Connect with us

Bihar

बिहार के विश्वविद्यालयों में एनसीसी पाठ्यक्रम होगा शामिल

Published

on

बिहार के विश्वविद्यालयों में एनसीसी पाठ्यक्रम होगा शामिल
गया, देशज न्यूज। एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) को विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों के मुख्य पाठ्यक्रम में शामिल होगा।इसकी तैयारी शुरू हो गई है। एनसीसी बिहार – झारखण्ड निदेशालय के उच्च पदाधिकारियों की एक टीम दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) का गुरुवार को दौरा किया। NCC university ke patyakarm me Hoga ।

 जन संपर्क पदाधिकारी (पीआरओ) मो. मुदस्सीर आलम ने बताया कि मेजर जनरल एम. इंद्रबालन, एडिशनल डायरेक्टर जनरल (एडीजी) एनसीसी बिहार एवं झारखंड ने सीयूएसबी कैंपस भ्रमण के साथ – साथ कुलपति प्रोफेसर हरीशचंद्र सिंह राठौर एवं कुलसचिव कर्नल राजीव कुमार सिंह के साथ भेंट किया।
मेजर जनरल एम. इंद्रबालन के दौरे का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) – 2020 के प्रावधानों के अनुसार एनसीसी के पाठ्यक्रम को विवि के सेमेस्टर प्रणाली में अपनाना और उसकी चुनौतियों पर चर्चा करना था। उनके साथ गया ग्रुप एन.सी.सी. कमांडर ब्रिगेडियर सी.सी. जलील, 27 बिहार बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल जे.एन. कुमार एवं नायब सूबेदार सुनील कुमार थे।
वहीं, बैठक में सीयूएसबी की तरफ से कुलपति की अगुवाई में कुलसचिव कर्नल राजीव कुमार सिंह, शिक्षा विभाग की सहायक प्राध्यापिका सह एनसीसी एसोसिएट नोडल ऑफिसर (एएनओ) डॉ. प्रज्ञा गुप्ता एवं छात्र अधिष्ठाता (डीएसडब्लू) प्रोफेसर आतीश पराशर शामिल हुए। वहीं, बैठक में चर्चा हुई कि एनसीसी पाठ्यक्रम में विभिन्न कैंप की महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं।
ऐसे में सेमेस्टर सिस्टम में राष्ट्रीय कैंप जैसे गणतंत्र दिवस परेड, पर्वतारोहण कैंप, आर्मी अटैचमेंट कैंप आदि जिनकी अवधि एक से तीन माह की अवधि की होती है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) – 2020 के शिक्षा प्रणाली में इनका आयोजन एवं उसमें कैडेट्स की प्रतिभागिता को सुनिश्चित करना एक बड़ी चुनौती होंगी और इसका अनुकूल उपाय सोचना अतिआवश्यक है।
कुलपति ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) – 2020 के प्रावधानों के अनुसार एनसीसी के पाठ्यक्रम को सेमेस्टर प्रणाली में अपनाना आने वाले समय में काफी लाभदायक साबित हो सकता है। प्रोफेसर राठौर ने एनसीसी उच्च पदाधिकारियों के साथ हुई। NCC university ke patyakarm me Hoga
बैठक में काफी रूचि लेते हुए सीयूएसबी के साथ – साथ देश के विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम में एनसीसी को शामिल करने के लिए अपनी तरफ से हर संभव सहायता प्रदान करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि मैं युवाओं के जीवन में एनसीसी की उपयोगिता को भली – भांति समझता हूं। इसलिए वे अपने विश्वविद्यालय में भी आवश्यक संसाधनों के साथ एनसीसी की स्थापना के लिए प्रयासरत रहेंगे। वहीं, एडीजी मेजर जेनेरल एम इंद्रबालन ने सीयूएसबी कुलपति एवं कुलसचिव से हुई बैठक पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि विवि के प्रयास से आने वाले समय में एनसीसी मुख्य पाठ्क्रम का हिस्सा बन सकता है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bihar

Deshaj Exclusive: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बाद बाबा कुशेश्वरनाथ शिव मंदिर का होगा उद्धार

Published

on

Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed
Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed

प्रशांत कुमार, कुशेश्वरस्थान पूर्वी, देशज टाइम्स रिपोर्ट। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बाद बाबा कुशेश्वर नाथ शिव मंदिर का भी होगा उद्धार। वहां राम मंदिर नहीं बल्कि राष्ट्र मंदिर का निर्माण हो रहा है। यह बात देशज टाइम को विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जीवेश कुमार मिश्र ने कही।

उन्होंने बताया कि ऐसा मान्यता है कि भगवान श्री राम के पुत्र कुश के द्वारा बाबा कुशेश्वर नाथ मंदिर में स्थित शिवलिंग की स्थापना की गई थी। इसलिए राम मंदिर निर्माण के बाद कुशेश्वर नाथ मंदिर (Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed) का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा।  बता दे की शुक्रवार की सुबह श्री मिश्र पावन नगरी कुशेश्वरस्थान पहुंच बाबा भोलेनाथ का पूजा-अर्चना की।

पूजा के बाद राम मंदिर निर्माण को लेकर शिव गंगा घाट पर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम के मंदिर निर्माण में देश के (Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed) सभी हिंदुओं का कुछ ना कुछ योगदान हो। ताकि हर एक हिन्दू मंदिर निर्माण के बाद गर्व से कह सके की उन्होंने भी अपना योगदान मंदिर निर्माण में दिया था।

कहा, पहले अन्य देशों से लोग हिंदुस्तान में लालकिला और ताजमहल देखने आया करते थे। लेकिन जिस तरह से राम मंदिर का भव्य निर्माण हो रहा है। इसके बाद लोग राम मंदिर को देखने आएंगे। (Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed) इसके बाद विश्व हिंदू परिषद की टीम केवटगामा में भी महादलित बस्ती में एक सभा का आयोजन किया।

इस बाबत मौके पर मौजूद भक्तों ने राशिद कटा राम मंदिर (Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed) निर्माण में अपना योगदान दिया। मौके पर सेवा प्रमुख रविन्द्र कुमार सिंह, भाजपा जिला मंत्री मीना झा, शिक्षक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक सुनील चौधरी, उमाशंकर साह, मणिकांत झा सहित सैकड़ों बजरंगदल, आरएसएस एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के आलावे सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed

Deshaj Exclusive After construction of Ram temple in Ayodhya, Baba Kusheshwarnath Shiva temple will be redeemed

Continue Reading

Darbhanga

दरभंगा में निकला मधुबनी गैंगरेप पीड़िता को न्याय दो मार्च,मांगा सरकार से बेहतर इलाज की गारंटी

Published

on

Madhubani gang rape victim got justice in Darbhanga March 2, sought better treatment from government

मुख्य बातें
नारों के साथ आइसा-ऐपवा का निकला प्रतिवाद मार्च,
यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर नीतीश कुमार रोक लगाने में विफल : शनिचरी देवी
मधुबनी गैंगरेप पीड़िता की बेहतर इलाज की गारंटी करे सरकार : ऐपवा

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।  मधुबनी में हुए गैंगरेप पीड़िता का बेहतर इलाज की व्यवस्था व स्पीडी ट्रायल चलाकर सभी आरोपियों को सजा देने सहित अन्य मांग को लेकर आज कर्पूरी चौक (Madhubani gang rape victim got justice in Darbhanga March 2, sought better treatment from government) से डीएमसीएच तक न्याय दो मार्च निकाला गया। मार्च का नेतृत्व ऐपवा की जिला सचिव सनीचरी देवी, आइसा के जिलाध्यक्ष प्रिंस कर्ण, आइसा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य संदीप कुमार ने किया।

वही आपातकाल विभाग के सामने आयोजित सभा की अध्यक्षता ऐपवा जिला सह सचिव राशिदा खातून ने किया। सभा को सबोधित करते हुए नेताओ ने कहां की आज बिहार मे लगातार यौन उत्पीड़न की घटनाओं में बढ़ोत्तरी हो रही है, वर्तमान समय मे बेटी बचाओ-बेटी पढाओं का नारा देने वाली भाजपा-जदयू की सरकार में बेटियां (Madhubani gang rape victim got justice in Darbhanga March 2, sought better treatment from government) सुरक्षित नहीं है, हमारी नीतीश सरकार से मांग है कि अविलंब मधुबनी की पीड़िता की सरकार बेहतर इलाज, परिजनों की सुरक्षा व न्याय की ग्रारंटी की किया जाएं।

कहा, हमारा मानना है कि सरकार व जिला प्रशासन की मिलीभगत व निष्क्रियता के कारण न्याय नहीं मिल पाता है. बिहार के मुखिया इस मामले को संज्ञान में लेते हुए स्पीडी ट्रायल चला (Madhubani gang rape victim got justice in Darbhanga March 2, sought better treatment from government)अविलंब सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर सजा की ग्रारंटी करें।
अगर इस मामले में कोई भी लापरवाही होती है तो आनेवाले दिनों में आइसा- ऐपवा बड़े आंदोलन में जाते हुए यौन उत्पीड़न के खिलाफ संघर्ष तेज़ करेगी।

मार्च में आइसा जिला सचिव विशाल कुमार माझी, गोलू कुमार, रीता साह, मधु सिन्हा, सबा,शहाबुद्दीन, आमिर एकलाख, शम्स तबरेज (Madhubani gang rape victim got justice in Darbhanga March 2, sought better treatment from government)सहित कई लोग शामिल थे।

Continue Reading

Darbhanga

लॉकडाउन में बेहतर परिवहन व्यवस्था के लिए दरभंगा प्रशासन की बिहार भर में हुई तारीफ़

Published

on

Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown

डीएम डॉ. त्यागराजनएसएम व डीटीओ को परिवहन विभाग से मिली प्रशिस्त पत्र

दरभंगा, देशज टाइम्स् ब्यूरो। कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के लिए किये गए लॉक डाउन के दौरान रेल सहित विभिन्न माध्यमों से आने वाले लोगों को उनके गंतव्य स्थान पर सकुशल पहुंचाने के (Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown) लिए दरभंगा जिला प्रशासन की ओर से बेहतर व्यवस्था की गयी।

परिवहन विभाग, बिहार सरकार के राज्य स्तरीय समीक्षा में दरभंगा जिला की ओर से की गयी परिवहन व्यवस्था प्रशंसनीय रहा। परिवहन विभाग, बिहार सरकार द्वारा इसके लिए दरभंगा के (Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown)  जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. एवं दरभंगा के जिला परिवहन पदाधिकारी रवि कुमार को प्रशिस्त पत्र प्रदान किया है।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दूसरे चरण में दरभंगा के लगभग 60 हजार लोगों को रेल गाड़ी से विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर लाया गया तथा दरभंगा रेलवे जंक्शन पर अन्य (Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown)  जिलों के लोगों को लाया गया।

जिला प्रशासन, दरभंगा की ओर से अपनी परिवहन व्यवस्था से अन्य जिले से दरभंगा के लोगों को दरभंगा लाया गया तथा दरभंगा में पहुंचे विभिन्न जिलों के लोगों को अपनी परिवहन व्यवस्था से सकुशल, सुरक्षित उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया गया।

गौरतलब है कि कोरोना काल में आगंतुक लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग करके उन्हें ट्रांजिट सेन्टर पर लाना और वहाँ से विभिन्न जिलो के लिए निर्धारित सेनेटाइज्ड वाहनों से सोशल डिस्टेसिंग का (Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown)  अनुपालन करते हुए भेजना, ताकि कोरोना का संक्रमण न फैल सके बहुत बड़ी चुनौतीपूर्ण कार्य था, जिसे दरभंगा जिला प्रशासन द्वारा बड़ी ही सहजता से बिना किसी कठिनाई के कुशलतापूर्वक संपन्न किया गया।

इस कार्य में जिलाधिकारी डॉ. एसएम की ओर से दरभंगा की प्रबंधन व्यवस्था एवं जिला परिवहन पदाधिकारी दरभंगा के द्वारा की गयी वाहन व्यवस्था सराहनीय एवं प्रशंसनीय रहा।सरकार की ओर से मिले प्रशस्ति पत्र को जिला पदाधिकारी के कर कमलों से जिला परिवहन पदाधिकारी, दरभंगा को तथा परिवहन विभाग, बिहार सरकार (Darbhanga administration praised in Bihar for better transport system in lockdown) की ओर से जिला परिवहन पदाधिकारी की ओर से जिला पदाधिकारी डॉ.एसएम को प्रदान किया गया।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: