Connect with us

Bihar

Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले

Published

on

Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले
Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले

वैशाली,देशज न्यूज। राघोपुर के सैदाबाद पंचायत के बाजितपुर गांव में झोपड़ी में आग लगने से घर में सोई दो सगी बहन जिंदा जल गईं। दोनों की झुलसने से मौत (Burnt to death) हो गई। इसके अलाव दो अन्य  बच्चियां भी आग की चपेट में आने से झुलस गईं। दोनों को गंभीरावस्था में  स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दो बकरी की भी झुलसने से मौत हुई है।

जानकारी के अनुसार, सुनील महतो के घर में आग लग लगने से छह वर्षीय निभा कुमारी व पंद्रह वर्षीय काजल कुमारी की झुलसने से मौत हो गई। वहीं, दल्लन महतो सुनील महतो विजेंद्र महतो समेत पांच लोगों का घर जल गया। घर में जल रहे दीये से आग लगने की आशंका है। हादसे के बाद परिजनों में कोहराम मच गया।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

घर में रखी चौकी, बर्तन, बक्शा, नकद रुपए, पलंग, गेहूं, चावल सहीत सब सामान जल गये. सूचना पर पहुंचे राघोपुर थाना अध्यक्ष कलामुद्दीन ने शव की जांच के बाद पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Darbhanga

दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR

Published

on

दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR
दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR

दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIRडीएम डॉ.त्याराजन एसएम पहुंचे टीकापट्टी देकुली, नल जल योजना की जांच, दो दिनों के अंदर अधूरे काम को पूरा कराने के दिए निर्देशदरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR

दरभंगा, DARBHANGA देशज टाइम्स ब्यूरो। जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने उप विकास आयुक्त तनय सुल्तानिया के साथ बहादुरपुर प्रखंड के टीकापट्टी देकुली पंचायत के वार्ड संख्या 11, 12, 13, 9 एवं 15 में कार्यरत नल जल योजना का निरीक्षण कर जांच की।

वार्ड नंबर 11, 12 एवं 13 में कार्य पूर्ण पाया गया तथा वार्ड के लोगों को जलापूर्ति होते पायी गयी। वार्ड नंबर 9 एवं 15 में कार्य अपूर्ण पाया गया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान उपस्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रदीप कुमार झा को पंचायत में कैंप करके दो दिनों के अंदर अधूरे कार्य को पूरा कराने के निर्देश दिए।दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR

जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेशित करते हुए कहा कि प्रखंड के सभी योजनाओं के एमबी (मापी पुस्त) की जांच कर ली जाए यदि किसी ने अधिक राशि ले ली है तो उसे जमा कराया जाए यदि राशि लेकर काम पूर्ण नहीं कराया गया है तो संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध प्राथमिकी FIR दर्ज करायी जाए।

इस अवसर पर टीकापट्टी देकुली पंचायत के मुखिया गोपाल कुमार ठाकुर, पंचायत सचिव जितेंद्र सहनी एवं संबंधित वार्डों के वार्ड सदस्य, वार्ड सचिव उपस्थित थे।दरभंगा के बहादुरपुर में नल जल योजना के अधूरे काम 2 दिनों में होेंगे पूर्ण, गलत करने वालों पर FIR

Continue Reading

Darbhanga

कोरोना से बचाने दरभंगा के हर घरों तक जाएंगें डॉक्टर, सैंपल कलेक्शन का मिला टास्क

Published

on

कोरोना से बचाने दरभंगा के हर घरों तक जाएंगें डॉक्टर, सैंपल कलेक्शन का मिला टास्क
कोरोना से बचाने दरभंगा के हर घरों तक जाएंगें डॉक्टर, सैंपल कलेक्शन का मिला टास्क

कोरोना व वंडर कार्यक्रम को लेकर मीटिंग, डीएम डॉ.त्यागराजन एसएम ने चिकित्सकों को दिए कई निर्देश

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।  जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में कोविड-19 corona एवं वंडर कार्यक्रम को लेकर सिविल सर्जन, डब्ल्यूएचओ के जिला प्रतिनिधि, स्वास्थ्य विभाग के जिला स्तरीय पदाधिकारियों एवं सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक के साथ बैठक की।

बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 corona कोरोना से बचाने दरभंगा के हर घरों तक जाएंगें डॉक्टर, सैंपल कलेक्शन का मिला टास्कका द्वितीय लहर बड़े शहरों में प्रवेश कर चुका है। बड़े शहरों से लोगों का आवागमन भी जारी है। राज्य सरकार ने सभी जिलों को इससे सतर्क रहने एवं कोविड-19 के रोकथाम के लिए सभी उपायों में तेजी लाने के निर्देश दिए। सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी दिए गए लक्ष्य के अनुरूप सैंपल कलेक्शन का कार्य करें।लक्षण प्राप्त पॉजिटिव मरीजों को डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराएं।

उन्होंने कहा, ए सिम्टोमिक पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेटेड किया जाए।चिकित्सकों एवं पारामेडिकल स्टाफ द्वारा उनकी जाँच नियमित रूप से की जाए। प्रखंड स्तर पर क्रियान्वित नियंत्रण कक्ष से दूरभाष के माध्यम से होम आइसोलेट पॉजिटिव मरीज का नियमित अनुश्रवण किया जाए। इसके साथ ही जिला नियंत्रण कक्ष से पॉजिटिव मरीजों के दूरभाष के माध्यम से नियमित अनुश्रवण कर उन्हें चिकित्सीय सलाह दी जाए।

उन्होंने कहा कि खासकर के जो वलनरेबुल पॉजिटिव, जिनमें 60 वर्ष से ऊपर के बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे एवं गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति, के घर प्रतिदिन जाकर चिकित्सक/चिकित्सा कर्मी द्वारा जांच की जाए। प्रतिदिन कितने पॉजिटिव केस मिले, कितने लोगों की जांच हुई, कितने लोग स्वस्थ्य हुए, इसकी समीक्षा सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को प्रतिदिन करने के निर्देश दिए तथा सभी कोविड केयर सेंटर को सक्रिय करने के निर्देश दिए।

गर्भवती महिलाओं की निगरानी एवं अनुश्रवण के लिए बनाए गए वंडर कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि प्रत्येक माह की 9 वीं एवं 21वीं तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत सभी गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच कराई जाए।
एएनएम अपने पोषक क्षेत्र में गर्भवती महिलाओं के घर जाकर उनकी स्वास्थ्य जांच करें तथा VHSND साइट पर गर्भवती महिलाओं से संबंधित आंकड़ों को वंडर कार्यक्रम से संबंधित प्रपत्र में संकलित करें।

ANM अपने पोषक क्षेत्र के गर्भवती महिलाओं को चिन्हित करें तथा प्रत्येक शनिवार को चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा इससे संबंधित मामलों की समीक्षा की जाए। समीक्षा के दौरान पाया गया कि गर्भवती महिलाओं के लिए कई आवश्यक दवाएं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध नहीं है। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधकों को अगले 3 दिनों में प्रसव गृह में प्रोटोकॉल के अनुसार निर्धारित दवाओं को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कोविड 19 के मृतक मरीजों की समीक्षा की जाए कि वे कब कोविड पॉजिटिव हुए थे। अस्पताल में कब और किस स्थिति में आये तथा अस्पताल में आने के कितने दिनों के बाद उनकी मृत्यु हुई। बैठक में आगामी पल्स पोलियो अभियान (नवम्बर 2020 राउंड) की तैयारी की भी समीक्षा की गई।

समीक्षा के दौरान सिविल सर्जन द्वारा बताया कि अक्टूबर राउंड में कई प्रखंडों में एक भाईल से 14 डोज ही दिए गए, जबकि 20 डोज होना चाहिए, जिसकी वजह से अंतिम चरण में दवा की कमी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से कहा कि किस एएनएम द्वारा दवा की बर्बादी की जा रही है, उसे चिन्हित करना होगा। उन्होंने कहा कि नवंबर राउंड का पहला राउंड ए टीम की ओर से 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलाया जाएगा, पुनः बी टीम द्वारा 5 दिसंबर से अभियान चलाया जाएगा।

बैठक में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने कहा कि कोरोना को लेकर नियमित टीकाकरण की गति धीमी हो गई है। नियमित टीकाकरण की गति में भी तेजी लानी होगी तथा 2023 तक मिजिल्स को समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित है।
बैठक में स्वास्थ्य विभाग से संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे तथा प्रखंडों से प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं अन्य पदाधिकारी ऑनलाइन जुड़े हुए थे।

Continue Reading

Bihar

600 कर्मचारियों की छंटनी के बीच अब रीगा चीनी मिल पर लटकी तालाबंदी की तलवार

Published

on

600 कर्मचारियों की छंटनी के बीच अब रीगा चीनी मिल पर लटकी तालाबंदी की तलवार
600 कर्मचारियों की छंटनी के बीच अब रीगा चीनी मिल पर लटकी तालाबंदी की तलवार

सीतामढ़ी, देशज न्यूज। जिले के ही नहीं पूरे प्रदेश के प्रमुख रीगा चीनी मिल (Riga Sugar Mill) पर तालाबंदी की तलवार लटक गई है। छह सौ कर्मियों की छंटनी के बाद अब तालाबंदी का खतरा मंडराने लगा है। नए सत्र शुरू होंगे या नहीं इसको लेकर आशंका बनी हुई है।सीतामढ़ी के रीगा चीनी मिल sitamarhi-riga-sugar-mill का अतीत काफी समृद्धशाली रहा है। इस चीनी मिल की बदौलत इलाके sitamarhi-bihar-is-facing-economical-crisis-for-opening-of-new-session के किसानों की बेटियों की शादियां हुआ करती थीं तो वहीं बीमार किसानों का इलाज, लेकिन हाल के दिनों में चीनी मिल की आर्थिक हालात बेहद खराब हो गई है।

जानकारी के अनुसार, किसानों का तकरीबन 100 करोड़ का गन्ना (Sugar Cane) खेतों में खड़ा है। 80 करोड़ की राशि किसानों का चीनी मिल प्रबंधन पर बकाया है। अगर इस हालात में चीनी मिल (Sugar Mill) का काम शुरू नहीं हुआ तो किसानों में हाहाकार की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी।

पिछले पांच साल से चीनी मिल आर्थिक बदहाली का सामना कर रहा है. इसी कारण चीनी मिल के ऊपर किसानों का तकरीबन 80 करोड़ रुपया लंबे अरसे से बकाया है। इतना ही नहीं चीनी मिल अपनी आर्थिक बदहाली का हवाला देकर 600 कर्मियों को भी काम से बाहर का रास्ता दिखा चुका है।

मिल प्रबंधन के इस फैसले से मिल में काम करने वाले कर्मियो में हाहाकार की स्थिति उत्पन्न हो गई थी. 600 कर्मी पिछले छह महीने से पूरी तरीके से बेरोजगार होकर सड़कों पर भटक रहे हैं।

मिल प्रबंधन ने अपनी बदहाली को लेकर मिल गेट पर अपनी बदहाली का इश्तेहार भी चिपका दिया है।. वहीं,  सीतामढ़ी के रीगा चीनी मिल से जुड़े तकरीबन 50 हजार किसान भी परेशान हैं।

नए सत्र में चीनी मिल का पेराई सत्र शुरू होगा या नहीं, किसानों मे इस बात को लेकर संशय की स्थिति है। किसानों का 100 करोड़ का गन्ना खेतों में खड़ा है जो चीनी मिल के पेराई सत्र का इंतजार कर रहा है। किसानों का 80 करोड़ रुपया चीनी मिल पर भी लंबे अरसे से बकाया है. ऐसे में अगर चीनी मिल नहीं शुरू हुआ तो किसानों मे हाहाकार की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: