Connect with us

News

Rajasthan: Chittorgarh Accident में 10 की मौत, PM Narendra Modi ने जताया शोक

Published

on

नीमच/रतलाम, देशज न्यूज। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में निकुंभ थाना क्षेत्र के ग्राम सांदलखेड़ा के पास शनिवार देर रात एक तेज रफ्तार जीप (क्रूजर वाहन) और ट्रेलर के बीच टक्कर हो गई। इस हादसे में जीप सवार रतलाम जिले के दस लोगों की मौत हो गई जबकि तीन से अधिक घायल हैं। पुलिस द्वारा राहत एवं बचाव कार्य जारी है।
बताया जा रहा है कि घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया है। अभी कुछ लोगों के और जीप में फंसे होने की संभावना है। जीप सवार लोग मध्य प्रदेश के रतलाम जिले के ताल थाना क्षेत्र के ग्राम आक्या के बताये जा रहे हैं। फिलहाल मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है।
जानकारी मिली है कि रतलाम जिले के ग्राम आक्या निवासी शंकरलाल के बेटे की शादी गत 07 दिसम्बर को और गांव के ही सत्यनारायण मालवीय की शादी 11 दिसम्बर को हुई थी।
दोनों परिवार के लोग नवविवाहित जोड़ों को दर्शन कराने के लिए श्री सांवलिया सेठ मंदिर गए थे। लौटते समय शनिवार रात 10 बजे ग्राम सादलखेड़ा के पास ट्रेलर वाहन और क्रूजर वाहन के बीच टक्कर हो गई। हादसा इतना भीषण था कि क्रूजर वाहन के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार सात लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
राहगीरों की सूचना पर निकुंभ थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सात-आठ घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जानकारी मिलने पर चित्तौड़गढ़ के कलेक्टर किशोर कुमार और पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव मौके पर पहुंच गए हैं। एसपी भार्गव ने हादसे में सात लोगों की मौत की पुष्टि की है। वहीं, घायलों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

dharm

राजकोट में सिर्फ 30 मिनट में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए एकत्र हुए 1.88 करोड़ रुपए

Published

on

In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिए पांच लाख रुपये 

अहमदाबाद, देशज न्यूज। श्रीराम मंदिर निधि समर्पण अभियान में आज मुख्यमंत्री विजय रूपानी सहित राजकोट के 50 प्रमुख लोगों ने दान देने की घोषणा की है। अहमदाबाद में सिर्फ 30 मिनट में राम (In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con)  मंदिर के निर्माण के लिए लगभग 1.88 करोड़ रुपये का चंदा इकठ्ठा किया गया |
स्थानीय स्वामी सभागार में आयोजित समर्पण निधि कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने राममंदिर निर्माण के लिए 5 लाख रुपये देने की घोषणा की है। इसके अलावा, मौलेश उकानी ने 21 लाख (In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con) रुपये का दान दिया, जबकि मारुति कूरियर के रामभाई मोकरिया ने 11 लाख रुपये की निधि में दान देने की घोषणा की है।
इस मौके पर मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा (In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con) कि राम मंदिर के निर्माण के लिए गुजरात ने भी काफी संघर्ष किया और बलिदान भी दिया है। भगवान राम का चरित्र आदि- अनादि काल से लोगों के लिए एक प्रेरणास्रोत बना हुआ है।
उल्लेखनीय है कि विश्व हिंदू परिषद ने 15 जनवरी के बाद राज्य सहित पूरे देश में एक समर्पण निधि अभियान शुरू किया था। इस अभियान के माध्यम से अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर (In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con) के निर्माण के लिए धन जुटाया जा रहा है। इस अभियान में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 5 लाख एक सौ रुपये का चेक देकर अभियान की शुरुआत की है।
 राम मंदिर के निर्माण के लिए अब तक गुजरात से (In Rajkot, a donation of Rs 1.88 crore was collected for con) करोड़ों रुपये का दान दिया जा चुका है। इससे पहले सूरत के एक हीरा व्यवसायी गोविंदभाई ढोलकिया ने मंदिर निर्माण के लिए 11 करोड़ रुपये का दान दिया था। ढोलकिया बहुत लंबे अरसे से आरएसएस से जुड़े हैं।
Continue Reading

News

कर्नाटकः शिवमोगा में विस्फोटक ले जा रहे ट्रक में भीषण धमाका, 8 लोगों की मौत

Published

on

Karnataka: 8 people killed in a truck carrying explosives in Shivamogga
बेंगलुरु, देशज न्यूज। शिवमोगा जिले में गुरुवार रात विस्फोटक भरकर ले जा रहे ट्रक में भीषण धमाका होने से कम-से-कम 8 लोगों की मौत हो गयी। धमाके से आसपास कीइमारतों व सड़कों को नुकसान पहुंचा है। हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया- शिवमोगा में हुई घटना से आहत हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। प्रार्थना करता (Karnataka: 8 people killed in a truck carrying explosives in Shivamogga)  हूं कि सभी घायल जल्द ठीक हो जाएं।
राजधानी बंगलुरु से तकरीबन 350 किमी दूर शिवमोगा के बाहरी इलाके हंसुर में गुरुवार रात ट्रक में भरकर ले जा रहे विस्फोटक में धमाका हो गया। बताया जाता है कि खनन के इस्तेमाल के लिए (Karnataka: 8 people killed in a truck carrying explosives in Shivamogga) विस्फोटक ले जाया जा रहा था।
धमाके की गूंज इतनी तेज थी कि आसपास के तमाम इलाकों में इसे महसूस किया गया। यहां तक कि शिवमोगा के करीब के चिकमगलुरु व दावणगेरे में भी इसे महसूस किया गया। धमाके से आसपास की सड़कों में दरारें आ गयी और इमारतों के शीशे टूट गए। शुरुआत में लोगों को भूकंप के झटके का आभास हुआ। हादसे में अभीतक 8 लोगों (Karnataka: 8 people killed in a truck carrying explosives in Shivamogga) की मौत हुई है। हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ने का अंदेशा है।
Continue Reading

News

गुजरात सरकार ने ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलकर ‘कमलम’ रखा, जानिए क्यों है यह खास नाम कमलम

Published

on

Gujarat government renamed the fruit, not the city, the drag
गांधीनगर/अहमदाबाद, देशज न्यूज। गुजरात का कई लाभकारी तत्वों वाला ड्रैगन फ्रूट अब कमलम के नाम से जाना जायेगा। राज्य सरकार ने ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलकर “कमलम” रख दिया है। यह घोषणा मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने आज की है।
मुख्यमंत्री रूपानी ने कहा कि राज्य में पैदा होने वाला (Gujarat government renamed the fruit, not the city, the drag) ड्रैगन फ्रूट चीन का नही है। यह फल कैक्टस जैसे पौधों पर उगता है और च्यूइंगम और अन्य जड़ी-बूटियों में इसका प्रयोग किया जाता है। इसलिए हमने इसे संस्कृत भाषा में नया नाम कमलम दिया है। उन्होंने बताया कि इस नाम को पेटेंट कराने की प्रक्रिया जारी है।
उल्लेखनीय है कि गुजरात के बनासकांठा, साबरकांठा, दक्षिण गुजरात सहित कच्छ में ड्रैगन फ्रूट उगाया जाता है। (Gujarat government renamed the fruit, not the city, the drag)  कच्छ में 275 एकड़ में इसका उत्पादन किया जाता है।
दरअसल, क्षेत्र के किसानों ने सांसद विनोद चावड़ा को फल (Gujarat government renamed the fruit, not the city, the drag)  के नाम का बदलने के लिए ज्ञापन दिया था। किसानों का मानना है कि इस प्रोटीन युक्त फल का विदेशी नाम है। इसके बाद मुख्यमंत्री रूपानी ने इस फ्रूट का नाम ड्रैगन के बजाय कमल के फल के नामकरण की घोषणा की। खास (Gujarat government renamed the fruit, not the city, the drag)  बात यह है कि गुजरात में भाजपा के प्रदेश कार्यालय का नाम भी कमलम है।
Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: