Connect with us

Patna

पटना जंक्शन पर तैनात इंजीनियर की कोरोना से मौत,जानिए क्या लापरवाही आई सामने पहले भाग…

Published

on

पटना जंक्शन पर तैनात इंजीनियर की कोरोना से मौत,जानिए क्या लापरवाही आई सामने पहले भाग...
पटना जंक्शन पर तैनात इंजीनियर की कोरोना से मौत,जानिए क्या लापरवाही आई सामने पहले भाग...

पटना, देशज न्यूज। कोरोना वायरस के संक्रमण से पटना जंक्शन पर तैनात सीनियर सेक्शन इंजीनियर की शनिवार की देर रात मौत हो गई सबसे हैरान करने वाली बात यह है, इस मौत के पीछे बड़ी लापरवाही का मामला (Rail Engineer Dead to Corona) सामने आ रहा है 

 

इससे पहले जब इंजीनियर की तबीयत खराब हुई तो उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, (Rail Engineer Dead to Corona) लेकिन वह हॉस्पिटल से भाग गए थेजब इंजीनियर की विगत 8 जुलाई को तबीयत अधिक खराब हुई तो परिजनों ने उन्हें पीएमसीएच में  भर्ती करा दिया था 

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 

कोरोना जांच रिपोर्ट शुक्रवार को मिली थी जिसके बाद शनिवार को मौत हो उनकी गई है (Rail Engineer Dead to Corona) कोरोना पीड़ित सीनियर सेक्शन इंजीनियर धनराज राम ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन पटना मंडल के अध्यक्ष भी थे

दानापुर हॉस्पिटल से भागे थे

बताया जा रहा है, पिछले महीने भी उनकी तबीयत खराब हुई थी उसके बाद परिजनों ने दानापुर रेलमंडल अस्पताल में भर्ती कराया था लेकिन वह इलाज के दौरान हॉस्पिटल से भागकर अपने घर आ गए थे जिसके कारण सही तरीके से उनका इलाज नहीं हो पाया 

उनका पूरा परिवार राजेंद्र नगर रेलवे कॉलोनी में रहता है जिसके बाद अब वहां (Rail Engineer Dead to Corona) हड़कंप मच गया है पूर्व-मध्य रेलवे के करीब 40 से अधिक रेलकर्मी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं

 

पिछले 24 घंटों में आठ ने तोड़ा दम

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी इस नियमित अपडेट के मुताबिक पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना से आठ और लोगों की मौत हो गई है इसके साथ ही बिहार में अबतक कुल 118 लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है अनलॉक-में कोरोना संकट के बीच पिछले महीने 40 लोगों की मौत हुई थी सबसे ज्यादा राजधानी पटना में 14 और भागलपुर में 10 लोगों की मौत हुई है दरभंगा में और समस्तीपुर में की मौत हुई है पूर्वी चंपारण और रोहतास में 66 लोगों की मौत हुई है मुजफ्फरपुरनालंदासीवान और सारण जिले में 55 मरीजों की मौत हो चुकी है

 

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Patna

#BiharCoronaUpdates-बिहार में मिले कोरोना के 1609 नए मरीज, दरभंगा में 31, मधुबनी 44

Published

on

#BiharCoronaUpdates-बिहार में मिले कोरोना के 1609 नए मरीज, दरभंगा में 31, मधुबनी 44
#BiharCoronaUpdates-बिहार में मिले कोरोना के 1609 नए मरीज, दरभंगा में 31, मधुबनी 44

पटना, देशज न्यूज। बिहार में कोरोना संक्रमण की रफ़्तार थमने का नाम नहीं ले रही। हर रोज हजारों की संख्या में पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से ताजा अपडेट (BiharCoronaUpdates) के मुताबिक बिहार में 1609 लोग कोरोना पॉजिटव मिले हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 171465 हो गई है. बिहार में फिलहाल 14,770 कोरोना के एक्टिव मरीज है।

जानकारी के अनुसार, राजधानी पटना में एक बार फिर से सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। (BiharCoronaUpdates) मंगलवार को जारी ताजा अपडेट के मुताबिक बिहार के विभिन्न जिलों से 1609 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 171465 हो गया है। इसके तहत दरभंगा में 31, मधुबनी में 44 नए केस सामने आए हैं।(BiharCoronaUpdates)#BiharCoronaUpdates-बिहार में मिले कोरोना के 1609 नए मरीज, दरभंगा में 31, मधुबनी 44

Continue Reading

Patna

बिहार में 28 सितंबर से खुलेंगे सभी स्कूल मगर जानिए क्या है गाइडलाइन, कैसे पढ़ेंगे बच्चे

Published

on

बिहार में 28 सितंबर से खुलेंगे सभी स्कूल मगर जानिए क्या है गाइडलाइन, कैसे पढ़ेंगे बच्चे
बिहार में 28 सितंबर से खुलेंगे सभी स्कूल मगर जानिए कितने फीसद बच्चे आ सकेंगे स्कूल

पटना, देशज न्यूज। शिक्षा जगत के लिए एक बड़ी खबर आ रही है। बिहार में अब सभी स्कूल 28 सितंबर से खोल दिए जाएंगें। सरकार के इस फैसले के बाद ऊहापोह की स्थिति शुरू हो गई है।

कारण,  कोरोना संकट के बाद स्कूलों के बंद करने के फैसले के बाद ताजे मामले सरकार के साथ स्कूल प्रबंधन के लिए खासे चिंताजनक हैं।  स्कूल फिर से खुलेंगे इसके लिए बिहार कितना तैयार है यह अभिभावक अच्छी तरह से जानते हैं। ऐसे में, बिहार सरकार ने 28 सितंबर से स्कूलों को खोलने का फैसला लोगों खासकर अभिभावकों को कितना पसंद आएगा यह वक्त ही बताएगा।

हालांकि, सरकार के इस फैसले के तहत सप्ताह में बच्चों को दो ही दिन स्कूल आना होगा। इस दौरान पचास फीसद शिक्षण व नॉन शिक्षण कर्मी भी स्कूल आएंगे। सरकार का यह आदेश निजी व सरकारी दोनों स्कूलों पर लागू है।

इस फैसले के तहत तीस फीसद बच्चे ही रोज स्कूल आ सकेंगे। इस व्यवस्था के तहत नौवीं से बारहवीं वर्ग के बच्चे ही विद्यालय में अध्ययन कर सकेंगे. स्कूलों को खोलने को लेकर जो गाइडलाइन सरकार द्वारा जारी किए गए हैं उस आदेश के मुताबिक 9वीं से 12वीं तक का एक बच्चा सप्ताह में सिर्फ दो ही दिन स्कूल जा सकता है।

सरकार के इस फैसले के तहत केंद्र सरकार की ओर से जारी एसओपी का पालन करते हुए स्कूल जाने की अनुमति होगी। केंद्र सरकार की ओर से जारी अनलॉक-4 में 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को 21 सितंबर से स्कूल जाने की अनुमति दी गई थी।

Continue Reading

Patna

खुला PM मोदी का बिहार के लिए पिटारा, चुनावी फिजाओं में 9 परियोजनाओं का फिर शिलान्यास

Published

on

खुला PM मोदी का बिहार के लिए पिटारा, चुनावी फिजाओं में 9 परियोजनाओं का फिर शिलान्यास

पटना, देशज न्यूज। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार के लिए 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया. सभी परियोजनाओं की कुल लागत 14 हजार 258 करोड़ है.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान कहा कि बिहार के लोगों को बहुत-बहुत बधाई, उनकी कनेक्टिविटी बढ़ाने वाली 9 परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है. इससे यातायात को गति मिलेगी.

पीएम नरेंद्र मोदी ने 4 सड़क निर्माण में कुल 2288 करोड़ की लागत से 49 किमी लंबी नरेनपुर-पूर्णिया 4 लेन सड़क, 1149.55 करोड़ की लागत से राष्टीय राजमार्ग 31 के 47.23 किमी लंबी बख्तियारपुर-रजौली खंड का दो पैकेज में 4 लेन चौड़ीकरण कार्य का शिलान्यास किया। वहीं, इस दौरान बिहार के 45 हजार 945 गांवों को फाइबर आप्टिकल नेटवर्क से जोड़ने की योजना की शुरूआत की। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि 2021 के मार्च तक फाइबर आप्टिकल नेटवर्क की सुविधा 45 हजार 945 गांवों में उपलब्ध करा दी जाएगी।

शिलान्यास परियोजनाओं में तीन महासेतु शामिल हैं। इसमें एक गांधी सेतु, दूसरा व्रिकमशिलता सेतु के समानांतर व तीसरा फुलौत का चार लेन का पुल शामिल है। प्रधानमंत्री ने इसके चार सड़क आरा-मोहनिया, रजौली-बख्तियारपुर, नरेनपुर-पूर्णिया व कन्हौली-रामनगर शामिल है। उन्होंने 2926.42 करोड़ की लागत से गांधी सेतु के समानांतर 14.5 किमी चार लेन पुल, 1110.23 करोड़ की लागत से विक्रमशिला सेतु के समानांतर 4.455 किमी लंबे चार लेन पुल व 1478.40 करोड़ की लागत से फुलौत में 28.93 किमी लंबे चार लेन पुल का पहुंच पथ के साथ निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: