Connect with us

Bihar

प्रशासन की अनदेखी का नतीजा: भोजपुर में वज्रपात से 7 की मौत, कई झुलसे, 2 मवेशी मरे

Published

on

प्रशासन की अनदेखी का नतीजा: भोजपुर में वज्रपात से 7 की मौत, कई झुलसे, 2 मवेशी मरे

आरा, देशज न्यूज। भारी वर्षा के साथ शनिवार को हुुुए वज्रपाात ने भोजपुर जिले में कुल सात लोगों की जान ले ली।  इसके साथ ही कई लोग झुलस गए हैं। दो पशुओ की भी मौत हो गई है। इस घटना को लेकर गांवों में अफरा तफरी मची हुई है।

भोजपुर जिला प्रशासन ने पहले ही चेतावनी दी थी, बिजली चमक रही है और यह जानलेवा हो सकती है। जिला प्रशासन ने लोगों से घरों में रहने की अपील भी की थी। पहले ठनका गिरने से तीन की मौत के बाद अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा। इस दौरान लोग भी परेशान रहे। काफी देर तक आकाश में बिजली चमक रही थी जिसके बाद भोजपुर जिले के कई इलाकों में ठनका गिरा।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

सबसे ज्यादा क्षति बेलाउर के रहने वाले 3 पशुपालकों को हुई है। ठनका गिरने से भोजपुर के उदवंतनगर के एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि उदवंतनगर थाना क्षेत्र के ही बेलाउर गांव  के खेत में अकलू राय,बिनोद पासवान  के साथ ही खोपिरा के धर्मेंद्र यादव का ठनका से मौत हो गई।

बड़हरा के कृष्णगढ़ थाना क्षेत्र के बभनगावां गांव में भी ठनका गिरने से एक की मौत हो गई है। सहार के नारायणपुर में भी एक मौत की सूचना ठनका गिरने से मिली है। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासनिक गलियारों में अफरातफरी मची हुई है। प्रशासन ने ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से लोगो से एहतियात बरतने और बारिश के दौरान घरो से बाहर नही निकलने की अपील की है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

मधुबनी नप सशक्त स्थायी समिति की बैठक में सेवानिवृत्त कर्मी असगर की सेवा विस्तार निरस्त

Published

on

मधुबनी नप सशक्त स्थायी समिति की बैठक में सेवानिवृत्त कर्मी असगर की सेवा विस्तार निरस्त

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। नगर परिषद के सेवानिवृत्त कर्मी असगर अली के सेवा विस्तार को अवैध मानते हुए सशक्त स्थायी समिति की बैठक में सर्वसम्मति से उसे निरस्त करने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। प्रस्ताव में बताया गया है, कई ऐसे कर्मी सेवानिवृत्त हुए हैं, जिनकी सेवा नगर परिषद के लिए काफी लाभकारी होती। पर जो कभी कोई संचिका का संधारण नहीं किया, उसे बिना किसी जानकारी के सेवा विस्तार कर दिया गया है।

इतना ही नहीं इनपर पहले से ही लाखों रुपये नप के बकाये का मामला चल रहा है। वहीं प्रधान सहायक शंकर झा के खिलाफ पूर्व में पारित प्रस्ताव में कार्रवाई नहीं किये जाने पर रोष जताया गया और अगली बैठक में इससे संबंधित प्रतिवेदन सौंपने का निर्देश इओ को दिया गया। चेयरमैन सुनैना देवी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में गत बैठक की संपुष्टि के बाद सभी 11 एजेंडा पर चर्चा हुई।

इओ आशुतोष आनंद चैधरी की अनुपस्थिति पर प्रधान सहायक प्रमोद वर्मा ने बैठक का संचालन किया। मौके पर उपमुख्य पार्षद वारिस अंसारी ने चर्चा में भाग लेते कहा, विकास के लिए यह जरूरी है, निर्णय की गति तेज की जाए और इसके लिए तत्काल विकास कार्यो मामले में निर्णय के लिए चेयरमैन को अधिकृत किया जाए।

एजेंडा में लाए गए इस प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। इस दौरान सदस्य मनीष कुमार सिंह, उमेश प्रसाद व सुनीता पूर्वे ने विभिन्न मसले पर सुझाव दिये और चर्चा में हिस्सा लिया।

वहीं सफाई व्यवस्था में सुधार लाने, वार्ड में काम करने वाले मजदूरों के बकाए भुगतान व अन्य मसले में शीघ्र कार्रवाई कर अगली बैठक में प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया गया।

कनीय अभियंता केके झा मामले में की गयी कार्रवाई और उन्हें दिये गये अग्रिम के संबंध में इओ अगली बैठक में अपना प्रतिवेदन देंगे। नप के हाइवा को 21 हजार और ठेला को दो हजार मासिक पर आउटसोर्सिंग पर देने का फैसला लिया गया।

Continue Reading

Madhubani

किसान आंदोलन का दिखा असर, मधुबनी-दरभंगा मुख्य मार्ग घंटों बाधित, 800 लोग गिरफ्तार

Published

on

किसान आंदोलन का दिखा असर, मधुबनी-दरभंगा मुख्य मार्ग घंटों बाधित, 800 लोग गिरफ्तार
किसान आंदोलन का दिखा असर, मधुबनी-दरभंगा मुख्य मार्ग घंटों बाधित, 800 लोग गिरफ्तार

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। जिले में किसान अध्यादेश के खिलाफ घोषित बंद का असर मिला-जुला देखा गया। लगातार हो रही बारिश के बावजूद विपक्षी दलों ने विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर आवागमन को बाधित किया। हालांकि बाजार में हालत सामान्य रही।

वामपंथी संगठनों ने ट्रेन सेवा को भी बाधित किया। जयनगर-राजेंद्र नगर ट्रेन को स्टेशन रोका गया।  प्रदर्शन करते हुए समाहरणालय पर पहुंचे व यातायात को भी बाधित किया। आंदोलनकारी जुलूस के शक्ल में बाजार में प्रतिरोध मार्च करते हुए थाना चौक से मधुबनी समाहरणालय के दोनों गेट को बंद कराया।

इसी क्रम में मधुबनी-दरभंगा मुख्य मार्ग भी समाहरणालय के सामने घंटों बाधित रहा। सरकार की नीति पर रोष प्रकट करते हुए इन कार्यकर्ताओं ने थाना में अपनी गिरफ्तारी भी दी। आठ सौ से अधिक कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी देकर विरोध जताया, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया।

मौके पर सीटू के जिला संयोजक राजेश कुमार मिश्र, किसान सभा के जिला मंत्री मनोज यादव, किसान सभा के जिला अध्यक्ष लक्ष्मण चौधरी, राज्य सचिव मनोज मिश्र, सीटू के गणपति झा, एटक के महासचिव सत्यनारायण राय, सीपीआईएम के जिला मंत्री भोगेंद्र यादव, सीपीआई के जिला मंत्री मिथिलेश झा आदि शामिल थे।

दूसरी ओर, राजद के जिला अध्यक्ष भारत भूषण मंडल के नेतृत्व में किसान विरोधी बिल के खिलाफ राज्यव्यापी आंदोलन के तहत मधुबनी रेलवे स्टेशन से जिला समाहरणालय मधुबनी तक प्रतिवाद मार्च निकाला गया। समाहरणालय पहुचने पर प्रतिवाद मार्च सभा मे तब्दील हो गयी। इसकी अध्यक्षता राजद किसान प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष देवनारायण यादव ने किया।

सभा को संबोधित करते विधायक समीर कुमार महासेठ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रहनुमाई वाली भाजपा-नीत एनडीए सरकार ने किसान विरोधी विधेयकों को राज्य सभा की ओर पारित कराने में जिस प्रकार की जल्दबाजी दिखायी। वह सर्वथा निंदनीय है।  संसदीय लोकतंत्र की घोर अवमानना है।

विधायक डॉ. फैयाज अहमद ने कहा, केंद्र की भाजपा सरकार हमेषा से किसानों के विरोध काम किया है। देश के अन्नदाता के साथ नाइंसाफी हुई है। ऐसी सरकार को रहने का कोई हक नही है। फसलों की न्यूनतम निर्धारित कीमत की गारंटी समाप्त हो जाएगी।

प्रतिरोध सभा में विधायक डॉ. फैयाज अहमद, समीर कुमार महासेठ, पूर्व विधायक उमाकांत यादव, रामावतार पासवान, जिला प्रवक्ता इंद्रजीत राय, मेराज आलम, रामानंद बरनैता, अमन यादव, राजकुमार यादव, अवधेश तिवारी, युवा राजद प्रवक्ता महताब आलम,प्रदीप प्रभाकर, रेणु यादव, अमरेंद्र  चौरसिया,जयवंश कुमार राम, शैलेंद्र बाबा, रामप्रवेश प्रसाद, महेश कुमार महतो, बिंदेश्वर मुखिया, सत्यनारायण मंडल, अमीर यादव, चंद्रशेखर झा सुमन, वीर बहादुर राय, आलोक यादव, लखन पटेल, बंदना देवी, रामदेव महतो, मुमताज अंसारी, जयजय राम यादव, मनोज चौधरी आदि ने सभा को संबोधित किया।

Continue Reading

Madhubani

मधुबनी में दो चरणों में होंगे चुनाव, सभी दसों सीट पर शांति व निष्पक्ष चुनाव की तैयारी

Published

on

मधुबनी में दो चरणों में होंगे चुनाव, सभी दसों सीट पर शांति व निष्पक्ष चुनाव की तैयारी

मधुबनी,देशज टाइम्स। विधानसभा चुनाव की डुगडुगी बज चुकी है। मधुबनी जिले की सभी दसों सीट पर दूसरे व तीसरे चरण में चुनाव होंगे। दूसरे चरण में 36 मधुबनी, 37 राजनगर सुरक्षित, 38 झंझारपुर व 39 फुलपरास में 3 नवंबर को वोट डाले जाएंगे।

तीसरे चरण में 31 हरलाखी,32 बेनीपटटी,33 खजौली, 34 बाबूबरही,35 बिस्फी व 40 लौकहा विधानसभा क्षेत्र में 7 नवंबर को वोटिांग होगी। दूसरे चरण में मधुबनी राजनगर सुरक्षित झंझारपुर व फुलपरास विधानसभा के लिए 9 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक अभ्यर्थी नामांकन कर सकेंगे। 17 अक्टूबर को नाम निर्देशन पत्र की स्कूटनी होगी।

19 अक्टूबर को नाम वापसी का अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। जबकि तीसरे चरण में हरलाखी,बेनीपट्टी, खजौली, बाबूबरही, बिस्फी एवं लौकहा विधानसभा के लिए 13 अक्टूबर 2020 से 20 अक्टूबर तक अभ्यर्थी नामांकन दाखिल कर सकेंगे। 21 अक्टूबर को स्कूटनी होगी। जबकि 23 अक्टूबर को नाम वापसी की अंतिम तिथि निर्धारित की गई है।

दोनों चरणों में संपन्न चुनाव का मतगणना 10 नवंबर 2020 को होगा। उक्त जानकारी जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकरी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने शुक्रवार की देर शाम समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

उन्होंने बताया कि जिले में 2402 भवनों में 4616 मतदान केंद्र स्थापित किया गया है। सभी 10 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 31 लाख 64 हजार 930 मतदाता वोट का प्रयोग करेंगे। जिसमें 16 लाख 58 हजार 151 पुरुष एवं 15 लाख 6 हजार 610 महिला मतदाता शामिल हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि शांति एवं निष्पक्ष पूर्ण वातावरण में चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है। विधि व्यवस्था को लेकर चैकस प्रबंध किए गए हैं शस्त्रों का सत्यापन का कार्य व चेक पोस्ट स्थल का चयन कर लिया गया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपर समाहर्ता अवधेश राम, डीडीसी अजय कुमार सिंह व  मुख्यालयएसडीपीओ प्रभाकर तिवारी मौजूद थे।

सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगी वोटिंग

जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकरी ने बताया कि इस बार सुबह 7 बजे से 6 बजे शाम तक वोटिंग होगी। कोरोना संक्रमित मरीज एवं सस्पेक्टेड लोगों को शाम 5 से 6 के बीच वोटिंग कराई जाएगी। उनके लिए बूथ पर विशेष इंतजाम किया गया है। 80 वर्ष से उपर के मतदाताओं को पोस्टल वैलेट से वोटिंग करने की सुविधा दी गई है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: