Connect with us

Darbhanga

सदियों का सपना साकार, मिथिला के रेल इतिहास में नई उपलब्धि,दरभंगा से खुली इलेक्ट्रिक ट्रेन

Published

on

सदियों का सपना साकार, मिथिला के रेल इतिहास में नई उपलब्धि,दरभंगा से खुली इलेक्ट्रिक ट्रेन

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो।  रेलवे के ऐतिहासिक सफर के लगभग डेढ शताब्दी बाद एक जून को आखिरकार वो दिन भी आया, जब मिथिला में इलेक्ट्रिक ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ। इसी कड़ी में सोमवार को पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन दरभंगा से नई दिल्ली के लिए रवाना हुई। गार्ड ने दरभंगा-नई दिल्ली बिहार संपर्क क्रांति स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इलेक्ट्रिक ट्रेन की सौगात पाकर मिथिलांचल के लोगों के खुशियोंं का ठिकाना नहीं है।

मौके पर ट्रेन के लोको पायलट उमा शंकर पोद्दार ने कहा कि दरभंगा से इलेक्ट्रिक ट्रेन का परिचालन शुरू हुआ है। समस्तीपुर-जयनगर रुट का इलेक्ट्रिफिकेशन होने के बाद इस रूट से पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन नई दिल्ली के लिए बिहार संपर्क क्रांति स्पेशल ट्रेन को ले जाते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है।
सदियों का सपना साकार, मिथिला के रेल इतिहास में नई उपलब्धि,दरभंगा से खुली इलेक्ट्रिक ट्रेनसाथ ही इलेक्ट्रिक इंजन लगने से ट्रेन की स्पीड बढ़ने के साथ-साथ गंतव्य तक पहुंचने में भी कम समय लगेगा। जबकि इस इलेक्ट्रिक ट्रेन से यात्रा करने वाले नौशाद आलम कहते हैंं, वे भारत सरकार के साथ-साथ खासकर रेल मंत्री पीयूष गोयल को इसके लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। जिन्होंने मिथिलावासियोंं के वर्षों पुरानी मांग को आज पूरा कर दिखाया है।
साथ ही दरभंगा से चली पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन से यात्रा करने के अनुभूति रोमांचित नौशाद ने कहा कि यह दिन उनके जीवन में हमेशा यादगार रहेगा।
जानकारी के अनुसार, 17 अप्रैल 1874 को दरभंगा में पहली ट्रेन आई थी। वैसे जहाँ तक मिथिला और उत्तर बिहार में रेल लाइन बिछवाने का सवाल है, तो इसका श्रेय दरभंगा राज को जाता है। बताते चलेेंं कि 1874 में ट्रेनों का चलन शुरू होने के बाद मिथिलांचल के रेल इतिहास में दूसरा महत्वपूर्ण पड़ाव तब आया, जब 2 फरवरी 1996 को दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड को मीटर गेज से ब्रॉड गेज में बदल कर ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ।
इसका उद्घाटन तत्कालीन रेल राज्यमंत्री सुरेश कलमाडी ने किया था। फिलहाल इस रेलखंड के दोहरीकरण का काम तेजी से चल रहा है। जिसको अगले कुछ महीनों में पूरा कर लिए जाने की संभावना है।
हालांकि इतने सारे परिक्रमाओं के बाद बिहार और मिथिला में रेलवे के विकास के परिप्रेक्ष्य में पूर्व रेलमंत्री स्व ललित नारायण मिश्र का जिक्र न हो, तो लिखी गई यह ईबारत अधूरी-अधूरी सी ही लगेगी। जिन्होंने मिथिला में रेल के विकास के लिए बड़ा सपना देखा था। लेकिन उनके असामयिक निधन से यह सपना अधूरा रह गया।
अब जब मिथिला के रेल इतिहास में नई उपलब्धियां जुड़ गई हैं, तो लोग उन्हें कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए बरबस ही कहते देखे गए,ललित बाबू का सपना साकार हुआ।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SINGHWARA

सिमरी एनएच 57 पर कार की ठोकर से मिश्रौली के किराना व्यवसायी समेत युवक गंभीर

Published

on

सिमरी एनएच 57 पर कार की ठोकर से मिश्रौली के किराना व्यवसायी समेत युवक गंभीर

सिंहवाड़ा, देशज टाइम्स ब्यूरो। एनएच 57 पर  सिमरी थाना के नजदीक फोरलेन सड़क पर मंगलवार को कार हादसे में दो लोग जख्मी हो गए। कार की ठोकर से मिश्रौली के किराना व्यवसायी अकबर खान के पुत्र रेयाज खान व लाल खान का पुत्र मेराज खान ज़ख्मी हो गए हैं। दोनों को गंभीर हालत में डीएमसीएच में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार दरभंगा से मुजफ्फरपुर की ओर जा रही मारूति स्वीफ्ट का सिमरी थाना (simri nh 57 par car ki thoker) चौक पर संतुलन बिगड़ जाने के बाद डिवाइडर को क्रास कर सड़क किनारे गड्ढे में पलट गई।

सिमरी थाना की पुलिस ने कार को जेसीवी के सहारे पानी के अंदर से बाहर कर जब्त किया है। (simri nh 57 par car ki thoker) सोमवार की रात घटना के बाद अफरा-तफरी का माहौल हो गया। पुलिस के अनुसार घायल युवक रेयाज को कार अगले भाग में फंस जाने के बाद स्थानीय लोगों ने बाहर निकाला है!

Continue Reading

SINGHWARA

सिंहवाड़ा गौड़ीनाथ ब्रह्मपुरा हाई स्कूल के स्मार्ट क्लास से चोरी का खुलासा, उपकरण बरामद

Published

on

सिंहवाड़ा गौड़ीनाथ ब्रह्मपुरा हाई स्कूल के स्मार्ट क्लास से चोरी का खुलासा, उपकरण बरामद

सिंहवाड़ा, देशज टाइम्स ब्यूरो। कटासा पंचायत के गौड़ीनाथ ब्रह्मपुरा हाई स्कूल से चोरी के मामले का पटाक्षेप हो गया है। यहां 23 जून की रात स्मार्ट क्लास से चोरी हुई उपकरणों को पुलिस ने बरामद कर लिया है।इस मामले में स्कूल के रात्रि प्रहरी वंशु कुमार को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ कर छोड़ दिया है।

जानकारी के अनुसार, रविवार की रात कटका हाई स्कूल के स्मार्ट क्लास का ताला तोड़ उपकरणों की चोरी हुई है। मामले को लेकर एसएम ने अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

वहीं सोमवार की सुबह पुलिस ने गौड़ीनाथ ब्रह्मपुरा हाई स्कूल में चोरी हुए सामान को बगल के बगीचा से नाटकीय ढंग से बरामद कर लिया।स्कूल के बगल स्थित बगीचे से पुलिस ने स्मार्ट क्लास के उपकरणों को बरामद किया है। (singhwara gauri brahmpura high school) यहां ग्रामीणों को यह उपकरण दिखाई पड़ा जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई। मौके पर पहुंची सिंहवाड़ा की पुलिस उपकरणों को अपने साथ ले गई।

थानाध्यक्ष अमित कुमार ने देशज टाइम्स को बताया, पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं। जल्द ही पूरे चोरी के मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

Continue Reading

Darbhanga

दरभंगा-हनुमाननगर के गांवों में फैला बाढ़,सड़क किनारे लगा तंबू, 23 करोड़ का पुल बना बेकाम

Published

on

दरभंगा-हनुमाननगर के गांवों में फैला बाढ़,सड़क किनारे लगा तंबू, 23 करोड़ का पुल बना बेकाम

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। लगातार हो रही बारिश से कई नदियों में उफान है। इससे बागमती नदी के जलस्तर में लगातार बेतहाशा वृद्धि से हनुमाननगर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत तकरीबन आधे दर्जन गांव बाढ़ के  पानी से घिर गए हैं।

 

उधर तीन विधानसभा क्षेत्र को जोड़ने वाली नैयाम-छतौना पंचायत के भजनी, सरायहमीद व पंचफुटिया घाट पर 23 करोड़ की लागत से बना पुल भी पहुंच पथ नहीं बन पाने के कारण बेकार बना हुआ है। आसपास के (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) रहने वाले लोगों की आवाजाही के लिए यही एकमात्र सहारा है।

जानकारी के अनुसार, काली, रामपुर डीह, नैयाम, छतौना, डिहलाही, नरहरिया, वहपती समेत कई इलाकों में बाढ का पानी फैल गया है। निचले स्थान में बसे हुए लोगों ने सड़क  किनारे तंबू बनाकर रहने की व्यवस्था तो कर ली है लेकिन कहते हैं, बाढ की पानी का रफ्तार इसी तरह रहा, तो आनेवाले कुछ दिनों में कई गांवों का संपर्क मुख्य (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) सड़क से भंग हो जाएगा।

इसको लेकर बीडीओ सुधीर कुमार बताते हैं, अभी 30-35 नावों का परवाना बनाया गया है। (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) परिस्थिति के मुताबिक और व्यवस्था की जाएगी।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.