Connect with us

Bihar

नवादा में जहरीली शराब से मौत का नहीं थम रहा सिलसिला, मरने वालों की संख्या पहुंची नौ, कई लोग अब लड़ रहे जिंदगी से जंग

Nawada MP chandan singh meet hospital

नवादा, 01 अप्रैल। बिहार के नवादा जिले में जहरीली शराब से मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गुरुवार की सुबह तक संदिग्ध हालत में  नौ लोगों की मौत हो चुकी हैं, वहीं कई लोग अब भी अस्पताल में जिंदगी से जंग लड़ रहे हैं। इनमें से कई ऐसे लोग भी हैं , जिनके शरीर के कई अंगों पर जहरीली शराब का प्रतिकूल प्रभाव हुआ है। कुछ (Nawada MP chandan singh meet hospital) लोगों की आंख की रौशनी चली गई है तो वहीं कुछ लोगों को धुंधला दिखाई देने लगा है।

घटना के बाद अधिकारियों की टीम पीड़ितों के घर-घर जाकर सभी से पूछताछ कर रही है।लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद चंदन सिंह ने अस्पताल जाकर आंख की रोशनी गई पीड़ित का आज हाल-चाल लिया। इस घटना की उच्चस्तरीय जांच की भी मांग भी उन्होंने की। खरीदी बिगहा गांव के चमारी चौधरी के आंखों की रोशनी छीन जाने की सूचना पर अधिकारियों की टीम घर पहुंची।

पीड़ित की पुत्री किसमतिया देवी ने अधिकारियों समक्ष बताया कि होलिका दहन के दिन रविवार की शाम को पिता शराब पीकर आए थे। अचानक पेट दर्द से कराहने लगे। धीरे-धीरे आंख की रोशनी भी चली गई। जिसके बाद इलाज के लिए लेकर सदर अस्पताल पहुंचे। पीड़ित की बेटी ने यह भी बताया कि अस्पताल में इलाके के ही दो लोग पहुंचे थे। जिनकी मौत हो गई थी। पता चला कि शराब पीने के कारण ही मौत हुई तो इलाज बंद कराकर घर लौट गए। फिर घर पर ही ग्रामीण चिकित्सक (Nawada MP chandan singh meet hospital) से इलाज करवाया। जांच टीम में रहे अधिकारियों ने स्वजनों को पुन: पीड़ित का सदर अस्पताल में इलाज कराने का सुझाव दिया।

तीन नंबर बस स्टैंड गांधी नगर के निवासी और मृतक ओमप्रकाश की पत्नी रंजू देवी ने कहा कि होली के दिन पति की तबीयत बिगड़ गई। पेट में दर्द हुआ और आंख की रोशनी जाने लगी। पास में एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचे तो वहां इलाज करने से इनकार कर दिया। इसके बाद दूसरे निजी अस्पताल में काफी आरजू-मिन्नत के बाद इलाज किया गया। वहां स्लाइन चढ़ाते-चढ़ाते पति ने दम तोड़ दिया। उन्होंने बताया कि पति शराब पीकर आए थे। जिसके बाद से (Nawada MP chandan singh meet hospital) तबीयत खराब हुई थी।

 

दूसरी ओर सिसवां गांव के मृतक गोपाल के स्वजनों ने भी शराब को मौत की वजह बताई। मृतक के भाई ने बताया कि गोपाल नवादा के एक निजी स्कूल में बतौर गार्ड का काम किया करता था। होली के दिन तीन बजे स्कूल से निकला। लेकिन रात में नशे की हालत में करीब आठ बजे पहुंचा। अचानक रात में तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद उसे लेकर सदर अस्पताल गए। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद विम्स पावापुरी रेफर कर दिया गया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

जहरीली शराब कांड को लेकर लोजपा के सांसद चंदन सिंह ने (Nawada MP chandan singh meet hospital)कहा है कि ‘शराब से मौत की घटना निंदनीय है। इसे नकारा नहीं जा सकता है। इस मुद्दे पर प्रशासन से बात हुई है। इसकी जांच कराने की मांग की गई है। दोषियों पर कार्रवाई हो। शराबबंदी को सख्ती से पालन कराने के लिए प्रशासन को मजबूती से नीचे स्तर तक काम करना होगा। बगैर नीचे स्तर तक काम किए इसे प्रभावी बनाए रखना मुश्किल है। वाहनों की सघन जांच हो। शराब भट्ठियों को ध्वस्त करने के लिए छापेमारी की जाए। तभी लोग सुरक्षित रह पाएंगे।

जहरीली शराब कांड पर राजद के उपाध्यक्ष प्रिंस तमन्ना ने कहा है कि ‘होली के अवसर पर शराब से दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हुई है। गोंदापुर, खरीदी बिगहा व आसपास के इलाके में मौत की घटनाएं हुई हैं। कई लोग बीमार भी हुए हैं। जिला प्रशासन दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे। मृतक के स्वजनों को 20-20 लाख रुपये मुआवजा दिया जाए।कांग्रेस पार्टी के नेता नदीम हयात ने शराब से मौत के मामले की जांचकर बिहार में विफल हुए शराब बंदी कानून को खत्म करने की मांग की है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply