Monday, May 3, 2021

BJP Sushil Modi: पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा से राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी के छोटे भाई अशोक कुमार मोदी की कोरोना से मौत

पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा से राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी के छोटे भाई की रविवार को मौत हो गई है। वह...

खबरों से जुड़े रहने के लिए आज ही डाउनलोड करें Deshaj Times APP

अभी-अभी

Madhubani : कोरोना पॉजिटिव गर्भवती नर्स को नहीं मिला सदर अस्पताल में बेड, एक साथ दो मौतों पर बवाल

मधुबनी। सदर अस्पताल मधुबनी के प्रसव कक्ष की स्टाफ नर्स अर्चना कुमारी की कोरोना से मौत के बाद स्टाफ नर्सो व परिजनों ने जमकर...

From the Editor-in-Chief: सच मानो मेरे भाई/चलो/उठो/ टाइम आ गया/अब मौत होने पर जश्न मनाया जाए

Deshaj Group Editor-in-Chief Manoranjan Thakur on the deadly second wave. सबसे पहले रोहित तुम्हें नमन/ तेरे जाने का क्षणिक दु:ख है/ वह भी आज तक/...

Biraul: सीएचसी में चिकित्सक डॉ. अभय कुमार व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मरीज के परिजनों की मारपीट, धमकी देकर गए, कर्मियों में भय

बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। बीती रात एक जख्मी का इलाज कर रहे सीएचसी के चिकित्सक डॉ.अभय कुमार एवं अन्य महिला व पुरुष स्वास्थ्य...

Biraul : फूटा कोरोना विस्फोट, एक ही परिवार के तीन लोगों समेत, साहो गांव में एक नाबालिग, सुपौल बस स्टैंड में मिला एक कोरोना...

बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। प्रखंड क्षेत्र में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में दिन प्रतिदिन तेजी से वृद्धि हो रही है। शहर के अलावा...

From the Editor-in-Chief: सच मानो मेरे भाई/चलो/उठो/ टाइम आ गया/अब मौत होने पर जश्न मनाया जाए

पढ़िए Deshaj Times को सीधा अपने व्हाट्सएप पर, कम समय में जानें दिन भर की महत्वपुर्ण खबरें, विश्लेषण के साथ

पढ़िए देशज टाइम्स हिंदी मैगजीन, कम समय में जानें हफ्तेभर की महत्वपुर्ण खबरें, सटीक विश्लेषण के साथ।

Deshaj Group Editor-in-Chief Manoranjan Thakur on the deadly second wave.

बसे पहले रोहित तुम्हें नमन/ तेरे जाने का क्षणिक दु:ख है/ वह भी आज तक/ कल-तुम्हें/ देश भूल जाएगा/ बाकी निशां बचेंगे नहीं/पत्रकारिता यूं ही/धीरे-धीरे/खामोश/स्तब्ध/अकारण/बुत बन/कहीं सोया/मौत की सिरहाने पड़ा मिलेगा/ कारण, तुमने ही तो कहा था/ मेरे दोस्त/ मेरे भाई/ जिंदा हो तो वोट/ मर गए तो कूड़ा/ दु:ख है/ आंखें भरीं हुई हैं/ लब थरथरा रहे हैं/सहसा यकीं नहीं है/यह सोचकर/ जानकर/ तुम अब कूड़ा बन चुके हो/ इस देश के लिए/ उस देश के लिए/ जिसके पास जमीं नहीं बची/ दफन कहां करूंगा तुम्हें/आग की लपटों में चैन/ सुकून से सो भी सको तुम/कहां से तलाशूं/ हवाओं के भरोसे/ कटते-हत्या होती पेड़ों से/उसी ऑक्सीजन के भरोसे/ भला/ ऐसी जिंदगी कब-तलक/ सिर्फ आज तक/ वह भी तब/ जब देश की आबादी की महज एक फीसद ही/ अभी काल की कपाट/ उसकी चपेट में है/ हर रोज बिलखते परिवारों के रोते क्रंदित-क्रंदन/ हताश/असंख्य/अनगिनत/ लाशों को कंधे पर उठाए बांहें/ निराश/ व्यवस्था की भयावह त्रासदी में मरने को आतुर बनें हम/ अभी कतार भर में हैं, मेरे दोस्त/ कहीं अस्पतालों के बाहर/ वहीं घरों में/ मौत की तलाश करते/राह भरते/निराहते/उसे स्वीकार करते/ उसकी लौ में खुद/ समाज/परिवार/उस आवरण को/ धधकते/सुलगते देख/ बेसुध/ महसूस/ पड़ा हूं/ कल-तलक/ चुनाव था/ सरकारें थी/ सभाएं थी/ भीड़ था/ कितना शोर था/आज हर तीसरे व्यक्ति में संक्रमण/अचानक/बदहवास/सबकुछ असहज/अनायास/अनायास-कैसे/कहां से/ ऐसा नहीं होता/ ऐसा सब-कुछ/ सबकुछ होता है/ उस देश में/ जब  देश से ऊपर सत्ता का सिंहासन/उसका तख्त खड़ा/बड़ा हो उठे/आत्मा बंधक पड़ते-पड़ते/संड़ाध/दुर्गंध मारती/हांफती/बेजार/हाथों की मुठ्‌ठी में फड़फड़ा उठने को ताकत सहेजने लगे/ सत्ता की लोलुपता/उसकी जरूरत/उसी को मकसद बनाए/ बड़े-बड़े संस्थान/ लोकतंत्र की नींव/ उसकी बुनावट/ उसके सर्वोच्च होने का अहसास ही खत्म/अकारण हत्यारा बन बैठे/ या/ फिर/ उस देश में/ जीने का मतलब कहां शेष/ बची है/ तो कुछ/ चंद सांसें/ जो खुद को जिंदा मानने को कतई तैयार कहां/ दिख रहे/ समझ लेना मेरे दोस्त/अपना देश आ गया/उस कछार पर/सच मानो मेरे भाई/चलो/उठो/ टाइम आ गया/अब मौत होने पर जश्न मनाया जाए/ मुंबई/गुजरात/हर अस्पताल में लगी है आग/

 

ये कहां से ले आए हो आग/जिंदा बचा नहीं सकते/कम से कम जिंदा अंत्येष्टि पर क्यों आमादा हो/अस्पतालों की ये आग/कहां से/क्यों/ क्या ऑक्सीजन सिलेंडर थामने की ताकत/ नसों में पड़ती झुरझरी का अहसास/ बयां कर रही है/पहले से खाक होते देश को क्या इस आग लगने से बचा लोगे/ देखो/छोटा ही सही/विरोध की चिंगारी भड़क चुकी/ गांधी कहीं फिर से ना लौट जाएं/रोक लो/देखो/ संकट में है देश और तुम्हें/ पंचायत सरकारें बनाने की इतनी जिद/जल्दी क्यों/ लो/यूपी पंचायत चुनाव का/ शिक्षकों/ कर्मचारियों के दो बड़े संगठनों का मतगणना से बहिष्कार/ झेलो/मौत का हिसाब नहीं दे सकते/कम से कम जिंदगी तो बच जाने दो/सरकार ये आपके हीं विधायक हैं/कह रहे हैं/नौकरशाही के ज़रिए/खेल मत खेलिए/ कोविड नियंत्रण का/सीएम साहेब/आपका प्रयोग/ असफल हो गया/अब तो भाजपा विधायकों की जान बचा लीजिए/या फिर/आप/दिल्ली में राष्ट्रपति शासन ही लगा दीजिए/आप संकट वाली मशीन बन चुके हैं/समझ लीजिए/श्मशान! श्मशान! /मंत्रमुग्ध कब्रिस्तान/आखिर कबतक/वैटिलेटर पर देश/ तारीफें बटोरीं आपने/ नियंत्रित कहां रहा/ अकेला फैसला/ ख़तरनाक संकेत/ऑक्सीजन संकट/ नतीजे/ देश के टुकड़ों में आपसी बैर/ एक तीखी/ गंदी लड़ाई/ सियासी दल/ इल्जाम हटाने की कोशिशें/देश की मानचित्र पर/सिर्फ एक शासन/ एक झंडा/मगर/एक मई/भटकते मजदूर/ खुदकुशी तलाशते हाथ/ टीका नदारद/कौन कर रहा राज/किसकी यह नीति/कौन बताए/किसे पड़ी जरूरत/युवाओं की फौज/सेना के हवाले अस्पताल/आखिर कहां जा रहा देश/ किधर जाने से रोक पाओगे देश को/ लाशों के धंधे/कफन/ताबूत/किडनी बाजार/ जिस्मानी खेल/अंगों की तस्करी/नए दौर में/पुरानी बात/नई बात/सत्ता का कारोबार/

 

नसीहत/ दोषारोपण/नीयत/खोट/आराम कुर्सी का स्वाद/कांग्रेस की याद/भाजपा के साथ/देश वहीं/ उसी दोराहे पर/जमींन से आसमां तक/घोर पाप/सत्य बंदी/असत्य का सत्कार/कानून की बात/अकारण/बिना स्वाद/ वर्दी में सफेदी/ खादी में खून/लाल खून का बाजार/ कौन साफ/कौन पाक/ फिर क्यों ना मनाएं तुम्हारी मौत पर जश्न/जब अदालत को केंद्र से पूछना पड़े/ मध्य प्रदेश/ महाराष्ट्र को मांग से अधिक/ दिल्ली को कम ऑक्सीजन क्यों/जवाब/जनता देगी/गलती जिसने की/ उसे हर वोट की कीमत चुकानी पड़ेगी/उसे हक कहां/वह खोजे/करे विकास की तलाश/कहां का इंसाफ/क्यों दे ऑक्सीजन हमारी सरकार/कोई भी महत्वपूर्ण फैसला कहां लेने देंगे तुम्हें/करेंगे बेपर्द/ वजह साफ/ हो रहा/ आज/अपनों का सामाजिक बहिष्कार/ देखो उस बुज़ुर्ग को/अपनी पत्नी की लाश साइकिल पर लाद ले जाने को होना पड़ा है उसे मजबूर/सुन लो/वह सूरज दूर नहीं/जल्द उगेगा/ जब ईवीएम से जिन्न नहीं/ मौत निकलेगा/ फसरी लगाए/नर-पिशाच/नाचेंगे/ तब देर मत करना/तुम भी मेरे साथ आना/ चलना/ मेरे भाई/ मेरे दोस्त/ उस मौत पर जश्न मनानें/जो अभी-अभी कानपुर की एक महिला के लिए ट्वीट कर जिंदगी की जुगाड़ करता/खुद/ देखते-देखते सफेद कपड़ों को तिरंगा समझ लिपट गया/छोड़ गया देश/रह गई उसकी यादें/बस आजतक/कल कोई और उसकी जगह/उसी सफेदी को ओढ़/कफन समझ लेगा/फिर देर मत करना/ उसी मौत पर जश्न मनाने आ जाना/क्योंकि अरे जिंदा बचोगे सिर्फ तुम/देश मर जाएगा/

Read Deshaj Times Hindi Weekly Magazine by downloading the latest issue: https://www.DeshajTimes.com/Magzine

Latest Posts

Madhubani : कोरोना पॉजिटिव गर्भवती नर्स को नहीं मिला सदर अस्पताल में बेड, एक साथ दो मौतों पर बवाल

मधुबनी। सदर अस्पताल मधुबनी के प्रसव कक्ष की स्टाफ नर्स अर्चना कुमारी की कोरोना से मौत के बाद स्टाफ नर्सो व परिजनों ने जमकर...

From the Editor-in-Chief: सच मानो मेरे भाई/चलो/उठो/ टाइम आ गया/अब मौत होने पर जश्न मनाया जाए

Deshaj Group Editor-in-Chief Manoranjan Thakur on the deadly second wave. सबसे पहले रोहित तुम्हें नमन/ तेरे जाने का क्षणिक दु:ख है/ वह भी आज तक/...

Biraul: सीएचसी में चिकित्सक डॉ. अभय कुमार व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मरीज के परिजनों की मारपीट, धमकी देकर गए, कर्मियों में भय

बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। बीती रात एक जख्मी का इलाज कर रहे सीएचसी के चिकित्सक डॉ.अभय कुमार एवं अन्य महिला व पुरुष स्वास्थ्य...

Biraul : फूटा कोरोना विस्फोट, एक ही परिवार के तीन लोगों समेत, साहो गांव में एक नाबालिग, सुपौल बस स्टैंड में मिला एक कोरोना...

बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। प्रखंड क्षेत्र में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में दिन प्रतिदिन तेजी से वृद्धि हो रही है। शहर के अलावा...

ख़बरें

Gopalganj Big News: गोपालगंज में पैसेंजर ट्रेन की चपेट में आई बोलेरो, सौ किमी तक घिसटता रहा बोलेरो

पटना/गोपालगंज, देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। बिहार में  गोपालगंज जिले के लाइन बाजार रेलवे हाल्ट के अमठा गांव के रेलवे ढाला के पास एक बोलेरो...

Benipur: कोविड प्रोटोकॉल में फंसे बेनीपुर के बीडीओ, गिरी गाज, वेतन बंद, अब सीधी कार्रवाई के लिए आरोप पत्र गठित

बेनीपुर, देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। जिला पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने कोविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन के आरोप में बेनीपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी अमोल मिश्र...

Benipur: अब युद्धस्तर पर होगा पंचायत स्तर पर टीकाकरण का कार्य, अंतिम व्यक्ति तक संक्रमण ना फैले होंगे उपाय

बेनीपुर, देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क।  स्थानीय विधायक प्रो. विनय कुमार चौधरी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहेड़ा पहुंचकर कोविड संक्रमण से वचाव के लिए दुसरा...

Biraul : खाद्य सामग्रियों की मुनाफाखोरी, अधिक मूल्य पर सामान बेच रहे दुकानदार, मिली प्रशासन को भनक, छापेमारी, सुपौल बाजार के दो किराना दुकान...

बिरौल देशज टाइम्स डिजिटल डेस्क। कोरोना संक्रमण को लेकर लोग भयभीत हैं। वहीं, आवश्यक वस्तु की बिक्री में दुकानदारों की ओर से मनमाने तरीके...

Delhi: ऑक्सीजन की कमी से दिल्ली के बत्रा अस्पताल में आठ मरीजों की मौत

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी के बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने के कारण आठ मरीजों की मौत हो गई। अस्पताल के कार्यकारी निदेशक...

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.