Connect with us

Patna

बिहार में फिर होगा लॉकडाउन, जानिए वर्चुअल मीटिंग में कार्यकर्ताओं से क्या कहा सीएम नीतीश ने

Published

on

cm nitish

पटना, देशज न्यूज। बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण यहां एक बार फिर से लॉकडाउन लागू होगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बृहस्पतिवार को जदयू नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग में यह एलान किया है। उन्होंने कहा कि राज्य के जिन इलाकों में अधिक संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं, वहां पर फिर से लॉकडाउन लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए उन इलाकों को  चिन्हित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि भारत सरकार लॉकडाउन खत्म कर रही है लेकिन राज्य सरकार संक्रमण वाले इलाकों में लॉकडाउन जारी रखेगी। बिहार के कई इलाकों में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है। लिहाजा उन इलाकों में फिर से लॉकडाउन लागू किया जाएगा।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज लगातार पांचवे दिन अपने आवास से जदयू कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल कांफ्रेंस कर रहे थे। उन्होंने आज अपने गृह जिला नालंदा के पार्टी नेताओं से भी बातचीत की है।

 बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 5807 हो गई है।  कोरोना से अबतक राज्य में कुल 34 मरीजों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर फंसे 20 लाख, 90 हजार लोगों को एक-एक हजार रुपए दिए गए हैं तब एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर भी प्रतिबंध था इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात हुई फिर तय किया गया कि लोगों को वापस बिहार लाना है 

कहा, मई  से मजदूरों को ट्रेन से लाने का सिलसिला शुरू हो गया कुल 1508 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों  से बिहार में 21 लाख, 11 हजार प्रवासी बिहार आए हैं जो रेड ज़ोन से आए हैं, उन्हें प्रखंड स्तर पर 14 दिनों तक क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया मैंने हर जिले के दो-दो क्वॉरेंटाइन सेंटर के लोगों से बात की यहां से जाने के बाद भी उनको पैसे दिए गए

मई से आने वाले हजार प्रवासी निकले कोरोना संक्रमित

मुख्यमंत्री ने कहा कि गत मई से बिहार आने वाले प्रवासी मजदूरों में बड़े पैमाने पर  कोरोना संक्रमण मिले  हैं  अब तक चार हजार लोगों में कोरोना संक्रमण मिल चुका है उनका ध्यान रखा जा रहा है सैकड़ों लोग ठीक भी हो गए हैं उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों की अपेक्षा बिहार में कोरोना से कम मौतें हुई हैं आधे से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं बिहार में जो मौत हुई, वे  दूसरे रोगों से पीड़ित थे वे संक्रमित हो गए थे मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना अभी खत्म नहीं हो रहा है इससे पूरी  दुनिया प्रभावित हैं चीन से शुरू हुआ और अमेरिका जैसा देश भी इससे प्रभावित है

बिना मास्क के बाहर न निकलें
मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क लगाना जरूरी है पहले तो कहा जा रहा था कि मरीज और इलाज करने वाले लोगों को ही मास्क लगाना हैलेकिन बाद में संक्रमण रोकने के लिए सभी के लिए अनिवार्य किया गया अगर आप मास्क नहीं लगाए हैं तो गमछा से मुंह ढंक लें बच्चेबुजुर्ग और 65 साल से अधिक उम्र के लोग बाहर न निकलें और सावधान रहें बिना मास्क के बाहर नहीं निकले

यह भी पढ़िए यह जानना भी है जरूरी

 कोरोना को लेकर बिहार सरकार ने स्थिति  स्पष्ट करते हुए कहा है कि लॉकडाउन को लेकर बिहार में कोई नया निर्णय नहीं लिया गया है। बिहार के सूचना एवं जन-संपर्क सचिव अनुपम कुमार ने गुरुवार को बताया,बिहार में ऐसी कोई बात नहीं है। लॉकडाउन को लेकर कोई नया निर्णय नहीं लिया गया है। न ही कोई नया दिशा-निर्देश दिया गया है।

 कुमार ने बताया कि बिहार में भारत सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से 30 मई को जारी किया गया दिशा-निर्देश यथावत लागू हैं। केन्द्र सरकार की गाइडलाइन को ही राज्य सरकार ने अपनाया है। बिहार में पूरे देश की तरह केन्द्र सरकार के दिशा-निर्देश के अनुरुप सिर्फ केंटनमेंट जोन में ही लॉकडाउन किया गया है।

कंटेनमेंट जोन का निर्धारण उक्त जिले के डीएम करते हैं।जिले में जहां कोरोना के नए मामले सामने आते है, उसे ईपी सेंटर मानते हुए वहां की भौगोलिक स्थिति और बसावट को ध्यान में रखते हुए कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। इसके तहत 28 दिनों तक स्थिति पर नजर रखी जाती है और 28 दिनों तक कोई नया मामला नहीं आने के बाद उसे फ्री कर दिया जाता है। इसलिए किसी भी प्रकार के भ्रम से इस वक्त बचने की जरुरत है। राज्य में 30 मई को केन्द्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश में कोई बदलाव नहीं किया गया है। वह दिशा-निर्देश यथावत है।

 

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Patna

दरभंगा के शशि नाथ संस्कृत विवि, एसपी सिंह मिथिला विवि समेत 6 विवि को मिले नए कुलपति

Published

on

दरभंगा के शशि नाथ संस्कृत विवि, एसपी सिंह मिथिला विवि समेत 6 विवि को मिले नए कुलपति
दरभंगा के शशि नाथ संस्कृत विवि, एसके सिंह मिथिला विवि समेत 6 विवि को मिले नए कुलपति

पटना, देशज न्यूज।  राज्यपाल सह कुलाधिपति फागू चौहान ने शनिवार को प्रदेश के छह विश्वविद्यालयों को नए कुलपति दिए। यह फैसला सीएम नीतीश कुमार के साथ सर्च कमेटियों की ओर से तैयार पैनल में शामिल नामों पर विमर्श के बाद किया गया। इससे पूर्व सीएम स्वयं सुबह साढ़े ग्यारह बजे राजभवन गए थे।  डेढ़ घंटे राज्यपाल व सीएम के बीच सर्च कमेटी की रिपोर्ट  पर विमर्श के बाद विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति तय किए गए। बाद में राज्यपाल के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने सभी नियुक्तियों की अधिसूचना जारी की।

जानकारी के अनुसार, प्रो. गिरीश कुमार चौधरी पटना विश्वविद्यालय (पटना), प्रो. नीलिमा गुप्ता को तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय, प्रो. फारुक अली जयप्रकाश विवि छपरा, प्रो. रामकिशोर प्रसाद रमण बीएन मंडल विवि मधेपुरा, प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा व प्रो. शशिनाथ झा को कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विवि दरभंगा का कुलपति नियुक्त किया गया है। सभी कुलपतियों की नियुक्ति पदभार ग्रहण करने की तिथि से तीन साल के लिए की गई है।

 

वहीं, पैनल में शामिल प्रो. अजय कुमार सिंह को पटना विश्वविद्यालय का प्रति कुलपति नियुक्त किया गया है। प्रो. डाली सिन्हा को ललित नारायण मिथिला विवि का प्रोवीसी नियुक्त किया गया है। प्रो. ईद्द मोहम्मद अंसारी मौलाना मजहरुल हक अरबी-फारसी विवि पटना के प्रोवीसी बनाए गएं हैं। प्रो. रवीन्द्र कुमार को बीआरए बिहार विवि मुजफ्फरपुर का प्रति कुलपति नियुक्त किया गया है।

जानकारी के अनुसार, मिथिला विवि के कुलपति बने प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह लखनऊ के गोमतीनगर के निवासी हैं। केएसडी संस्कृत विवि के वीसी प्रो. शशिनाथ झा दरभंगा के न्यू कालोनी शुभंकरपुर निवासी हैं।

Continue Reading

Patna

#CoronaBiharUpdate: एक दिन में मिले 1616 कोरोना संक्रमित, दरभंगा में 21, मधुबनी 91

Published

on

#CoronaBiharUpdate: एक दिन में मिले 1616 कोरोना संक्रमित, दरभंगा में 21, मधुबनी 91

पटना, देशज न्यूज। कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही। बिहार में कोरोना वायरस की चेन लगातार लोगों को बेचैन कर रही है। हालांकि रिकवरी दर बेहतर हुई है लेकिन संक्रमितों की संख्या पर लगाम नहीं लग रहा है।

इससे कोरोना पर नियंत्रण लगता दिख नहीं रहा। अगर ऐसे ही चलता रहा तो कोरोना को हराना बेहद मुश्किल हो जाएगा। इधर, स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार को जारी अपडेट के अनुसार, करीब एक लाख टेस्ट में 1616 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अपडेट में बताया है,सर्वाधिक संक्रमित पटना से मिले। आज पटना में 263 मामले सामने आए। वहीं, दरभंगा में 21 लोग संक्रमित मिले हैं। वहीं मधुबनी में यह आंकड़ा 91 तक पहुंच गया है।।CoronaBiharUpdate।

 

स्वास्थ्य विभाग की आधिकारिक जानकारी के अनुसार, प्रदेश में अब एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या करीब 14,727 रह गई है। पिछले दो दिनों में कोरोना से नौ लोगों की मौत हुई है। 17 को पांच व 18 सितंबर को चार लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की वजह से अब तक 859 लोगों की जान गई है। ।CoronaBiharUpdate।#CoronaBiharUpdate: एक दिन में मिले 1616 कोरोना संक्रमित, दरभंगा में 21, मधुबनी 91

Continue Reading

Patna

Bihar Election : BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप

Published

on

Bihar Election : BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप
BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर साधा निशाना, कहा- लालटेन में न तेज है और न प्रताप

पटना: भाजपा (BJP) प्रवक्ता संबित पात्रा  ( Sambit Patra ) ने बिहार ( Bihar ) पहुंचते ही आरजेडी  (RJD) पर जमकर निशाना साधा। राजधानी पटना में संबित पात्रा ने तेजस्वी और तेजप्रताप पर तंज कसते हुए कहा कि कहा कि लालटेन में न तेज है और न प्रताप है, सिर्फ नाम है।वहीं भाजपा प्रवक्ता ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन के लिए आरजेडी को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि एक लोटा पानी से आरजेडी का तर्पण होगा। बता दें कि  रघुवंश प्रसाद सिंह को लेकर तेजप्रताप यादव ने कहा था आरजेडी समंदर है और एक लोटा पानी कम भी हो जाएगा तो फर्क नहीं पड़ेगा। ( Tej pratap yadav)

वहीं पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा है कि विपक्षी दलों की कथनी और करनी पर प्रहार करते हुए कहा कि विपक्षी दलों के नेता नकारात्मक ऊर्जा से ग्रसित हैं। यह उनके उल-जुलूल बयानों से साबित हो चुका है। उन्होंने किसी का नाम लिए बगैर तंज कसते हुए कहा कि विपक्ष के युवराजों को ‘ मैन ऑफ निगेटिविटी’ की उपाधि मिलनी ही चाहिए। इन लोगों ने आज तक कोई सकारात्मक बात नहीं की। चाहे देश की सुरक्षा की बात हो, या फिर कोरोना संकट से लड़ने की। इनकी निगेटिविटी से तो देश का कुछ नहीं बिगड़ेगा।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: