Connect with us

Jaley

जाले क्वॉरंटाइन सेंटर में 24 मई को दिल्ली से आए अधेड़ की संदिग्ध मौत

Published

on

जाले क्वॉरंटाइन सेंटर में  24 मई को दिल्ली से आए अधेड़ की संदिग्ध मौत

जाले, देशज टाइम्स ब्यूरो। काजी अहमद डिग्री कॉलेज जाले स्थित क्वारंटाईन सेंटर में आवासित एक अधेड़ की संदिग्ध मौत हो गई।
बताया जाता है वह दिल्ली से बस से बीते 24 मई को सीतामढ़ी से यहां अपने गांव आया था। घर आने पर उसे जाले स्थित डिग्री कॉलेज के क्वारंटाइन सेंटर में रहने को भेजा गया।

क्वारंटाईन सेंटर में रह रहे आवासितों का कहना है कि डॉक्टरों की ओर से किसी भी आवासितों की जांच अबतक यहां नहीं की गई है। मृतक को बीती रात करीब एक बजे सांस लेने में तकलीफ होने लगी। इसके अलावे कई  ऐसे सिम्टम उसे होने लगे जिसे लिखकर सनसनी फैलाना देशज टाइम्स का  कतई इरादा नहीं।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

उसी हालत यूं बिगड़ गई कि उसकी दशा देख उस कमरे में रह रहे आवासितों ने डर से उसे छोड़ कमरे से बाहर निकल गए। वहीं, आवासितो ने रेफरल अस्पताल के पीएनटी नंबर पर सूचना देने को डायल किया लेकिन कोई फोन रिसिव ही नही किया।

घटना की जानकारी मिलते ही थानाध्यक्ष दिलीप कुमार पाठक,बीडीओ राजेश कुमार, सीओ अनिल कुमार व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. गंगेश झा मंगलवार की अहले सुबह मौके पर पहुंचे। वहीं, डॉ. गंगेश झा के समक्ष स्वाथ्य कर्मी टेक्नीशियन मो. अनवर ने लाश से नमूना लेकर जांच को भेज दिया है।

मौके पर पहुंचे मृतक के परिजनों ने मौजूद पदाधिकारियों से सरकार की ओर से निर्धारित अनुग्रह राशि देने की मांग की है। इस संदर्भ में सीओ  अनिल कुमार मिश्र ने जिला के उच्चाधिकारी से मोबाइल से वार्ता कर सरकारी प्रावधान के अनुसार मृतक के परिजन को अनुग्रह राशि दिलवाने में हर स्तर से सहयोग देने का आश्वासन दिया।

वहीं,सीओ ने मृतक के परिजनों को सात पीपी. ड्रेस देकर लाश ले जाकर कब्रिस्तान में मिट्टी में गाड़ने की बातों पर एंबुलेंस से झखुरी साह पोखर में भिंडा स्थित कब्रिस्तान में सुपुर्दे खाक कर दिया। मौके पर जाले पश्चिमी की मुखिया उनके पति गुलाब अंसारी, जाले उत्तरी के मुखिया व पति मो. ताज आमिर इकबाल,समेत बड़ी संख्या में कई पार्टी के कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता समेत अन्य मौके पर मौजूद थे।

जानकारी के अनुसार, मृतक जाले पश्चिमी वार्ड चार का रहने वाला था। चार भाइयों में सबसे बड़ा भाई था। अपने पीछे तीन पुत्र पुत्री समेत भरा पूरा परिवार छोड़ गया है। वह वर्षों से दिल्ली के सदर बाजार स्थित होटल रॉयल में कुक का काम करता था। वह रोटी स्पेशलिस्ट के नाम से जाना जाता था। बीते दो माह से लॉकडाउन के कारण होटल कारोबार पूर्ण ठप होने से वह बेरोजगार हो गया था। लॉकडाउन शिथिल होने पर वह दिल्ली से सीतामढ़ी को जानेवाली बस से घर वापस आया था।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Jaley

अख्तर हुसैन करेंगे शमशुज जोहा संग मिलकर जाले में कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ को मजबूत

Published

on

अख्तर हुसैन करेंगे शमशुज जोहा संग मिलकर जाले में कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ को मजबूत

जाले, देशज टाइम्स ब्यूरो। कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की बैठक रविवार को जिला अध्यक्ष ज्याउर रहमान बब्बन की अध्यक्षता में हुई। इसमें जिला अध्यक्ष ज्याउर रहमान ने जाले के युवा समाजसेवी अख्तर हुसैन को कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का प्रखंड अध्यक्ष व शमशुज जोहा ऊर्फ फूल बाबू को जिला महासचिव मनोनीत किया।

बैठक को अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रमण्डलीय अध्यक्ष जमाल हसन, युवा कांग्रेस के पूर्व महासचिव सैयद तनवीर अनवर,शादिक आरज़ू,आमिर इकबाल, गजनफर जलाल ने संबोधित करते हुए  दोनों नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई दी।

मौके पर, युवा क्रांतिकारी शमशाद खान, शैख जामी सबनुल आरफीन, फ़ैज़याब, इरफान, फैसल, जमशेद, फरहान, असद, गुफरान, सरहान, इम्तेयाज़, जियाउर, फुरकान समेत अन्य युवा कार्यकर्ताओं ने कहा, अख्तर अपनी जिम्मेदारी को बखूबी अंजाम देंगे।हम युवा हमेशा इनके साथ हैं।

अंत मे नवनियुक्त जाले अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ अध्यक्ष ने तमाम मौजूद जिले के अधिकारियों का शुक्रिया अदा किया। उनसे वादा किया, बहुत जल्द जाले में एक मजबूत कमेटी का गठन करेंगें।

Continue Reading

Jaley

जाले में घर से बाहर निकलना मना है, इलाका पूरी तरह बांस-बल्ले से सील, हो रही निगहबानी

Published

on

Corona Virus Live Update

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो।जाले में तीन कोरोना  पॉजिटिव मिलने  के बाद से पूरे इलाके में लोग भयभीत  हैं। वहीं, जिला प्रशासन ने  इस भय को दूर करने व लोगों  को सुरक्षित रखने की कवायद तेज कर दी है। सोमवार को डीएम डॉ.त्यागराजन एसएम के निर्देश पर जाले को सील कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, काजी अहमद डिग्री कॉलेज क्वारंटाइन सेंटर को पूरी तरह सील करते हुए इसके तहत इसके परिधि यानी दो किमी के क्षेत्र जाले जोगियारा पथ के खेरूवा पुल के निकट, मोदी पोखर,  इकबाल दवा दुकान की गली,बैधनाथ साह की दुकान के निकट,शंकर चौक कैंप,सर्कल के निकट मस्जिद, भटपोखरा मोड़,पीठरिया ईदगाह के निकट, साठी चौक,गणपति मंदिर,व्यापार मंडल के निकट, गांधीचौक मस्जिद गली, मुख्य सड़क समेत दो किमी परिधि को पूर्णतः सील करते  हुए लॉक कर दिया गया है। यहां से तीन कोरोना पॉजिटिव मिले थे। इसके बाद डीएम डॉ.एसएम के निर्देश पर थानाध्यक्ष दिलीप कुमार पाठक व सीओ अनिल कुमार  मिश्र की मौजूदगी में एक दर्जन से अधिक सड़कों समेत गलियों को जगह-जगह बांस- बल्ला लगाकर सील कर दिया गया है।

थानाध्यक्ष श्री पाठक ने बताया, इस लॉकडाउन के दौरान इस क्षेत्र के आवासित अपने घरों में ही बंब रहेंगे। किसी भी व्यक्ति को घर से बाहर निकले की इजाजत नहीं दी जाएगी। अगर बाहर दिखे तो ऐसे  लोगों पर कार्रवाई  होगी।

साथ ही, प्रखंड के दोघड़ा स्थित क्वारंटाइन सेंटर कस्तूरबा आवासीय विद्यालय व बेसिक स्कूल में रह रहे आवासित की जांच में एक किशोर, महिला व एक पुरुष कोरोना पीड़ित पाए गए हैं। सभी पीड़ितों को डीएमसीएच भेजा गया है।

Continue Reading

Jaley

सिंहवाड़ा की बहादुर बिटिया ज्योति को नि:शुल्क पढ़ाई के साथ पिता को मिला नौकरी का ऑफर

Published

on

सिंहवाड़ा की बहादुर बिटिया ज्योति को नि:शुल्क पढ़ाई के साथ पिता को मिला नौकरी का ऑफर

जाले, देशज टाइम्स ब्यूरो। अब सिंहवाड़ा की जाबांज बेटी ज्योति पढ़ेगी। डॉ. गोविंदनाथ मिश्रा एजूकेशन फाउंडेशन पकटोला जाले ने यह बीड़ा उठाया है। सिंहवाड़ा प्रखंड क्षेत्र के सिरहुल्ली गांव की बहादुर पुत्री ज्योति को उच्च शिक्षा लेने तक नि:शुल्क शिक्षा व उनके पिता मोहन पासवान को नौकरी का प्रस्ताव पत्र भेजा है।

बहादुर बेटी ज्योति ने बहुत ही जोखिम भरा परंतु साहसिक व सराहनीय कार्य किया है। कोविड-19 से उत्पन्न लॉकडाउन में फंस जाने की वजह से उनकी आजीविका बाधित हो गई थी। वहीं, कई तरह के आर्थिक व मानसिक संकट के दौर से गुज़रना पड़ा। साहसी बेटी ने धैर्य पूर्वक हौसला देते हुए हिम्मत के साथ साइकिल पर अपने साथ बैठाकर, अपनी जन्म भूमि पर लाकर समस्त मिथिलाक्षेत्र के लिए एक मिशाल क़ायम की है।

अपने सामाजिक व व्यक्तिगत दायित्व का निर्वहन करते हुए डॉ. गोविंद चंद्र मिश्रा एजुकेशनल फाउंडेशन पकटोला राढ़ी जाले ने हर संभव सहायता करने का निर्णय लिया है। संस्था की ओर से नौकरी का प्रस्ताव देते हुए आग्रह किया गया है कि मोहन पासवान जब भी स्वस्थ हो जाए तो वे इस संस्था के अंतर्गत संचालित संस्थानों में नौकरी ज्वाइन कर सकते हैं। आपके इस कार्य को करने के लिए सरकारी निर्देश के तहत वेतन दिया जाएगा।

साथ ही संस्था ने निर्णय किया कि ज्योति कुमारी को अपने विद्यालय में नि:शुल्क शिक्षा देंगे। स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद भी अगर वह दरभंगा ज़िले में ही उच्च शिक्षा जारी रखना चाहेगी, तो उसे संस्था की ओर से सभी तरह की आर्थिक मदद के साथ साथ आईटीआई (दो साल का कोर्स)भी नि:शुल्क करने की अनुशंसा की गई है।

साथ ही संस्था ने देश व विदेश के जागरूक लोगों में इस बच्ची के नाम पर राष्ट्रीय प्रेरणा पुरस्कार स्थापित करने की अनुशंसा की है,जिससे मिथिला समाज व देश की अन्य बेटियों को साहसपूर्ण कार्य करने के लिए प्रत्येक वर्ष पुरस्कार दिया जा सके। सिंहवाड़ा की बहादुर बिटिया ज्योति को नि:शुल्क पढ़ाई के साथ पिता को मिला नौकरी का ऑफर

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.