Connect with us

Madhubani

मधुबनी नगर थाना के ड्राइवर ने कौमी तंजीम के पत्रकार की पेट में डंडा घुसेड़ा, किया गाली-गलौच

Published

on

मधुबनी नगर थाना के ड्राइवर ने कौमी तंजीम के पत्रकार की पेट में डंडा घुसेड़ा, किया गाली-गलौच

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। नगर थाना के ड्राइवर अनीस कुमार ने बिना पदाधिकारी के महज चार महिला सिपाही के साथ थाना की जीप से गश्ती के दौरान बाटा चौक रोड रूना मेडिकल से दवा लेने के लिए बाहर रोड पर खड़े कौमी तंजीम के छायाकार फिरोज आलम के साथ  अभद्र व्यवहार किया। पत्रकार के साथ गाली-गलौज करने के अलावे उनके पेट में पुलिस डंडे से घुसरने की (madhubani nagar thana ke driver ne komi tanjim ke patrakaar) कोशिश की।

जानकारी के अनुसार, ड्राइवर अनीस कुमार को यह भी बताने पर भी हम पत्रकार हैं, इज्जत से बात करें। इसके बाद  भी ड्राइवर अनीस कुमार गुस्से में बोलने लगा, तुम मास्क नही पहने हो। हकीकत देखिए, खुद थाना का ड्राइवर अनीस भी मास्क नहीं (madhubani nagar thana ke driver ne komi tanjim ke patrakaar) पहने हुआ था।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

पत्रकार व थाना ड्राइवर के बीच काफी बाता-बाती के दौरान ड्राइवर अनीस पुलिसिया डंडा लेकर पत्रकार की पेट में बार बार दबाने, घुसाने लगा। ऐसा लग रहा था, वह किसी आरोपी से बात कर रहा हो। अगर मास्क नही पहना था तो जूर्माना करना चाहिए था न कि उसके अभद्र व्यवहार से पेश आना चाहिए था?

इसी बीच, स्थानीय लोग जमा हो गए। स्थानीय लोगों ने भी नगर थाना के ड्राइवर को काफी समझाने की कोशिश की, परंतु वह नही माने। लोगों की काफी भीड़ जमा होते देखकर नगर थाना का ड्राइवर अनीस कुमार जीप लेकर निकल (madhubani nagar thana ke driver ne komi tanjim ke patrakaar) गया।

पूरे मामले को लेकर पत्रकार यूनियन आइएफडब्ल्यूजे के जिलाध्यक्ष हेमंत कुमार सिंह व सचिव आकिल हुसैन ने मामले की सुचना पुलिस अधीक्षक व सदर एसडीपीओ को दी है। पूलिस के वरीय अधिकारी ने कार्रवाई का (madhubani nagar thana ke driver ne komi tanjim ke patrakaar) आश्वासन दिया है।

इधर, पत्रकार यूनियन  के जिलाध्यक्ष हेमंत कुमार सिंह व सचिव आकिल हुसैन ने देशज टाइम्स को बताया, पूरे मामले में नगर थाना का ड्राइवर अनीस कुमार पर कार्रवाई अगर नहीं की जाती है तो फिर आगे की रूपरेखा तैयार की जाएगी।(madhubani nagar thana ke driver ne komi tanjim ke patrakaar)

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

मधुबनी नप पर लाभुकों का हल्ला बोल, जमकर घेराव, एक बजे तक काम-काज ठप, उग्र प्रदर्शन

Published

on

मधुबनी नप पर लाभुकों का हल्ला बोल, जमकर घेराव, एक बजे तक काम-काज ठप, उग्र प्रदर्शन
मधुबनी नप पर लाभुकों का हल्ला बोल, जमकर घेराव, एक बजे तक काम-काज ठप, उग्र प्रदर्शन

मधुबनी, देशज न्यूज। शहर में आवास योजना के लाभुकों को अगली किस्त डेज़ साल से नहीं दिए जाने से खफा बेघर लोगों ने कार्यालय खुलते ही नप को घेर लिया। नए घर के लिए अगली किस्त की राशि दो, या फिर हमारा पुराना घर की वापस करो के नारे के साथ कर्मियों व प्रतिनिधियों को कार्यालय जाने से रोक दिया, जिससे लगभग एक बजे तक नगर परिषद का कामकाज ठप रहा।

 

कार्यालय पर पहुंची लाभुक रहमती बेगम ने बताया, उन्होंने घर बनने की आस में अपनी झोपड़ी को तोड़ दिया। अब वे सड़क पर आ गयी है। हर बार कुछ दिनों का समय मांगा जाता है। राधा देवी ने कहा, अब हद हो गयी है। जबतक रुपए नहीं मिलेंगे, यहां से नहीं जाएंगे। कहां जाएं। झोपड़ी को तुड़वा दिया गया। पहला किस्त मिला। अब नींव लेकर पड़ा हुआ है। (madhubani me pardarshan)

 

सैकड़ों की संख्या में पहुंचे लाभुकों ने बताया, अगली किस्त की उम्मीद में किसी तरह घर बनाया वे अब महाजन की गिरफ्त में फंस गये हैं। राजकुमारी देवी, रामचंद्र, बुच्ची देवी, कृष्णा सदा, सल्लू अंसारी व मोतीउर्र रहमान आदि ने बताया कि सड़क पर टेंट लगाकर रहते हैं। आक्रोशित लाभुकों ने बताया, अभी कोई नेता उनके लिए नहीं बोल रहा है। सबको सबक सिखाएंगे। नप कार्यालय पर वार्ड 22, 28, 14, 20, 04, 02, 19, 01 व 13 सहित अन्य वार्ड के भी लाभुक पहुंचे थे। (madhubani me pardarshan)

 

डीएम के संज्ञान के बाद आक्रोश हुआ शांत
नप कार्यालय पर कोई नोटिस नहीं लिये जाने से खफा होकर लाभुकों का हुजूम डीएम कार्यालय में उनके कक्ष तक पहुंच गयी। जहां उनकी समस्या जानने के बाद डीएम ने त्वरित संज्ञान लिया। सदर एसडीएम अभिषेक कुमार व प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी आइएएस प्रीति गहलोत को समस्या समाधान के लिए नप भेजा। (madhubani me pardarshan)

 

 

नप पहुंच कर उन्होंने लाभुकों से बातचीत की। सदर एसडीएम ने माइक संभालकर हर लाभुकों की समस्या को सुना और तत्काल आधार कार्ड देने को कहा। उन्होंने आश्वासन दिया कि एक सप्ताह में हल निकलेगा। (madhubani me pardarshan)

 

जानकारी के अनुसार, पूर्व के डीएम की जांच कमेटी को निरस्त कर दिया गया है। नयी जांच कमेटी गठित कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने का आदेश डीएम ने दिया है। (madhubani me pardarshan)

 

एसडीएम के आश्वासन पर लाभुक वापस हुए। हालांकि लाभुकों ने स्पष्ट रुप से कहा कि बार-बार कुछ वक्त मांगा जाता है। यदि शीघ्र इसका समाधान नहीं हुआ तो कार्यालय पर ही आकर डेरा डालेंगे और चुनाव में मोहल्ले में नेताओं की बंदिश रहेगी। (madhubani me pardarshan)

मधुबनी नप पर लाभुकों का हल्ला बोल, जमकर घेराव, एक बजे तक काम-काज ठप, उग्र प्रदर्शन

Continue Reading

Madhubani

#MadhubaniNews-सूमो-ट्रक की टक्कर में सेविका समेत तीन की मौत, एक जख्मी

Published

on

#MadhubaniNews-सूमो-ट्रक की टक्कर में सेविका समेत तीन की मौत, एक जख्मी

मधुबनी,देशज न्यूज। सूमो व मालवाहक ट्रक की टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गई है। घटना अररिया संग्राम ओपी के पिपरौलिया की है। यहां, सूमो-ट्रक की टक्कर में सेविका व एक लड़की समेत तीन लोगों फुलपरास के बथनाहा केंद्र संख्या 31 की सेविका सह प्रखंड कोषाध्यक्ष प्रमीला देवी, लौकही के गढ़िया गांव के महावीर साह की छह वर्षीय पुत्री राधिका कुमारी व गढ़िया गांव के ही राम बहादुर साह के पुत्र गूंजेश्वर साह की मौके पर ही मौत हो गई।

 

वहीं, गढ़िया गांव के केंद्र संख्या 48 की सेविका सह आंगनवाड़ी कर्मचारी यूनियन की लौकही प्रखंड अध्यक्ष सह जिला कोषाध्यक्ष काजल गुप्ता जख्मी हैं।

जानकारी के अनुसार, दोनों सेविकाएं संघ की बैठक से भाग लेकर लौट रही थी। देर रात घर वापस के दौरान पिपरौलिया में उनकी सूमो आगे जा रहे मालवाहक ट्रक से टकरा गई। सूमो का चालक घायल है, लेकिन खतरे से बाहर है। तीनो शवों को अभी अनुमंडल अस्पताल पर रखा गया है।स्थानीय पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

Continue Reading

Madhubani

अंग्रेजों को देश से भगाने में भूमिका निभाने वाले गणेशी ठाकुर के अपमान का बदला लेगा मधुबनी

Published

on

अंग्रेजों को देश से भगाने में भूमिका निभाने वाले गणेशी ठाकुर के अपमान का बदला लेगा मधुबनी
अंग्रेजों को देश से भगाने में भूमिका निभाने वाले गणेशी ठाकुर के अपमान का बदला लेगा मधुबनी

मधुबनी, देशज न्यूज। 14 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान अंग्रेजों की गोलियों से मधुबनी शहर के नीलम चौक पर अकलू साह व गणेशी ठाकुर शहीद हो गए थे। देश की आजादी के बाद शहर के नीलम चौक पर सीपीआई व स्थानीय लोगों ने दोनों महान सपूतों की याद में एक स्मारक बनाया। मकसद था, उन दोनों महान व्यक्तियों को आने वाली पीढ़ी याद रखें।

मगर, मधुबनी शहर के कुछ व्यक्तियों की ओर से शहीदों को जातियों में बांटने व उनकी यादों को दफनाने की साजिश की गई है। नगर विकास योजना की राशि करीब साढ़े चार लाख की लागत से शहर के नीलम चौक पर शहीद स्मारक बनाया गया। शहीद अकलू साह व गणेशी ठाकुर की आदमकद मूर्ति स्थापित करना था। परंतु जातिवाद कर, उक्त स्थान पर सिर्फ शहीद अकलू साह की मूर्ति स्थापित की गई।

शहीद गणेशी ठाकुर को नजर अंदाज कर दिया गया। नीलम चौक पर वर्षों से सीपीआई की ओर से एक छोटा सा स्मारक बनाकर हर वर्ष 14 अगस्त को दोनों शहीद अकलू साह व गणेशी ठाकुर को याद किया जाता रहा है।

शहीदों के अपमान का आक्रोश मधुबनी शहर में बढ़ता जा रहा है। सीपीआई जिला सचिव मिथिलेश झा ने बताया, इस संबंध में नगर विकास मंत्री व जिलाधिकारी को आवेदन दिया गया है। इसके बाद प्रशासनिक तौर पर बने गेट पर नाम व मूर्ति स्थापित करने की बात कही गई है।

मिथिलेश झा ने देशज टाइम्स को बताया, अगर जल्द शहीद गणेशी ठाकुर का नाम व मूर्ति स्थापित नहीं किया गया तो इसके खिलाफ आंदोलन करेंगे। दूसरी ओर, जेपी सेनानी हनुमान प्रसाद राउत ने बताया, शहीद का अपमान हुआ है।

 

उन्होने सरकार व प्रशासन से मांग की है, जिन लोगों ने शहीद अकलू साह के जाति सूचक शब्द का प्रयोग किया है।  शहीद गणेशी ठाकुर का नाम व मूर्ति नहीं लगाकर अपमान किया है, वैसे लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए।(angrejo ko)

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.