Connect with us

Begusarai

भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा के बाद बिहार में लगता देश का सबसे बड़ा मेला, मगर कहां

श्रीकृष्ण के भक्ति रंग में डूबा बेगूसराय, आज से शुुुरू होगा पांच दिवसीय मेला

  • तेघड़ा में गिरिराज सिंह रविवार की शाम करेंगे मेला का उद्घाटन 

  • श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर यहां लगता है मथुरा के बाद सबसे बड़ा मेला

बेगूसराय, देशज टाइमस। भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा के बाद बेगूसराय में लगने वाले देश के दूसरे सबसे बड़े श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मेला की तैयारियां पूरी कर ली गई हैंं। शुक्रवार की रात ठीक 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण का जन्म होते ही पांच दिवसीय मेला शुरू हो जाएगा। शहर में 50 से अधिक जगहों पर प्रतिमा स्थापित की गई हैंं।

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को लेकर पूरा जिला नमो भगवते वासुदेवाय और हरे कृष्णा हरे कृष्णा के साथ कृष्ण भक्ति के रंग में सराबोर है। प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किये हैं। सबसे बड़े मेला क्षेत्र तेघड़ा से लेकर चकिया तक, जिला मुख्यालय, वन्द्वार, चेरिया वरियारपुर, वीरपुर, लाखो, व सुशील नगर समेत तमाम जगहों पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बल तैनात किया गया है।

यहां श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर जिले के तेघड़ा में बहुत बड़ा मेला लगता है। यहां मेला देखने के लिए बिहार के ही नहीं, नेपाल, बंगाल, राजस्थान, दिल्ली, यूपी, असम, उड़ीसा, झारखंड के साथ विदेशों में रहने वाले प्रवासी भारतीय भी आते हैं। 1928 में तेघड़ा में मात्र एक जगह से शुरू होने वाला मेला आज 14 पंडालों में सजा है। चैतन्य महाप्रभु के कीर्तन मंडली की सलाह पर ही 1928 पहली बार वंशी पोद्दार के नेतृत्व में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इसके बाद समय के साथ मेला का आकार और मंडपों की संख्या बढ़ती चली गई। तेघड़ा से शुरू होकर यह मेला बरौनी, बीहट, चकिया होते सुशील नगर, लाखो, वनद्वार, पहसारा, मंसूरचक तक पहुंच गया है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply