Connect with us

Delhi

सचिन पायलट ने कहा, मैं अब भी कांग्रेेस में हूं,भाजपा में नहीं जा रहा,मेरा विरोध गहलोत के खिलाफ

Published

on

सचिन पायलट ने कहा, मैं अब भी कांग्रेेस में हूं,भाजपा में नहीं जा रहा,मेरा विरोध गहलोत के खिलाफ
नई दिल्ली, देशज न्यूज। अशोक गहलोत सरकार से बगावत के बाद सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष का पद गंवाना पड़ा है। इस बीच पायलट ने कहा है कि उन पर अपनी ही पार्टी की सरकार गिराने (Sachin pilot says- he is still in congress) का जो आरोप लगा है, वो गलत है। मेरा विरोध सिर्फ मुख्यमंत्री के गलत निर्णय और नीतियों के खिलाफ है। उन्होंने यह भी कहा कि जहां तक भाजपा में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रहीं हैं, ऐसा कुछ नहीं होने जा रहा।
सचिन पायलट ने बुधवार को एक निजी संस्थान को दिए इंटरव्यू में कहा, “मुझ पर भाजपा के साथ मिलकर सरकार (Sachin pilot says- he is still in congress)  गिराने का आरोप है, जो सरासर गलत है। मैं अपनी ही पार्टी के खिलाफ ऐसा काम क्यों करूंगा। मैं अब भी कांग्रेेेस में हूं, भाजपा में नहीं जा रहा।”
पायलट ने गहलोत सरकार के फैसलों पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुझे राजस्थान में (Sachin pilot says- he is still in congress)  काम करने नहीं दिया गया। मेरे पास किसी भी परियोजना से जुड़ी फाइलें नहीं आती थीं। यहां तक कि मैंने देशद्रोह कानून हटाने की मांग की तो मेरे खिलाफ ही उसका प्रयोग किया गया।
उन्होंने कहा कि सरकार में मुझे पद तो दिया गया लेकिन लोगों से किये वादे को निभाने की शक्ति नहीं दी गयी। पांच साल की मेरी मेहनत को वादाखिलाफी के जरिये इस सरकार ने जाया किया है।
अपने विद्रोही रुख पर पायलट में कहा कि उनका विरोध मुख्यमंत्री अशोक (Sachin pilot says- he is still in congress)  गहलोत के खिलाफ है, पार्टी के नहीं। मैं आज भी कांग्रेसी हूं और भाजपा में नहीं शामिल हो रहा। मेरी कोशिश हमेशा से राजस्थान के लोगों की सेवा करने की रही है। हालांकि गहलोत ने सत्ता पाते ही लोगों से किये वादे को भुला दिया।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi

शाहीनबाग की दादी ने कहा, मैं मोदी से नहीं डरती हूं, बेटे जैसे हैं, मौका मिला तो जरूर मिलूंगी

Published

on

शाहीनबाग की दादी ने कहा, मैं मोदी से नहीं डरती हूं, बेटे जैसे हैं, मौका मिला तो जरूर मिलूंगी
शाहीनबाग की दादी ने कहा, मैं मोदी से नहीं डरती हूं, बेटे जैसे हैं, मौका मिला तो जरूर मिलूंगी

नई दिल्ली, देशज न्यूज। टाइम्स मैगजीन की सौ प्रभावशाली हस्तियों में शामिल शाहीनबाग की बिल्किस दादी ने कहा, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नहीं डरती। वह तो उनके बेटे के समान हैं। मौका मिला तो जरूर मिलूंगी। वैसे पीएम मोदी भी उसी टाइम्स की हस्तियों में शामिल हैं जहां दादी हैं।

जानकारी के अनुसार बिल्किस दादी सीएए के खिलाफ शाहीन बाग के आंदोलन के दौरान प्रमुख चेहरा बनकर उभरी थीं। टाइम्स की सूची में आने के बाद वे न सिर्फ भारत बल्कि दुनिया में भी सुर्खियों में आ गई हैं।

एक सवाल के जवाब में बिल्किस ने कहा, यदि प्रधानमंत्री मोदी उन्हें मिलने के लिए बुलाते हैं तो वे खुशी से उनसे मुलाकात करेंगी. इसमें डरने वाली बात कौनसी है। मैं तो उनके लिए मां जैसी हूं। दादी ने मोदी को टाइम्स की सूची में आने पर बधाई भी दी।

शाहीनबाग आंदोलन के वक्त के अनुभवों को साझा करते हुए दादी ने कहा, ठंड, गर्मी, बारिश के बावजूद हमने प्रदर्शन जारी रखा. हम उस वक्त भी नहीं हटे जब जामिया में बच्चों की पुलिस की ओर से पिटाई की गई।

Continue Reading

Delhi

फिट इंडिया डायलॉग: मेरी मां पूछती है कि बेटा हल्दी खाते हो कि नहीं: पीएम मोदी

Published

on

फिट इंडिया डायलॉग: मेरी मां पूछती है कि बेटा हल्दी खाते हो कि नहीं: पीएम मोदी
फिट इंडिया डायलॉग: मेरी मां पूछती है कि बेटा हल्दी खाते हो कि नहीं: पीएम मोदी

नई दिल्ली, देशज न्यूज। पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को  फिट इंडिया मूवमेंट की पहली वर्षगांठ मनाने के लिए आयोजित एक राष्ट्रव्यापी ऑनलाइन फिट इंडिया संवाद के दौरान लोगों को फिटनेस के लिए प्रभावित करने वाले लोगों के साथ बातचीत कर रहे हैं। इनमें टीम इंडिया (क्रिकेट) के कप्तान विराट कोहली, केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू, मिलिंद सोमन से लेकर रुजुता स्वेकर भी शामिल हैं। ऑनलाइन बातचीत में शामिल लोग फिटनेस व अच्छे स्वास्थ्य के बारे में बताएंगे।

उनके विचारों पर प्रधानमंत्री भी अपना मार्गदर्शन दे रहे हैं। फिटनेस संवाद के दौरान पीएम मोदी ने विराट कोहली से यो-यो टेस्ट के बारे में भी पूछा। उन्होंने कहा कि यह टीम के लिए बहुत जरूरी है। इससे फिटनेस लेवल बना रहता है। उन्होंने यह भी कहा,हमें दुनिया की अन्य टीमों के खिलाड़ियों की तुलना में खुद को अधिक फिट रखने की आवश्यक्ता है।  विराट कोहली ने कहा, शरीर के साथ दिमाग को भी फिट रखने की भी जरूरत महसूस होती है। उन्होंने कहा, हमें खाने व नींद के बीच समय के अंतर को बनाकर रखना होगा।

प्रधानमंत्री की ओर से एक जन आंदोलन के रूप में फिट इंडिया मूवमेंट की कल्पना की गई। देश के नागरिकों को भारत को एक फिट राष्ट्र बनाने की दिशा में फिट इंडिया मूवमेंट की परिकल्पना की गई थी। इसमें नागरिकों को मौज-मस्ती करने के लिए आसान और गैर-महंगे तरीके शामिल हैं, जिससे वे फिट रहें और व्यवहार में बदलाव लाएं। यह फिटनेस को हर भारतीय के जीवन का अनिवार्य हिस्सा बनाता है।”

इसके लॉन्च के बाद से फिट इंडिया मूवमेंट के तत्वावधान में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में देश भर से लोगों की उत्साहपूर्ण भागीदारी देखी गई है। इस संवाद के दौरान विराट कोहली ने कहा, मैं खुद का प्रक्टिस मिस भी कर देता हूं, लेकिन फिटनेस सेशन नहीं करता हूं। विराट कोहली ने लोगों से डाइट पर भी ध्यान देने की अपील की।

फिट इंडिया संवाद के दौरान चर्चा करते हुए टीम इंडिया (क्रिकेट) के कप्तान विराट कोहली ने कहा, ‘जिस पीढ़ी में हमने खेलना शुरू किया वह तेजी से बदला। हमें भी खुद को बदलना जरूर था। हमनें खुद को फिट रखने का तरीका बदला।’

फिट इंडिया संवाद के दौरान स्वामी शिवध्यानम सरस्वती ने कहा कि योग कैप्सूल से कम समय में आप योग का अधिकतम लाभ ले सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि लोगों को मंत्र को धर्म से नहीं जोड़ना चाहिए। प्रधानमंत्री के एक सवाल में उन्होंने कहा कि हमारी प्राचीन गुरुकुल पद्धति में हमें बौद्धिक शिक्षा के साथ-साथ उसे अपने जीवन में उतारने का मौका मिलता था। हमारा मानना है कि योग सिर्फ अभ्यास नहीं, जीवन जीने की कला है। हम आश्रम में एक वातावरण कराते हैं कि योग के सिद्धातों को हम कैसे अपने जीवन में उतार सकते हैं।

उन्होंने इस दौरान बिहार योग विद्यालय के संस्थापक को भी याद किया। साथ ही कहा कि हम योग के माध्यम से लोगों के जीवन को बेहतर करने की कोशिश करता हूं।फिट इंडिया संवाद के दौरान स्वामी शिवध्यानम सरस्वती ने कहा कि सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय का मंत्र ही हमें प्रोत्साहित करता है। यही जीवन में हमें समर्पण का भाव पैदा करता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजकल में सप्ताह में अक्सर अपनी मां से बात करने की कोशिश करता हूं। जब भी बात करता हूं वह मेरे से पूछती है कि बेटा हल्दी लेते हो कि नहीं।

 रुजुता स्वेकर ‘Eat Local Think Global’ अभियान की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सराहना की। रुजुता ने कहा कि जब हम स्थानीय खाना खाएंगे तो वहां के किसानों के लिए भई अच्छा है। साथ ही साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी अच्छा है। उन्होंने कहा कि घी की चर्चा करते हुए कहा कि आजकल लोग दूध-हल्दी और घी के बारे में बात करने लगे हैं। लोग इसके महत्व को समझने लगे हैं।

 फिट इंडिया संवाद के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हर किसी को अपनी लकीर बड़ी करने पर मेहनत करनी चाहिए।

 मिलिंद सोमन ने लोगों से फिट रहने के लिए अपील की। साथ ही उन्होंने कहा फिट इंडिया मूवमेंट से लोगों तक फिटनेस की सही जानकारी पहुंचेगी।

 मिलिंद सोमन ने कहा कि मुझे जितना भी समय मिलता है मैं खुद को फिट रखने के लिए कुछ न कुछ करता हूं। मैं जिम नहीं जाता हूं। मैं किसी मशीन का इस्तेमाल नहीं करता हूं।

पीएम मोदी से मिलिंद सोमन ने बात करते हुए मजाकिया लहजे में उनके उम्र के बारे में पूछा। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मेरी मां 81 साल की उम्र में भी वॉकिंग करती हैं। मैं खुद को इस उम्र में फिट रखने के लिए काफी भागता हूं।

Continue Reading

Delhi

शाहीनबाग की दादी दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में, TIME ने बताया ऑइकन

Published

on

शाहीनबाग की दादी दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में, TIME ने बताया ऑइकन
शाहीनबाग की दादी दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में, TIME ने बताया ऑइकन

नई दिल्‍ली, देशज न्यूज। शाहीनबाग फिर से अचानक सुर्खियों में है। इसबार इसका विरोध या समर्थन नहीं हो रहा बल्कि हर कोई गर्व से तना है। कारण, शाहीनबाग की दादियों में से एक, बिलकिस दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली शख्सियतों में शुमार हो गई हैं। TIME मैगजीन की ताजा लिस्‍ट में उन्‍हें ऑइकन कैटेगरी में जगह दी गई है।


टाइम मैगजीन की तरफ से लिस्‍ट जारी होने के बाद ट्विटर पर शाहीन बाग ट्रेंड करने लगा। यूजर्स ने लिखा कि इस उम्र में बिलकिस के संघर्ष का जज्‍बा काबिलेतारीफ है। कांग्रेस नेता सलमान निजामी ने बिलकिस को बधाई देते हुए एक तस्‍वीर ट्वीट की। दीपांशु ने लिखा कि ‘दादी जी रॉकिंग।’ गणेश ने लिखा कि ‘हमारे देश की दादी किसी से कम हैं क्‍या।

बिलकिस उन हजारों प्रदर्शनकर्ताओं में से एक थीं जो दिल्‍ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ महीनों बैठी रहीं। उनके बारे में पत्रकार राणा अय्युब ने लिखा है कि ‘बिलकिस को मशहूर होना चाहिए ताकि दुनिया तानाशाही के खिलाफ संघर्ष की ताकत का एहसास करे।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: