Connect with us

Delhi

#SC ने प्रशांत भूषण पर लगाया 1 रुपए का जुर्माना, दिया 15 तक का समय, नहीं चुकाया तो…

Published

on

#SC ने प्रशांत भूषण पर लगाया 1 रुपए का जुर्माना, दिया 15 तक का समय, नहीं चुकाया तो...
#SC ने प्रशांत भूषण पर लगाया 1 रुपए का जुर्माना, दिया 15 तक का समय, नहीं चुकाया तो...
नई दिल्ली, देशज न्यूज।  सुप्रीम कोर्ट ने वर्तमान चीफ जस्टिस और चार पूर्व चीफ जस्टिस को लेकर किए गए ट्वीट के मामले पर प्रशांत भूषण पर एक रुपए का जुर्माना लगाया है। जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने जुर्माने का एक रुपया 15 सितंबर तक जमा करने का निर्देश दिया।
कोर्ट ने कहा कि अगर 15 सितंबर तक जुर्माने की रकम जमा नहीं की जाती है तो प्रशांत भूषण को तीन महीने की कैद और तीन साल की वकालत की प्रैक्टिस पर रोक लगाई जाएगी।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
कोर्ट ने कहा कि जजों को प्रेस में नहीं जाना चाहिए। इसलिए कोर्ट के बाहर कही गई बातों पर भरोसा नहीं करना चाहिए। जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि हमने अटार्नी जनरल की राय पर विचार किया है और पाया है कि प्रशांत भूषण के व्यवहार को ध्यान में रखना चाहिए। हमने प्रशांत भूषण को माफी मांगने का अवसर दिया था लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ और वे अपने बयानों को और ज्यादा प्रचार करने लगे। पिछले 25 अगस्त को कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। पिछले 14 अगस्त को कोर्ट ने प्रशांत भूषण को इस मामले पर दोषी करार दिया था।
सुनवाई के दौरान अटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा था कि पहले कई जजों ने भी ऐसे बयान दिए हैं। तब कोर्ट ने अटार्नी जनरल को प्रशांत भूषण के स्पष्टीकरण के कुछ हिस्से पढ़ने को कहते हुए कहा था कि पैरा 17 में लिखा है कि बतौर संस्था सुप्रीम कोर्ट ढह गया है। कोर्ट ने पूछा था कि क्या ऐसे स्पष्टीकरण को स्वीकार किया जा सकता है। क्या उन्होंने अवमानना को ही और आगे नहीं बढ़ाया है। तब अटार्नी जनरल ने कहा था कि 2009 के मामले में उन्होंने खेद जताया है।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
इसमें भी ऐसा कर सकते हैं । तब कोर्ट ने कहा था कि उन्होंने किसी को नहीं बख्शा। पूर्व चीफ जस्टिस को पद से हटाने के लिए सांसदों के प्रस्ताव का ज़िक्र किया। अयोध्या और कुछ मामलों को कोर्ट की तरफ से ज़्यादा महत्व देने की बात कही। कोर्ट ने अटार्नी जनरल से पूछा था कि आप यह बताइए कि अगर सज़ा देनी हो तो क्या दें।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
तब अटार्नी जनरल ने कहा कि आप कह दीजिए कि भविष्य में ऐसा बयान न दें। तब कोर्ट ने कहा था कि हम जानते हैं कि दुनिया में कोई भी पूर्ण नहीं है। गलती सब से होती है। लेकिन गलती करने वाले को इसका एहसास तो होना चाहिए। हमने उनको अवसर दिया लेकिन उन्होंने कहा कि माफी नहीं मांगना चाहते हैं।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
राजीव धवन ने कहा था कि मेरी ड्यूटी सिर्फ अपने मुवक्किल (प्रशांत भूषण) के लिए नहीं, कोर्ट के लिए भी है। मैं वरिष्ठ वकील की हैसियत से बोल रहा हूं। अगर आपको लगता है कि व्यक्ति संस्था के लिए किसी काम का नहीं है तो उसे सजा दें। अगर नहीं तो बतौर वकील किए गए उसके काम को देखें। धवन ने कहा था कि मैंने कोर्ट में तत्कालीन चीफ जस्टिस खेहर को सुल्तान कहा था। फिर अपनी बात स्पष्ट की थी। अवमानना का मुकदमा नहीं चला। सुप्रीम के कंधे इतने चौड़े हैं कि आलोचना सहन कर सकें। धवन ने कहा था कि कोर्ट को बिना शर्त माफी के लिए बाध्य नहीं करना चाहिए था।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
धवन ने कहा था कि भूषण के अपने विचार हैं। उसके आधार पर बयान दिया। स्पष्टीकरण में बयान पर पक्ष रखा। उसके कुछ हिस्से उठा कर अवमानना को बढ़ाने वाला बताना सही नहीं। माफी ज़ोर देकर नहीं मंगवानी चाहिए। जिस बात में भरोसा रखते हों, उसके बारे में डर कर माफी मांगना ईमानदारी नहीं।
धवन ने कहा था कि संसद की आलोचना होती है। लेकिन वह विशेषाधिकार की शक्ति का कम इस्तेमाल करते हैं। सुप्रीम कोर्ट को भी भली मंशा से की आलोचना को उसी तरह लेना चाहिए। चीफ जस्टिस बाइक पर बैठे थे, सबने देखा। उस पर टिप्पणी अवमानना न समझें। इतिहास 4 पूर्व जस्टिसों के बारे में फैसला लेगा। यह कहना अवमानना नहीं माना जाना चाहिए।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
अटार्नी जनरल ने कहा कि पूर्व जजों के बारे में जो कहा गया, उस पर फैसला उनको सुने बिना नहीं हो सकता। इसलिए इसे रहने देना चाहिए। प्रशांत भूषण बार-बार कह रहे हैं कि वह न्यायपालिका का सम्मान करते हैं। इसे ध्यान में रखा जाना चाहिए। तब जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा था कि जज अपने लिए कुछ नहीं कह सकते।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
व्यवस्था की रक्षा कौन करेगा? अगर आपने किसी को तकलीफ पहुंचाई है तो माफी मांगने में क्या हर्ज है। आपने अपने बयान में महात्मा गांधी की बात कही लेकिन माफी मांगने को तैयार नहीं हुए।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
प्रशांत भूषण ने इस बात पर अफसोस जताया था कि सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें बयान पर दोबारा विचार के लिए दो दिन का समय देने की बात कही थी। पर आदेश में लिखा कि बिना शर्त माफी मांगने के लिए समय दिया है। भूषण ने कहा था कि मेरे ट्वीट अच्छी नीयत से किए गए थे और वे संस्था की बेहतरी के लिए किए थे।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan
ऐसे में माफी मांगना सही नहीं है। पिछले 20 अगस्त को सुनवाई के दौरान प्रशांत भूषण ने महात्मा गांधी के बयान का हवाला देते हुए कहा था कि न मुझे दया चाहिए न मैं इसकी मांग कर रहा हूं। मैं कोई उदारता भी नहीं चाह रहा। कोर्ट जो भी सज़ा देगा मैं उसे सहर्ष लेने को तैयार हूं।SC slaps fine Rs.1-Prashant Bhushan

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi

दिवाली-छठ में दरभंगा आने वालों के लिए खुशखबरी, चलेंगी 46 स्पेशल ट्रेनें, जानिए पूरा अपडेट

Published

on

दिवाली-छठ में दरभंगा आने वालों के लिए खुशखबरी, चलेंगी 46 स्पेशल ट्रेनें, जानिए पूरा अपडेट
दरभंगा आने वालों के लिए खुशखबरी : दिवाली-छठ में घर आने वालों के लिए चलेगी 46 स्पेशल ट्रेनें

नई दिल्ली, देशज न्यूज। कोरोना संक्रमण के खतरे के बावजूद रेल यात्रियों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। इसका एक बड़ा करण त्योहारों का सीजन भी है।

दिवाली और बिहार सहित पूर्वांचल इलाके में मनाए जाने वाले छठ पूजा को देखते हुए यात्रियों की तादाद और बढऩे की उम्मीद है. खासकर बिहार जाने वाले छात्रों की संख्या में अगले कुछ दिनों में तेजी से वृद्धि होगी. इसे देखते हुए भारतीय रेलवे कई स्पेशल ट्रेनों की घोषणा कर चुकी है।

इस बार छठ पूजा 18 नवंबर से 21 नवंबर के बीच है। ऐसे में बिहार जाने वाली ट्रेनों की संख्या में बड़ा इजाफा किया गया है. भारतीय रेलवे ने देश के विभिन्न हिस्सों से बिहार जाने के लिए 46 अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनों की घोषणा की है. अगर आप भी यात्रा की योजना बना रहे हैं तो आप इन ट्रेनों की लिस्ट चेक कर टिकट बुक करा सकते हैं।

इससे पहले 13 अक्टूबर को भारतीय रेलवे ने 392 स्पेशल ट्रेनों की घोषणा की थी. ये ट्रेनें 20 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच चलाई जा रही हैं. बहरहाल, छठ स्पेशल ट्रेनों की पूरी लिस्ट आप यहां देख सकते हैं.

यह है 23 जोड़ी ट्रेन

1. 04404/04403 आनंद विहार टर्मिनल-भागलपुर-आनंद विहार टर्मिनल सुपर-फास्ट स्पेशल
2. 04406/04405 नई दिल्ली-बरौनी-नई दिल्ली सुपर-फास्ट स्पेशल
3. 04408/04407 नई दिल्ली-दरभंगा-नई दिल्ली सुपर फास्ट स्पेशल
4. 04092/04091 नई दिल्ली-जयनगर-नई दिल्ली एक्सप्रेस स्पेशल
5. 04030/04029 दिल्ली-मुजफ्फरपुर-दिल्ली-वीकली सुपर-फास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
6. 04410/04409 नई दिल्ली-पटना-नई दिल्ली सुपर-फास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
7. 04412/04411 दिल्ली जक्शन-सहरस – दिल्ली जंक्सन -वीकली सुपर-फास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
8. 04624/04623 अमृतसर-सहरसा-अमृतसर वीकली सुपर-फास्ट स्पेशल एक्सप्रेस
9. 02422/02421 जम्मू-अजमेज-जम्मू-जम्मू सुपर-फास्ट एक्सप्रेस स्पेशल (दैनिक)
10. 02237/02238 वाराणली-जम्मूतवी-वाराणसी सुपर-फास्ट स्पेशल ट्रेन (दैनिक)
11. 04041/04042 दिल्ली जक्शन-देहरादून-दिल्ली जक्शन एक्सप्रेस स्पेशल
12. 02231/02232 लखनऊ-चंडीगढ़-लखनऊ वीकली सुपर-फास्ट एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन (दैनिक)
13. 02448/02447 हजरत निजामुद्दीन-मानिकपुर-हजरत निजामुद्दीन सुपर-फास्ट स्पेशल (दैनिक)
14. 04503/04504 कालका-शिमला-कालका एक्सप्रेस स्पेशल (दैनिक)
15. 09717/09718 जयपुर-दौलतपुर चौक-जयपुर स्पेशल एक्सप्रेस (हफ्ते में तीन दिन)
16. 04887/04888 बाड़मेर-ऋषिकेश-बाड़मेर स्पेशल एक्सप्रेस (दैनिक)
17. 04519/04520 दिल्ली जक्शन-भठिंडा-दिल्ली जक्शन स्पेशल (दैनिक)
18. 02471/02472 श्रीगंगानगर-दिल्ली जक्शन-श्रीगंगानगर स्पेशल (दैनिक)
19. 09611/09612 अजमेर-अमृतसर-अजमेर एक्सप्रेस स्पेशल
20. 09613/09614 अजमेर-अमृतसर-अजमेर एक्सप्रेस स्पेशल (हफ्ते में दो दिन)
21. 02191/02192 जबलपुर-हरिद्वार-जबलपुर सुपर-फास्ट एक्सप्रेस स्पेशल (वीकली)
22. 02530/02529 लखनऊ-पाटलीपुत्र-लखनऊ सुपर-फास्ट एक्सप्रेस स्पेशल (हफ्ते में पांच दिन)
23. 02165/02166 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर-लोकमान्य तिलक सुपरफास्ट एक्सप्रेस स्पेशल (हफ्ते में दो दिन).

Continue Reading

Delhi

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! बदल गया आपकी रसोई गैस सिलेंडर बुकिंग का फोन नंबर

Published

on

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! बदल गया आपकी रसोई गैस सिलेंडर बुकिंग का फोन नंबर
आम आदमी के लिए बड़ी खबर! बदल गया आपकी रसोई गैस सिलेंडर बुकिंग का फोन नंबर

नई दिल्ली, देशज न्यूज। देश की सबसे बड़ी सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी IOC (India Oil Corporation यानी इंडेन के नाम से गैस एजेंसी डिस्ट्रीब्यूशन सर्विस से अगर आप घरेलू एलपीजी सिलेंडर रिफिल कराने के लिए मोबाइल नंबर से बुकिंग कराते हैं तो आपके लिए यह काम की खबर है।

अगर आप इंडेन के ग्राहक हैं तो आज से अब आप पुराने नंबर पर गैस बुक नहीं करा पाएंगे. इंडेन ने अपने एलपीजी ग्राहकों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर गैस बुकिंग करने के लिए नया नंबर भेजा है. इसके जरिए आप गैस रिफिल के लिए सिलेंडर बुक करा सकते हैं।

इंडियन ऑयल की तरफ से जारी इस नंबर का इस्तेमाल इंडेन के देशभर के उपभोक्ता आईवीआर या एसएमएस के जरिए गैस बुकिंग के लिए कर सकते हैं।

इंडियन ऑयल ने बताया कि पहले रसोई गैस बुकिंग के लिए देश के अलग-अलग सर्किल के लिए अलग-अलग मोबाइल नंबर होते थे. अब देश की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी ने सभी सर्किल के लिए एक ही नंबर जारी किया है, इसका मतलब है कि अब इंडेन गैस के देश भर के ग्राहकों को एलपीजी सिलेंडर बुक कराने के लिए 7718955555 पर कॉल या एसएमएस भेजना होगा।

Continue Reading

Delhi

सर्दियों में कोरोना का खतरा अधिक, 6 फीट की दूरी भी नहीं आएगी काम

Published

on

सर्दियों में कोरोना का खतरा अधिक, 6 फीट की दूरी भी नहीं आएगी काम
सर्दियों में कोरोना का खतरा अधिक, 6 फीट की दूरी भी नहीं आएगी काम

नई दिल्ली, देशज न्यूज। सितंबर महीने के बाद से भारत में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं, जिसकी वजह से लोग इसे हल्के में ले रहे हैं. मगर, वैज्ञानिकों का अनुमान है, सर्दियों कोरोना फिर से कहर बरपा सकता है. वहीं, दिल्ली समेत भारत की कई जगहों पर मरीजों को दोबोरा कोरोना संक्रमण होने के मामले सामन आए हैं।

अमेरिका में हुए एक शोध का कहना है कि सर्दियों में कोरोना वायरस से बचने के लिए 6 फीट की दूसरी काफी नहीं है. कोरोना के ड्राप्लेट्स 18 फीट की दूसरी तक जा सकते हैं. यही वजह है कि सर्दियों में इसका खतरा बढ़ने की संभावना अधिक है।

बता दें कि कोरोना वायरस मुंह से निकलने वाली छोटी-छोटी बूदें यानि ड्रॉपलेट्स (एरोसोल्स) के जरिए एक व्यक्ति से दूसरे तक फैलता है. गर्मी में ये बूंदें जल्दी वाष्पित हो जाती है लेकिन सर्दी में नमी के कारण बूंदें जल्दी वाष्पित नहीं होंगी इसलिए इसका खतरा भी ज्यादा है. सांस, छींक या खांसते समय संक्रमित इंसान के मुंह-नाक से निकले ये ड्राप्लेट्स सांस के जरिए व्यक्ति को इंफेक्ट कर सकते हैं।

कोरोना के कई तरह के स्ट्रेन है और भारत में इसके तीन स्ट्रेन मिले हैं. ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि तीनों तरह के स्ट्रेस से कोरोना की आशंका हो सकती है. डेंगू में भी ऐसा ही होता है यानि अगर किसी को एक तरह का डेंगू हुआ हो तो दूसरी बार उसे अलग तरह का डेंगू होगा।

भारत में कोरोना के कई री-इंफेक्शन के मामले सामने आए हैं, जिसके लक्षण काफी गंभीर थे. पहली बार गले में खराश, सांस लेने में तकलीफ, बुखार, छीकें आना जैसे लक्षण थे जबकि दूसरी बार मरीज को वेंटीलेटर की नौबत आ गई थी. वहीं, रिकवरी के बाद भी मरीजों को ठीक होने में काफी समय लग रहा है।

शोध के मुताबिक, कोरोना की गंभीरता काफी हद तक ब्लड ग्रुप पर भी निर्भर करती है. A ब्लड ग्रुप वाले कोरोना मरीजों को इसका खतरा ज्यादा है. वहीं, O ब्लड ग्रुप वाले मरीजों में कोरोना के लक्षण काफी हल्के थे।

ना बरतें लापरवाही
घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनकर रखें,
हाथ-मुंह अच्छी तरह धोएं. सर्दियों में आप इसके लिए गुनगुने पानी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
ठंडे और नम कमरों में सोशल डिस्टेंसिंग ज्यादा बनाकर रखें.
हाथ ना मिलाने जैसे नियमों का भी पालन करें.
दिनभर में गुनगुना पानी पीते रहें, ताकि सर्दी-जुकाम ना हो. इससे इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है,
जिससे कोरोना का खतरा भी बढ़ जाता है.
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में हैल्दी चीजें लेते रहें।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: