Connect with us

Darbhanga

MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल

Published

on

MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल
MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। अगली कक्षा में प्रोन्नति, कन्या उत्थान योजना का लाभ, शौचालय समेत अन्य मांगों को लेकर एमएसयू ने शनिवार को लनामिवि पर जोरदार प्रदर्शन किया।

मिथिला स्टूडेंट यूनियन के विश्वविद्यालय प्रभारी अमन सक्सेना के नेतृत्व में 5 सूत्री मांगों को लेकर विश्वविद्यालय परिसर में आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करते  कहा, संगठन लगातार छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नति का मांग करता आया हैं, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन प्रोन्नति दे देने के बाबजूद एक झटके में इसे बदल परीक्षा लेने की बात कहता है। परीक्षा की पद्धति को बदल एकाएक प्रैक्टिकल परीक्षा का तारिक़ भी घोषित कर देता है, एक दिन पूर्व नोटिस निकाला जाता हैं, एक दिन बाद परीक्षा की तारीख घोषित होती हैं।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

अमन ने कहा, इससे साफ जाहिर है, विश्वविद्यालय प्रशासन को छात्रों के जिंदगी से कोई मतलब नहीं हैं। कोई भी छात्र जो किसी कारण से बिहार के बाहर रह रहे एक दिन में वापस आकर परीक्षा कैसे दे सकता हैं बिना सिलेबस बिना पढ़ाई का परीक्षा किस काम का क्या ऑब्जेक्टिव परीक्षा लेकर सिर्फ खानापूर्ति का काम नहीं किया जा रहा है, या तो सभी छात्रों को प्रोन्नति दे या फिर पुराने पद्दति से ही परीक्षा आयोजन करवाया जाए जिसका परीक्षा सेंटर होम सेंटर ही बनाया जाए।MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल

कहा, अन्यथा संगठन विरोध को तैयार रहेगा। वहीं वर्ष 2018 व 2019 के स्नातक पास छात्राओं को कन्या उत्थान योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि अब तक जारी नहीं किया गया रोजाना दर्जनों छात्रा दूर दराज के इलाके से आकर विश्वविद्यालय के चक्कर काट रही होती हैं कई स्टेप से होकर गुजरने वाला यह प्रोसेस विश्वविद्यालय के लापरवाही के कारण अचानक से स्टेप 4 से स्टेप 1,2,3, पर आ जाता हैं और छात्राओं को आधार कार्ड और बैंक अकाउंट का फोटो कॉपी लाने के लिए विश्वविद्यालय आने पर मजबूर करता हैं, जिसका सारा प्रोसेस क्लियर होता हैं उनका पेमेंट भी नहीं किया जाता हैं फ़रवरी माह के बाद से एक भी छात्रा को इस योजना का लाभ नहीं मिला है।

मुख्य प्रवक्ता जय प्रकाश झा ने कहा, संगठन ने पिछले महीने के 9 तारिक़ को विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन के माध्यम से विश्वविद्यालय प्रशासन को इस बाबत सचेत करने का काम किया था पूर्व कुलपति के खिलाफ जांच करने आयी राज भवन की टीम के सदस्य से मुलाक़ात कर इस बाबत जानकारी और ज्ञापन भी सौंपा गया था जहां राज भवन के टीम की ओर से  विश्वविद्यालय के इस लेट लतीफी पर सवाल पूछा जिसका जबाब किसी भी पदाधिकारी के पास नहीं था, कहा, आखिर एक छात्रा को कब तक परेशान किया जाएगा।

दरभंगा जिलाध्यक्ष अभिषेक कुमार झा ने कहा एक छात्रा स्नातक कम्पलीट कर पीजी कम्पलीट करने को हैं जबकि सरकार यह पैसा आगे पढ़ाई जारी करने को लेकर ही जारी करता हैं ऐसा पैसा ही किस काम का जो सही समय पर ना मिले जब तक लिखित आश्वासन नहीं मिल जाता की कब तक पैसा जारी किया जाएगा हमलोग आज आंदोलन पर बैठे रहेंगे।

एमएलएसएम कॉलेज प्रभारी आदित्य मिश्रा ने कहा, यहां जो भी नए कुलपति या नए पदाधिकारी आते हैं सबसे पहले नए नए नियम कानून लाते हैं मिलने के समय को निर्धारित कर दिया जाता हैं छात्र और छात्र संगठन को एक सामान तौला जाने लगता हैं कुलपति चैम्बर के आगे आटोमेटिक हैंड सेनिटीज़र का मशीन लगा दिया जाता हैं यह देख मालूम पड़ता हैं इस विश्वविद्यालय में कितने नियम कानून हैं लेकिन जब असलियत पर आते हैं तो पता चलता हैं बिहार के इस नंबर 1 विश्वविद्यालय में छात्राओं के लिए एक शौचालय तक उपलब्ध नहीं हैं।

कहा, रोजाना सैकड़ों छात्रा जो आस पास के जिलों से सैकड़ों किमी दूर से यहां आती हैं उनके लिए यहाँ एक छोटा सा शौचालय तक नहीं हैं इससे इसका पोल खुलता है, जहां पढ़ाई लिखाई तो बिल्कुल नहीं लेकिन यहाँ के पदाधिकारी उस टशन में जरूर रहते हैं जैसे डीयू बीएचयू एएमयू के पदाधिकारी हो पिछले 2 सालो से संगठन शौचालय का मांग करता आया है, बहुत शर्म की बात हैं यहाँ करोड़ो रुपया के लागत से लिफ्ट लगवाया दिया जाता हैं लेकिन एक विश्वविद्यालय का मान बढ़ाने वाला लाख रुपया का शौचालय नहीं बनवाया जाता हैं ऐसी झूठी शानो शोकत कि काम का ऐसे पदाधिकारी का सोच तो यह शौचालय ही तय कर देता हैं।

सीएम साइंस कॉलेज की छात्रा शगुफ्ता प्रवीण कहती हैं, अगर सप्ताह भर के अंदर शौचालय का निर्माण नहीं किया जाता हैं तो संगठन अब उग्र आंदोलन को मजबूर होगा आए दिन विश्वविद्यालय परिसर में छात्राओं के साथ छेड़खानी की घटना बढ़ती जा रही हैं विश्वविद्यालय परिसर आज आसामजिक तत्व के हवाले आ खड़ा हुआ हैं बिना कारण रोजाना सेकड़ो लोग यहाँ आकर बाइक पर स्टंट और फोटो बाजी करते हैं बाइक पर चढ़ बिना हैंडल पकड़े रोजाना यहां फोटो शूट होता हैं।

इस बीच विश्वविद्यालय काम से पहुंचे छात्राओं के साथ बदतमीजी की जाती हैं, उनकी मर्जी के बिना उनका फोटो लिया जाता हैं उनका पीछा किया जाता हैं।

आयशा खान और विमेंस कॉलेज की छात्रा अंशु प्रिया ने कहा, यह घटना अब यहाँ आम बात हो चूका हैं हमारी मांग हैं की छात्राओं के सुरक्षा के लिए बिना कारण जाने विश्वविद्यालय परिसर में किसी का एंट्री ना हो तत्काल फोटो सूट और स्टंट करने पर रोक लगाते हुए ऐसे लोगों पर कारवाई की जाए इससे पूर्व भी महिला छात्रावास में छात्राओं के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की गई थी जो एक बार फिर से यहाँ शुरू हो गया हैं जल्द से जल्द असामाजिक तत्व का परिसर में आने की पाबंदी हो बीएड के छात्रों का 35 हजार माफ़ किया जाए।MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल

वहीं प्रवक्ता सागर सिंह ने कहा संगठन ने सत्र नियमित करवाने में अपना एक अहम किरदार निभाया था जिसका नतीजा आज एलएनएमयू पुरे बिहार का नंबर 1 विश्वविद्यालय बन गया हैं जहाँ स्नातक से लेकर पीजी तक का रिजल्ट ससमय मिल रहा हैं लेकिन कोविड 19 के इस दौर में यह सत्र भी अब पीछे हो गया हैं लेकिन विश्वविद्यालय चाहे तो अभी भी इसे ससमय किया जा सकता हैं।

कहा, पार्ट 3 और पीजी 4 सेमेस्टर के छात्रों का परीक्षा समाप्त हो चूका हैं अगर कॉपी मूल्यांकन कार्य सही ढंग से किया जाए तो अगले 10 से 20 दिनों में रिजल्ट जारी किया जा सकता हैं हमारी मांग हैं की स्नातक और पीजी का रिजल्ट 30 अक्टूबर तक घोषित करें ताकि यहाँ के सत्र को वापस फिर से पटरी पर लाया जा सके।

विश्वविद्यालय महासचिव अभिषेक कुमार झा ने कहा, छात्र भी अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण समय डिग्री ससमय ले सके जिसका फायदा आम छात्रों को मिलेगा सभी मांग छात्र हित से संबंधित और महत्वपूर्ण मांग हैं विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष ब्रजेश कुमार ने कहा अगर एक सप्ताह के अंदर मांग पूरा नहीं होता हैं तो संगठन उग्र आंदोलन को बाध्य होगा जिसकी पूर्ण जिम्मेवारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी आने वाले 10 दिनों में संगठन एक बार फिर से यहाँ के पदाधिकारी को घेरने का काम करेगा इससे पूर्व छात्रों ने विश्वविद्यालय के कुलपति व कुलसचिव के गाड़ी का घेराव किया गया जिसके बाद 5 सदस्य प्रतिनिधि को कुलपति से मिलकर अपनी बात रखने का मौका दिया गया।

मौके पर मारवाड़ी कॉलेज अध्यक्ष सुशांत कुमार, किशन कुमार झा, निशु पोद्दार,रानी कुमारी,प्रीति कुमारी,मोनी कुमारी, आरती, नेहा, काजल, अनु मनीषा, तुलसी,ज़ेबा परवीन,जुलेखा प्रवीण,शमा परबीन,बुशरा हामिद,साइमा प्रवीण,आबदा परबीन, साबिया,साजदा नूरी,गुड्डू नागरे, ऋषि कुमार,आशीष कुमार, राजन झा, आयुष कुमार झा, नीरज कुमार, उज्जवल मिश्रा, रूद्र मोहन चौधरी, उज्जवल कुमार,पप्पू यादव, अनीश झा, राघव, नरेश साह मौजूद थे।MSU का LNMU पर छात्र हित में जोरदार प्रदर्शन, कहा खुल गई बहरूपिया विश्वविद्यालय की पोल

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Darbhanga

सीआरपीएफ ने औरंगाबाद के जज को लाठी से खदेड़ा तो उबल पड़े दरभंगा के अधिवक्ता

Published

on

सीआरपीएफ ने औरंगाबाद के जज को लाठी से खदेड़ा तो उबल पड़े दरभंगा के अधिवक्ता
सीआरपीएफ ने औरंगाबाद के जज को लाठी से खदेड़ा तो उबल पड़े दरभंगा के अधिवक्ता

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। अपर जिला व सत्र न्यायाधीश डॉ. दिनेश कुमार प्रधान के साथ बदसलूकी कर जानलेवा हमला करने के लिए खदेड़ने की घटना से  दरभंगा जिले के वकील मर्माहत व आक्रोशित हैं। वकीलों ने ऐसी वारदात की कड़ी निंदा करते हुए औरंगाबाद के पुलिस पदाधिकारियों समेत उसमें शामिल जवानों पर त्वरित कार्रवाई की मांग की है। अधिवक्ताओं ने तत्काल  बार एसोसिएशन के अध्यक्ष व महासचिव को एक आवेदन पत्र देकर एसोसिएशन की ओर से निंदा प्रस्ताव पारित करने की मांग करते दरभंगा के अधिवक्ताओं ने निंदा प्रस्ताव पारित कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग पुलिस महानिर्देश्क व मुख्य सचिव बिहार से की है।

जानकारी के अनुसार, 22 अक्टूबर की शामअपने आवास से सड़क किनारे टहलने निकले औरंगाबाद के एडीजे -12 डॉ. प्रधान के साथ स्थानीय औरंगाबाद थाना के पुलिस पदाधिकारी समेत सीआरपीएफ के जवानों ने बदसलूकी की। इतना ही नहीं, उन्हें मारने की नीयत से लाठी लेकर खदेड़ते आवास तक गए।

इस घटना के बाद से स्थानीय दरभंगा के वकीलों में आक्रोश है। वकीलों ने पूरी घटना की निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की है। ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन का जिला सचिव राजीव रंजन ठाकुर ऊर्फ बालाजी ने कहा, इस प्रांत में न्यायिक पदाधिकारी भी सुरक्षित नहीं है। इसी का परिणाम है, औरंगाबाद के एडीजे -12 डॉ. प्रधान के साथ ऐसी घटना हुई है, जो पूर्णतया निंदनीय है।

जानकारी के अनुसार, दरभंगा व्यवहार न्यायालय में मुंशीफ पद पर डॉ. प्रधान कार्यरत थे। वहीं, वर्तमान में औरंगाबाद जिला न्याय मंडल में पहले सीजेएम थे।अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर कार्यरत हैं।

दरभंगा में जब डॉ. प्रधान कार्यरत थे तो उनका कार्यकाल सराहनीय था। वे ऐयर फोर्स में वारंट अधिकारी पद से सेवानिवृत्त होकर न्यायिक सेवा में आए। सीआरपीएफ व औरंगाबाद थाना के अधिकारियों की ओर से एक न्यायाधीश के साथ की गई विधि विरुद्ध कृत से आहत वकीलों ने निंदा प्रस्ताव पारित कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग पुलिस महानिर्देश्क व मुख्य सचिव बिहार से की है।

वहीं 41 अधिवक्ताओं ने अपने बार एसोसिएशन के अध्यक्ष और महासचिव को एक अदद आवेदन पत्र देकर एसोसिएशन की ओर से निंदा प्रस्ताव पारित करने की मांग की है। ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन की ओर से निंदा प्रस्ताव पारित करने के दौरान अरुण कुमार झा, मुरारीलाल केवट, हरे राम साहू, अमर प्रकाश ,रमण जी चौधरी, अनिल कुमार सिंह,अनिल कुमार मिश्रा, विष्णुकांत चौधरी, मनोज कुमार, रामाधार मांडर, कुलदीप दीवान, सुधीर कुमार चौधरी, संतोष कुमार सिन्हा, भवनाथ मिश्रा, प्रमोद कुमार ठाकुर, दिलीप कुमार चौधरी, शिव शंकर झा, चंद्रशेखर झा, प्रमोद कुमार चौधरी, सोहन कुमार सिन्हा समेत दर्जनों की संख्या में अधिवक्ता विरोध जताते मौजूद थे।सीआरपीएफ ने औरंगाबाद के जज को लाठी से खदेड़ा तो उबल पड़े दरभंगा के अधिवक्तासीआरपीएफ ने औरंगाबाद के जज को लाठी से खदेड़ा तो उबल पड़े दरभंगा के अधिवक्ता

Continue Reading

Darbhanga

केवटी अपने नाना के घर दुर्गापूजा देखने आया मधुबनी के बालक की डूबने से मौत, कोहराम

Published

on

केवटी अपने नाना के घर दुर्गापूजा देखने आया मधुबनी के बालक की डूबने से मौत, कोहराम
केवटी अपने नाना के घर दुर्गापूजा देखने आया मधुबनी के बालक की डूबने से मौत, कोहराम

दरभंगा, देशज टाइम्स न्यूज। केवटी प्रखंड की बिरखौली गांव में मधुबनी के एक बच्चे की डूबने से मौत हो गई।।बच्चा मधुबनी जिले के बिस्फी थाना अंतर्गत खंगरैठा गांव के बैजू यादव के पुत्र वर्षीय गणेश कुमार यादव अपने नाना बिरखौली गांव के सुरेश यादव के यहां दुर्गापूजा में आया था।

जानकारी के अनुसार, गणेश शौच के लिए प्राथमिक विद्यालय बिरखौली के पीछे  गया था। वहीं, पोखर किनारे उसका पांव फिसल गया।वह पोखर के गहरे पानी में चला गया। काफी देर होने पर जब वह नहीं लौटा तो स्वजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी।

खोजबीन के बाद उसकी लाश  पोखर में उपलाता मिला । स्वजनों ने लोगों के सहयोग से गणेश का शव पोखर से बाहर निकाला।र इसकी सूचना सीओ अजीत कुमार झा व केवटी थाना पुलिस को दी। घटना से पूरे गांव समेत परिवार में कोहराम मचा है।

Continue Reading

Darbhanga

Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च

Published

on

Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च
Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च

दरभंगा, देशज टाइ म्स न्यूज। दरभंगा जिले के 5 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमशः कुशेश्वरस्थान, गौड़ाबौराम, बेनीपुर, अलीनगर एवं दरभंगा ग्रामीण विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान 3 नवंबर को व तृतीय चरण में दरभंगा, हायाघाट, बहादुरपुर, केवटी एवं जाले विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 7 नवंबर को मतदान होना निर्धारित है।

स्वीप कार्यक्रम के अन्तर्गत दरभंगा जिला के मतदाताओं को मतदान तिथि के दिन अपने घरों से निकलकर मतदान केंद्रों पर जाकर नैतिक मतदान करने के लिए जागरूकता के लिए उप विकास आयुक्त श्री तनय सुल्तानिया के नेतृत्व में जिले के आला अधिकारियों सहित सभी पदाधिकारियों की ओर से दरभंगा समाहरणालय परिसर से लोहिया चौक होते हुए जिला स्कूल, दरभंगा तक Walkathon किया गया। Walkathon में भाग लेने वाले स्काउट गाइड एवं एनसीसी के छात्रों ने “छोड़ कर अपने सारे काम पहले चलो करें मतदान” मास्क पहन के जाना है अपना मतदान करना है”। जैसे नारे से सड़कों को गुंजायमान कर दिया।Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च

जिला स्कूल के प्रांगण में उप विकास आयुक्त सह वरीय पदाधिकारी स्वीप ने कार्यक्रम को संबोधित करते कहा, जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन के निर्देश पर आज समाहरणालय परिसर से लोहिया चौक होते हुए जिला स्कूल तक Walkathon निकल गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है दरभंगा जिला के मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करना।

कोविड-19 के दौरान विश्व में पहला चुनाव किया जा रहा है और इसके लिए कोविड-19 के गाईडलाईन का भी अनुपालन कराना एक चुनौती है। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से सभी प्रकार की तैयारियां की गई हैं। सभी मतदान केंद्रों को सेनेटाइज किया जाएगा, मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी, इसके साथ-साथ प्रवेश द्वार पर इंफ्रारेड थर्मामीटर से उनके तापमान की जांच की जाएगी। यदि किसी मतदाता का तापमान सामान्य नहीं पाया जाता है तो उन्हें अंतिम घंटे में मतदान के लिए आने को कहा जाएगा।Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च

मतदान कर्मियों के लिए भी सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर 6-6फिट की दूरी पर गोलाकार बनाया गया है। मतदाताओं को ईवीएम का बटन दबाने के लिए ग्लब्स दिया जाएगा तथा मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने दरभंगा जिले के सभी मतदाताओं को मतदान तिथि के दिन मतदान केंद्र पर जाकर अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील की।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए उप निदेशक जन सम्पर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता ने स्वीप अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि स्वीप अभियान के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए लगातार जिले के मतदाताओं को जागरूक किया जा रहा है। कुशेश्वर स्थान एवं गौड़ाबौराम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान 7:00 बजे पुर्वाह्न से 4:00 बजे से अपराह्न तक ही कराया जाएगा। क्योंकि वहां कई क्षेत्रों में नाव के द्वारा मतदान कर्मी एवं पीसीसी की जाते हैं तथा नाव का परिचालन रात्रि में नहीं होता है इसलिए अपराह्न 4:00 बजे तक ही मतदान कराया जाएगा। इसके अतिरिक्त सभी आठ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान पूर्वाह्न 7:00 बजे से 6:00 बजे अपराह्न तक कराया जाएगा। Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्चइस बार कोविड-19 के मद्देनजर मतदान की अवधि 1 घंटा बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से सुरक्षा के लिए मतदान केंद्रों पर सभी प्रकार की व्यवस्था की गई है। साथी मतदाताओं के लिए भी गलब्स, सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। सभी मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं भयमुक्त वातावरण में मतदान कराने हेतु सभी प्रकार के निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। मजबूत लोकतंत्र के लिए सबकी भागीदारी जरूरी है।

इस अवसर पर जिला के स्वीप श्री मणिकांत झा ने मैथिली में मतदान करने हेतु जिले के मतदाताओं का आह्वान किया, मतदान केंद्रों पर तथा मतदाताओं के लिए कोविड-19 के सुरक्षा के लिए की गई व्यवस्था का जिक्र किया तथा मैथिली में गीत सुना कर उन्हें मतदान करने हेतु प्रेरित किया।

धन्यवाद धन्यवाद ज्ञापन डीपीओ आईसीडीएस अलका अम्रपाली की ओर से किया गया। कार्यक्रम में जिला आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार,उप निर्वाचन पदाधिकारी पुष्कर कुमार, वरीय उप समाहर्ता आलोक राज, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी मो. रिजवान अहमद, जिला सांख्यिकी पदाधिकारी शंभु प्रसाद यादव, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी शिक्षा संजय कुमार देव कन्हैया, जीविका के डीपीएम श्री सुधांशु तिवारी, भारत स्काउट गाइड के जिला संगठन आयुक्त श्याम किशोर पांडेय, स्काउट के रामनंदन माझी, जयकांत यादव, परमानंद यादव, मो. सितारे ,सोमदेव कुमार साहू, अभिषेक कुमार, मो. जिशान, राहुल कुमार, श्याम कुमार महतो, विवेक कुमार पासवान, विकाश कुमार व गाइड की अंजलि कुमारी (आनंदपुर), ज्योति कुमारी, नेहा कुमारी, अंजलि कुमारी (राजेंदर बालिका), अंजलि कुमारी (एम् आर एम्) एवं पूजा मिश्रा, एनसीसी के एएनओ मुकेश कुमार, एनसीसी कैडेट मोहम्मद अजमल, रोहित, धनंजय, अंजलि,वैशाली, अतिथि, अन्नू, अजीमुल एवं रागनी शामिल थीं।Darbhanga में Walkathon, मतदाताओं को जगाने सड़कों पर निकले पदाधिकारी, किया मार्च

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: