Tuesday, June 22, 2021

प.बंगाल चुनाव बाद हिंसा मामले की सुनवाई से एक और जज अलग, सुनवाई टली

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा की एसआईटी जांच करने की मांग करनेवाली याचिका पर सुनवाई मंगलवार को...

खबरों से जुड़े रहने के लिए आज ही डाउनलोड करें Deshaj Times APP

अभी-अभी

सिमरिया में अस्थि कलश पवित्र गंगा में विसर्जित करने के बाद दरभंगा कबीर सेवा संस्थान के कर्मयोगियों ने कराया दरिद्र नारायण भोजन, खुद ग्रहण...

दरभंगा। मुक्तिधाम में कोरोना के 134 शवों की अंत्येष्टि के उपरांत सोमवार को सिमरिया गंगा घाट में अस्थि कलश परवाह और कर्म के बाद...

चोरी की बाइक का बिरौल से निकला कनेक्शन, बाइक के साथ मिस्त्री व घनश्यामपुर के निसाद हिरासत में

उत्तम सेन गुप्ता, बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। थाना क्षेत्र के नगर पंचायत बिरौल खादी भंडार के निकट बिहार गैरेज नाम का मोटरसाइकिल मरम्मती...

बंगाल से झंझारपुर जा रही सब्जियों से लदी पिकअप एनएच 57 पर पलटी, मौके पर ही चालक की मौत

सुपौल। एनएच 57 पर सब्जी भरी पिकअप दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गई। इस दुर्घटना में पिकअप के चालक की मौत घटनास्थल पर हो गई है।...

बिहार प्रशासनिक सेवा के नौ अधिकारियों का तबादला, जानिए क्या हुआ है उलटफेर

पटना|  बिहार प्रशासनिक सेवा के नौ अधिकारियों का तबादला किया गया है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने मंगलवार को अधिसूचना जारी की...

Darbhanga News: बाबा की नगरी कुशेश्वरस्थान की कमला आखिर क्यों छूने से कतरा रहे लोग, नदी को क्यों मिली काला पानी की सजा

पढ़िए Deshaj Times को सीधा अपने व्हाट्सएप पर, कम समय में जानें दिन भर की महत्वपुर्ण खबरें, विश्लेषण के साथ

पढ़िए देशज टाइम्स हिंदी मैगजीन, कम समय में जानें हफ्तेभर की महत्वपुर्ण खबरें, सटीक विश्लेषण के साथ।

कुशेश्वरस्थान पूर्वी। प्रखंड क्षेत्र में बहने वाली कमला बलान नदी का पानी अचानक काला हो गया है। और इस बाढ़ के पानी से काफी बदबू भी आ रही है। अचानक हुए पानी का बदलाव  होने से क्षेत्र वासी पानी छूना भी नहीं चाहता है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कमला नदी जो कि नेपाल के रास्ते बिरौल कुशेश्वरस्थान के संगम क्षेत्र कहे जाने वाले दरभंगा और समस्तीपुर के सीमा पर थरघटिया घाट में मिलती है जहां कोसी, कमला बलान और करेह नदी तीनों आकर मिलती है।

जानकारों की मानें तो असमय आयी बाढ़ के कारण मक्के और मूंग का फसल सड़ जाने के कारण एवं पूर्व से स्थानीय चौरो में जमे गंदा पानी के कारण हुआ है। काला  गंदा पानी नदी में मिलकर बह रहा है।

वहीं कृषि में उपयोग किये जाने वाले रासायनिक खाद्य पदार्थ सहित वर्षा के कारण फसलो का गला हुआ अवशेष मिल जाने के कारण नदी का पानी प्रदूषित हो गया है ,पानी पूर्णरूप से काला हो गया है साथ ही पानी से दुर्गंध आने के कारण आस पड़ोस के गाँव के लोगों को सांस लेना भी दुर्लभ है ।

लोग घर के सामने भी नही बैठ पाते है । जिसे लेकर ग्रामीणों में चर्चा का विषय बना हुआ है कि आखिर इतना गंदा पानी कहाँ से और कैसे आ गया है।

नदी में बहते गंदे पानी से नदी का पानी दूषित हो जाने से जहां लोग स्नान  करते थे जो कि  अब लोग स्नान आदि नहीं कर पा रहे हैं । वहीं पानी मवेशियों के पीने योग्य भी नहीं रहा है।

मवेशी पालक छेदी यादव, रमेश यादव, सियाराम यादव, सागर यादव सहित क़ई मवेशी पालकों ने बताया कि नदी  की पानी गंदा होने से लोग मवेशी को भी नदी किनारे नही जाने दे रहे है। लोगो के मन मे यह डर बना हुआ है कि मवेशी अगर को खुला छोड़ देंगे तो इस पानी के सेवन करने से कही कोई तरह की बीमारी न हो जाय।

पानी में मछली मारने वाले मछुआरे केवटगामा निवासी दिलीप मुखिया, झमेली मुखिया, रामचंद्र मुखिया का कहना है कि पानी में कूड़ा, कचड़ा बह रहा है, पानी पूरा   काला हो गया और अत्यधिक बदबू देता है । इन लोगों ने बताया कि डर के मारे पानी मे मछली मारना तो दूर की बात पैर भी रखना संभव नहीं है । वहीं इस नदी का मछली खाना भी जीवन के लिए घातक हो सकता है क्योंकि मछलियां वैसे ही इस नदी में मर कर बह रही है।

वहीं कई मवेशी पालको का कहना है एक पशुपालक कम से कम पाँच से छः मवेशी पालता है ऐसे में दरवाजे पर खुटे में बांधकर पशु को पानी पिलाना संभव नहीं है । इस उमस भड़ी गर्मी में हमलोग पशुओं को नहाने से लेकर पानी पिलाने तक नदी में ले जाकर ही करते है लेकिन गंदी पानी बहने के कारण हमलोग मवेशी को नदी किनार नहीं ले जा पा रहे है ।

मालूम हो कि घनी आबादी के बीच से गुजरती इस नदी में कई बच्चे स्नान करते देखे जाते है ऐसे स्थिति में नदी में बहती इस पानी का सफाई बेहद जरूरी है । बता दें कि नदी के दोनों तरफ बसे गाँव भरडीहा,फकदोलिया,

पछियारीरही, केवटगामा, सलमगढ़, सिसौना, परमानंदपुर, जिरौना सहित दर्जन भर गाँव के लोगों को नदी से आने वाली बदबू से परेशान है ।

इस  संबंध में डॉ. ज्ञानेश पाठक से जब देशज टाइम्स की बात हुई तो उन्होंने बताया कि ऐसे गंदे पानी रहने से और जो बदबू दे रहा है उससे डायरिया, कालाजर, जैसे बीमारी होने का डर है लोगो को सतर्क रहना चाहिए।

वही इस संबंध में बीडीओ अशोक कुमार जिज्ञासु ने देशज टाइम्स को बताया कि गंदे पानी  रहने के कारण जिसका नदी के आस पास घर है वे लोग अपने दरवाजे पर बैठ भी नहीं पाते है। इस मामले में वरीय पदाधिकारी को सूचना दी गई है जल्द ही इस मामले में हर संभव कार्यवाई की जाएगी।

Darbhanga News
Darbhanga news: why are people shying away from touching the kamala of kusheshwarsthan, the city of baba. | Deshaj Times

Latest Posts

सिमरिया में अस्थि कलश पवित्र गंगा में विसर्जित करने के बाद दरभंगा कबीर सेवा संस्थान के कर्मयोगियों ने कराया दरिद्र नारायण भोजन, खुद ग्रहण...

दरभंगा। मुक्तिधाम में कोरोना के 134 शवों की अंत्येष्टि के उपरांत सोमवार को सिमरिया गंगा घाट में अस्थि कलश परवाह और कर्म के बाद...

चोरी की बाइक का बिरौल से निकला कनेक्शन, बाइक के साथ मिस्त्री व घनश्यामपुर के निसाद हिरासत में

उत्तम सेन गुप्ता, बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। थाना क्षेत्र के नगर पंचायत बिरौल खादी भंडार के निकट बिहार गैरेज नाम का मोटरसाइकिल मरम्मती...

बंगाल से झंझारपुर जा रही सब्जियों से लदी पिकअप एनएच 57 पर पलटी, मौके पर ही चालक की मौत

सुपौल। एनएच 57 पर सब्जी भरी पिकअप दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गई। इस दुर्घटना में पिकअप के चालक की मौत घटनास्थल पर हो गई है।...

बिहार प्रशासनिक सेवा के नौ अधिकारियों का तबादला, जानिए क्या हुआ है उलटफेर

पटना|  बिहार प्रशासनिक सेवा के नौ अधिकारियों का तबादला किया गया है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने मंगलवार को अधिसूचना जारी की...

ख़बरें

अब ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर बनेगा बेनीपुर अनुमंडल अस्पताल, जमीन का सर्वे पूर्ण, जल्द लगेगा ऑक्सीजन प्लांट

सतीश चंद्र झा, बेनीपुर। विधायक प्रो. विनय कुमार चौधरी ने सोमवार को अनुमंडल अस्पताल का निरीक्षण किया। लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने...

दरभंगा के कबीर सेवा के कर्मयोगियो ने पवित्र सिमरिया गंगाघाट में शवों की अस्थि कलश किया प्रवाहित, दरिद्र नारायण भोज से कराया आत्मा को...

दरभंगा। मुक्तिधाम में कोरोना के 134 शवों की अंत्येष्टि की गई। इनमें विभिन्न कारणों से लगभग तीन दर्जन शवों का अस्थि कलश परिजन नही...

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का चिराग पर अटैक, कहा- चिराग यदि शेर के बच्चे है तो पारस भी उन्हीं के भाई है

पटना। दो दिन पूर्व चिराग पासवान ने लोजपा में मचे घमासान पर कहा था कि  वह शेर के बच्चे है और शेर की तरह...

कोरोना संकट में दरभंगा समेत देश के हर अंजान लोगों का सहारा बनी बिहार की बेटी सौम्या को जानिए, एक नाम जो जानती है...

बगहा। बिहार में चंपारण की बेटी सौम्या मिश्र नौकरी करने के बजाय समाज सेवा कार्य में दिन रात लगी हुई है। सौम्य ने बताया कि...

दिल्ली में बनकर तैयार हुए बिहार सदन का सीएम नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन, सीएम ने बिहार भवन सहित कई भवनों का किया उद्घाटन...

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली में बनकर तैयार हुए बिहार सदन का आज उद्घाटन किया। उन्होंने भवन निर्माण विभाग से जुड़ी कई योजनाओं...

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.