Connect with us

Bihar

मधुबनी में शराब बंदी अधिनियम पालन कराने में पुलिस व उत्पाद विभाग अक्षम, बेनीपट्‌टी में विदेशी शराब की पकड़ाई बड़ी खेप

Police and exis fail to implement in anti liquor act
मधुबनी,21मार्च। जिला के बेनीपट्टी थाना क्षेत्र में रविवार को विदेशी शराब की बड़ी खेप पकड़ी गई है। होली को लेकर धंधेबाजों द्वारा ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शराब की भंडारण शुरू कर दी गई है। जिला में शराब धंधेबाजों पर अंकुश लगाने में पुलिस व उत्पाद विभाग अक्षम साबित हो रही है।वैसे जिला पुलिस प्रशासन के वरीय पदाधिकारी ने बताया कि शराब बंदी अधिनियम की पालन यहां सख्ती से हो रही है।
शराब बंदी अधिनियम की पालन नहीं करने के कारण पिछले दिन मधुबनी के नगर थानाध्यक्ष को यहां निलंबित किया गया है।जबकि शराब धंधेबाजों को सहयोग करने के कारण शनिवार को होमगार्ड के जवान ललित यादव को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।नगर थानाध्यक्ष के मुताबिक शराब बंदी अधिनियम पालन व शराब सेवन पर रोक के लिए नगर थाना परिसर में मुख्यालय के होटल संचालकों के साथ विमर्श बैठक की गई है। यहां प्रत्येक दिन निरंतर शराब की बड़ी खेप बरामद हो रही है।सूचनानुसार होली की तैयारी में शराब की भंडारण को धंधेबाज लगे हुए हैं।सूत्रानुसार शराब बंदी अधिनियम पर अंकुश लगाने में पुलिस व उत्पाद विभाग फेल हो रही है।
महानगर से होली के अवसर पर गांव में जुटने वाले लोगों द्वारा ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शराब सेवन करने की चौकरही सजने की सूचना है। जिला के बेनीपट्टी थाना के बिशनपुर गांव में रविवार की सुबह पुलिस ने भारी मात्रा में शराब बरामद की है। एक पिकअप वैन पर लदी करीब 3000 बोतल विदेशी शराब की खेप पुलिस ने बरामद की है। गाड़ी भी जप्त कर लिया गया है। जबकि चालक भागने में कामयाब रहा। शनिवार की देर रात जिले के मधेपुर थाना क्षेत्र के न्यू बस स्टैंड से एक ट्रक को पकड़ा गया। ट्रक के अंदर से करीब 500 कार्टून विदेशी शराब की खेप जप्त की गई।
बरामद की गई 98 सौ बोतल विदेशी शराब की बंद इस कार्टून में 4000 लीटर विदेशी शराब बरामद की गई है ।यहां भी चालक व खलासी सहित धंधेबाज शराब बरामदगी की घटनास्थल से भागने में सफल रहा। रविवार को जिले के लौकही थाना क्षेत्र में नेपाल बॉर्डर के पास नरहिया ओपी के समीप पुलिस ने 102 बोतल नेपाली देसी शराब बरामद किया है। साजिश व ताज्जुब की बात यह है जिले में निरंतर शराब की बड़ी खेप पकड़ा रही है। लेकिन पुलिस की कथित तत्परता में कमी के कारण गाड़ी के ड्राइवर व खलासी सहित शराब धंधेबाज घटनास्थल से फरार कैसे हो जाते हैं?गाड़ी मालिक पर एफआईआर दर्ज होने के बाद भी मुख्य शराब धंधेबाज व गाड़ी के ड्राइवर व खलासी का नाम की खुलासा क्यों नही हो पाती है?शराब सप्लाई करने वालों की मुख्य सरगाना कैसे बच जाते हैं? शराब पर अंकुश लगाने में पुलिस विफल साबित हो रही है। पुलिस प्रशासन शराब धंधेबाज के सामने घुटने टेक चुके हैं। किसी भी परिस्थिति में सरकार के सख्त आदेश के बावजूद शराब का धंधेबाजों की यहां चांदी कट रहा है। सीमावर्ती क्षेत्र के थाना सहित सदर अनुमंडल क्षेत्रों में भी खुलेआम शराब की बिक्री जोरों पर जारी है। पुलिस महकामा और उत्पाद विभाग शराब पर अंकुश लगाने मैं विफल साबित हो रही है।शनिवार को शराब धंधेबाज से सांठ-गांठ में होमगार्ड के जवान ललित यादव गिरफ्तार किए गए हैं।जबकि पिछले महीन शराब अधिनियम की पालन में कथित अकर्मण्यता के कारण मधुबनी नगर थानाध्यक्ष को निलंबित किया गया है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply