Connect with us

Madhubani

जयनगर-जनकपुर रेल परिचालन की जगी आस, विवाह पंचमी तक करना होगा इंतजार

Published

on

जयनगर-जनकपुर रेल परिचालन की जगी आस, विवाह पंचमी तक करना होगा इंतजार
जयनगर-जनकपुर रेल परिचालन की जगी आस, विवाह पंचमी तक करना होगा इंतजार

जयनगर, देशज टाइम्स मधुबनी ब्यूरो। आखिरकार लंबे समय के बाद भारत नेपाल के रिश्तें एक बार फिर पटरी पर आने लगी है। लंबे अंतराल के बाद इसी वर्ष दिसंबर माह में विवाद पंचमी के अवसर पर जयनगर जनकपुर रेल खंड पर ट्रेन परिचालन की उम्मीद जगी है। बुधवार की देर शाम कस्टम विभाग पटना के कमिश्नर रंजीत कुमार,डिप्टी कमिश्नर सुनील कुमार गौतम, एसएसबी 48 वीं बटालियन मुजफ्फरपुर प्रक्षेत्र के डीआईजी के रंजीत, नेपाल वजीरगंज स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास के वाणिज्य दूत कोटरा स्वामी ने सीमावर्ती जयनगर नेपाली रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया।

इस दौरान एसएसबी 48 वीं बटालियन जयनगर के समादेष्टा शंकर सिंह,कस्टम अधीक्षक मनोज कुमार व सुबोध कुमार के अलावे इरकाॅन इंटरनेशनल लिमिटेड के प्रबंधक रवि सहाय समेत अन्य मौजूद थे। नेपाली रेलवे स्टेशन पर कस्टम विभाग द्वारा बनाए गए चेकिंग प्वाइंट का जायजा लेने के बाद रेलवे स्टेशन स्थित नव निर्मित रेस्ट हाउस में निर्माण एजेंसी के अधिकारियों से विचार-विमर्श किया।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

कस्टम कमिश्नर रंजीत कुमार ने बताया कि नेपाल रेल को जल्द से जल्द चालू करने के लिए उत्पन्न हो रही समस्याओं को अविलंब दूर करने को लेकर विचार विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि समय निर्धारित नहीं। लेकिन बहुत जल्द ट्रेन का परिचालन शुरू किया जाएगा ।वैसे यह भारत सरकार का मामला है। इसी लिए ट्रेन परिचालन को लेकर पूर्व की तैयारी का जायजा लिया गया है। कस्टम की ओर से प्लेटफार्म पर क्या क्या तैयारी की गई है।

रेल यात्री किस माध्यम से आवागमन करेगें। कस्टम द्वारा एनओसी कैसे दी जाएगी। इन सभी बिन्दुओं पर विचार विमर्श किया गया। बतादें कि भारत नेपाल दोनों देशों के बीच वर्षों से कायम बेटी रोटी के रिश्ते को और प्रगाढ़ बनाने को लेकर भारत सरकार ने जयनगर जनकपुर रेल खंड पर ब्रिटिश शासन काल से परिचालन हो रहे नैरो गेज ट्रेन को ब्राड गेज में परिवर्तन के लिए भारत सरकार के तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने नेपाल सरकार के बीच वर्ष 2010 में एक संधि पर सहमति मिली।

भारत सरकार ने 69 किलोमीटर जयनगर जनकपुर बर्दीबांस रेल खंड पर तीन चरणों में बङी रेल लाइन निर्माण कार्य के लिए इरकाॅन इंटरनेशनल लिमिटेड कंपनी को लगभग 548 करोड़ रुपये से (अब लगभग 800 सौ करोड़) निर्माण कार्य का जिम्मा सौंपते हुए। नैरो गेज ट्रेन को वर्ष 2011 में मेगा ब्लॉक लिया गया।

इसमें प्रथम चरण में जयनगर जनकपुर कुर्था 34 किलोमीटर एवं दूसरे चरण 17 किलोमीटर में कुर्था से बिजलपुरा एवं तीसरे चरण में 17 किलोमीटर बिजलपुरा से बर्दीबांस तक निर्माण कार्य वर्ष 2014 में संपन्न करना था। लेकिन नेपाल में कई तरह के आंदोलन व जमीन अधिग्रहण में विभिन्न प्रकार के समस्या के कारण ट्रेन परिचालन में काफी विलंब हुआ।

सब कुछ तैयार होने के बाद ट्रेन परिचालन में विलंब का मुख्य कारण भारत नेपाल सरकार के रिश्ते पेटरी पर चली गई। परंतु एक बार पुनःदोनों देशों के रिश्ते पटरी पर आने लगी है, जिससे दोनों देशों के रिश्तों में और मजबूती आएगी। इधर भारत सरकार द्वारा विगत सितंबर माह में नेपाल सरकार द्वारा लगभग 63 करोड़ रुपए में खरीदी गई एक जोड़ी ट्रेन को नेपाल सरकार को सौंपा गया है।

इरकाॅन इंटरनेशनल लिमिटेड के सूत्रों की मानें तो जयनगर जनकपुर कुर्था रेल खंड पर सभी निर्माण कार्य को नेपाल सरकार को सौंपने का आदेश दिया गया है। जिससे उम्मीद जताई जा रही है कि जयनगर जनकपुर रेल खंड पर बहुत जल्द डीएमयू पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू किया जाएगा।

जयनगर जयनगर रेलवे स्टेशन पर जयनगर,ईनरवा,खुजरी,बैदही,कुर्था को स्टेशन बनाया गया है। जबकि महिनाथपुर,परवा एवं जनकपुर को हाॅल्ट बनाया गया है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Madhubani

मधुबनी सदर अस्पताल के पोस्टमार्टमकर्मी पर शंकर चौक पर दिन-दहाड़े जानलेवा हमला

Published

on

मधुबनी सदर अस्पताल के पोस्टमार्टमकर्मी पर शंकर चौक पर दिन-दहाड़े जानलेवा हमला
मधुबनी सदर अस्पताल के पोस्टमार्टमकर्मी पर शंकर चौक पर दिन-दहाड़े जानलेवा हमला

मधुबनी,madhubni देशज टाइम्स ब्यूरो। शहर के बाटा चौक मोहल्ला में बुधवार दोपहर लोगों ने सदर अस्पताल के पोस्टमार्टम कर्मी गुड्डू कुमार मल्लिक पर जानलेवा हमले कर दिये। सिर पर गंभीर चोट आने से वह बुरी तरह जख्मी हो गया।

परिजन उन्हें बचाने आए तो उसके साथ भी बुरी तरह मारपीट की गई। घटना में तीन लोग जख्मी हुए हैं। स्थानीय लोगों ने जख्मियों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया है। सूचना मिलते ही नगर पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। दारोगा महेश सिंह ने सदर अस्पताल पहुंचकर जख्मियों का बयान कलमबंद किया है।

उन्होंने बताया कि आधा दर्जन से अधिक लोगों पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। जख्मी मीरा देवी ने बताया कि उसका लड़का गुड्डू मल्लिक अस्पताल से खाना खाने घर आ रहे था।

इसी दौरान कैलाश मल्लिक, सन्नी मल्लिक, राहुल मल्लिक, आकाश मल्लिक एवं अन्य लोगों ने चाकू, लोहे के रड और ईट पत्थर से हमला कर दिये। वह बचाने गई तो इनके साथ भी बुरी तरह मारपीट की। नगर थानाध्यक्ष धरमपाल ने बताया कि जख्मी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर दोषी लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।मधुबनी सदर अस्पताल के पोस्टमार्टमकर्मी पर शंकर चौक पर दिन-दहाड़े जानलेवा हमला

Continue Reading

Madhubani

बच्चों को शिक्षित, शिक्षित समाज की जुनून वाले अंधराठाढ़ी के पहले इंजीनियर शिवदत्त झा नहीं रहे

Published

on

बच्चों को शिक्षित, शिक्षित समाज की जुनून वाले अंधराठाढ़ी के पहले इंजीनियर शिवदत्त झा नहीं रहे
बच्चों को शिक्षित, शिक्षित समाज की जुनून वाले अंधराठाढ़ी के पहले इंजीनियर शिवदत्त झा नहीं रहे

अंधराठाढ़ी देशज रिपोर्टर/मधुबनी ब्यूरो। स्थानीय प्रखंड के ठाढ़ी गांव निवासी और गांव के पहले इंजीनियर शिवदत्त झा का आकस्मिक निधन हो गया। कुछ दिन पहले ही वो अचानक बीमार हो गए थे। इलाज के दौरान ही उनका निधन हो गया। श्री झा के निधन से उनके पैतृक गांव में शोक की लहर है। वामपंथी विचारधारा के 85 वर्षीय श्री झा बच्चों को शिक्षित करने और शिक्षित समाज की स्थापना के जुनून में उन्होंने इंजीनियर की नौकरी छोड़ दी।

उन्होंने पहली नौकरी गोरगामा हाई स्कूल से शुरू की। बाद में कई स्कूलों में विज्ञान शिक्षक की जिम्मेदारी निभाते हुए प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय अंधराठाढ़ी से सेवानिवृत्त हुए। उस समय शिक्षकों का आर्थिक हाल अच्छा नही था। लोगों ने उनके इस क्रान्तिकाती कदम की खूब आलोचना की। मगर दृढ़ निश्चयी झा अपने निर्णय पर अडिग रहे। एक शानदार कैरियर को लात मारकर श्री झा ने ग्रामीण बच्चों के लिए शिक्षा का जो दीप जलाया वो आज भी रौशन है।

उनके दर्जनों बच्चे आज उच्च मुकाम हासिल कर उनके सपनो को सच कर रहे हैं। साधारण ग्रामीण परिवेश से सफलता के जिस उच्चतम सोपान तक पहुंचे वो लोगो के लिए आदर्श है। साधारण किसान के बेटे श्री झा पश्चिम बंगाल से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। लेकिन शिक्षा से लगाव होने के चलते इंजीनियर की नौकरी के बजाए उन्होंने शिक्षक बनना पसंद किया। श्री झा अपने पीछे दो पुत्र, एक पुत्री, और पोते पोतियों सहित भरा पूरा परिवार छोड़ कर गए हैं।

मुखाग्नि उनके ज्येष्ठ पुत्र गणेशदत्त झा ने दी। महेश दत्त झा विष्णु दत्त झा ब्रह्म दत्त झा देवदत्त झा जय दत्त झा शंभू दत्त झा धर्म दत्त झा केशव दत्त झा कृष्ण दत्त झा शंकर दत्त झा भगवान दत्त झा, प महेश झा, पुरषोत्तम झा, सियाराम झा, राधेश्याम झा, बाबुनन्दन झा, रामनारायण झा, बासुकीनाथ झा आदि ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।बच्चों को शिक्षित, शिक्षित समाज की जुनून वाले अंधराठाढ़ी के पहले इंजीनियर शिवदत्त झा नहीं रहे

Continue Reading

Madhubani

विद्यापति की जन्म स्थली बिस्फी डीह पर 28 नवंबर को सजेगा सांस्कृतिक-साहित्यक मेला

Published

on

विद्यापति की जन्म स्थली बिस्फी डीह पर 28 नवंबर को सजेगा सांस्कृतिक-साहित्यक मेला
विद्यापति की जन्म स्थली बिस्फी डीह पर 28 नवंबर को सजेगा सांस्कृतिक-साहित्यक मेला

विद्यापति स्मृति पर्व समारोह का होगा आयोजन, तैयारी शुरू 

बिस्फी bisfi देशज रिपोर्टर, मधुबनी देशज टाइम्स ब्यूरो। स्थानीय प्रखंड मुख्यालय स्थित विद्यापति की जन्म स्थली बिस्फी डीह पर विद्यापति स्मृति पर्व समारोह के सफल आयोजन को लेकर समिति के सदस्यों की बैठक आयोजित किया गया। बैठक की अध्यक्षता चंद्रेश प्रसाद ने किया। इस मौके पर 28 नवंबर को एक दिवसीय विद्यापति स्मृति पर्व समारोह मनाने का निर्णय लिया गया।

इस मौके पर कोविड-19 को देखते हुए सभी सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए पर्व समारोह मनाने का फैसला की गई। वहीं मौके पर समिति के सदस्यों ने बताया कि राजकीय समारोह एक सपना बन कर ही रह गए। परंतु इस वर्ष समारोह में उक्त कार्यक्रम में बिहार एवं मिथिला के कई प्रसिद्ध कलाकार भी भाग लेंगे।

इस अवसर पर संध्या के समय सांस्कृतिक कार्यक्रम के अलावा कवि गोष्ठी का भी आयोजन किये जाने का निर्णय लिया गया कि प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर बैठक के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाए।

सभी जनप्रतिनिधियों से इसमें सहयोग करने की अपील की गई। इस मौके पर कैलाश यादव, बिजय यादव,राकेश कुमार यादव,अनिल कुमार,विष्णुदेव कुमार,राजू यादव,धर्मेंद्र यादव, रंजीत यादव,वीरेंद्र कुमार, सहित कई लोग उपस्थित थे।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: