Connect with us

Patna

बिहार पुलिस का एक्शन : अब IG व DIG स्तर के अधिकारी भी करेंगे रात्रि गश्ती

Published

on

बिहार पुलिस का एक्शन : अब IG व DIG स्तर के अधिकारी भी करेंगे रात्रि गश्ती

पटना, देशज न्यूज। डीजीपी एसके सिंघल (DGP SK Singhal) के निर्देशन में सभी जिलों के डीएसपी, एसपी, एसएसपी से लेकर डीआइजी व आइजी स्तर के अधिकारियों को सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के निर्देश के बाद अब रात्रि गश्ती करना होगा।

एडीजी मुख्यालय ने बताया कि बड़े अधिकारियों के अलावा पहले से गश्ती के लिए निकलने वाले छोटे स्तर के पुलिस पदाधिकारियों व पुलिस वाहनों की भी मॉनिटरिंग की जायेगी। सभी पुलिस वाहनों में जीपीएस के आधार पर मॉनिटरिंग की जाएगी।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

पुलिस मुख्यालय में वीसी के माध्यम से डीजीपी एसके सिंघल के निर्देशन में सभी जिलों के डीएसपी, एसपी, एसएसपी से लेकर डीआइजी और आइजी स्तर के अधिकारियों को सीएम के निर्देश से अवगत कराया गया। इसके तहत एसपी अपने जिलों के लिए एक्शन प्लान के तहत क्राइम कंट्रोल करने की कार्रवाई करेंगे. पुलिस अधीक्षकों को भी रात में निकल कर सुरक्षा की जांच करनी होगी।

 

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Patna

CM नीतीश ने मंगलवार को बुलाई कैबिनेट की बैठक, कई महत्वपूर्ण एजेंडों पर लगेगी मुहर

Published

on

Nitish calls cabinet meeting

राजभवन से आ रही खबरों के अनुसार मंगलवार को कैबिनेट का विस्तार होगा। मंगलवार को साढ़े 11 बजे मंत्रियों का शपथ ग्रहण होगा। राजभवन के राजेन्द्र मंडपम में शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इसबार हो रहे विस्तार में कई नए चेहरे के शामिल होने की उम्मीद है। इस मंत्रिमंडल में जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन का शामिल होना तय है। वहीं कई समीकरणों पर मंत्रियों का चयन कर मंत्री बनाया जा सकता है। हलांकि इस संदर्भ में रविवार को मुख्यमंत्री से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद मिलकर विमर्श कर चुके हैं।

पटना, देशज न्यूज। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को कैबिनेट की बैठक बुलाई है। इस बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लग सकती है। जदयू-भाजपा में कैबिनेट विस्तार के साथ-साथ राज्यपाल कोटे वाली विप की 12 सीटों पर सहमति बन गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि बहुत जल्द ही कैबिनेट का विस्तार (Nitish calls cabinet meeting) होगा। अब यह खबर आ गई है कि मंगलवार को साढ़े 11 बजे कैबिनेट का विस्तार होगा। मंत्रिमंडल की बैठक शाम 4:30 बजे संवाद में आयोजित है। इस संबंध में सोमवार को मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग ने पत्र जारी किया है।

कुछ बड़े नाम जिनको मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। इसमें बीजेपी के शाहनवाज हुसैन का नाम शामिल है। दूसरा महत्वपूर्ण नाम सम्राट चौधरी का है, जो बीजेपी के ही एमएलसी हैं. ये शकुनि चौधरी के बेटे हैं और नीतीश कुमार के लव-कुश समीकरण के मजबूत आधार माने जाते हैं। राजपूत कोटे से, सुमित सिंह, जो पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह के बेटे हैं, मंत्रिमंडल में जगह पा सकते हैं। सुमित सिंह चिराग पासवान के धुर विरोधी माने जाते हैं। इस वक्त नीतीश मंत्रीमंडल में 13 मंत्री शामिल हैं। विस्तार के बाद 23 और मंत्रियों के शामिल होने की गुंजाइश है। अगर नीतीश की पिछली सरकार को देखें तो उसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत 35 मंत्री शामिल थे।

Continue Reading

Bihar

बिहार विधान परिषद की दो सीटों के लिए शाहनबाज और मुकेश सहनी ने भरा नामांकन

Published

on

Shahnbaz and Mukesh Sahni filed nomination for two seats of Bihar Legislative Council

पटना, देशज न्यूज। बिहार विधानपरिषद की दो सीटों के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता शाहनबाज हुसैन ने सोमवार को नामांकन भरा। शाहनबाज के साथ ही राजग के घट दल वीआईपी के मुखिया मुकेश सहनी ने भी नामांकन दाखिल किया।राजग के दोनों नेताओं के नामांकन के मौके पर (Shahnbaz and Mukesh Sahni filed nomination for two seats of Bihar Legislative Council) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, डिप्टी सीएम रेणु देवी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल सहित प्रदेश के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता शाहनबाज हुसैन ने नामांकन के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनका पुराना रिश्ता रहा है। मुझे विधान परिषद का उम्मीदवार बनाये जाने पर मैं पार्टी को धन्यवाद देता हूं। मैं बिहार के लिए हर क्षण, हर पल तत्पर रहूंगा। नामांकन के बाद मुकेश सहनी ने (Shahnbaz and Mukesh Sahni filed nomination for two seats of Bihar Legislative Council) पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि हम सब (राजग) एकजुट है, नाराजगी की कोई बात नहीं है। मुझे जैसे ही यह जानकारी मिली कि विधानपरिषद के लिए मुझे राजग की ओर से उम्मीदवार बनाया गया है, मैंने गृहमंत्री अमित शाह, सीएम नीतीश कुमार और प्रदेश भाजपा के प्रभारी भूपेन्द्र यादव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जयसवाल सहित सभी को धन्यवाद दिया।

उल्लेखनीय है कि इन दोनों विधनपरिषद की सीटों के लिए अभी तक विपक्षी दल महागठबंधन की ओर से कोई उम्मीदवार नहीं दिया गया है। इसकी उम्मीद भी कम है ,क्योंकि विधानसभा में (Shahnbaz and Mukesh Sahni filed nomination for two seats of Bihar Legislative Council)  बहुमत के लिहाज से राजग गठबंधन के पास फिलहाल 125 विधायक है,जो बहुमत के आंकड़े 122 से तीन ज्यादा हैं। दूसरी तरफ विपक्ष के पास 110 विधायक हैं। असद्दुदीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएमके पांच के अलावा बसपा, निर्दलीय और लोजपा के एक-एक विधायक हैं, जो बहुमत के आंकड़ों से दूर हैं।

Continue Reading

Bihar

बिहार के 13 विश्वविद्यालयों ने कहां और कैसे खर्च किए 1200 करोड़, नहीं दिया हिसाब, फंसे

Published

on

Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded

बिना हिसाब दिए मुश्किल होगा विश्वविद्यालयों को अनुदान की राशि मिलना

पटना, देशज न्यूज। बिहार के सभी 13 परंपरागत विश्वविद्यालयों पर शिक्षा विभाग द्वारा दी गई राशि का हिसाब-किताब लंबित है। शिक्षा विभाग के उच्च शिक्षा निदेशालय को विगत कई वर्षों में जारी की गयी अनुदान तथा विभिन्न विकासात्मक मद की राशि में से 1200 करोड़ रुपये विश्वविद्यालयों ने कहां और कैसे खर्च किएइसका ब्योरा ही नहीं दिया है।

इसको लेकर विश्वविद्यालयों को बार-बार विभाग की ओर से पत्र (Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded)  भेजा गयालेकिन उनकी सुस्ती को देखते हुए अब विभाग गंभीर है। सोमवार से विश्वविद्यालयवार होने वाली समीक्षा बैठक में लंबित उपयोगिता प्रमाण पत्र का मामला उठेगा। विश्वविद्यालयों को यह जमा भी करना होगा।

शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी की अध्यक्षता में विगत 23 दिसम्बर को उच्च शिक्षा को लेकर हुई समीक्षा बैठक में भी यह मामला उठा था। बैठक में ज्यादातर (Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded)  विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने भी शिरकत की थी। तब कुलपतियों ने खर्च की गयी राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र देने के लिए दो माह का समय लिया था।

कहा था कि इस अवधि के अंदर वे पाई-पाई का हिसाब उच्च शिक्षा निदेशालय को भेज देंगे। कुलपतियों के आश्वासन का असर भी हुआ। पहली बार करीब 600 करोड़जबकि (Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded)  उसके बाद भी 300 से 400 करोड़ खर्च का ब्योरा विश्वविद्यालयों ने शिक्षा विभाग को भेजा। इस एक हजार करोड़ का हिसाब मिलने के बाद भी करीब 1200 करोड़ रुपए का उपयोगिता प्रमाण पत्र अब भी विश्वविद्यालयों पर बाकी है।

 शिक्षा विभाग ने जो 2200 करोड़ रुपए विश्वविद्यालयों को दिए थे, यह राशि वेतनपेंशनविकास और सम्बद्ध कॉलेजों के अनुदान मद की है। विभाग के सामने समस्या यह है कि जबतक पूर्व में दी गई राशि (Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded) का ब्योरा उसे नहीं मिलेगातबतक वह संबंधित विश्वविद्यालयों को उसी मद में अनुदान की राशि कैसे दी जा सकती है।

विश्वविद्यालयों के लिहाज से भी प्रमाणपत्र देना जरूरी हैताकि उसे आगे भी राशि सरकार से मिल सके। शिक्षा सचिव असंगबा चुबा आओ ने इसी 18 जनवरी से 15 फरवरी के बीच सभी 13 परंपरागत विश्वविद्यालयों की समीक्षा बैठक बुलायी है। अलग-अलग तिथियों में होने वाली इन बैठकों में संबंधित विश्वविद्यालय के कुलपति अपनी पूरी टीम के (Where and how 13 universities of Bihar spent 1200 crores, did not account, stranded)  साथ शामिल होंगे। इधर से उच्च शिक्षा निदेशालय की भी टीम होगी। उम्मीद की जा रही है कि इन बैठकों में 1200 करोड़ रुपए का हिसाब सरकार को मिल जाएगा।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: