Connect with us

BIRAUL

गौड़ाबौराम के बसौली में युवाओं ने बसा ली चचरी की दुनिया,कहा, क्या करते सिस्टम ही फेल है

Published

on

गौड़ाबौराम के बसौली में युवाओं ने बसा ली चचरी की दुनिया,कहा, क्या करते सिस्टम ही फेल है

गौड़ाबौराम रिपोर्टर, बिरौल अनुमंडल डेस्क, देशज टाइम्स ब्यूरो। कहते हैं जहां चाह है वहीं राह है। जिले के गौड़ाबौराम विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत कसरौर-बसौली पंचायत के बसौली गांव के युवाओं ने अपनी मर्जी अपनी दुनिया बसा ली। खुद के दम पर यहां के युवाओं ने चचरी पुल बनाकर सरकार के वायदों, नेताओं की लंबी चौड़ी फेहरिस्त की हवा निकाल दी। Basauli gaon ke

 

दरअसल, गौड़ाबौराम विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत कसरौर-बसौली पंचायत के बसौली गांव से लगमा होते हुए बिरौल अनुमंडल को जाने वाली सड़क आज भी बद से बदर स्थिति में है। वह भी तब जबकि इस सुशासन की सरकार में स्थानीय विधायक बड़े मंत्री पद पर सुशोभित हैं। लेकिन इन्हें यहां के स्थानीय वाशिन्दों के सुख-दुख से कोई वास्ता नहीं है। इन्हें तो मतलब बस वोट लेने भर से होता है।Basauli gaon ke गौड़ाबौराम के बसौली में युवाओं ने बसा ली चचरी की दुनिया,कहा, क्या करते सिस्टम ही फेल है जानकारी के अनुसार, कसरौर-बसौली पंचायत का बसौली गांव अपने पड़ोस के कसरौर गांव की अपेक्षा काफ़ी पिछड़ा हुआ है। अभी इस गांव में भी बाढ़ ने दस्तक दे दी है। यहां की मुख्य सड़क जो इस गांव से होकर बिरौल अनुमंडल तक जाती है, बाढ़ के पानी से टूट गई है।Basauli gaon ke

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 

अब इस पार रहने वाले लोग उस पार कैसे जाएं। इस बात को लेकर यहां के ग़रीब किसानों में जबर्दस्त हताशा की भावना व्याप्त थी। क्योंकि मवेशियों का चारा उस पार से ही लाना होता है। हालांकि संबंधित मुखिया ने इस जगह पर कई बार मिट्टी भराई का काम करवाया। लेकिन हर बार उनकी यह पहल  तात्कालिक ही साबित होती रही, इससे समस्या का स्थयी समाधान नहीं हुआ।Basauli gaon ke गौड़ाबौराम के बसौली में युवाओं ने बसा ली चचरी की दुनिया,कहा, क्या करते सिस्टम ही फेल है लिहाजा स्थानीय लोग अब एक मजबूत सड़क चाहते हैं। फिलहाल इस मसले का हल निकालने के लिए यहां के युवाओं ने कमर कसी और बांस व बल्ले की मदद से चचरी का पुल बना डाला।Basauli gaon ke

इस पुल को बनाने में स्थानीय लोगों का भरपूर सहयोग रहा। गांव के स्थानीय युवक बताते हैं, यहां के प्रशासनिक पदाधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों तक का अबतक इस गांव के प्रति रवैया उदासीन ही रहा है। पूरा सिस्टम ही फेल है।Basauli gaon ke

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BIRAUL

किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं

Published

on

किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं
किरतपुर पौनी गांव के लोगों ने ठाना,आजादी के बाद से ही उठा रहा हूं कष्ट अब पुल नहीं तो वोट नहीं
किरतपुर,बिरौल अनुमंडल चुनाव डेस्क। किरतपुर प्रखंड के रसियारी पौनी पंचायत के पौनी गांव में गेंंहुआ नदी पर वर्षों से पुल का मांग कर रहे इस गांव के ग्रामीणों ने शुक्रवार को बैठक कर पुल नहीं तो वोट नहीं करने का फैसला लिया।
ग्रामीण भूपेंद्र यादव, श्याम यादव, रोहित यादव,भाग नारायण यादव, जोड़ी सदा,हुकम सदा, त्रिवेणी मुखिया,मो. इशुफ सहित दर्जनों लोगों का कहना है कि हम सभी ग्रामीण आजादी काल से ही गेंंहुआ नदी में पुल की समस्या से जूझ रहे हैं। पिछले तीन दशक से राजनेताओं के गेंंहुआ नदी पर पुल बनाने के आश्वासन पर चुनाव जीतते आ रहे हैं। चुनाव के समय सांसद एवं विधायक वोट मांगने पहुंच जाते हैं और आश्वासन भी देते हैं। लेकिन जीतने के बाद ये सासंद, विधायक 5 वर्षों तक नजर नहीं आते हैं।किरतपुर पौनी गांव ने ठाना, आजादी के बाद से ही कड़वा आश्वासन, अब पुल नहीं तो वोट नहीं
इस बार किसी भी कीमत पर किसी भी दल को वोट नहीं करेंगे। जबकि तीन वार्डों को मिलाकर कुल आबादी लगभग 45 सौ से ऊपर है, तीनों वार्डो  के गांव के बीच से गेहुआ नदी का बहाव है। जिससे यहां के लोगों का एक दूसरे वार्ड से कम्युनिकेशन नहीं जुड़ पा रहा है। दूसरे वार्ड जाने के लिए 5 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद रसियारी होकर जाना पड़ता है। जबकि पहले यहां नाव की भी व्यवस्था थी। पर वह भी 15 दिनों से डूबा हुआ है। जिससे यहां के लगभग दो हजार मतदाता एकजुट होकर वोट नहीं डालने का निर्णय लिया है।
Continue Reading

BIRAUL

बिरौल में स्नातक-शिक्षक चुनाव में दिखी चाक-चौबंद व्यवस्था, सांसद समेत पूर्व MLA ने डाले वोट

Published

on

बिरौल में स्नातक-शिक्षक चुनाव में दिखी चाक-चौबंद व्यवस्था, सांसद समेत पूर्व MLA ने डाले वोट
बिरौल में स्नातक-शिक्षक चुनाव में दिखी चाक-चौबंद व्यवस्था, सांसद समेत पूर्व MLA ने डाले वोट
बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। बिहार विधान परिषद स्नातक व शिक्षक चुनाव प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शांतिपूर्ण संपन्न हो गया।प्रखंड मुख्यालय के बीडीओ कक्ष मतदान केंद्र संख्या 50 पर 128 मे 108 शिक्षक निर्वाचन के लिए मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
वहीं, सीओ कक्ष मे बनाए गए स्नातक निर्वाचन के लिए स्नातक डिग्री के मतदाताओं ने बूथ संख्या 53 ( क) पर 581 मे 321 व बूथ संख्या 53 (ख ) पर 591 मे 348 मतदाताओं ने वोट डाले।
प्रशासन ने कोविद 19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंस का अनुपालन कराया गया।जिसमें वोट देने आये मतदाताओं को मतदान केंद्र में प्रवेश करने से पूर्व  सेनेटाइजर कराया गया।
स्नातक डिग्री मतदाताओं में दरभंगा के सासंद गोपाल जी ठाकुर,पूर्व विधायक डॉ.इजहार अहमद सहित कई लोगों ने वोट डाले। चुनाव के दौरान मतदान केंद्र के बाहर एस एस बी के जवानों को तैनात किया गया।जबकि विभिन्न दलों के समर्थित प्रत्यशियों के समर्थकों का जमावड़ा मतदान संपन्न होने तक इर्दगिर्द देखा गया।
Continue Reading

BIRAUL

कुशेश्वरस्थान में डटे 15 उम्मीदवार, किसी ने नहीं लिया नाम वापस

Published

on

कुशेश्वरस्थान में डटे 15 उम्मीदवार, किसी ने नहीं लिया नाम वापस
कुशेश्वरस्थान में डटे 15 उम्मीदवार, किसी ने नहीं लिया नाम वापस

बिरौल, देशज न्यूज डेस्क। 78 कुशेश्वरस्थान विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में नामांकन किए गए सभी 15 उम्मीदवार निर्वाचित पदाधिकारी सह अनुमंडल पदाधिकारी ब्रज किशोर लाल के समक्ष उपस्थित हुए इस दौरान किसी ने भी किसी उम्मीदवार ने अपना नामांकन वापस नहीं लिया इसी प्रकार 79 गौड़ाबौराम विधानसभा क्षेत्र से नामांकन पत्र दाखिल करने वाले सभी 24 उम्मीदवार निर्वाची पदाधिकारी रवि प्रसाद चौहान के समक्ष उपस्थित हुए तथा किसी ने दाखिल किये गए अपना नामांकन वापस नहीं लिया।

78 कुशेश्वरस्थान से 15 तथा 79 गौड़ाबौराम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुल 24 उम्मीदवार चुनाव मैदान में रह गए। इधर दोनों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारी द्वारा सभी उम्मीदवारों को आवंटन किये गए चुनाव चिन्ह को अनुमोदन के लिए जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी डॉ.त्यागराजन एसएम को भेजा है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: