इंडियन प्रीमियर लीग 2021 को कैंसिल कर दिया है। कोरोना वायरस के...

बिहार में लॉकडाउन के बाद क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद जानिए पूरी खबर विस्तार से देशज टाइम्स पर

द रभंगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन समूह की बैठक के बाद आगामी 15 मई तक प्रदेश में लॉकडाउन लगाने का निर्देश...

Bihar : पूरे बिहार में लगा 15 मई तक लॉकडाउन

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन समूह की बैठक के बाद आगामी 15 मई तक प्रदेश में लॉकडाउन लगाने का निर्देश...

वैशाली बेलसर पीएचसी में कार्यरत कुशेश्वरस्थान के डॉ. विद्यासागर पासवान की कोरोना से मौत

कुशेश्वरस्थान पूर्वी। कोरोना ने एक और कोरोना वारियर की जान ले ली। डॉ. विद्यासागर पासवान कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखंड के कुशेश्वरस्थान दक्षिणी पंचायत अंतर्गत खलासीन...

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.