Connect with us

Patna

नेपाली अखबार कांतिपुर का दावा, कोसी पश्चिमी तटबंध के टूटने का खतरा, उठाए निर्माण पर सवाल

Published

on

नेपाली अखबार कांतिपुर का दावा, कोसी पश्चिमी तटबंध के टूटने का खतरा, उठाए निर्माण पर सवाल
नेपाली अखबार कांतिपुर का दावा, कोसी पश्चिमी तटबंध के टूटने का खतरा, उठाए निर्माण पर सवाल

पटना, देशज न्यूज । कोसी नदी का पश्चिमी तटबंध टूटने का खतरा बढ़ गया है अगर ऐसा हुआ तो फिर से बिहार में बाढ़ की तबाही मच सकती है इसे लेकर नेपाली मीडिया ने भी एक बड़ा दावा किया है कांतिपुर अखबार ने दावा किया है कि सप्तकोशी के पहाड़ी क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से सुनसरी और सप्तरी में कोसी के पश्चिमी तटबंध के टूटने का खतरा बढ़ गया है 

 

नेपाल के सुनपरी और सप्तरी जिले बिहार की (nepal newspaper kantipur ka dava- Flood in north Bihar) सीमा से लगे हुए हैं अगर ऐसे में बांध टूटता है तो इसका खामियाजा बिहार को उठाना पड़ेगा नेपाली मीडिया ने भारत पर आरोप लगाया है कि वह बांध की मरम्मत में लापरवाही बरत रहा है कांतिपुर ने कोसी विक्टिम्स सोसाइटी के अध्यक्ष देव नारायण यादव का बयान भी प्रकाशित किया है 

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 

यादव ने कहा है कि बांध टूटने का जोखिम बढ़ गया है (nepal newspaper kantipur ka dava- Flood in north Bihar) क्योंकि बांध के उचित रख-रखाव पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है इसको लेकर हमने बार-बार कहा है कि कोसी को रेत के तटबंधों के निर्माण से नहीं बचाया जा सकता है कोसी की रेत को खोदकर पश्चिमी तटबंध का निर्माण किया गया था

 

मरम्मत का काम भारत के जिम्मे

सप्तरी के हनुमान नगर कांकालिनी नगर पालिका-14, डालुवा में पश्चिमी तटबंध के टूटने का खतरा बताया जा (nepal newspaper kantipur ka dava- Flood in north Bihar) रहा है इस जगह पर बांध कमजोर हो गया है 

 

नेपाल और भारत में हुए कोसी समझौते के अनुसार तटबंध की सुरक्षा और बचाव भारत को करना है कांतिपुर ने लिखा है कि अगस्त 1963 में दल्लवा में सप्तकोशी बांध के फटने के बाद नेपाल (nepal newspaper kantipur ka dava- Flood in north Bihar) सरकार के नेतृत्व में भारत ने लगभग 5 किमी दूर एक और तटबंध बनाया है, लेकिन भारत की उदासीनता के कारण 57 साल के बाद उसी जगह पर तटबंध टूटने का खतरा बढ़ गया है 

 

नदी का प्रवाह बदलने से पश्चिमी तटबंध पर दबाव बढ़ा है (nepal newspaper kantipur ka dava- Flood in north Bihar) बता दें कि वर्ष 2008 में कुसहा बांध के टूटने से बिहार के 18 जिलों में बाढ़ ने तबाही मचाई थी बाढ़ से करीब 50 लाख लोग प्रभावित हुए थे और 258 लोगों की जान चली गई थी

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Patna

Bihar Election : BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप

Published

on

Bihar Election : BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप
BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप

पटना: भाजपा (BJP) प्रवक्ता संबित पात्रा  ( Sambit Patra ) ने बिहार ( Bihar ) पहुंचते ही आरजेडी  (RJD) पर जमकर निशाना साधा। राजधानी पटना में संबित पात्रा ने तेजस्वी और तेजप्रताप पर तंज कसते हुए कहा कि कहा कि लालटेन में न तेज है और न प्रताप है, सिर्फ नाम है।वहीं भाजपा प्रवक्ता ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन के लिए आरजेडी को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि एक लोटा पानी से आरजेडी का तर्पण होगा। बता दें कि  रघुवंश प्रसाद सिंह को लेकर तेजप्रताप यादव ने कहा था आरजेडी समंदर है और एक लोटा पानी कम भी हो जाएगा तो फर्क नहीं पड़ेगा। ( Tej pratap yadav)

वहीं पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा है कि विपक्षी दलों की कथनी और करनी पर प्रहार करते हुए कहा कि विपक्षी दलों के नेता नकारात्मक ऊर्जा से ग्रसित हैं। यह उनके उल-जुलूल बयानों से साबित हो चुका है। उन्होंने किसी का नाम लिए बगैर तंज कसते हुए कहा कि विपक्ष के युवराजों को ‘ मैन ऑफ निगेटिविटी’ की उपाधि मिलनी ही चाहिए। इन लोगों ने आज तक कोई सकारात्मक बात नहीं की। चाहे देश की सुरक्षा की बात हो, या फिर कोरोना संकट से लड़ने की। इनकी निगेटिविटी से तो देश का कुछ नहीं बिगड़ेगा।

Continue Reading

Patna

आज Bihar में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है, Kosi Rail Mahasetu का PM Modi ने किया उद्घाटन

Published

on

आज Bihar में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है, Kosi Rail Mahasetu का PM Modi ने किया उद्घाटन
आज Bihar में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है, कोसी रेल महासेतु का PM Modi ने किया उद्घाटन

पटना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Modi ) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार ( Bihar ) में कोसी रेल महासेतु ( Kosi Rail Mahasetu ) देश को समर्पित किया और 12 रेल परियोजनाओं का शुभारंभ किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, आज बिहार ( Bihar ) में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है. वर्तमान में निर्मली से सरांयगढ़ का सफर करीब-करीब 300 किमी का होता है. अब वो दिन ज्यादा दूर नहीं जब बिहार के लोगों को 300 किमी की ये यात्रा नहीं करनी पड़ेगी. 300 किमी की ये यात्रा सिर्फ 22 किमी में सिमट जाएगी.

पीएम मोदी ( PM Modi ) ने कहा, आज कोसी महासेतु ( Kosi Rail Mahasetu ) होते हुए सुपौल-आसनपुर कुपहा के बीच ट्रेन सेवा शुरू होने से सुपौल, अररिया और सहरसा जिले के लोगों को बहुत लाभ होगा. यही नहीं, इससे नॉर्थ ईस्ट के साथियों के लिए एक वैकल्पिक रेलमार्ग भी उपलब्ध हो जाएगा. रेलवे कर्मचारियों की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा, जिस तरह से कोरोना के समय में रेलवे ने काम किया है, काम कर रही है, उसके लिए मैं भारतीय रेल के लाखों कर्मचारियों की विशेष प्रशंसा करता हूं. देश के लाखों श्रमिकों को श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए रेलवे ने दिन-रात एक कर दिया था.

प्रधानमंत्री ने कहा, 2014 के पहले के 5 सालों में बिहार में सिर्फ सवा तीन सौ किलोमीटर नई रेल लाइन शुरु थी. जबकि 2014 के बाद के 5 सालों में बिहार में लगभग 700 किलोमीटर रेल लाइन कमीशन हो चुकी हैं. यानी करीब दोगुने से अधिक नई रेल लाइन शुरु हुईं हैं.

Continue Reading

Patna

Bihar Election : बिहार में शुरू हुई T-Shirt Politics

Published

on

Bihar Election : बिहार में शुरू हुई T-Shirt Politics

पटना: चुनाव की दस्तक हो चुकी है, सड़क किनारे टी-शर्ट ( T-Shirt  ) पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ( Tejashwi Yadav ) की तस्वीर, उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव की तस्वीर, आरजेडी का चुनाव चिन्ह लालटेन, जन अधिकार पार्टी के मास्क आदि आरजेडी ( RJD ) दफ्तर के ठीक सामने लगे स्टॉल पर बिक रहे है. कोई थोक में तो कोई सिंगल पीस की मांग कर रहा है.

गौरतलब है कि बिहार में विधानसभा चुनाव के अक्टूबर- नवंबर में होने की संभावना है. इसको लेकर पार्टियां कमर कस चुकी हैं. अब वह दिन दूर नहीं जब सभी नुक्कड़- चौराहों पर अलग-अलग पार्टियों के कार्यकर्ता कभी टोपी, कभी टीशर्ट तो कभी मास्क पहने अपने पार्टी का प्रचार करते दिखेंगेl

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.