Connect with us

BIRAUL

बिरौल में शिक्षकों ने सीएम नीतीश का पुतला फूंका, प्रतियों को जलाया

Published

on

बिरौल में शिक्षकों ने सीएम नीतीश का पुतला फूंका, प्रतियों को जलाया

बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। सेवाशर्त के विरोध में शिक्षकों ने बुधवार को कालादिवस मनाते हुए बीआरसी के मुख्य द्वार पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फुंकते हुए प्रतियों को जलाया।

 

टीईटी, एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के बैनर तले प्रखंड अध्यक्ष मुकेश पौद्दार के नेतृत्व मे शिक्षक एकत्रित हो कर आक्रोश प्रदर्शन किए। कार्यक्रम में उपस्थित संघ के वरीय जिला उपाध्यक्ष राशिद अनवर ने कहा कि वर्ष 2015 से ही सेवाशर्त का इंतजार कर रहे शिक्षकोंं की सेवाशर्त को कैबिनट से स्वीकृति मिलते ही शिक्षकोंं का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने इसे स्वयं के साथ धोखा करार दे रहेे हैं। जिला उपाध्यक्ष ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार ने शिक्षकों को चुनावी वर्ष में लॉलीपॉप थमाने का काम किया है। वरीय जिला उपाध्यक्ष ने कहा कि  हमारी मुख्य मांग थी कि हमे नियमित शिक्षको के भांति सेवाशर्त और वेतनमान मिले।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 

लेकिन न ही हमारे मुख्य मांगो पर गौर किया गया और न ही राज्यकर्मी का दर्जा दिया गया। यह सेवाशर्त किसी भी स्तर से शिक्षकों के मनोनुकूल नही है। हम इसकी कड़ी शब्दो मे विरोध करते है। संघ के प्रखंड अध्यक्ष मुकेश पौद्दार ने कहा कि न तो कालबद्ध पदोन्नति की व्यवस्था की गई और न ही ऐच्छिक स्थानांतरण की। ईपीएफ पर तो हमलोग पहले ही न्यायदेश प्राप्त कर चुके है सरकार ने वहां भी धोखा दिया है।वहींं शिक्षकों को ग्रेच्युटी,पेंशन समेत तमाम सुविधा से वंचित रखकर बस शिक्षको के साथ छल किया है जिसके विरोध मे आज हम सभी आंदोलित हुए है।

 

संघ के प्रखंड उपाध्यक्ष मो.मोइन अंसारी ने बताया कि संघ अब सरकार से आर पार की लड़ाई लडे़गा। आने वाले विधानसभा और विधानपरिषद के चुनाव में यह सेवाशर्त सरकार के ताबूत का आखरी कील साबित होगा। मौके पर जितेंद्र गांंधी,राजकिशोर यादव,सुरेश कमती,गुन्जेश्वर ठाकुर,निर्मल पंडित, शाहनवाज अंसारी, सहित दर्जनो शिक्षक मौजूद थे।

बीआरसी पर प्रदर्शन करते शिक्षक।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BIRAUL

बिरौल ने जाना एक वोटर की जिम्मेदारी, मत के प्रयोग के मायने, अभाविप ने कहा-वोट जरूर डालना

Published

on

बिरौल ने जाना एक वोटर की जिम्मेदारी, मत के प्रयोग के मायने, अभाविप ने कहा-वोट जरूर डालना
बिरौल ने जाना एक वोटर की जिम्मेदारी, मत के प्रयोग के मायने, अभाविप ने कहा-वोट जरूर डालना
बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिरौल इकाई की ओर से कोठी पुल के पास मंगलवार को मतदाता जागरूकता अभियान के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया।
इस अवसर पर परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्रीनिवास ने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व बिहार विधानसभा चुनाव लोकतांत्रिक देश के लिए उत्सव है, हर व्यक्ति को चाहिए कि वह अपना मत का प्रयोग करें क्योंकि बिहार ज्ञानियों ,विदुषियों की भूमि रही है, विश्व की सबसे प्राचीन लोकतंत्र की भूमि बिहार की वैशाली रही है, एक बेहतर बिहार के लिए हमे अपने समाज मे जनजागरण चलाकर सभी लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है।
वहीं, प्रांत सह संगठन मंत्री अजित उपाध्याय ने कहा, अभाविप के कार्यकर्ता होने के नाते समाज व राज्य से जुड़े हर मुद्दों को आमजनों तक ले जाने की आवश्यकता है, क्योंकि दुनिया की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक देश होने के बाबजूद हम अपने मतों का प्रयोग नही कर रहें है जो दुखद है क्योंकि बाबा साहब अम्बेडर द्वारा प्रदत्त संविधान हर व्यक्ति को मतदान के लिए समान अधिकार प्रदान करते है, अतः हम सभी की जिम्मेदारी है बेहतर कल के लिए शत प्रतिशत मतदान करें।
विश्वविद्यालय संयोजक पिंटू भंडारी ने कहा कि मत प्रतिशत बढ़ाने हेतु हर घर तक हमे पहुंंचना होगा, मतदान के महत्व को आमजनों तक पहुंंचाना होगा,युवाओं व संभावनाओं से भरा बिहार में मतदान आवश्यक है।
वहीं विभाग संयोजक सुमित सिंह ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में चुनाव अतिमहत्वपूर्ण व्यवस्था है, लेकिन अबतक लोग अपने मतदान को लेकर गंभीर नहीं है, सशक्त लोकतंत्र के लिए मतदान वरदान के समान है, हमे लोकतंत्र की इस खूबसूरती को बचाने हेतु हर व्यक्ति को मतदान हेतु प्रेरित करना है।
इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सूरज मिश्रा ने कहा कि संविधान निर्माताओं ने लोकतंत्र की मजबूती हेतु मतदान का अधिकार म सभी को दिया है, लेकिन अब भी शत प्रतिशत मतदान नही हो पा रहा है जो चिंता का विषय है, हम युवाओं को संकल्प लेना होगा कि अपने गांंव,पंचायत में हर व्यक्ति को मतदान के महत्व को बताएंगे।इस मतदाता जागरूकता कार्यक्रम का संचालन प्रदेश कार्यकारिणी परिषद सदस्य केशव आचार्य ने किया।
धन्यवाद ज्ञापन नगर मंत्री नवीन आनंद ने किया।मौके पर पूर्व कोषाध्यक्ष सोहन कुमार, ऋषिकेश आचार्य, मनमोहन चौधरी, रविकांत, काजल, कैलाश, बिट्टू,रंजीत यादव, सुजीत, प्रभात, गुड्डू, विक्रम,राघव,अविनाश,चंदन,विपिन आनंद,भैरव,ऋषिकेश सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।बिरौल ने जाना एक वोटर की जिम्मेदारी, मत के प्रयोग के मायने, अभाविप ने कहा-वोट जरूर डालना
Continue Reading

BIRAUL

गौड़ाबौराम में कई दलों पर चुनाव आयोग की गाज, रोड शो पर फंसा आचार संहिता का फंदा

Published

on

गौड़ाबौराम में कई दलों पर चुनाव आयोग की गाज, रोड शो पर फंसा आचार संहिता का फंदा
गौड़ाबौराम में कई दलों पर चुनाव आयोग की गाज, रोड शो पर फंसा आचार संहिता का फंदा
बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। गौड़ाबौराम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव आयोग से प्रतिनियुक्त पर्वेक्षक की गाज गिरी। कई पार्टियों की ओर से निकाले गए रोड शो पर गाज गिरने से पूरे इलाके में चर्चा है।
जानकारी के अनुसार, सोमवार को जमालपुर थाना क्षेत्र में मतदान से संबंधित सर्वेक्षण करने को निकले चुनाव पर्वेक्षक ने कोसी नदी के पश्चिमी तटबंध पर सहरसा-दरभंगा सीमा पर अवस्थित चेक पोस्ट के निकट विभिन्न दलों की ओर से प्रचार-प्रसार के लिए निकाले गए रोड शो के दौरान 26 दो पहिया वाहनों को जब्त कर जमालपुर पुलिस को इन सभी के विरुद्ध आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने व अन्य धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया।गौड़ाबौराम में कई दलों पर चुनाव आयोग की गाज, रोड शो पर फंसा आचार संहिता का फंदा
जमालपुर थानाध्यक्ष तारिक अनवर अंसारी ने बताया कि चुनाव पर्वेक्षक के निर्देश के आलोक में आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले सभी दो पहिया वाहनों के स्वामी एवं विभिन्न दलों के प्रत्याशी के विरूद्ध अग्रेतर कार्रवाई की गई है।

 

Continue Reading

BIRAUL

किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं

Published

on

किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं
किरतपुर पौनी गांव के लोगों ने ठाना,आजादी के बाद से ही उठा रहा हूं कष्ट अब पुल नहीं तो वोट नहीं
किरतपुर,बिरौल अनुमंडल चुनाव डेस्क। किरतपुर प्रखंड के रसियारी पौनी पंचायत के पौनी गांव में गेंंहुआ नदी पर वर्षों से पुल का मांग कर रहे इस गांव के ग्रामीणों ने शुक्रवार को बैठक कर पुल नहीं तो वोट नहीं करने का फैसला लिया।
ग्रामीण भूपेंद्र यादव, श्याम यादव, रोहित यादव,भाग नारायण यादव, जोड़ी सदा,हुकम सदा, त्रिवेणी मुखिया,मो. इशुफ सहित दर्जनों लोगों का कहना है कि हम सभी ग्रामीण आजादी काल से ही गेंंहुआ नदी में पुल की समस्या से जूझ रहे हैं। पिछले तीन दशक से राजनेताओं के गेंंहुआ नदी पर पुल बनाने के आश्वासन पर चुनाव जीतते आ रहे हैं। चुनाव के समय सांसद एवं विधायक वोट मांगने पहुंच जाते हैं और आश्वासन भी देते हैं। लेकिन जीतने के बाद ये सासंद, विधायक 5 वर्षों तक नजर नहीं आते हैं।किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं
इस बार किसी भी कीमत पर किसी भी दल को वोट नहीं करेंगे। जबकि तीन वार्डों को मिलाकर कुल आबादी लगभग 45 सौ से ऊपर है, तीनों वार्डो  के गांव के बीच से गेहुआ नदी का बहाव है। जिससे यहां के लोगों का एक दूसरे वार्ड से कम्युनिकेशन नहीं जुड़ पा रहा है। दूसरे वार्ड जाने के लिए 5 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद रसियारी होकर जाना पड़ता है। जबकि पहले यहां नाव की भी व्यवस्था थी। पर वह भी 15 दिनों से डूबा हुआ है। जिससे यहां के लगभग दो हजार मतदाता एकजुट होकर वोट नहीं डालने का निर्णय लिया है।
Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: