Connect with us

Darbhanga

पाग शोभा यात्रा के साथ दरभंगा महोत्सव का श्रीगणेश, दिखेगी मिथिला विरासत की चटक झलक

Published

on

Shrinesh of the Darbhanga festival with the graceful Shobha Yatra, will be seen in a bright glimpse of Mithila heritage

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो । दरभंगा महोत्सव आयोजन समिति ने मंगलवार को पाग शोभा यात्रा से दरभंगा महोत्सव के उद्घाटन सत्र का आयोजन किया। पाग शोभा यात्रा झांकी की तरह मिथिला की संस्कृति को दिखाता हुआ एमएलएसएम कॉलेज से आयकर चौराहा होते हुए ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय स्थित चौरंगी पर पहुंचा।

इस पाग शोभा यात्रा का उद्देश्य मिथिला एवं दरभंगा की सांस्कृतिक परंपरा व पहचान को अक्षुण्ण रखना है। कामेश्वर नगर अवस्थित चौरंगी पर मुख्य अतिथियों ने महाराजधिराज रामेश्वर सिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित और दीप प्रज्वलित कर दरभंगा के अतीत और वर्तमान के विषय पर संगोष्ठी का शुभारंभ किया। कार्यक्रम (Shrinesh of the Darbhanga festival with the graceful Shobha Yatra, will be seen in a bright glimpse of Mithila heritage) में लनामिविवि के कुलपति डॉ एस पी सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि एवं डॉ. मृदुल शुक्ला ने बतौर विशिष्ट अतिथि शिरकत की।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

कार्यक्रम के शुरुआत में मौनी बाबा के शिष्य प्रसिद्ध शंखवादक बिपिन मिश्रा ने अपनी अनोखि प्रस्तुति से अतिथियों का मन मोहा। उसके बाद संतोष कुमार द्वारा लगाई गई चित्र प्रदर्शनी का निरीक्षण एवं अवलोकन मुख्य अतिथियों द्वारा किया गया और उन्हें 150 वर्ष पूर्व खूबसूरत दरभंगा के तस्वीरों से रूबरू करा कर वर्तमान (Shrinesh of the Darbhanga festival with the graceful Shobha Yatra, will be seen in a bright glimpse of Mithila heritage) परिप्रेक्ष्य में धरोहरों की स्थिति से अवगत कराया।

संगोष्ठी में अपना व्याख्यान रखते हुए कुलपति एस पी सिंह ने कहा कि दरभंगा के इतिहास पर चिंतन आवश्यक है। परंतु चिंतन तक ही सीमित ना रहे। पुरानी तस्वीरों को देख भाव विभोर होते हुए उन्होंने कहा कि चित्र प्रदर्शनी अवलोकन के दौरान ऐसा लग रहा था, जैसे किसी अपने के खो जाने पर उसकी तस्वीरों से उसकी यादों को मिटाया (Shrinesh of the Darbhanga festival with the graceful Shobha Yatra, will be seen in a bright glimpse of Mithila heritage) जाता है, ठीक आज ऐसा ही प्रतीत हो रहा था। उन्होंने दरभंगा महोत्सव आयोजन समिति की भूरी भूरी प्रंशसा करते हुए कहा कि यह सुखद है कि दरभंगा की संस्कृति और विरासत को सहेजने का बीड़ा दरभंगा के युवाओ ने उठाया है।
पूर्व कुलपति राजकिशोर झा ने कहा कि दरभंगा का विकास सामाजिक भागीदारी से ही संभव है। डॉक्टर मृदुल शुक्ला ने दरभंगा महोत्सव के युवाओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि यह एक अच्छा (Shrinesh of the Darbhanga festival with the graceful Shobha Yatra, will be seen in a bright glimpse of Mithila heritage) आगाज़ है। जिससे दरभंगा के संस्कृति और धरोहरों को सहेजने की आवाज़ बुलंद होगी। संगोष्ठी में अन्य सभी मंचासीन वक्ताओं ने चर्चा करते हुए कहा कि दरभंगा का अतीत अत्यंत गौरवशाली रहा है। लेकिन वर्तमान में शैक्षणिक क्रियाकलाप, सांस्कृतिक चेतना व समाजिक विकास जरूरी है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bihar

अभी-अभी बिरौल के जमालपुर से, गैंगरेप की नीयत से नाबालिग को लेकर भाग रहे तीन लड़कों को सोहरबा में दबोचा

Published

on

अभी-अभी बिरौल के जमालपुर से,नाबालिग को लेकर भाग रहे तीन लड़कों को सोहरबा में दबोचा
बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। जमालपुर थाना क्षेत्र के कदवारा गांव के निकट  एक स्कार्पियों पर सवार  पहले से घात लगाकर मौजूद तीन लड़को ने एक नाबालिग लड़की को जबरन उठा कर भाग गया। भागने के क्रम मे ग्रामीणों ने उसे सहरसा थाना के सोहरबा के निकट पकड़ लिया।
इससे पूर्व इस घटना की सूचना जमालपुर पुलिस को मिलते ही थानाध्यक्ष तारिक अनवर अंसारी ने विदंतु संवाद के माध्यम से आसपास के सभी थाना पुलिस को सतर्क कराते हुए आने जाने वाले सभी मार्ग को सील कर दिया।
इसी क्रम में नाबालिग लड़की को लेकर भाग रहे स्कार्पियो एक जाम में फंस गई। पीछा कर रहे लोगों ने उसे दरभंगा और सहरसा सीमा पर वाहन के साथ उन तीनों को दबोच लिया।
इसी दौरान पहुंची जमालपुर पुलिस ने लड़की के साथ उन तीनों को अपने कब्जे में लेकर थाना ले आई। थानाध्यक्ष श्रीअंसारी ने बताया कि ये सभी सहरसा के रहने वाले है जो गैंगरेप की नीयत से नाबालिग बच्ची को लेकर भाग रहा था। पुलिस पूछताछ कर रही है, जिससे और भी कुछ बातें सामने आने की संभावना है।
Continue Reading

Bihar

Darbhanga:दोनार-टीनही पुल नाला निर्माण नहीं होने से माले-ऐपवा एक्शन में, होगा 27 से आंदोलन

Published

on

Darbhanga: Due to non-construction of Donar-Tinahi bridge drain in Male-Appva action, movement will take place from 27

सदर/बहादुरपुर,  देशज टाइम्स ब्यूरो। भाकपा माले व ऐपवा की सयुंक्त बैठक राजू मंडल, प्रमिला यादव, आरती कुमारी की सयुंक्त अध्यक्षता में हुई। बैठक में दोनार से टीनही पुल तक निर्माणाधीन नाला (Darbhanga: Due to non-construction of Donar-Tinahi bridge drain in Male-Appva action, movement will take place from 27) निर्माण में हो रही देरी, ठेकेदार की मनमानी के खिलाफ आंदोेलन तेज करने का निर्णय किया।

जानकारी के अनुसार, ऐपवा दरभंगा जिला सह सचिव रसीदा खातून ने कहा, गरीबों को उजाड़ने में जिस गति से प्रशासन गति दिखाया, उस गति से नाला ।निर्माण में रूचि नहीं दिख रहा है। सरकारी (Darbhanga: Due to non-construction of Donar-Tinahi bridge drain in Male-Appva action, movement will take place from 27)  हाकिमों को नाला निर्माण में तत्परता लाने के लिए 27–28 जनवरी को धरना-प्रदर्शन शुरू किया जाएगा।

बैठक में पार्टी जिला स्थाई कमेटी सदस्य सह सदर मनीगाछी एरिया सचिव अशोक पासवान ने कहा, पूरा दरभंगा जलजमाव से नारकीय हालात की गंभीर कष्ट झेल रहे हैं। विधायक-संसद (Darbhanga: Due to non-construction of Donar-Tinahi bridge drain in Male-Appva action, movement will take place from 27)  समय-समय पर बयानबाजी करके दरभंगावासियों को भरोसा देते हैं। विकास काम में कछुए की चाल को बंद करने, अधिकारी-ठेकेदार की सुस्ती तोड़ने होंगे।

दोनार गुमती पर ओवरब्रिज निर्माण भी जल्द शुरू करने (Darbhanga: Due to non-construction of Donar-Tinahi bridge drain in Male-Appva action, movement will take place from 27)  की मांग सरकार प्रशासन से करते हुए  राम विलास शर्मा, तेतरी देवी, डोमनी देवी, भुलली देवी, आरती कुमारी, तेजू यादव, सूर्य नारायण शर्मा, मंजू देवी, अशोक साह, प्रमिला यादव, राजू मंडल, संतोष राय सहित कई लोगों ने आंदोलन की रूपरेखा पर चर्चा की।

Continue Reading

Bihar

जाले पहुंचे पूसा कृषि विवि के निदेशक, किसानों का वैज्ञानिक हल, तकनीक, बेहतर उत्पादन पर जोर

Published

on

Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers' condition, emphasis on technology, better production

डॉ. कुंडू ने कहा, कृषक प्रक्षेत्र प्रत्यक्षण के आंकड़ों को संकलित करें वैज्ञानिक 

जाले, देशज टाइम्स ब्यूरो।डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. एम एस कुंडू ने कृषि विज्ञान केंद्र जाले की ओर से विभिन्न कार्यक्रम अंतर्गत प्रत्यक्षनों का निरीक्षण किया। इस दौरान  उन्होंने प्रक्षेत्र दिवस के माध्यम से आसपास के किसानों के मध्य नवीन तकनीकों के प्रयोग के असर को (Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers’ condition, emphasis on technology, better production) दिखाने व उनके तकनीकी पहलुओं को बताने का निर्देश दिया।

जानकारी के अनुसार, केंद्र व राज्य सरकार के विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत केभीके की ओर से पंद्रह गांव में कृषक प्रक्षेत्र में विभिन्न फसलों का प्रत्यक्षण लगाया गया है, विश्वविद्यालय के निदेशक प्रसार शिक्षा ने सीएफएलडी योजना अंतर्गत गोढीला व गोदाई पट्टी गांव के मसूर एवं सरसों के प्रत्यक्षण कार्यक्रमों का जायजा (Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers’ condition, emphasis on technology, better production) लिया।

इस दौरान प्रक्षेत्र पर जाकर विभिन्न फसलों की प्रगति व केंद्र की ओर से उपलब्ध कराए गए तकनीकों के बारे में किसानों का राय जाना, वहीं जलवायु अनुकूल खेती अंतर्गत बरहमपुर गांव में (Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers’ condition, emphasis on technology, better production) लगाए गए गेहूं में शून्य जुताई यंत्र के प्रभाव का निरीक्षण किया।

इस अवसर पर डीडीएम नाबार्ड आकांक्षा ने निदेशक को बताया कि कृषि विज्ञान केंद्र के सहयोग से विभिन्न एफपीओ के किसको के मध्य चना मशहूर एवं सरसों के सीएफएलडी योजना अंतर्गत लगभग 100 एकड़ में प्रत्यक्षण लगाया गया है। इसके लिए किसानों को केंद्र की ओर से प्रशिक्षित भी किया गया। अब तक के फसल की (Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers’ condition, emphasis on technology, better production) प्रगति से कृषक काफी संतुष्ट हैं।

उन्होंने आशा व्यक्त की, भविष्य में भी दोनों संगठन मिलकर जिला के किसानों के विकास के दिशा में कार्य करते रहेंगे कार्यक्रम में कृषि समन्वयक शिवराज कुमार एफपीओ के प्रतिनिधि रावे के (Director of Pusa Agricultural University reached Jaala, Jana farmers’ condition, emphasis on technology, better production) छात्र व विभिन्न गांव के किसान भी सम्मिलित थे। इस अवसर पर निदेशक ने कृषि विज्ञान केंद्र पर चल रहे पंद्रह दिवसीय उर्वरक अनुज्ञप्ति प्रशिक्षण के प्रशिक्षणार्थियों से भी चर्चा की एवं केंद्र पर लगाए गए विभिन्न फसलों एवं प्रत्यक्ष इकाइयों का मुआयना किया।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: