Tuesday, June 22, 2021

समस्तीपुर में उपमुखिया का कहर, दो लोगों का मर्डर, घर और ग्राहक केंद्र पर हमला-बवाल, महिला की पीटते-पीटते, युवक की गोली मारकर हत्या से...

समस्तीपुर। बिहार में समस्तीपुर जिले के मुफस्सिल थाना अंतर्गत आधार पुर गांव में आपसी विवाद में दो लोगों की मौत हो गई है। मुफस्सिल थाना...

खबरों से जुड़े रहने के लिए आज ही डाउनलोड करें Deshaj Times APP

अभी-अभी

राहुल गांधी ने सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’ किया जारी, जानिए क्या कह रहे हैं राहुल

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को केंद्र सरकार के कोविड प्रबंधन पर एक श्वेत पत्र जारी करते हुए कहा कि इसका...

वाइस एडमिरल बोले- समुद्री सरहद पर भारत चौकन्ना, कोई नहीं दे सकता धोखा, श्रीलंका में चीन की मौजूदगी से खतरा बढ़ा, भारत की है...

- भारतीय नौसेना समुद्री सीमा की सुरक्षा करने में पूरी तरह से सक्षम नई दिल्ली। नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार ने कहा...

प.बंगाल चुनाव बाद हिंसा मामले की सुनवाई से एक और जज अलग, सुनवाई टली

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा की एसआईटी जांच करने की मांग करनेवाली याचिका पर सुनवाई मंगलवार को...

समस्तीपुर में डीएचएल कुरियर कंपनी की ट्रक में मिली लोडेड विदेशी शराब, चार तस्कर समेत एक बोलेरो जब्त

समस्तीपुर| पुलिस ने डीएचएल कुरियर कंपनी की ट्रक में लोडेड विदेशी शराब के साथ चार तस्कर एवं एक बोलेरो को जब्त किया है।  मिली...

बिहार पंचायत चुनाव का टलना तय, साथ ही टलेगा एक और चुनाव, एम-3 मॉडल ईवीएम इस्तेमाल को लेकर पटना हाई कोर्ट में बुधवार को होने वाली सुनवाई भी टली

पढ़िए Deshaj Times को सीधा अपने व्हाट्सएप पर, कम समय में जानें दिन भर की महत्वपुर्ण खबरें, विश्लेषण के साथ

पढ़िए देशज टाइम्स हिंदी मैगजीन, कम समय में जानें हफ्तेभर की महत्वपुर्ण खबरें, सटीक विश्लेषण के साथ।

पटना।बिहार में पंचायत चुनाव का टलना लगभग तय हो गया है। एम-3 मॉडल ईवीएम के इस्तेमाल को लेकर पटना हाई कोर्ट में बुधवार को होने वाली सुनवायी भी टल गई है। इससे पहले मंगलवार को भी इसपर सुनवाई टल गई थी। उधर, भारत निर्वाचन आयोग और बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के बीच ईवीएम खरीद को लेकर हाई कोर्ट की चेतावनी के बावजूद होने वाली बैठक भी नहीं हुई।पिछली सुनवाई में पटना हाईकोर्ट ने दोनों आयोग को इस मसले पर बातचीत करके समाधान निकालने का निर्देश दिया था, लेकिन दोनों के बीच हुई बैठक में कोई रास्ता नहीं निकल सका। त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं का कार्यकाल 15 जून को खत्म होने जा रहा है।
ऐसे में माना जा रहा है कि सरकार को हस्तक्षेप कर कोई विकल्प तलाशना होगा। अदालत का फैसला अगर राज्य निर्वाचन आयोग के पक्ष में भी आ जाता है तो भी समय पर चुनाव करा पाना अब संभव नहीं होगा। बिहार सरकार भी लगभग इस स्थिति के लिए तैयार हो चुकी है। पंचायती राज विभाग ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है कि पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल खत्‍म होने की स्थिति में पंचायतों का कामकाज बाधित नहीं हो।
बताते चलें कि आगामी पंचायत के लिए ईवीएम मशीन की निर्बाध आपूर्ति के लिए बिहार राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से पटना हाई कोर्ट में एक रिट याचिका दायर की गई है। उक्त याचिका से  भारत के निर्वाचन आयोग से जारी  21 जुलाई 2020 के उस हिस्से को चुनौती दी गयी है, जिसके तहत हरेक राज्य के निर्वाचन आयोग के लिए ईवीएम , वीवीपैट मशीनों की आपूर्ति व  डिजाइन के पहले भारत निर्वाचन आयोग की मंजूरी लेनी आवश्यक है।
पंचायत चुनाव में पहली बार ईवीएम के इस्‍तेमाल की तैयारी
वर्ष  2021 में बिहार में होने वाले पंचायती राज संस्थानों के चुनाव के लिए राज्य चुनाव आयोग ईवीएम इस्तेमाल करना चाहता है। तीन- स्तरीय पंचायती राज चुनाव के  लिए एक विशेष तकनीक युक्त ईवीएम मशीनों की जरूरत है, जिसे सिक्योर्ड डिटैचेबल मेमरी मॉड्यूल प्रणाली कहा जाता है। इस डिजाइन की ईवीएम आपूर्ति करने के लिए हैदराबाद स्थित निर्माता कंपनी ईसीआइएल भी आपूर्ति करने को तैयार है, किंतु भारत का निर्वाचन आयोग चुप्पी साधे हुए है। राज्य आयोग ने यह भी आरोप लगाया है कि उपरोक्त तकनीकी युक्त ईवीएम मशीनों के आपूर्ति की मंजूरी राजस्थान और छत्तीसगढ़ के पंचायती राज चुनाव के लिए खुद भारत के  निर्वाचन आयोग ने मंजूरी दी थी, लेकिन बिहार के पंचायती चुनाव के मामले में  भेदभाव बरता जा रहा है।
ऑर्डर के बाद ईवीएम तैयार करने में लगेगा एक महीने का वक्‍त
ईवीएम सप्लाई के लिए जिस कंपनी का मॉडल तय किया है, उसे बनाने के लिए कम से कम एक महीने का समय चाहिए। राज्य में एक साथ छह श्रेणी के ढाई लाख पदों पर चुनाव कराने हैं। उसके अनुरूप ईवीएम को एसेंबल करने में समय की जरूरत होती है। इस हिसाब से मई का पहला हफ्ता पार कर जाएगा। नौ चरणों में चुनाव कराने के लिए सरकार को कम से कम दो महीने का वक्त चाहिए। ऐसे में 15 जून तक चुनाव संपन्न कराना आयोग के लिए आसान नहीं होगा।
यह भी पढ़ें:  बिहार : अनलॉक-तीन सिर्फ 15 दिनों के लिए, जानिए फिर कब होगी आपदा प्रबंधन समूह की बैठक

Latest Posts

यह भी पढ़ें:  बिहार में अभी नहीं खुलेंगे शिक्षण संस्थान, पार्क-उद्यान खुलेंगे, मंदिर भी रहेगा लॉक,जानिए दुकानें अब कितनी बजे तक खुलेंगेी, रात्रि रात्रि कर्फ्यू अब कितने बजे से

राहुल गांधी ने सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’ किया जारी, जानिए क्या कह रहे हैं राहुल

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को केंद्र सरकार के कोविड प्रबंधन पर एक श्वेत पत्र जारी करते हुए कहा कि इसका...

वाइस एडमिरल बोले- समुद्री सरहद पर भारत चौकन्ना, कोई नहीं दे सकता धोखा, श्रीलंका में चीन की मौजूदगी से खतरा बढ़ा, भारत की है...

- भारतीय नौसेना समुद्री सीमा की सुरक्षा करने में पूरी तरह से सक्षम नई दिल्ली। नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार ने कहा...

प.बंगाल चुनाव बाद हिंसा मामले की सुनवाई से एक और जज अलग, सुनवाई टली

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा की एसआईटी जांच करने की मांग करनेवाली याचिका पर सुनवाई मंगलवार को...

समस्तीपुर में डीएचएल कुरियर कंपनी की ट्रक में मिली लोडेड विदेशी शराब, चार तस्कर समेत एक बोलेरो जब्त

समस्तीपुर| पुलिस ने डीएचएल कुरियर कंपनी की ट्रक में लोडेड विदेशी शराब के साथ चार तस्कर एवं एक बोलेरो को जब्त किया है।  मिली...

ख़बरें

दरभंगा रेलवे जंक्शन पर विस्फोट का मामला गहराया, पार्सल विस्फोट मामले की उच्चस्तरीय जांच शुरू, सीआईडी की टीम पहुंची दरभंगा

दरभंगा। बिहार के दरभंगा जंक्शन पर हैदराबाद से आए पार्सल में विस्फोट मामले की उच्चस्तरीय जांच शुरू हो गयी है। इस घटना की जांच...

जाले में विधायक श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार ने कहा-आप को विश्वास दिलाते हैं, आपके साथ सरकार और सरकारी तंत्र हर कदम पर मौजूद...

जाले। केंद्र एवं राज्य सरकार किसानों के हित के लिए सजग है।  सभी वर्गों तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए कृत...

बिहार में आईएएस अधिकारियों के तबादले, तीन जिलों के बदले गए डीएम

पटना। राज्य सरकार ने  भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस ) के 5 अधिकारियों के तबादले किये हैं।इनमें तीन जिलों के डीएम भी बदले गए हैं।...

बिरौल-सहरसा मुख्य मार्ग स्थित कोठराम, यहां की ग्रामीण सड़क पर चलने से पहले कर लीजिए हनुमान चालीसा का पाठ

उत्तम सेन गुप्ता,बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। बिरौल-सहरसा मुख्य मार्ग स्थित कोठराम से मनसारा जाने वाली ग्रामीण सड़क की दयनीय स्थिति बन चुकी है।...

बिरौल पंचायत का बिरौल गांव, किससे करे फरियाद, कौन सुनेगा बात, पानी में तैरने की नियति से बचाएगा कौन? शायद…कोई नहीं, यही समझ जलजमाव...

उत्तम सेन गुप्ता, बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। प्रखंड अन्तर्गत बिरौल पंचायत का बिरौल गांव, लेकिन यहां मुख्य मार्ग पर जल जमाव की कोई...

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.