Connect with us

Patna

दरभंगा लूटकांड: CCTV में दिख रहे कई अपराधियों की पहचान का दावा मगर ये क्या…?

Published

on

दरभंगा लूटकांड: CCTV में दिख रहे कई अपराधियों की पहचान का दावा मगर ये क्या...?

सोना लूट कांड की जाँच में दरभंगा पुलिस के साथ एसआईटी, एसटीएफ व सीआईडी को लगाया गया है,सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे कई अपराधियों की पहचान करने का दावा भी कर रही है पुलिस लेकिन किसी का नहीं मिल रहा सुराग

पटना, देशज न्यूज। बिहार की कानून-व्यवस्था दुरुस्त किए जाने के दावों के बीच बेखौफ अपराधी सूबे में लगातार बड़ी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। दरभंगा में गहनों की दुकान में बड़ी लूट की वारदात में 5 करोड़ से भी अधिक के स्वर्णाभूषण और नकदी की हुई लूट की घटना के 36 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ अबतक खाली हैं। इस बड़ी घटना में  एसटीए, एसआईटी और सीआईडी  के अधिकारियों को लगाया गया है, लेकिन अबतक लूट में शामिल किसी अपराधी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। (No clue in Darbhanga loot)

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

शहर के बड़ा बाजार के बड़े व्यवसायी सुनील लाठ के प्रतिष्ठान में लूट की इस वारदात में 14 किलोग्राम सोना लूटने की खबर है, जबकि दो लाख से अधिक की नकदी भी लूटी गई है। इस घटना के दौरान अपराधियों ने ताबड़तोड़ 30 राउंड से भी अधिक फायरिंग की, जिसमें एक व्यक्ति गोली लगने से घायल हो गया, जिसका इलाज चल रहा है।

 घटना के 36 घंटे बीतने के बाद भी दरभंगा लूटकांड में शामिल किसी भी अपराधी का कोई सुराग नहीं मिल सका है। पुलिस की टीम सीसीटीवी फुटेज खंगालकर अपराधियों की शिनाख्त करने की कोशिश कर रही है। सीसीटीवी फुटेज जो सामने आए हैं, उसमें अपराधियों को साफ़ देखा जा सकता है। अलग-अलग जगहों पर छापेमारी जरूर की जा रही है, लेकिन कल की इस वारदात के बाद अपराधी फायरिंग करते हुए फरार हो गए। (No clue in Darbhanga loot)

 दरभंगा में जब अपराधी इस घटना को अंजाम दे रहे थे, उस समय पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सूबे की बिगड़ते कानून-व्यवस्था को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक में राज्य में बढ़ते अपराधों की समीक्षा कर रहे थे। (No clue in Darbhanga loot)

बुधवार को आयोजित मीटिंग में नीतीश कुमार कानून व्यवस्था को बेहतर करने के लिए किसी प्रकार की कोई लापरवाही न हो, इसके निर्देश दिए थे। इधर, घटना के बाद अब व्यापारियों के अंदर नाराजगी देखी जा रही है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि इतनी बड़ी बात वारदात को दिनदहाड़े खुले बाजार में अंजाम देने के बाद सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं। कई लुटेरे तो बिना नकाब के थे और उनके चेहरे भी पहचाने गए, लेकिन इन अपराधियों तक पुलिस नहीं पहुंच सकी है। (No clue in Darbhanga loot)

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bihar

बिहार में ‘संविदा’ नीति पर सरकार की दो टूक, सुविधा में कटौती नहीं, देंगे अतिरिक्त सुविधा

Published

on

Government's decision on 'contract' policy in Bihar, facilit

पटना, देशज न्यूज। सामान्य प्रशासन विभाग ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा कि बिहार सरकार के अधीन विभागों में नियोजित किए जाने वाले कर्मियों के बारे में सरकार के निर्णय के (Government’s decision on ‘contract’ policy in Bihar, facilit) बारे में जो खबरें सामने आ रही हैं उससे भ्रम की स्थिति उत्पन्न हुई है।जबकि हकीकत कुछ और ही है। सरकार के नए प्रावधान से नियोजित कर्मियों की सुविधा में कटौती की जगह उसमें बढ़ोतरी हुई है।

सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी प्रेस विज्ञाप्ति में कहा कि सरकार के अधीन संविदा नियोजन के प्रावधान पूर्व में कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग के संकल्प -2401 द्वारा संसूचित था। संकल्प में मात्र (Government’s decision on ‘contract’ policy in Bihar, facilit)  एक वर्ष के लिए संविदा नियोजन का प्रावधान था। नियोजित कर्मियों के लिए सेवानिवृत्ति,नियमित नियुक्ति होने तक संविदा नियोजन, विभिन्न प्रकार के अवकाश, प्रत्येक वर्ष मानदेय का पुनरीक्षण, अनुग्रह अनुदान, सेवा अभिलेख संधारण, यात्रा व्यय, अपील का प्रावधान, कर्मचारी भविष्य निधि, कर्मचारी राज्य बीमा, वार्षिक मूल्यांकन एवं नियमित नियुक्ति में सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी।

बिहार सरकार द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति की अनुशंसा के आलोक में सामान्य प्रशासन विभाग के संकल्प 17 सितम्बर 2018 द्वारा पूर्व में संविदा नियोजित कर्मियों के संविदा नियोजन अवधि को पद पर (Government’s decision on ‘contract’ policy in Bihar, facilit)  नियमित नियुक्ति नहीं होने की स्थिति में उनकी सामान्य सेवानिवृत्ति तक संविदा नियोजन बरकरार रखने के साथ-साथ अवकाश समेत अन्य सुविधा उपलब्ध कराई गई।

सामान्य प्रशासन विभाग के मुताबिक अब राज्य सरकार ने 22 जनवरी 2021 को संकल्प के माध्यम से उनके लिए भी उक्त वर्णित सभी सुविधाओं तथा सेवानिवृत्ति की तिथि अथवा नियमित नियुक्ति होने तक संविदा नियोजन बनाए रखने के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के अवकाश, प्रत्येक वर्ष मानदेय का पुनरीक्षण, अनुग्रह अनुदान, सेवा शर्त, अभिलेख का संधारण, यात्रा व्यय, अपील का प्रावधान, कर्मचारी भविष्य निधि ,कर्मचारी राज्य बीमा, कार्य का वार्षिक मूल्यांकन (Government’s decision on ‘contract’ policy in Bihar, facilit)  एवं सभी विभागों में नियमित नियुक्ति में वेटेज उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से कर्मियों को किसी सुविधा में कोई कटौती नहीं की गई है, बल्कि पूर्व से संविदा कर्मियों के साथ-साथ भविष्य में नियोजित होने वाली ऐसे कर्मियों को भी कई अतिरिक्त देने का निर्णय लिया गया है।

Continue Reading

Bihar

CM नीतीश कुमार ने कहा, लालू प्रसाद का हाल अखबारों के माध्यम से ले लेते हैं

Published

on

CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad's condition through newspapers-karpuri thakur jaiantI-cm nitish kumar

पटना, देशज न्यूज।।मुख्समंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को पूर्व सीएम जननायक कर्पूरी ठाकुर (karpuri thakur jaiantI-cm nitish kumar) की जयंती पर एक अणे मार्ग स्थित लोक संवाद कक्ष और प्रदेश जदयू कार्यालय में उनके तैलचित्र पर (CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad’s condition through newspapers)  माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया।

इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में भी बजट पेश होने वाला है। इस पर बहुत कुछ नहीं कहेंगे। लेकिन केंद्र और बिहार के बजट से बिहार का (CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad’s condition through newspapers)  विकास होगा। हर क्षेत्र में काम होगा। वैसे काम तो लगातार हो रहा है और भी तेजी से दूसरे क्षेत्रों में भी काम होगा।

आम बजट को लेकर पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए कहा कि आने वाले आम बजट से बिहार का विकास होगा।जो भी काम चल रहा है और जो काम बचा है वे सब समय से पूरा होगा। हमने वित्त वर्ष 2021-22 में सात निश्चिय के संबंध प्रवधान किया है। यह काम बजट के बाद शुरु कर देंगे।सीएम नीतीश ने कहा कि हर जगह सर्वेक्षण(CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad’s condition through newspapers)   कराकर जहां पानी घर-घर नहीं पहुंचा उसे सबसे पहले पूरा करेंगे। जल जीवन हरियाली की जो योजना बनी है उसे भी आगे बढ़ाया जायेगा। आम बजट से बिहार का विकास होगा।

सीएम नीतीश ने लालू यादव के हाल-चाल वाले एक सवाल के जवाब में कहा कि दो-तीन साल पहले जब लालू प्रसाद के स्वास्थ्य लेकर फोन किया था तो मेरे बारे में क्या से क्या कहा गया। इसलिए अब फोन नहीं करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लालू प्रसाद की तबीयत खराब है। हम कामना करते हैं कि वे जल्द से जल्द स्वस्थ्य हों। लेकिन अब वो फोन करके स्वास्थ्य का हाल नहीं जानेंगे।

अख़बारों से ही उनके हाल-चाल के बारे में पढ़ लेंगे। नीतीश (CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad’s condition through newspapers)  कुमार ने कहा कि 2017-18 में जब हमने स्वास्थ्य को लेकर उका हालचाल लिया था तो उनके देखभाल करने वाले लोगों ने क्या नहीं कहा। इसलिए अब वे फोन नहीं करेंगे।

2018 में लालू यादव की तबीयत खराब हुई थी तो सीएम नीतीश ने चार बार फोन किया था। लेकिन इस बार की बीमारी में वो फोन नहीं किया है। निजी बात को सार्वजनिक किये जाने पर तब और अब भी सीएम नीतीश का दर्द छलक गया। एक बार फिर से सीएम नीतीश ने कहा कि अब फोन नहीं करेंगे। तब भी उन्होंने कहा था कि उन्होंने एक बार (CM Nitish Kumar said, Lalu takes Prasad’s condition through newspapers)  नहीं बल्कि चार बार लालूजी का हाल लिया था। एक बार उनके राज्यसभा सांसद मनोज झा और दो बार विधायक भोला यादव से बात हुई थी। लेकिन जब इस संबंध में ख़बर आयी उसके बाद विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जो बयान दिया वो काफ़ी ओछा था।

Continue Reading

Bihar

7 दिनों से गायब मसौढ़ी के प्रखंड कृषि पदाधिकारी की हत्या, पुनपुन नदी के किनारे फेंका मिला शव

Published

on

Killing of Block Agricultural Officer of Draft, missing for 7 days, dead body thrown on the banks of Punpun River
मुख्य बातें
जमीन में गाड़ा गया लापता कृषि पदाधिकारी का शव बरामद
एक आरोपित गिरफ्तार, मौत के पीछे पैसों के लेनदेन का मामला

पटना, देशज न्यूज मसौढ़ी के प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का रविवार को गौरीचक थाना के साहेब नगर में मोरहर नदी के किनारे मिला है। पिछले 18 जनवरी से वे गायब थे। शव (Killing of Block Agricultural Officer of Draft, missing for 7 days, dead body thrown on the banks of Punpun River) बरामद होने की सूचना मिलते ही कई थानों की पुलिस के साथ पटना के वरीय पुलिस पदाधिकारी वहां पहुंचे।
शव को पटना के कंकड़बाग थाना लाया गया है.  अजय कुमार कंकड़बाग के ही रहने वाले थे। पिछले सोमवार को वे  पटना से अपने कार्यालय जाने के लिए घर से निकले थे, लेकिन वे न तो मसौढ़ी प्रखंड कृषि कार्यालय पहुंचे, न ही शाम तक लौट कर वापस पटना आए। सोमवार शाम से मंगलवार सुबह तक उनके परिजन मोबाइल पर Killing of Block Agricultural Officer of Draft, missing for 7 days, dead body thrown on the banks of Punpun River)कॉल करते रहे लेकिन उधर से कोई जवाब नहीं आया। 19 जनवरी की सुबह 9 बजे के बाद से उनका मोबाइल भी ऑफ हो गया था।
अजय कुमार का पूरा परिवार कंकड़बाग थाना क्षेत्र के दक्षिणी चांदमारी रोड स्थित बुद्धनगर, रोड नंबर-2 स्थित मकान में सेकेंड फ्लोर पर रहता है। बेटी स्नेहलता बेंगलुरु में पढ़ाई करती है, लेकिन लॉकडाउन लगने के बाद से यहीं है। बेटा अभिषेक बी.टेक कर चुका है। परिवार मूल रूप से बड़हिया का रहने वाला है।
परिवारवालों को गोलू नाम के शख्स पर शक है। गोलू पटना के ही गौरीचक के लखना के रहने वाले खाद्य डीलर का बेटा है। उसका अजय कुमार के घर आना-जाना था। 18 जनवरी को भी अजय कुमार को गोलू अपनी कार में बैठाकर ले गया। इसके बाद उसी दिन उनकी हत्या कर दी। पुलिस को शक न हो, इसलिए अपनी कार का एक्सीडेंट करवाया। पट्टी लगवा कर खुद घायल बन गया। एक्सीडेंट की कहानी रच डाली। अब वह पुलिस के कब्जे में है। कृषि पदाधिकारी से वह काफी रुपया ठग चुका है।
इस मामले में कंकड़बाग थाने में अपहरण का केस दर्ज किया गया था, लेकिन इस केस की जांच मसौढ़ी थाने की पुलिस भी कर रही थी। पुलिस के अनुसार 18 जनवरी को अजय कुमार के मोबाइल का टावर लोकेशन खंगाला गया तो सुबह 8 बजकर 52 मिनट पर आखिरी लोकेशन मसौढ़ी ही मिला। इसका (Killing of Block Agricultural Officer of Draft, missing for 7 days, dead body thrown on the banks of Punpun River)
मतलब साफ है कि सुबह 7 बजे घर से निकलने के बाद वो अपनी ड्यूटी के लिए मसौढ़ी गए थे। बाद में न तो वो वापस लौटे और न ही किसी का कॉल रिसीव किया। इस कारण अपहरण की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही थी।

पुलिस ने पिछले छह दिनों से लापता मसौढ़ी के कृषि पदाधिकारी का शव गौरीचक के साहब नगर में दरधा नदी के किनारे से रविवार को  बरामद कर लिया। अपराधियों ने कृषि पदाधिकारी अजय कुमार की हत्या कर लाश जमीन में गाड़ दी थी। अजय मूलरूप से लखीसराय के बड़हिया के रहने वाले थे। लापता कृषि पदाधिकारी के परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। सूचना मिलने पर पटना के सिटी एसपी ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पटना पुलिस ने गौरीचक थाना क्षेत्र के साहब नगर के पास दरधा नदी किनारे जमीन में गाड़ी हुई एक लाश  बरामद की  है। शव की शिनाख्त छह दिनों से लापता मसौढ़ी के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार के रूप में की गई है। पुलिस ने मामले में गोलू नामक एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक गोलू का काफी पैसा अजय कुमार पर बकाया था। इसकी वजह से कृषि पदाधिकारी को किडनैप कर उसने मार डाला ।  

परिजनों ने दर्ज कराया था अपहरण का केस

मसौढ़ी के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार की पत्नी पूनम सिंह ने पुलिस से शिकायत में कहा था कि उनके पति की तैनाती मसौढ़ी में है और वह अपने परिवार के साथ पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित बुद्ध नगर रोड नंबर-2, दक्षिणी चांदमारी रोड में रहती है। कुछ दिन पहले उनके पति अजय कुमार सिंह कोरोना संक्रमित हो गये थे। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वह विगत सोमवार को पहली बार अपने ऑफिस जा रहे थे। सुबह करीब साढ़े सात बजे वह घर से निकले लेकिन ऑफिस नहीं पहुंचे और न ही देर तक घर लौटे। उसने पुलिस से कहा कि अक्सर उनके पति ट्रेन पकड़कर मसौढ़ी जाते थे। पत्नी के मुताबिक घटना के दिन से ही उनका मोबाइल भी बंद था। पुलिस जांच में मोबाइल की आखिरी लोकेशन मसौढ़ी प्रखंड से करीब एक किलोमीटर दूर स्थित शर्मा गांव में मिली थी लेकिन पुलिस उन्हें जीवित तलाश करने में विफल रही।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: