Connect with us

Delhi

भारतीय रेलवे अब रेल कोच और घर तक पहुंचायेगा यात्रियों का सामान, शुरू की सेवा

Published

on

भारतीय रेलवे अब रेल कोच और घर तक पहुंचायेगा यात्रियों का सामान, शुरू की सेवा
भारतीय रेलवे अब रेल कोच और घर तक पहुंचायेगा यात्रियों का सामान, शुरू की सेवा

नई दिल्ली, देशज न्यूज। भारतीय रेलवे नए उपायों से राजस्व को बढ़ाने के लिए प्रयासरत है. इसी अंतर्गत रेलवे ने दिल्ली मंडल में गैर किराया राजस्व अर्जन योजना के तहत ऐप आधारित बैग्स ऑन व्हील्स सेवा शुरू की है।

देश में रेलयात्रियों के लिए यह अपनी तरह की पहली सेवा होगी. BOW ऐप  के द्वारा रेलयात्री अपने सामान को अपने घर से रेलवे स्टेशन तक लाने अथवा रेलवे स्टेशन से घर तक पहुंचाने के लिए आवेदन करेंगे। यात्री का सामान सुरक्षित तरीके से लेकर रेलयात्री के बुकिंग विवरण के अनुसार उसके कोच या घर तक पहुंचाने का कार्य ठेकेदार द्वारा किया जाएगा।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

नाम मात्र के शुल्क पर रेलयात्रियों को सामान की डोर-टू-डोर सेवा फर्म द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी और यात्री के घर से उसका सामान रेलगाड़ी में उसके कोच तक अथवा उसके कोच से उसके घर तक सुगमता से पहुंचाया जाएगा. यह सेवा रेलयात्रियों विशेषकर वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग जनों और अकेले यात्रा कर रही महिला यात्रियों के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होगी।

इस सेवा की खास खूबी यह है कि सामान की सुपुर्दगी रेलगाड़ी के प्रस्थान से पहले सुनिश्चित की जाएगी. इसके फलस्वरूप यात्री कोच तक सामान लाने या ले जाने की परेशानी से मुक्त हो एक अलग ही प्रकार की यात्रा का अनुभव करेंगे. शुरूआत में यह सेवा नई दिल्ली, दिल्ली हजरत निजामुद्दीन, दिल्ली छावनी, दिल्ली सराय रोहिला, गाजियाबाद और गुडगांव रेलवे स्टेशनों से चढ़ने वाले रेलयात्रियों के लिए उपलब्ध होगी।

इस सेवा से न केवल यात्री लाभान्वित होंगे बल्कि रेलवे को भी सालाना 50 लाख रुपए के गैर किराया राजस्व की प्राप्ति के साथ ही साथ में एक वर्ष की अवधि के लिए 10 फीसदी की हिस्सेदारी भी प्राप्त होगी। भारतीय रेलवे के यात्रियों ने अब तक पैलेस ऑन व्हील्स सेवा का आनंद उठाया है, अब वे बैग्स ऑन व्हील्स सेवा का भी आनंद ले सकेंगे।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Delhi

46 साल बाद भजन गायक से अभिनेता बने अनूप जलोटा को मिली BA की डिग्री

Published

on

46 साल बाद भजन गायक से अभिनेता बने अनूप जलोटा को मिली BA की डिग्री
46 साल बाद भजन गायक से अभिनेता बने अनूप जलोटा को मिली BA की डिग्री

नई दिल्ली, देशज न्यूज। भजन गायक से अभिनेता बने अनूप जलोटा को 46 साल बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी से बीए की डिग्री मिली है। दरअसल, अनूप जलोटा ने साल 1974 में यहां से ही ग्रेजुएशन किए, लेकिन डिग्री नहीं ले पाए थे. ऐसे में बुधवार सुबह कुलपति कार्यालय में कुलपति की ओर से उन्हें यह डिग्री दी गई।

दरअसल, लखनऊ यूनिवर्सिटी की स्थापना के पूरे 100 साल हो चुके हैं, ऐसे में यहां ‘शताब्दी उत्सव’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. इसी कार्यक्रम के तहत अनूप जलोटा को यहां आमंत्रित किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 46 साल बाद अपनी बीए की डिग्री हासिल करने के बाद अनूप जलोटा ने कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा है कि मानों उन्हें दूसरी बार पद्मश्री से सम्मानित किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, अनूप जलोटा जल्द ही एक रैप सॉन्ग से सिंगर बप्पी लहरी और रैपर हनी सिंह को टक्कर देते नजर आएंगे. अनूप जलोटा का यह गाना अनकी अपकमिंग फिल्म ‘वो मेरी स्टूडेंट है’ से है, जिसकी शूटिंग लगभग पूरी हो गई है. इस फिल्म में उनके साथ उनकी स्टूडेंट जसलीन मथारू नजर आने वाली हैं।

हाल ही में जसलीन ने अपने इंस्टाग्राम पर अनूप जलोटा के साथ शूटिंग की तस्वीरें शेयर की थी, जिसमें दोनों ग्लैमरस आउटफिट में नजर आ रहे थे।

Continue Reading

Delhi

CoronavirusVaccine: 4 चरणों में लगेंगी वैक्सीन, पहले स्वास्थ्यकर्मी, आपका नंबर किस चरण में

Published

on

CoronavirusVaccine: 4 चरणों में लगेंगी वैक्सीन, पहले स्वास्थ्यकर्मी, आपका नंबर किस चरण में
CoronavirusVaccine: 4 चरणों में लगेंगी वैक्सीन, पहले स्वास्थ्यकर्मी, आपका नंबर किस चरण में

नई दिल्ली,: देश के कई राज्यों में कोरोना का वायरस का कहर दोबारा तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने दो दिन पहले कोरोना से सर्वाधिक प्रभावी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। इस बैठक में पीएम मोदी ने कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के निर्माण और उसे आम जनमानस तक पहुंचाने पर भी विस्तार से चर्चा की।

पूरी दुनिया को इस समय बेसब्री से कोरोना वैक्सीन का इंतजार है। माना जा रहा है कि अगले तीन से चार महीने में कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी। केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कोरोना वैक्सीन के वितरण की तैयारियां शुरू करने के निर्देश भी दे दिए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पहले चरण में एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी। तीसरे चरण में 55 वर्ष से अधिक लोगों को मिलेगी वैक्सीन, माना जा रहा है कि पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों के साथ साथ सफाई कर्मियों और पुलिसकर्मियों को भी वैक्सीन दी जाएगी।

जानकारी के अनुसार देश में कोरोना वैक्सीन का वितरण का काम कुल चार चरणों में पूरा किया जाएगा। पीएम नरेन्द्र मोदी ने राज्यों से कहा कि जिस तरह कोविड-19 महामारी से लड़ाई में प्रत्येक जान बचाने पर ध्यान दिया गया। उसी तरह यह सुनिश्चित करने को प्राथमिकता दी जाएगी कि प्रत्येक व्यक्ति को अनिवार्य वैज्ञानिक मापदंड पर खरा उतरा टीका उपलब्ध हो सके।

वैक्सीन वितरण के दूसरे चरण में बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं व गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीजों वैक्सीन दी जाएगी। तीसरे चरण में 55 वर्ष से अधिक लोगों को प्राथमिकता दी जा सकती है। इसके बाद के चरण में सामान्य लोगों का नंबर आएगा. पीएम मोदी ने राज्यों से कहा कि कहा कि हर स्तर पर सरकारों को यह सुनिश्चित करने के लिए मिल कर काम करना होगा कि टीकाकरण अभियान सुगमतापूर्वक, व्यवस्थित, और लगातार चलाया जा सके।

 

Continue Reading

Delhi

CycloneNivar: चक्रवाती निवार ने मचाई भारी तबाही,कई शहरों में तूफानी हवाओं के साथ बारिश

Published

on

CycloneNivar: चक्रवाती निवार ने मचाई भारी तबाही,कई शहरों में तूफानी हवाओं के साथ बारिश
CycloneNivar: चक्रवाती निवार ने मचाई भारी तबाही,कई शहरों में तूफानी हवाओं के साथ बारिश

नई दिल्ली, देशज न्यूज। तमिलनाडु (Tamil Nadu) और पुडुचेरी के कुछ हिस्सों में बुधवार को तेज हवाएं चलने के साथ मूसलाधार बारिश हुई, जहां के कई तटवर्ती क्षेत्रों में भीषण चक्रवात ‘निवार’ का खतरा करीब आ रहा है, जो अब तट की ओर बढ़ गया है। इस बीच जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी होने से उत्तर भारत में ठंड बढ़ गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और इसके पड़ोसी शहरों में हवा की गति धीमी होने के कारण वायु की गुणवता खराब होकर गंभीर श्रेणी में पहुंच गई है।

गुरुवार तड़के मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान निवार कमजोर हो गया है और अब यह ‘बहुत भीषण चक्रवाती तूफान’ से ‘भीषण चक्रवाती तूफान’ में तब्दील हो गया है. निवार ने पुडुचेरी के नजदीक तट को पार कर लिया है। इससे पहले बुधवार को तमिलनाडु के महाबलिपुरम में चक्रवात निवार की लैंडफॉल प्रक्रिया के दौरान तेज हवाएं देखने को मिलीं. इसके अलावा, पुडुचेरी में भी तेज़ हवाएं और भारी वर्षा हुई।

 

कई इलाकों में भारी तबाही मचाने के बाद अब चक्रवाती तूफान निवार कमजोर पड़ चुका है और अब इसकी रफ्तार कुछ कम पड़ गई है. बुधवार की आधी रात बाद तमिलनाडु और पुदुचेरी में चक्रवाती तूफान निवार समुद्री तट से टकराया, जिसकी वजह से कई इलाकों में भीषण बारिश हुई और पूरा जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है. अभी तक चेन्नई, महाबलीपुरम समेत कई शहरों में तेज तूफानी हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने बताया कि इस तूफान की कैटेगरी अब ‘बहुत भीषण चक्रवाती तूफान’ से ‘भीषण चक्रवाती तूफान’ हो गई है और इसकी रफ्तार कम हो चुकी है।

Live Updates:

  • तमिलनाडु में भारी बारिश, चेन्नई के कई इलाकों में जलभराव
    Cyclone Nivar: 9 बजे तक बंद चेन्नई एयरपोर्ट
  • चक्रवात के प्रभाव से चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलजमाव हो गया
    माउंट आबू में न्यूनतम तापमान 3.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया

IMD ने ट्विटर पर कही ये बात
आईएमडी ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान निवार अभी पुडुचेरी के पूर्व- दक्षिणपूर्व में लगभग 40 किमी दूर स्थित कुड्डालोर से 50 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व में है। चक्रवाती तूफान के पहुंचने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अगले 3 घंटों में पुडुचेरी के पास वाले तट को पार कर जाएगा।’ इससे पहले मौसम विभाग ने कहा कि निवार चक्रवाती तूफान ने बेहद विकराल रूप धारण कर लिया है और वह तमिलनाडु तथा चेन्नई के बीच तटीय क्षेत्र के पहुंचने के करीब है। इससे पहले दोनों प्रदेशों के कई हिस्सों में बुधवार को मूसलाधार बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं, जिसके मद्देनजर एक लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है।

मौसम विभाग ने कही ये बात
मौसम विभाग ने कहा है कि दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में बने निवार चक्रवात ने पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ते हुए अति विकराल रूप धारण कर लिया है और चेन्नई से 160 किलोमीटर तथा पुडुच्चेरी से 85 किलोमीटर दूर तट से टकराने वाला है। विभाग ने ताजा बुलेटिन में कहा है तूफान के 25 नवंबर की मध्यरात्रि और 26 नवंबर तड़के के बीच की अवधि में तमिलनाडु और पुडुचेरी के बीच कराईकल और मामल्लापुरम तट से टकराने की आशंका है। तूफान की गति 120-130 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी जो बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: