Connect with us

Bihar

समस्तीपुर से 50 यात्रियों को लेकर दरभंगा जा रही बस में लगी आग, कोहराम, अफरा-तफरी

Published

on

समस्तीपुर से 50 यात्रियों को लेकर दरभंगा जा रही बस में लगी आग, कोहराम, अफरा-तफरी
समस्तीपुर से 50 यात्रियों को लेकर दरभंगा जा रही बस में लगी आग, कोहराम, अफरा-तफरी

समस्तीपुर, देशज न्यूज। समस्तीपुर से दरभंगा जा रही यात्रियों से भरी बस में आग लग गई। अगलगी की यह घटना कल्याणपुर के गोपालपुर के पास की है। जानकारी के मुताबिक बस यात्रियों को लेकर समस्तीपुर से दरभंगा जा रही थी। इसी दौरान उस में अचानक आग लग गई।

जिस बस में आग लगने की घटना हुई है उसमें 50 से अधिक यात्री सवार थे. आग लगते ही चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। लोग चीखने-चिल्लाने लगे. इस दौरान स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से आग पर काबू पाया गया।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

लोगों के मुताबिक अगलगी की इस घटना में किसी को बहुत ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। फिलहाल इस मामले में विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Bihar

Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले

Published

on

Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले
Vaishalinews- दीये से भड़की आग में दो सगी बहन जिंदा जलीं, 2 झुलसीं, 2 बकरी मरीं, 5 घर जले

वैशाली,देशज न्यूज। राघोपुर के सैदाबाद पंचायत के बाजितपुर गांव में झोपड़ी में आग लगने से घर में सोई दो सगी बहन जिंदा जल गईं। दोनों की झुलसने से मौत (Burnt to death) हो गई। इसके अलाव दो अन्य  बच्चियां भी आग की चपेट में आने से झुलस गईं। दोनों को गंभीरावस्था में  स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दो बकरी की भी झुलसने से मौत हुई है।

जानकारी के अनुसार, सुनील महतो के घर में आग लग लगने से छह वर्षीय निभा कुमारी व पंद्रह वर्षीय काजल कुमारी की झुलसने से मौत हो गई। वहीं, दल्लन महतो सुनील महतो विजेंद्र महतो समेत पांच लोगों का घर जल गया। घर में जल रहे दीये से आग लगने की आशंका है। हादसे के बाद परिजनों में कोहराम मच गया।

घर में रखी चौकी, बर्तन, बक्शा, नकद रुपए, पलंग, गेहूं, चावल सहीत सब सामान जल गये. सूचना पर पहुंचे राघोपुर थाना अध्यक्ष कलामुद्दीन ने शव की जांच के बाद पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया।

Continue Reading

Patna

बिहार NDA में एक भी मुसलमान चेहरा नहीं, 125 विधायकों में एक भी मुस्लिम नहीं

Published

on

बिहार NDA में एक भी मुसलमान चेहरा नहीं, 125 विधायकों में एक भी मुस्लिम नहीं
बिहार NDA में एक भी मुसलमान चेहरा नहीं, 125 विधायकों में एक भी मुस्लिम नहीं

पटना, देशज न्यूज। बिहार एनडीए का चेहरा इसबार एकदम बदला-बदला है। पहले लोकसभा चुनाव में बिहार के सबसे बड़े मुस्लिम चेहरे शाहनवाज हुसैन की छुट्टी हो गई। मुख्तार अब्बास नकवी किसी तरह काबिज दिखे अब बिहार सरकार में एक भी मुस्लिम चेहरे का ना होना एक अजीब इत्तेफाक माना जा रहा है याह फिर आजादी के इतने अर्से बाद की यह घटना किसी राजनीतिक संकेत का इशारा भर है।

जानकारी के अनुसार, एनडीए में  चार घटक दल हैं मगर एक भी मुस्लिम विधायक नहीं है। अगड़ी जातियों की संख्या पिछली बार के मुकाबले लगभग 12 प्रतिशत बढ़ी है।

यदि सत्तारूढ़ गठबंधन के 125 विधायकों में से एक भी मुसलमान नहीं हैं, तो विपक्षी गठबंधन के पास भी महज 17 मुस्लिम विधायक ही हैं। राजद के आठ, कांग्रेस के चार और वामदलों का एक विधायक हैं। असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम के सभी पांच विधायक मुसलमान हैं। इनके अलावा बसपा का एकमात्र विधायक भी मुसलमान ही है।

पिछली विधानसभा में 52 सवर्ण विधायक थे। इस बार उनकी संख्या 64 है। इनमें से एनडीए के 47 व राजद के नेतृत्व वाले विपक्षी महागठबंधन के 17 विधायक हैं। भाजपा के 74 विधायकों में से 33 अगड़ी जातियों से आते हैं, जबकि जदयू के 43 में से 9, वीआईपी के चार में से दो व हम के चार में से एक सवर्ण हैं।

राजद के 75 में से आठ और कांग्रेस के 19 में से आठ विधायक अगड़ी जातियों से है। एक-एक अगड़ा विधायक सीपीआई, लोजपा व निर्दलीय भी जीता है। लेकिन इस विधानसभा चुनाव की सबसे बड़ी खबर मुसलमानों के प्रतिनिधित्व में 20 प्रतिशत की गिरावट आना है। जहां पिछली विधानसभा के 243 में से 24 विधायक राज्य की 16 प्रतिशत आबादी वाले मुस्लिम समुदाय से थे, वहीं इस बार केवल 19 मुस्लिम विधायक ही जीत पाए हैं।

Continue Reading

Patna

ये हैं डिप्टी सीएम तारकेश्वर, 2005 से 2010 के बीच बढ़े सिर्फ 1 साल, अब 5 वर्षों में बढ़ गए 12 साल

Published

on

ये हैं डिप्टी सीएम तारकेश्वर, 2005 से 2010 के बीच बढ़े सिर्फ 1 साल, अब 5 वर्षों में बढ़ गए 12 साल
ये हैं डिप्टी सीएम तारकेश्वर, 2005 से 2010 के बीच बढ़े सिर्फ 1 साल, अब 5 वर्षों में बढ़ गए 12 साल

पटना, देशज न्यूज। येे हैं बिहार के नए डिप्टी सीएम तारकेश्वर प्रसाद। नीतीश कुमार की नई टीम के नए मेंबर। मगर पहले मेवालाल फिर अशोक र्चाैधरी और अब डिप्टी सीएम तारकेश्वर प्रसाद को लेकर नया बबेला खड़ा हो गया है।

विपक्षी राजद ने इसे भाजपाई उपमुख्यमंत्री का उम्र घोटाला कहा है। राजद के साथ-साथ समूचे विपक्ष ने नैतिकता की दुहाई देने वाले जदयू और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपने डिप्टी सीएम को बर्खास्त करने की मांग की है। इसकी शिकायत चुनाव आयोग से भी की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, सुशील मोदी की जगह उप मुख्यमंत्री बनाए गए तारकेश्वर प्रसाद इन दिनों उम्र विवाद में फंस गए हैं। वित्त विभाग भी संभालने वाले तारकिशोर प्रसाद मुख्यमंत्री के बाद दूसरे नंबर पर हैं जो अब हलफनामे में अपने उम्र को लेकर विवाद में हैं।  2005 से 2020 के बीच पांच वर्षों में उनकी उम्र महज एक साल बढ़ी।

इसका खुलासा 2005 के विस चुनाव के समय दिए गए हलफनामे से हुआ है जिसमें उन्होंने अपनी उम्र 48 साल बताई थी। लेकिन पांच वर्ष बाद जब 2010 में चुनाव हुए, इनकी उम्र महज एक साल बढ़ी और वह महज 49 के हो गए। पांच साल बाद जब 2015 में चुनाव हुआ तो उनकी उम्र पांच साल के बजाए तीन वर्ष ही बढ़ी।

2010 में वह 49 साल के थे, वहीं 2015 में 54 की जगह 52 साल के ही रहे।  2015 से 2020 के बीच उनकी उम्र अचानक पांच के बजाए 12 वर्ष बढ़ गई। यानी 2005 से 2015 के बीच उनकी उम्र महज चार साल बढ़ी थी, वहीं अंतिम पांच वर्षों में 12 साल की बढ़ोतरी हो गई। इस बार हुए चुनाव में दिए गए हलफनामे में उन्होंने अपनी उम्र 64 साल बताई है।

 

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: