Connect with us

Delhi

सीबीएसई ने कहा, 12वीं की बची हुई परीक्षा पर कल शाम तक लेंगे फैसला

Published

on

सीबीएसई ने कहा, 12वीं की बची हुई परीक्षा पर कल शाम तक लेंगे फैसला
नई दिल्ली,देशज न्यूज। केंद्र सरकार और सीबीएसई ने कहा है कि 12वीं की बची हुई परीक्षा 1 से 15 जुलाई के बीच आयोजित करने के मामले पर वे कल शाम तक फैसला ले लेंगे। इस बात की सूचना आज केंद्र सरकार और सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट SC defers plea of some guardians against 12th exam को दी। उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई 25 जून तक के लिए टाल दिया। मामले की अगली सुनवाई 25 जून को होगी।
सुनवाई के दौरान आईसीएसई ने कोर्ट को बताया कि वो भी सीबीएसई के मुताबिक ही फैसला लेगा। पिछले 17 जून को कोर्ट ने केंद्र और सीबीएसई को नोटिस जारी किया था। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई से कहा था कि वह अभिभावकों द्वारा की गई मांग पर विचार कर अपना जवाब कोर्ट के समक्ष दायर करे।
यह याचिका चार अभिभावकों अमित बाथला, चारु सिंह, पूनम सिंगला और सुनीता ने दायर की है। इन अभिभावकों के बच्चे 12वीं कक्षा के छात्र हैं। याचिका में सीबीएसई के पिछले 18 मई को बची हुई परीक्षा के नये शेड्यूल को चुनौती दी है।
याचिका में कहा गया है कि सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट पूर्व की परीक्षा और उसके औसत आधार पर जारी किया जाए। याचिका में कहा गया है कि कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है और ऐसे में छात्रों को परीक्षा देने के लिए बड़ी संख्या में परीक्षा केंद्रो पर बुलाना काफी जोखिम भरा है।
याचिका में कहा गया है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अपने फर्स्ट ईयर और सेकंड ईयर की परीक्षा को रद्द कर दिया है। यहां तक कि आईआईटी ने भी अपनी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं यहां तक की फाईनल ईयर की परीक्षाएं भी। कुछ राज्यों ने युनिवर्सिटी की परीक्षाएं भी रद्द कर दी हैं।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi

पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को मिलेगा भारत में नागरिकता, लंबे समय तक के लिए दिए जाएंगें वीजा

Published

on

पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को मिलेगा भारत में नागरिकता, लंबे समय तक के लिए दिए जाएंगें वीजा

नई दिल्ली, देशज न्यूज। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पाकिस्तान से आए हिन्दू शरणार्थियों Pakistani Hindu refugee delegation met with Union Home Minis के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। शाह ने हिन्दू शरणार्थियों को भरोसा दिलाया कि उन्हें भारत का वीजा लंबे समय तक के लिए प्रदान करवाया जाएगा, जिससे कि वे देश में बस सकें और नागारिकता दिलाने में तेजी लाई जा सके।

गृहमंत्री शाह Pakistani Hindu refugee delegation met with Union Home Minis से मिलने गए हिन्दू शरणार्थियों के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने किया। सिरसा ने शाह से अपील की कि जो परिवार टूरिस्ट, श्रद्धालु और विज़िटर वीज़ा पर भारत आए हैं, उन्हें यहां की नागरिकता दी जाए।

सिरसा ने शाह amit shah meet pakistani hindu को बताया कि तकरीबन 750 हिन्दू मजनू का टीला गुरुद्वारा साहिब के उत्तर में यमुना के किनारे पर टेंटों में रह रहे हैं। यह लोग पड़ोसी मुल्क से भाग कर यहां आए हैं और यहां शरण चाहते हैं, जबकि कई अन्य नई दिल्ली के बाहरी रोहिणी सेक्टर 9 और 11, आदर्श नगर व सिग्नेचर ब्रिज के नज़दीक बसे हुए हैं। गृहमंत्री शाह ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि सभी हिन्दू शरणार्थियों को देश की नागरिकता प्रदान की जाएगी और परिवार के मुख्य को एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा, जो पूरे परिवार के लिए मान्य व वैध होगा।

इस मौके पर सिरसा ने शाह amit shah meet pakistani hindu से पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की ओर से Pakistani Hindu refugee delegation met with Union Home Minis महसूस की जा रही असुरक्षा की भावना पर भी चर्चा की। उन्होंने amit shah meet pakistani hindu कहा कि पाकिस्तान में हिन्दू व अन्य अल्पसंख्यक असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

अल्पसंख्यकों की नौजवान बेटियां भी असुरक्षित महसूस कर रही हैं क्योंकि उन्हें डर है कि वहां कट्टरवादियों द्वारा उन्हें अगवा न कर लिया जाए। वहां हिन्दू व सिख लड़कियों को अगवा करना एक आम बात हो गई है और हर परिवार कट्टरवादियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत करने से डरता है।

Continue Reading

Delhi

देश का सबसे बड़ा कोविड अस्पताल ‘जिंदा’ रखेगा गलवान के शहीदों को

Published

on

देश का सबसे बड़ा कोविड अस्पताल 'जिंदा' रखेगा गलवान के शहीदों को
– 20 फुटबॉल फील्‍ड के बराबर है यह कोविड अस्‍पताल, 10 हजार मरीजों की क्षमता
– आईसीयू और वेंटिलेटर वार्ड को दिया गया कर्नल संतोष बाबू का नाम
नई दिल्ली, देशज न्यूज। गलवान घाटी में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिकों के नाम पर देश के सबसे बड़े दिल्‍ली स्थित सरदार वल्‍लभभाई पटेल कोविड अस्‍पताल Sardar Vallabhbhai Patel Kovid Hospital के विभिन्‍न वॉर्डों के नाम रखे गए हैं। इस अस्पताल के आईसीयू वार्ड का नाम गलवान में शहीद भारत के आर्मी ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू के नाम पर रखा गया है।
रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने शहीदों को सम्‍मान देने के लिए यह फैसला लिया है। डीआरडीओ चेयरमैन के तकनीकी सलाहकार संजीव जोशी ने कहा कि शहीदों को सम्मान देने के लिए सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड-19 अस्पताल के अलग-अलग वार्डों के नाम रखने का फैसला लिया गया है। डीआरडीओ ने यह फैसला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शुक्रवार को लद्दाख यात्रा के बाद लिया है। अचानक लद्दाख पहुंचे प्रधानमंत्री ने यहां लेह में सेना के जवानों से मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया।
दिल्ली में स्थित देश का यह सबसे बड़ा कोविड-19 केयर सेंटर Sardar Vallabhbhai Patel Kovid Hospital दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर छतरपुर में राधा स्वामी सत्संग परिसर में तैयार किया गया है। यह कोविड अस्‍पताल 20 फुटबॉल फील्‍ड के बराबर है। इसमें इंडो-तिब्‍बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) और सीएपीएफ के तीन हजार डॉक्‍टरों और नर्सों की सेवाएं ली गई हैं। इस अस्पताल में एक ही बार में 10 हजार कोरोना के मरीजों के इलाज की व्यवस्था है। अब यह अस्पताल बनकर तैयार है और रविवार को गृहमंत्री अमित शाह और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इसका उद्घाटन कर सकते हैं। इस अस्पताल के विशेष आईसीयू और वेंटिलेटर वार्ड को कर्नल संतोष बाबू के नाम से जाना जाएगा।
गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में सेना के 20 जवान शहीद और 76 जवान घायल हुए थे। लेह के अस्पताल में भर्ती घायल जवानों से शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी ने मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया। पीएम मोदी ने जवानों से कहा कि आप 130 करोड़ देशवासियों के लिए प्रेरणा हैं।
Continue Reading

Delhi

मंगल को कोरोना का अमंगल : देश में आए कोरोना के 18, 522 नए मामले, 418 लोगों की मौत

Published

on

मंगल को कोरोना का अमंगल : देश में आए कोरोना के 18, 522 नए मामले, 418 लोगों की मौत
नई दिल्ली, देशज न्यूज। देश में वैश्विक महामारी कोरोना के मरीजों की संख्या अब पांच लाख 66 हजार के करीब पहुंच गई है। corona update 18522 new cases, 418 deaths  पिछले 24 घंटों में कोरोना के 18,522 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 5, 66,840 पर पहुंच गई है। कोरोना से पिछले 24 घंटों में 418 लोगों की मौत हो गई।
इसके साथ ही इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 16,893 तक पहुंच गई है। मंगलवार की सुबह केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में 2,15,125 एक्टिव मरीज हैं। वहीं, राहत भरी खबर भी है कि पिछले 24 घंटों में कोरोना के 13,099 मरीज स्वस्थ हुए हैं। देश में 3,34,822 कुल मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।
राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना के मरीजों की संख्या
और उनमें हुई बढ़ोतरी corona update 18522 new cases, 418 deaths 
अंडमान और निकोबार- 90(+14), आंध्रप्रदेश में 13,891(+650), अरुणाचल प्रदेश- 187(+5), असम- 7752 (+546), बिहार- 9640(+428), चंडीगढ़-435(+6), छत्तीसगढ़- 2761(+99), दिल्ली- 85161 (+2084), दादरा नगर हवेली और दमण व दीव- 203(+25), गोवा -1198, गुजरात- 31938 (+618), हरियाणा- 14210 (+381), हिमाचल प्रदेश- 942 (+26), झारखंड- 2426(+62), कर्नाटक- 14295 (+1105), केरल -4189, मध्यप्रदेश- 13370(+184), महाराष्ट्र- 1,69,883 (+5257), मणिपुर-1227(+42), मिजोरम-148, मेघालय-47, नगालैंड-434(+19), ओडिशा- 6,859(+245), पुदुचेरी- 619, पंजाब- 5418(+202), राजस्थान- 17,660 (+389), सिक्किम-88, तमिलनाडु- 86,224(+3949), तेलंगाना- 15,394 (+975), त्रिपुरा-1380(+34), जम्मू और कश्मीर-7237(+144), लद्दाख-964(+1), उत्तरप्रदेश में 22,828 (+681), उत्तराखंड -2831(+8), पश्चिम बंगाल- 17,907 (+624) मामले की पुष्टि हो चुकी है।
Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.