Connect with us

Patna

चिराग की नई शर्त से NDA में बेचैनी, कहा तीनों पार्टियों की नीतियां शामिल हों चुनावी एजेंडे में

Published

on

चिराग की नई शर्त से NDA में बेचैनी, कहा तीनों पार्टियों की नीतियां शामिल हों चुनावी एजेंडे में

भाजपा के प्रदेश प्रभारी भूपेन्द्र यादव से मुलाकात में रखी यह नई शर्त, कहा, एनडीए की तीनों पार्टियों की नीतियां शामिल हों चुनावी एजेंडे में     

पटना, देशज न्यूज। बिहार विधानसभा चुनाव से पहले सूबे में एनडीए कुनबे में बिखराव का खतरा बढ़ने लगा है भाजपा की तमाम कोशिशों के बावजूद बात संभलती नहीं दिख रही 

 

लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भाजपा और जदयू के सामने बड़ी शर्त रख दी है उन्होंने साफ-साफ कहा कि अगर बिहार चुनाव में तीन पार्टियां मिल कर चुनाव लड़ने  जा रही हैं तो एनडीए के एजेंडे में तीनों पार्टियों की नीति शामिल होनी चाहिए अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या बिहार में मुख्यमंत्री पद के दावेदार घोषित किए जा चुके नीतीश कुमार चिराग पासवान के इस नए पैंतरे को नाकाम  कर पाएंगे?

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

 

अगर नीतीश कुमार चिराग पासवान की शर्तों के साथ समझौता नहीं करते हैं तो बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा और जदयू को बड़ा नुकसान हो सकता हैदरअसल, गत रविवार की रात भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव चिराग पासवान से मिलने उनके घऱ गए थे भाजपा को चिराग पासवान के नाराज होने की खबर मिली थी  जिसके बाद भूपेंद्र यादव चिराग से मिलने पहुंचे थे लोजपा के सूत्र बता रहे हैं कि चिराग पासवान ने भूपेंद्र यादव के सामने बिहार चुनाव को लेकर अपनी शर्त रख दी है 

 

जानकारों के मुताबिक भूपेंद्र यादव सीटों पर बात करने गए थे लेकिन चिराग पासवान ने उनसे सीटों के बंटवारे पर कोई बात ही नहीं कीअंदरखाने से जो खबर आ रही है, उसके मुताबिक चिराग पासवान ने भूपेंद्र यादव के सामने बिहार चुनाव को लेकर अपनी नई शर्त रख दी है चिराग ने कहा कि बिहार के विकास को लेकर उन्होंने बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट विजन तैयार किया है उनके विजन को एनडीए के एजेंडे में शामिल किया जाना चाहिए 

 

चिराग ने कहा कि अगर बिहार चुनाव में तीन पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ेंगी और सरकार बनेगी तो एजेंडा भी साझा होगा अगर सरकार बने तो कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के आधार पर उसे चलाने की बात पहले से तय होनी चाहिये चिराग पासवान का कहना है कि देश में एनडीए की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा है

 

भाजपा को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि गठबंधन की सभी पार्टियों का सम्मान हो बिहार में किसी खास व्यक्ति की नीति पर सरकार नहीं चल सकती सियासी गलियारों में पहले से यह चर्चा होती रही है कि नीतीश कुमार चिराग पासवान को निपटाना चाहते हैं लेकिन अब चिराग पासवान ने भी अपने तेवर सख्त कर लिए हैं चिराग पासवान के कड़े तेवर के बाद सबसे ज्यादा उत्सुकता राजदकांग्रेस के खेमे में है

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Patna

ये है लालू का घोबिया पाट, खोजा बहू ऐश्वर्या राय की काट, बड़ी बहन करिश्मा की RJD में एंट्री

Published

on

ये है लालू का घोबिया पाट, खोजा बहू ऐश्वर्या राय की काट, बड़ी बहन करिश्मा की RJD में एंट्री

पटना, देशज न्यूज। ये है लालू का घोबिया पाट। कहते हैं लालू प्रसाद के पास हर मर्ज की दवा हे। देखिए ना कितना ड्रामा हुआ चंद्रिका प्रसाद की बेटी ऐश्वर्या व तेजप्रताप को लेकर लेकिन अब चंद्रिका राय के परिवार की एक अन्य सदस्य को राजद में इ्रट्री दिलाकर लालू ने सबको चित कर दिया है।

गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की उपस्थिति में करिश्मा राय राजद में आई हैं। करिश्मा विधानचंद्र राय की बेटी हैं। विधानचंद्र राय  सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के समधी चन्द्रिका राय के बड़े भाई हैं।

विधानचंद्र राय व लालू यादव में पुरानी दोस्ती रही है। ऐसे में, चुनावी साल में लालू ने उनकी बेटी को पार्टी में शामिल कर चंद्रिका राय पर दबाव बनाने की कोशिश की है। तेजप्रताप यादव से तलाक प्रकरण को लेकर लालू व चंद्रिका राय के परिवार में 36 का आंकड़ा है। राजद के इस कदम को अहम मान जा रहा है। विधानचंद्र राय एक व्यवसायी हैं।चन्द्रिका राय के परिवार से इनकी कुछ दूरियां हैं।

Continue Reading

Patna

वज्रपात से बिहार में फिर 11 की गई जान, अगले 72 घंटों के लिए मौसम विभाग ने जारी किए अलर्ट

Published

on

वज्रपात से बिहार में फिर 11 की गई जान, अगले 72 घंटों के लिए मौसम विभाग ने जारी किए अलर्ट

पटना, देशज न्यूज। बिहार में एक बार फिर आसमान से आपदा बरसी है सूबे में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हो गई है बिहार में मानसून फिर अगले महीने जुलाई तक सक्रिय होगा इस दौरान राज्य के अधिकांश जिलों के लिए मौसम विभाग ने अगले 72 घंटे को लेकर अलर्ट जारी किया है मौसम विभाग ने राज्य के अधिकांश जिलों में भारी बारिश के साथ ही वज्रपात की भी संभावना जताई है

मंगलवार को बिहार में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हो गई है इसमे सारण में 5, पटना में 2, नवादा में 2 लखीसराय में 1 और जमुई में 1 व्यक्ति की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैंमरने वालों में सात लोग सारण और दो नवादा जिला के रहने वाले हैं बताया जाता है कि सारण जिले में वज्रपात से मरने वाले लोगों में गरखा के तीन लोग शामिल हैंजबकि दो मकेर के रहने वाले हैं वहींनवादा नगर के बाईपास में एक और अकबरपुर थाना क्षेत्र के गरण्डी गांव में ठनका गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई है 

पिछले सप्‍ताह बिहार में एक ही दिन में 100 से अधिक लोगों की मौत वज्रपात से हुई थी बता दें कि बिहार में इस बार मानसून समय से तीन दिन पहले आया है और अभी तक राज्य में सामान्य से 92 फ़ीसदी अधिक बारिश हुई है मौसम विभाग के मुताबिक मानसून के सक्रिय रहने से बिहार में अगले दो दिनों तक तेज बारिश होती रहेगी वर्तमान में राज्य में ट्रफ लाइन (कम दबाव का क्षेत्र) बना हुआ है

Continue Reading

Patna

तेजस्वी से मिले कभी लालू की मिमिक्री करने वाले शेखर सुमन, सियासत में आई गर्माहट, कयास…

Published

on

तेजस्वी से मिले कभी लालू की मिमिक्री करने वाले शेखर सुमन, सियासत में आई गर्माहट, कयास...

पटना,देशज न्यूज। बिहार की सियासत अलग तरीके से करवट ले रही है। पटना के अभिनेता शेखर सुमन Shekhar meet to Tejswi मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से मिले।

वैसे इस मुलाकात के कई अर्थ लगाए जा रहे हैं। शेखर सुमन पटना से कांग्रेस की सीट पर चुनाव भी लड़ चुके है। ये वही शेखर हैं जिन्हें लालू की मिमिक्री करने के चलते टीवी की दुनिया मे लोग सुनने और देखने के लिए समय निकाल लेते थे।

मगर इनके और तेजस्वी Shekhar meet to Tejswi की मुलाकात को राजनीतिक नजरिए से भी देखा जा रहा है। अब देखने वाली बात यह है, आखिर चुनावी दौर में शेखर सुमन का आना कहीं न कहीं राजनीतिक कयास को जन्म दे रहा है।

वहीं, इनके सुशांत सिंह पर की गई टिप्पणी जांच के लिए इनकी Shekhar meet to Tejswi बिहार में पांव को मजबूत तरीके से जमाने मे कामयाब नज़र आ रही है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.