Connect with us

Madhubani

लौकहा में उर्से चेहल्लुम अबुल हक्कानी 12 को, तशरीफ लाएंगें देश के नामचीन ओलेमा व शोहरा

Published

on

लौकहा में उर्से चेहल्लुम अबुल हक्कानी 12 को, तशरीफ लाएंगें देश के नामचीन ओलेमा व शोहरा
लौकहा में उर्से चेहल्लुम अबुल हक्कानी 12 को, तशरीफ लाएंगें देश के नामचीन ओलेमा व शोहरा

अब आपके नाम, दीप जलेंगे चारों धाम। सुख, शांति, समृद्धि आएगी घर बैठे। 🙏🏻🕉 कीजिए, मनोरथ पूर्ण। रंगीन दीपोत्सव के धनतेरस पर छलकेगा आस्था। ☀️ जलाइए, अपने इच्छित धाम में नव दीप। 🪔 देशज टाइम्स लेकर आया है इस दिवाली आपके लिए बेहद आध्यात्मिक खास। 🔱🙏🏻 लिंक पर क्लिक कर कोरोनाकाल मैं अपने पसंद के धाम में जलाएं इस धनतेरस पवित्र, असंख्य दीप। 🪔 👇🏻 https://bhagwaanji.com/diwali/?ref=diya20204 #Diwali2020

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। खतीबे यूरोप एशिया अल्लामा अबुल हककानी रहमतुल्लाह ताला अलैहि के चेहल्लुम शरीफ के मौके पर 12 नवंबर को को लौकहा की सर जमीन पर बहुत बड़ी कॉन्फ्रेंस की जा रही है। इसमें भारत के नामचीन ओलेमा व शोहरा तशरीफ ला रहे हैं।

इनमें खुसूसियत के साथ मोहद्दिसे कबीर अल्लामा जियाउल मुस्तफा घुसी,सरबराहे आला अल्लामा अब्दुल हफिज मुबारकपुर,हजरत अल्लामा उमर रजा खान बरेली शरीफ,हजरत अल्लामा इमरान रजा खान सिम्नानी मियां बरेली, शरीफ हजरत अल्लामा जियाउल मुस्तफा नेपाल, हजरत अल्लामा अरशद रजवी मुजफ्फरपुरके इलावा बिहार और नेपाल के दिगर खानकाओं के सज्जादा नशीं तशरीफ ला रहे हैं।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

अल्लामा अबुल हक्कानी की जात कोई मोहताजे तारूफ नहीं थी। उन्होंने कम से कम 37 मुल्कों का दौरा किया और 32 हज किया और अनगिनत उमरा किया उन्होंने कई मदरसे मस्जिद बनवाएं जिसमें अल जामिया फातिमा जहरा दोनार दरभंगा में कायम है। अल्लामा अबुल हक्कानी के जाने के बाद अहले सुन्नत वल जमात का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है, उनके चेहल्लुम शरीफ की तैयारी जोरों पर हो रही है जिसमें हजारों हजार की भीड़ इकट्ठी होगी और हिंदुस्तान के अलावा नेपाल व दूसरे मुल्कों से भी लोग तशरीफ लाएंगे तमाम लोगों के खाने का रहने का इंतजाम उनके तमाम साहबजादे की जानिब से किया जाएगा।

यह बात सोमवार को कोतवाली चौक पर आयोजित प्रेस वार्ता में उनके साहबजादे हजरत मौलाना मुफ्ती तहसीन रजा मिस्बाही ने कही। मुफ्ती तहसीन ने बताया कि हजरत ने अपनी जिंदगी में दरभंगा और मधुबनी की सर जमीन पर दो बहुत बड़ी कॉन्फ्रेंस आलमी इमाम अहमद रजा किया। जो कि तारीखी कॉन्फ्रेंस था।

इसमें विदेश से भी ओल्मा तशरीफ लाए, जिसमें लाखों की संख्या में लोग में जुटे थे। आज भी उस जलसे को और हजरत को लोग याद करते हैं। उर्से चेहल्लुम में अल्लामा अबुल हक्कानी ने जो अपने हाथ से किताब अर्बाइएने अबुल हक्कानी लिखा है। उस का विमोचन उसी कॉन्फ्रेंस में किया जाएगा। तथा अबुल हक्कानी की उनकी जिंदगी पर लिखी गई किताब तजलियाते अबुल हक्कानी का भी विमोचन उसी जलसे में किया जाएगा।

मौलाना अबुल हक्कानी के साहबजादे मो. रेहान रजा ,फैजान रजा ,आदिल रजा ,जामी रजा ,कॉन्फ्रेंस को कामयाब करने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने बताया के जलसे में औरतों के लिए अलग इंतजाम किया गया है। मर्दों का इंतजाम अलग है। मौके पर मौलाना गुलाम सरवर मिस्बाह, बुलबुले दरभंगा रियाज खान कादरी,मौलाना आरिफ रजा मिस्बाह,हाफिज अहमद रजा,मौलाना अब्दुल शकूर कौसर जमाली मौजूद थे।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा

Published

on

किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। सूर्योपासना का महापर्व छठ पूजा शनिवार को प्रात:कालीन अ‌र्घ्य के साथ काफी हर्षोल्लास के बीच संपन्न हो गया। इससे पूर्व व्रतियों द्वारा शुक्रवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अ‌र्घ्य अर्पण किया गया। छठ पूजा को लेकर छठ घाटों पर भक्तिमय माहौल बना रहा। श्रद्धालु व बच्चों में काफी उत्साह देखा गया। किसी ने अपने व परिजनों के लिए आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य का आशीष मांगा।
छठ घाटों पर केला पेड़ के बीच दूधिया बल्ब व रंग-बिरंगे झालर का मनोरम छटाकिसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
शुक्रवार सांध्य अ‌र्घ्य व शनिवार प्रात:कालीन अ‌र्घ्य भगवान भास्कर को अ‌र्घ्य दिया गया। शहर के विभिन्न तालाबों पर दंडवत प्रणाम कर छठ अनुष्ठान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी देखी गई। लोग इन्हें पैर छूकर प्रणाम करते रहे। प्रात:कालीन अ‌र्घ्य के बाद घाट पर व्रतियों द्वारा परिजनों व श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया जाता रहा। लोग व्रतियों के हाथ से प्रसाद पाकर धन्य-धन्य होते रहे। श्रद्धालु व्रतियों के पैर छूकर आशीर्वाद लेते रहे। छठ घाटों की आकर्षक ढंग से सजावट की गई थी। दूधिया  लाइट के बीच छठ घाटों पर ध्वनि विस्तारक यंत्र से छठ पूजा की लोकगीत से माहौल भक्तिमय बना रहा। विभिन्न घाटों पर केला पेड़ के बीच दूधिया बल्ब व रंग-बिरंगे झालर मनोरम छटा के बीच आतिशबाजी के साथ छठ पर्व को लेकर लोगों में भारी उत्साह बना रहा।
भगवान भास्कर की प्रतिमा स्थापित
शहर के गंगासागर, मुरली मनोहर, महादेव मंदिर, महाराजगंज, नगर परिषद तालाब सहित अन्य तालाब घाट पर छठ घाटों पर छठ पूजा समिति द्वारा घाट की आकर्षक सजावट की व्यवस्था के बीच दूध वितरण की व्यवस्था की गई थी। वहीं, शहर के गंगासागर चौक पर सूर्य क्लब के द्वारा भव्य पंडाल में भगवान भास्कर की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना किया गया। यहां श्रद्धालुओं के लिए प्रसाद की व्यवस्था भी की गई थी। इस कार्य में क्लब के लक्ष्मी साह, दिलीप साह, वैद्यनाथ साह, विजय कुमार सहित दर्जनों लोग जुटे रहे।किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
छठ घाट पर रही विशेष चौकसी
छठ पूजा को लेकर तालाब घाट पर किसी भी घटनाओं की आशंका के मद्देनजर पुलिस प्रशासन पूरी तरह चौकस रहा। आरक्षी अधीक्षक  डाॅ. सत्य प्रकाश व एसडीओ  ने शहर के गंगासागर तालाब में एसडीआरएफ के बोट के सहारे घाटों का निरीक्षण किया गया। बोट पर एसडीआरएफ सिपाही एसएन पांडेय, धर्मवीर कुमार, मोहन कुमार, बमबम कुमार भी सवार थे। वहीं जगह-जगह पुलिस बल तैनात किए गए थे।किसी ने मांगा आरोग्य तो किसी ने धन-धान्य, मधुबनी में दिखी घाटों पर केला पेड़ के नीचे दूधिया छटा
Continue Reading

Madhubani

नदी, नहर, तालाब, सरोवरों में अर्ध्य देने की तैयारी पूरी, खरना के साथ छठ गीतों से गूंज रहीं हवाएं

Published

on

नदी, नहर, तालाब, सरोवरों में अर्ध्य देने की तैयारी पूरी, खरना के साथ छठ गीतों से गूंज रहीं हवाएं
नदी, नहर, तालाब, सरोवरों में अर्ध्य देने की तैयारी पूरी, खरना के साथ छठ गीतों से गूंज रहीं हवाएं

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोक आस्था के महान पर्व छठ को लेकर लोगों में गुरूवार को उत्साह चरम पर रहा। सूर्योपासना का चार दिवसीय महान पर्व छठ शनिवार को उदीयमान सूर्य को अर्ध्य देने के साथ सम्पन्न होना है।इलाके में छठ व्यापक स्तर पर मनाया जाता है।

यहां नदी, नहर,तालाब व सरोवरो में अर्ध्य देकर श्रद्धालु सूर्योपासना करते है। बीते वर्षो मे छठ को लेकर घाटो को सजाने-संवारने का काम पूजा समितियो के द्वारा उत्साह से किया जाता था। हलांकि इस बार कोविड19 को लेकर जारी पावंदियों के कारण नही हो पा रहा है। प्रशासनिक स्तर से लोगों से आवासीय परिसर में छठ मनाने की अपील के बाद पूजा समितियों का उत्साह चरम पर है। छठ को लेकर शहर से लेकर गांव तक धूम मचा हुआ है।

बांस के बर्तनों के साथ मिट्टी के समान आदि से हाट बजार भरे हुए है। फल-फूल से लेकर पूजन सामग्रियो तक की दुकाने काफी संख्या में लगा हुआ है। लोगों की आमदरफ्त से बाजार गुलजार है। कोरोना काल मे सीमीत परिवहन व्यवस्था के वावजूझ लोग जैसे-तैसे पर्व मनाने गांव पहुंच रहे है।

पिछले वर्ष की भांति प्रवासियों का आगमन नही हो रहा है। यहां पहुंचने वाले प्रवासियो की शिकायत है कि अपर्याप्त ट्रेन व्यवस्था को लेकर उन्हे आर्थिक नुकसान के साथ अन्य चुनौतियों का सामना करना पर रहा है। व्रतियो की आम शिकायत पूजन सामग्रियो की बढ़ती कीमतों को लेकर है। उनका कहना है कि कोरोना लाॅकडाउन को लेकर एक तो आमदनी पर प्रतिकूल असर पड़ा है।

दूसरा पूजन सामग्रियों की बढ़ती कीमतों ने परेशान कर रखा है। वावजूद इसके पर्व तो मनाना ही है। तथा तमाम चुनौतियों के बावजूद लोग आस्था में डुबकी लगाने को तैयार है। स्मरणीय है कि गुरुवार को खरना का प्रसाद ग्रहण करने के बाद व्रतियो का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो गया है।

 

Continue Reading

Madhubani

मधुबनी शहर में ट्रैफिक व्यवस्था फेल, नगर थाना की ट्रैफिक के नाम पर महज खानापूर्ति

Published

on

मधुबनी शहर में ट्रैफिक व्यवस्था फेल, नगर थाना की ट्रैफिक के नाम पर महज खानापूर्ति
मधुबनी शहर में ट्रैफिक व्यवस्था फेल, नगर थाना की ट्रैफिक के नाम पर महल खानापूर्ति

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। शहर में ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह फेल रही। छठ पर्व को लेकर शहर के विभिन्न बाजारों में लगातार भीड़ बढ़ रहा है। गुरुवार को खरना के दिन सुबह से ही बाजार में भीड़ उमड़ने लगी। भीड़ भाड़ को देखते हुए प्रशासनिक इंतजाम नहीं होने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

शहर में खरीदारी के लिए आए लोगों को दुकान तक पहुंचने में पसीने छूट रहे थे। हर तरफ जाम ही जाम नजर आ रहा था। कहीं सड़कों पर दुकानें सजी थी तो कहीं सड़क पर वाहने लगी थी। भीड़ में कहीं पुलिस नजर नहीं आ रही थी। स्टेशन रोड,शंकर चैक,थाना मोड़ पर पुलिस तैनात तो थी लेकिन वह भी मूकदर्शक बने हुए थे।

सड़क पर एक साथ बड़ी संख्या में छोटे-बड़े वाहनों को देख वह बेबस नजर आ रहे थे। भीड़ को देखते हुए शुक्रवार दोपहर अनुमंडल प्रशासन की ओर से वाहनों का रूट चार्ट और पार्किंग स्थल चिन्हित कर जनहित में जारी किया गया, लेकिन इसका अधिक लाभ लोगों को नहीं मिल सका। सप्ता की ओर से आने वाली गाड़ी को गांधी चौक-नीलम चौक-थाना चैक होते हुए कोतवाली चौक जाने की अनुमति दी गई है। रांटी की ओर से आने वाली गाड़ी को जलधारी चौक होकर कोतवाली चौक की ओर जाने की अनुमति दी गई है।मधुबनी शहर में ट्रैफिक व्यवस्था फेल, नगर थाना की ट्रैफिक के नाम पर महज खानापूर्तिलहेरियागंज की ओर से आने वाली गाड़ी को चभच्चा चौक-शंकर चौक-थाना चैक होते हुए कोतवाली चैक जाने की अनुमति दी गई है। प्रशासन की ओर से मुरली मनोहर पोखरा के पास खाली जगह, सरकारी बस स्टैंड, वाटसन स्कूल तथा नगर परिषद विवाह भवन को पार्किंग स्थल के रूप में चिन्हित किया है।

हालांकि जानकारी के अभाव में लोग वहां वाहन लगाने के वजाय सीधे गाड़ी लेकर बाजार में प्रवेश कर गये। जिसके कारण परेशानी अधिक बढ़ती गई। दोपहर बाद हालात और खराब हो गया। लोगों को सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा था। ट्रैफिक प्रभारी गुप्तेश्वर शर्मा ने बताया कि इनके पास 14 सुरक्षा कर्मी हैं।

सभी को विभिन्न जगहों पर लगाया गया है। ग्राहकों द्वारा बाइक सड़क पर लगा दुकान में खरीदारी के लिए जाने के कारण अधिक जाम लग रहा है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: