Connect with us

kusheshwarasthan

कुशेश्वरस्थान में 10 घर कमला बलान में विलीन, पश्चिमी तटबंध पर लोगों ने लिए शरण, फैल रहा बाढ़

Published

on

कुशेश्वरस्थान में 10 घर कमला बलान में विलीन, पश्चिमी तटबंध पर लोगों ने लिए शरण, फैल रहा बाढ़
कुशेश्वरस्थान रिपोर्टर, बिरौल अनुमंडल डेस्क देशज टाइम्स। रुक-रुक कर हो रही बारिश से कमला बलान नदी के जल स्तर में तेजी से वृद्धि होने लगी है। इससे प्रखंड के ईटहर पंचायत के चौकिया गांंव के पासवान टोला की अनिता देवी, मौला देवी, भिखो पासवान, रामशोभित पासवान, पीतांबर पासवान, दिलीप पासवान, संतोष पासवान, सोनिया देवी सहित लगभग दस लोगों के घर पानी के तेज बहाव के कारण नदी में कटकर विलीन हो गए है।
वहीं, ईटहर गांव व उसके आस पास के क्षेत्रों में बाढ़ का पानी फैल गया है। चौकियां गांव के लोगोंं को एक टोल से दूसरे टोल जाने के लिए अब नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। कमला बलान के जलस्तर में वृद्धि होने से क्षेत्र के कई जगहों पर बांस-बल्ले से बने चचरी पुल ध्वस्त हो गए हैं।
चौकिया पासवान टोला के मसोमात अनिता देवी, गौतम पासवान सहित कई लोगों ने देशज टाइम्स को बताया, नदी के कटाव के चपेट में आने से इन लोगों का घर नदी में विलीन हो गए हैं। तत्काल ये लोग अपने परिवार व मवेशियों के साथ कमला बलाना के पश्चिमी तटबंध पर शरण ले रखा है।
सरकारी नाव की व्यवस्था नहीं रहने के कारण भाड़े के नाव का उपयोग करना पड़ रहा है। सीओ त्रिवेणी प्रसाद ने देशज टाइम्स को बताया कि जरूरत वाले स्थानों पर नाव दिया जाएगा। 55 निजी नाव का निबंधन हो गया है। इसके अलावा 17 सरकारी नाव उपलब्ध है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

kusheshwarasthan

कुशेश्वरस्थान में पहली बार नहीं खुले सावन की पहली सोमवारी पर गर्भगृह, करोड़ों के व्यवसाय ठप

Published

on

कुशेश्वरस्थान में पहली बार नहीं खुले सावन की पहली सोमवारी पर गर्भगृह, करोड़ों के व्यवसाय ठप
कुशेश्वरस्थान पूर्वी रिपोर्टर, बिरौल अनुमंडल डेस्क देशज टाइम्स। पहली बार आस्था का केंद्र बाबा नगरी कुशेश्वरस्थान में लगने वाली श्रावणी मेला इस बार कोरोना के कारण नहीं लग पाया। वहीं बाबा के गर्भगृह भी नहीं kusheshwarasthan me pahli baar  खुल पाया जिसके कारण पहली सोमवारी को एक्का दुक्का श्रद्धालु मंदिर के मुख्य द्वार पर से ही पूजा अर्चना कर घर लौटे।
देशज टाइम्स को मिली जानकारी के अनुसार कुशेश्वरस्थान का पुरा बाजार लगभग 10 दिनों से कॉन्टेन्टमेंट जोन में रहने के बाद 1 जुलाई से बाजार अनलॉक होने के बाद भक्तों से लेकर स्थानीय व्यवसायी में श्रावणी मेला kusheshwarasthan me pahli baar  लगने की आस जगी थी। श्रद्धालुओं में बाबा के दर्शन होने की आस जगी, लेकिन सरकारी आदेश का अनुपालन करते हुए स्थानीय लोगों ने धैर्य पुर्ण व सादगी वातावरण में श्रावणी मेला मना रहे है।
स्थानीय दुकानदारों का कहना है, यहांं के व्यवसायी के लिए यह श्रावणी मेला का समय कमाई का होता है। कारोबारियों के हिसाब से मेला का आयोजन नहीं होने से कारोबारियों को करोड़ों रुपए से अधिक का kusheshwarasthan me pahli baar  नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। इस वर्ष श्रावणी मेला का समय पांच जुलाई से शुरू होकर तीन अगस्त तक जारी रहेगा।
Continue Reading

kusheshwarasthan

बाबा की नगरी कुशेश्वर-समस्तीपुर को जोड़ने वाली मुख्य सड़क का प्रथम सोमवारी से निर्माण शुरू

Published

on

बाबा की नगरी कुशेश्वर-समस्तीपुर को जोड़ने वाली मुख्य सड़क का प्रथम सोमवारी से निर्माण शुरू

कुशेश्वरस्थान पश्चिमी रिपोर्टर, बिरौल अनुमंडल डेस्क देशज टाइम्स। प्रखंड के बेरी चौक से समस्तीपुर जिला को जोड़ने वाली जर्जर मुख्य सड़क baba ki nagri kusheshwarasthan-samastipur  का निर्माण कार्य शुरू होते ही लोगों में खुशी का माहौल बन गया।

 

समस्तीपुर जिला के सुमहा चौक से बेरी चौक तक baba ki nagri kusheshwarasthan-samastipur इस सड़क की स्थिति इतनी दयनीय थी, कई बड़ी वाहन की बात दूर दो पहिया वाहन भी इस मार्ग से नहीं गुजरते। वहीं, समस्तीपुर जिला व लहेरियासराय से चल कर कुशेश्वरस्थान तक आने वाली कुछेक को छोड़कर अधिकांश यात्री बस दर्वेपुर गांव तक आ कर रुक जाती थी।

 

हालांकि विशेष परिस्थिति में कुछ वाहन चालक को baba ki nagri kusheshwarasthan-samastipur अपनी जान जोखिम में डालकर पानी से भरा बड़े-बड़े गढ्ढे से हो गुजरने को मजबूर होना पड़ता था।

स्थानीय लोगों में नवीन कुमार सिंह ने देशज टाइम्स को बताया, इस सड़क का निर्माण कर रहे सीतामढ़ी का संवेदक कार्य छोड़ कर चला गया। उसके बाद इस तीन किमी तक सड़कनिर्माण कार्य की जिम्मेदारी दूसरे ठेकेदार को दी गई। इसका निर्माण सोमवार से शुरू कर दिया गया।बाबा की नगरी कुशेश्वर-समस्तीपुर को जोड़ने वाली मुख्य सड़क का प्रथम सोमवारी से निर्माण शुरूदेशज  टाइम्स तस्वीर कैप्शन : फोटो। 1 इस सड़क की स्थिति फंसा ट्रकफोटो 2 बेरी चौक से जेसीबी से निर्माण कार्य शुरू करते ठेकेदार।

Continue Reading

kusheshwarasthan

कुशेश्वरस्थान में मजदूर की जगह जेसीबी से पोखर उड़ाही का मामला पहुंचा डीएम के पास

Published

on

कुशेश्वरस्थान में मजदूर की जगह जेसीबी से पोखर उड़ाही का मामला पहुंचा डीएम के पास

कुशेश्वरस्थान पूर्वी रिपोर्टर, बिरौल अनुमंडल डेस्क देशज टाइम्स। प्रखंड क्षेत्र में मनरेगा के तहत मजदूर के बदले जेसीबी से पोखर की उड़ाही किए जाने को लेकर केवटगामा के राम शरण यादव ने इसकी शिकायत मेल के माध्यम से डीए डॉ. त्याग राजन एसएम से लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक से की है।

श्री यादव ने अपने शिकायत में योजना संख्या 20396803 का जिक्र करते हुए बताया, पंचायत केवटगामा में दीपक कुमार राय की निजी जमीन में पोखर निर्माण का कार्य मनरेगा के तहत किया जाना था। लेकिन, पंचायत रोजगार सेवक व कार्यक्रम पदाधिकारी कुशेश्वरस्थान पूर्वी की ओर से फर्जी तरीके से मस्टर रोल में कुल 552 मेन डेज भर कर लगभग एक लाख रुपए भुगतान कर दी गई है।

उन्होंने साक्ष्य के आधार पर बताया, उक्त योजना के लिए मस्टर रोल 12-06-2020 से 25-06-2020 तक जारी कर राशि का उठाव करवाया गया परंतु मस्टर रोल के एक भी मजदूर इस योजना पर कार्य करने नहीं गए। लेकिन जमीन मालिक की ओर से जमीन की मिट्टी को गांव के ही जेसीबी व ट्रैक्टर चालकों के हाथों बेच दिया गया।

इतना ही नहीं संवेदक की ओर से कार्य स्थल पर योजना से संबंधित सूचना पट भी नहीं लगाया गया है। इस संबंध में जब पीओ से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका मोबाइल फोन बंद था।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.