Connect with us

Darbhanga

दरभंगा के बहादुरपुर में दो पक्षों में हिंसक झड़प, घरों में आगजनी, पत्थरबाजी, फायरिंग,बवाल

Published

on

Violent clashes on two sides in Bahadurpur in Darbhanga, arson in homes, stone pelting, firing, uproar

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो। बहादुरपुर थाना क्षेत्र के ओझौल गांव में बीती रात दो पक्षों की हिंसक झड़प में कई राउंड गोली चली। वहीं, एक-दूसरे के घरों में आगजनी कर जमकर बवाल काटा गया है। (Violent clashes on two sides in Bahadurpur in Darbhanga, arson in homes, stone pelting, firing, uproar) जमकर तोड़-फोड़ की। रोड़ेबाजी हुई।

जानकारी के अनुसार, वाहन रोकने के विवाद ने हिंसक रूप ले लिया। मामले ने देखते ही देखते इतनी नफरत भर दी कि दोनों पक्ष के लोगों ने एक दूसरे के घरों में आगजनी करते खून के प्यासे बन गए। (Violent clashes on two sides in Bahadurpur in Darbhanga, arson in homes, stone pelting, firing, uproar) फायरिंग करते एक पक्ष ने दहशत फैला दी। वैसे, गोली किसी को नहीं लगी। मगर देखते ही देखते पूरा इलाका रणक्षेत्र में बदल गया। जमकर बवाल काटे गए।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

इधर, पुलिस महकमे में अनिल सिंह को लेकर विवाद हो रहा है। (Violent clashes on two sides in Bahadurpur in Darbhanga, arson in homes, stone pelting, firing, uproar) एसएसपी बाबूराम ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए बहादुरपुर थानाध्यक्ष से कई सवाल पूछे हैं। वहीं, घटना की सूचना मिलने के काफी देर बाद पहुंची पुलिस ने लोगों को नियंत्रित किया। गांव में बहादुरपुर थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु आइपीएस विवेक शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक अनोज कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम कैंप कर रही है। ग्रामीणों से पूछताछ की जा रही है।

वहीं, प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है, बीती रात एक वाहन यहां रूका। इसको लेकर दोनों पक्ष भिड़ गए। कन्हाई पासवान के घर में आग लगा दी गई। आग लगाने का आरोप गांव के अनिल सिंह व (Violent clashes on two sides in Bahadurpur in Darbhanga, arson in homes, stone pelting, firing, uproar) उनके पुत्र के अलावा अन्य स्वजनों पर लगा। इससे नाराज गांव वालों ने अनिल के घर पर हंगामा किया। अनिल के भी घर में भी आग लगा दी।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Bihar

बिरौल:नल-जल योजना की साख ताक पर, कहते लोग, करोड़ों की राशि का खुल्लम-खुल्ला दुरूपयोग

Published

on

Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees

बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। सात निश्चय योजना  के तहत चलाए जा रहे हर घर नल जल योजना में अधिकांश जगहों पर सरकारी नियमों व उसके गुणवत्ता पर नजरअंदाज करते हुए अभिकर्ता अपने (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees) मनमाने तरीके से कार्य कर रहे हैं। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण खबर के साथ छपी तस्वीर खुद बयां कर रही है।

क्षेत्र में लोगों की ओर से अगर इस योजना का विरोध किया जा रहा है तो किसी भी दृष्टिकोण से लोगों का यह विरोध गलत नहीं है। आखिर इस योजना के नाम पर सरकारी खजाने से करोड़ों रुपये (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  का खुलम खुल्ला दुरुपयोग क्यों किया जा रहा है। इससे संबंधित शिकायत वरीय पदाधिकारी से किए जाने पर भी इसे देखने तथा सुनने वाला कोई नहीं है।

भाकपा माले के एरिया सचिव मनोज यादव,अमीत कुमार, अजीत झा सहित दर्जनों लोगों का कहना है कि बिरौल प्रखंड के कई ऐसे पंचायत हैं जहां नलजल के अलावा मनरेगा, स्वच्छता अभियान के तहत (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  शौचालय निर्माण योजना मे जबरदस्त गोलमाल है।

इन लोगों का कहना है कि  बीडीओ एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी (मनरेगा ) की मिली भगत ने विकास के नाम पर यहां लूटखसोट का व्यापार खोल रखा है। इससे आम लोगों को भले ही लाभ (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  नहीं मिल रहा हो लेकिन इन दोनों विभागों के पदाधिकारी मालामाल अवश्य हो रहे हैं। इससे सरकार की छवि धुमिल हो रही है।

Continue Reading

Bihar

Darbhanga Local News: केवटी में पिकअप से कुचलकर बालक की मौत, चालक हिरासत में

Published

on

Darbhanga Local News (Road Accident): Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। केवटी प्रखंड मुख्यालय के नजदीक बुधवार की सुबह पिकअप ने केवटी थाना क्षेत्र के नयाटोला हुलास गांव निवासी मो. इसतेखार के बारह वर्षीय पुत्र मो. बरकत अली को कुचल दिया। इससे उसकी मौके पर ही मौत (Road Accident) हो गई। घटना दरभंगा-जयनगर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-527 बी पर ठीक केवटी (Darbhanga Local News: Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody) प्रखंड मुख्यालय के समीप हुुई है।

जानकारी के अनुसार, घटना के बाद स्थानीय लोग उग्र हो गए। हालांकि तत्काल सीओ अजीत कुमार झा व थानाध्यक्ष शिव कुमार यादव समेत पुलिस बल मौके पर पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त पिकअप वैन को (Road Accident) जब्त करतेे हुए चालक को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद लोग शांत हुए।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, बरकत अपनी मां नाजो खातून के साथ आधार कार्ड बनवाने प्रखंड मुख्यालय आया था। मगर प्रखंड मुख्यालय बंद रहने के कारण वह वापस घर लौटने के दौरान (Darbhanga Local News: Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody) सड़क पार करने के दौरान पिकअप की चपेट में आ गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना से पूरे इलाके में शोक का माहौल है। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।

Continue Reading

Bihar

दरभंगा-मधुबनी में बड़े पैमाने पर मदरसों में फर्जीवाड़ा,अवैध रिपोर्ट-ट्रस्ट्री-बिना जमीन का भंडाफोड़

Published

on

Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty - land busted

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।दरभंगा व मधुबनी जिले में बड़े पैमाने जिला शिक्षा पदाधिकारी की मिलीभगत से मदरसों की फर्जी तरीके से जांच रिपोर्ट बनाए जाने, एक ही व्यक्ति के सैंकड़ों (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) मदरसों में ट्रस्टी होने व बिना जमीन पर चल रहे मदरसा की फाइल सचिवालय और मदरसा बोर्ड को भेजी गई है। इसका खुलासा ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां के अध्यक्ष नजरे आलम ने की है। उन्होंने मंगलवार को क्षेत्रिय कार्यालय लालबाग में एक प्रेस काॅन्फ्रेंस में इसकी जानकारी देकर भूचाल ला दिया है।

श्री आलम ने बताया कि नीतीश सरकार व बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड के वत्र्तमान अध्यक्ष अब्दुल कयुम ने भ्रष्टाचार को समाप्त करने की जगह भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देकर और भी (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है जिसका प्रमाण है कि एक ही व्यक्ति सैंकड़ों मदरसा में ट्रस्टी बनकर करोड़ों रूपया नौकरी के नाम पर ठगी कर चुका है।

इतना ही नहीं जो व्यक्ति ठगी का मामला किया है वह खुद भी मदरसा में शिक्षक है। श्री नजरे आलम ने यह भी बताया कि दरभंगा एवं मधुबनी जिला शिक्षा पदाधिकारी ने सैंकड़ों ऐसे मदरसों की जांच कागज पर कर दी है जो मदरसा जमीन पर है ही नहीं। उन्होंने मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि अध्यक्ष बोर्ड से भ्रष्टाचार (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) खत्म करने की बात करते हैं तो फिर ये सैंकड़ों मदरसा जो जमीन पर है ही नहीं उसकी फाइल फर्जी तरीके से बोर्ड और सचिवालय कैसे पहुंची।

उन्होंने बताया, अगर अध्यक्ष वाकई भ्रष्टाचार खत्म करना चाहते हैं तो फर्जी तरीके से जमीन का पेपर लगाकर जिला शिक्षा पदाधिकारी से फर्जी जांच रिपोर्ट बनवाने वाले व्यक्ति पर कार्रवाई क्यों नहीं करते, जो लड़का ये फर्जीवाड़े का सरदार है वह खुद मदरसा सादिकुल ओलूम, ग्राम$पो.- सादिकपुर, भाया-रैयाम फैक्ट्री, जिला-दरभंगा (मदरसा नं-896) में शिक्षक है उसको निलंबित कर जेल क्यों नहीं भेजते।

श्री आलम ने यह भी कहा कि जो लड़का ये सारे फर्जीवाड़े का सरदार है उसके पिता स्व0 एजाज ए सादिक की मृत्यू 2001 में हुई और वह व्यक्ति अपने पिता का 2011 में फर्जी हस्ताक्षर कर Affidavit बनाकर केवटी प्रखंड से अपने नाम रेयाज ए सादिक एवं भाई नेयाज सादिक के नाम से आवासीय प्रमाण पत्र बनवाया जिसके बाद से लगातार फर्जी कारनामों को अंजाम दे रहा है, जो जांच का विषय है। रेयाज ए सादिक जिस मदरसे में शिक्षक है वह भी जमीन पर नहीं है, हैरत की (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) बीत तो यह है कि मदसा शिक्षा बोर्ड में मदरसा सादिुकल ओलूम, सादिकपुर के नाम से मान्य है जब्कि मदरसा की ऑरिजनल जमीन बाबू सलीमपुर में मौजूद है।

श्री आलम ने आगे कहा कि ऐसे दलालों के साथ बहुत सारे जदयू के मुस्लिम नेता भी जुड़े हैं जल्द ही उनका भी भंडाफोड़ किया जाएगा। श्री आलम ने कहा कि जदयू से जितने भी मुस्लिम नेता जुड़े हैं उनका मात्र एक ही काम है वह है मदरसा बोर्ड एवं वक्फ बोर्ड की दलाली करना साथ ही नोकरी के नाम पर गरीब लोगों से 3-4 लाख रूपया (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) ठगी करना। रेयाज ए सादिक, सैकड़ों मौलवी के साथ साथ ऐसे दर्जनों नेता मिलेंगे जो आय से अधिक सम्पती के मालिक बन गए हैं। सरकार को ऐसे सभी लोगों पर जांच बिठाकर सभों की सम्पती जब्त करनी चाहिए।

श्री आलम ने आगे कहा कि इन सारे मामले को हम न्यायालय तक भी ले जायेंगे। श्री आलम ने आखिर में कहा कि नीतीश को बर्बाद करने और मुसलमानों से दूर करने में मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष और उनकी ही पार्टी से जुड़े मुस्लिम नेता जिम्मेदार हैं। अगर नीतीश कुमार ने समय रहते मामले की गंभीरता को नहीं समझा तो आगे और भी सरकार और विशेषरूप से जदयू से मुस्लिम समुदाय दूर होंगे। सरकार को चाहिए के अविलंब मदरसा शिक्षा बोर्ड के वर्तमान अध्यक्ष अब्दुल कयूम को (Darbhanga-Madhubani mass fraud in Madrasas, illegal report-trusty – land busted) हटाए और कानूनी कार्रवाई करे। साथ ही सभी फर्जी तरीके से जांच रिपोर्ट बनाकर मदरसा की जमा फाईल को रिजेक्ट कर नए सिरे से जांच करवाकर सभी मदरसा को मंजूरी दी जाए। नजरे आलम ने यह भी कहा कि साईसं शिक्षकों को 2015 से अबतक तंखाह नहीं दी गई है सरकार इस पर भी अविलंब गौर करे।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: