Connect with us

Darbhanga

DarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम

Published

on

DarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम
DarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम

दरभंगा, देशज टाइम्स। डीएमसीएच परिसर में भले एम्स खोलने की बात हो या फिर सुपर स्पेशिलिस्ट अस्पताल का निर्माण चल रहा हो मगर इतना तय है डीएमसीएच में स्वास्थ्य व्यवस्था कचरा हो चुका है। यहां मूलभूत सुविधाएं भी मरीजों को उपलब्ध नहीं है। इसी के खिलाफ गुरुवार को  एमएसयू (DarbhangaMSU) ने पोलो फील्ड से डीएमसीएच तक निकाला मार्च, की नारेबाजी और साफ शब्दों में अल्टीमेटम भी अब गरीबों को ठगना बंद करो। कहा,हमें सुपरस्पेशिलिस्ट हॉस्पिटल या एम्स नहीं गरीबों के लिए हक चाहिए।

जानकारी के अनुसार,मिथिला स्टूडेंट यूनियन के जिलाध्यक्ष अभिषेक कुमार झा के नेतृत्व में डीएमसीएच में मूलभुत सुविधाओं के लिए ग्यारह सूत्री मांग पत्र के साथ एमएसयू समर्थकों ने पोलो फील्ड लहेरियासराय से पैदल मार्च निकाला। डीएमसीएच अधीक्षक कार्यालय तक पंहुचा। एमएसयू (DarbhangaMSU) के दरभंगा जिलाध्यक्ष अभिषेक कुमार झा ने कहा, उत्तर बिहार का सबसे बड़ा अस्पताल डीएमसीएच मगर आज सिर्फ खानापूर्ति करने का काम चल रहा है।DarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

श्री झा ने कहा, दरभंगा में डीएमसीएच की सुविधा उपलब्ध हैं लेकिन आम गरीब मजदूर को यहां इलाज के नाम पर सिर्फ व सिर्फ ठगने का काम किया जा रहा हैं। हॉस्पिटल में मरीजों के लिए दवा तक उपलब्ध नहीं है। मामूली बुखार के लिए भी मरीज को बाहर से दवा खरीदनी पड़ रही है।  जांच केंद्र पर सैकड़ों लोगों की भीड़ लगी होती हैं, जिससे मरीजों को सही समय से जांच रिपोर्ट तक नहीं मिल पाती।मज़बूरी में लोग ज्यादा पैसा खर्च कर प्राइवेट जांच केंद्र पर आश्रित हो जाते हैं।

कहा, एक्सरे अल्ट्रासाउंड के लिए मरीज घंटों लाइन में लगे होते हैं, जिनका रिपोर्ट भी 3 से 4 दिनों में दिया जाता है। लगभग चार करोड़ आबादी जो डीएमसीएच पर निर्भर करता है, उसे इमरजेंसी में मरने के लिए पटना के रास्ते में छोड़ दिया जाता हैं। आज यह अस्पताल अपने लापरवाही के लिए जाना जाता हैं, जहां एक पैर टूटा होता हैं तो यहां के डॉक्टर दोनों पैर में प्लास्टर कर देता हैं।(DarbhangaMSU)

नवजात को चूहा खा जाता है। गलत खून चढ़ाने से मरीजों की मौत हो रही हैं। बिना लाइसेंस ब्लड बैंक चलाए जा रहे हैं। आज इस सबके लिए डीएमसीएच देश ही नहीं विदेशों में भी जाना जाता हैं।

एमएसयू (DarbhangaMSU) इसे ही बदलने के लिए आया है। जब तक बदलाव नहीं होगा हम लोग ऐसे ही आंदोलन करते रहेंगे। पैदल मार्च में शामिल एमएसयू के राष्ट्रीय महासचिव गोपाल चौधरी ने स्थानीय प्रतिनिधि व सरकार पर जमकर हल्ला बोला। उन्होंने कहा, लगभग पचास विधायक दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल जिले के जिनके कार्य क्षेत्र यह अस्पताल आता हैं, आज तक इतने सालो में कभी किसी ने इसका दौरा तकDarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम नहीं किया। जब स्वास्थ सुविधा की बात होती हैं तो ये नेता लोग हमें एम्स का सपना दिखाने लगते हैं, लेकिन सवाल उठता हैं जो डीएमसीएच को नहीं संभाल सका वो एम्स क्या संभालेगा। हमें डीएमसीएच में परिवर्तन चाहिए हमें कोई सुपरस्पेशलिस्ट हॉस्पिटल या एम्स की जरुरत नहीं हमें डीएमसीएच की जरुरत हैं। इसे बदलना होगा।

इस बाबत एमएसयू (DarbhangaMSU) के विश्वविद्यालय प्रभारी अमन सक्सेना ने बताया रैली दिन के 12 बजे पोलो फील्ड से निकलकर लहेरियासराय टावर होते हुए कमर्शियल चौक बेंता कर्पूरी चौक होते हुए अधीक्षक कार्यालय तक पंहुचा। इस बीच छात्र अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी भी की। कार्यकर्ताओं का जोश व जूनून देखने लायक़ था।

बारिश होने के बाबजूद सभी कार्यकर्ता (DarbhangaMSU) भींगते हुए रैली को सफल बनाया। अधीक्षक कार्यालय पहुंचने के बाद आंदोलन सभा मेंं तब्दील हो गया।  दरभंगा जिला संगठन मंत्री अभिजीत कश्यप जिला प्रधान सचिव प्रवीण कुमार उपाध्यक्ष राघव झा, विजय शर्मा,अनीश चौधरी,उज्जवल मिश्रा, नीरज भारद्वाज, विधाभूषण राय ने सभा को संबोधित किया।

इस बीच डीएमसीएच अधीक्षक ने सभी मांगों के प्रति आश्वासन जताते  कहा, जल्द ही सारी समस्या का समाधान कर लिया जाएगा। उन्होंने मौखिक आश्वासन नहीं बल्कि वचन दिया, जितनी भी मांग हैं, उसका कार्य वो जल्द से पूरा करेंगे। 48 घंटों में दवा की लिस्ट तैयार कर दवा की आपूर्ति अस्पताल में कर दिया जाएगा।

जांच के लिए अतिरिक्त मशीनें लगाई जाएगी। गंभीर मरीजों को 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट दे दिया जाएगा जो भी लिखित शिकायत दिया जाएगा उसपर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही साथ उन्होंने मिथिला स्टूडेंट यूनियन के कार्यकर्ता के प्रति आभार प्रकट किया।उन्होंने व्यस्था परिवर्तन के लिए आवाज उठाई, जिससे उनको काम करने में बल मिलेगा।

सभी कार्यकर्ताओं (DarbhangaMSU) को आश्वासत किया, आपको अगले आंदोलन की जरुरत नहीं पड़ेगी, उससे पूर्व सारा काम कर लिया जाएगा। अपनी स्वास्थ्य हालत ठीक नहीं होने की बात कहते हुए कहा जल्द ही रिटायर कर जाऊंगा लेकिन इस रिटायरमेंट से पहले डीएमसीएच की व्यस्था बदलने का हर सम्भव प्रयास करूंगा।

इसके बाद संगठन के कार्यकर्ता ने भी उनके जल्द स्वस्थ्य होने का कामना की। बारी से बारी से सभी मांगों को पढ़ते हुए मांगों पर कारवाई का आश्वासन उन्होंने दिया।

पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता विधा भूषण राय ने कहा, यह लड़ाई अभी ख़त्म नहीं हुई हैं। अगर परिवर्तन नहीं होगा तो और (DarbhangaMSU) जोरदार आंदोलन होगा। कार्यकर्ता को तैयार रहने की बात करते हुए डीएमसीएच प्रशासन को चेताने का काम किया। अगर मांगे पूरा नहीं होता हैं तो आने वाले दिनों में मिथिला स्टूडेंट यूनियन उग्र आंदोलन को बाध्य होगा, जिसकी पूर्ण जिम्मेवारी अस्पताल प्रशासन की होगी।

आंदोलन में शिव मोहन झा,अमित मिश्रा,आफ़ताब राही, विनय पासवान, विमला कुमारी, ज्योति कुमारी, सुधांशु कुमार,सुमित,मनीष,पंकज, गणपति मिश्रा समेत कई कार्यकर्त्ता मौजूद थे।(DarbhangaMSU)DarbhangaMSU की हुंकार,हम DMCH को बदलने आएं हैं, बदलकर रहेंगे, मार्च, नारे,अल्टीमेटम

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Darbhanga

दरभंगा में वाहन चेकिंग में 01 करोड़ 04 लाख 66 हजार 100 रूपए का जुर्माना,135 पर CCA

Published

on

दरभंगा में वाहन चेकिंग में 01 करोड़ 04 लाख 66 हजार 100 रूपए का जुर्माना,135 पर CCA
दरभंगा में वाहन चेकिंग में 01 करोड़ 04 लाख 66 हजार 100 रूपए का जुर्माना,135 पर CCA

दरभंगा, देशज टाइम्स न्यूज। बिहार विधान सभा आम निर्वाचन, 2020 के अवसर पर विधि-व्यवस्था बनाये रखने, शांतिपूर्ण, निष्पक्ष व भयमुक्त वातावरण में मतदान व मतगणना की प्रक्रिया सम्पन्न कराने के उद्देश्य से जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन की ओर से गैर-कानूनी गतिविधियों में संलिप्त/आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों के विरूद्ध लगातार निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। एफ.एस.टी. एवं एस.एस.टी. द्वारा क्षेत्र भ्रमण कर लगातार दबिश बनायी जा रही है।

जानकारी के अनुसार, वाहनों की सघनता से जांच कर गैर-कानूनी आवाजाही पर निगरानी रखी जा रही है। वाहनों की जाँच में अबतक 01 करोड़ 04 लाख 66 हजार 100 रुपए जुर्माना की वसूली की गयी है।

वहीं, पुलिस की ओर से 19248.195 लीटर शराब जब्त की गई है। आपराधिक प्रवृत्ति के 105 व्यक्तियों के विरूद्ध गैर जमानती वारंट निर्गत किया गए हैं। वहीं 135 लोगों के विरूद्ध सी.सी.ए. के तहत कार्रवाई की गई है, जिन्हें अपने थाने क्षेत्र से इतर के थाने में रोज हाजिरी लगानी होगी या अन्य थाना क्षेत्र में रहना होगा।

कुल 11 हजार 559 व्यक्तियों से बंध पत्र भरवाया गया है। मतदान तिथि के लिए कुल 235 भेद्द टोले की पहचान हुई है, जहाँ के 1651 व्यक्ति ऐसे चिन्ह्ति किये गए हैं जिसके द्वारा गड़बड़ी फैलायी जाने की आशंका है, उन्हें बॉन्ड डाउन किया गया है। साथ ही थानों द्वारा 1222 शस्त्रों का सत्यापन किया गया एवं 379 शस्त्र जमा करवाये गए हैं।

Continue Reading

SINGHWARA

सिंहवाड़ा-सनहपुर मध्य विद्यालय स्थित बुद्धि गाछी में लटकती मिली मुजफ्फरपुर के युवक की लाश

Published

on

सिंहवाड़ा-सनहपुर मध्य विद्यालय स्थित बुद्धि गाछी में लटकती मिली मुजफ्फरपुर के युवक की लाश
सिंहवाड़ा-सनहपुर मध्य विद्यालय स्थित बुद्धि गाछी में लटकती मिली मुजफ्फरपुर के युवक की लाश

सिंहवाड़ा, देशज न्यूज। स्थानीय थानाक्षेत्र के सनहपुर मध्य विद्यालय स्थित बुद्धि गाछी में मुजफ्फरपुर जिले कटरा थानाक्षेत्र के लखनपुर निवासी स्व. योगेन्द्र महतो के पुत्र जगदीश महतो  की लाश पेड़ से लटकी मिली है। इससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। शव आम के पेड़ से लटकते देख आसपास के लोगों ने शोर मचाया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पेड़ से उतारकर आगे की कार्रवाई में जुटी। लाश को तत्काल पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेजा है।

जानकारी के अनुसार, जगदीश की पत्नी मायके में रहना चाहती थी। इसको लेकर जगदीश लगातार परेशान रहता था। वहीं, कई बार दोनों में विवाद भी हुआ था। शुक्रवार की सुबह लोगों ने आम के पेड़ से शव को झूलते देखा।

ग्रामीणों ने घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को जानकारी दी। आशंका जताई जा रही है कि गुरुवार की रात युवक ने आत्महत्या कर ली। स्थानीय लोगों के अनुसार युवक पारिवारिक विवाद के कारण मानसिक तनाव में था।

पुलिस के अनुसार जगदीश की शादी चार वर्ष पहले हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ही पत्नी ससुराल छोड़कर मायके चली गई। इस कारण से वह तनाव में रहता था। गांव में ही मजदूरी कर जीवन यापन करता था। इस बीच उसके द्वारा आत्महत्या किए जाने की सूचना से लोग आश्चर्य में हैं। थानाध्यक्ष अमित कुमार ने शव को पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया है।

पुलिस परिवार समेत आसपास के लोगों से पूछताछ में जुटी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत के कारण स्पष्ट हो जाएंगे।

Continue Reading

Darbhanga

दरभंगा शिक्षक 70.40, स्नातक 53.59 फीसद के साथ निष्पक्ष-शांतिपूर्ण मतदान

Published

on

दरभंगा शिक्षक 70.40, स्नातक 53.59 फीसद के साथ निष्पक्ष-शांतिपूर्ण मतदान

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। बिहार विधान परिषद द्विवार्षिक चुनाव के तहत 22 अक्टूबर को दरभंगा जिला में कराए गए मतदान का प्रतिशत   सामने आने के बाद कोरोना के बीच लोगों का उत्साह दिखा।
1.शिक्षक -70.40 प्रतिशत,
2. स्नातक -53.59 प्रतिशत

जानकारी के अनुसार, विधान परिषद द्विवार्षिक चुनाव के अंतर्गत 05 दरभंगा/ स्नातक शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए कराए गए मतदान का प्रतिशत जिला वार प्रतिवेदन। दरभंगा शिक्षक 70.40, स्नातक 53.59 फीसद के साथ निष्पक्ष-शांतिपूर्ण मतदान
दरभंगा
1.शिक्षक -70.40 प्रतिशत,
2. स्नातक -53.59 प्रतिशत
समस्तीपुर
1.शिक्षक -74.00 प्रतिशत,
2. स्नातक -55.00प्रतिशत
मधुबनी
1.शिक्षक -69.69 प्रतिशत,
2. स्नातक -52.00 प्रतिशत
बेगुसराय
1.शिक्षक -89.92 प्रतिशत,
2. स्नातक -53.15 प्रतिशत
कुल औसत 05 दरभंगा निर्वाचन क्षेत्रदरभंगा शिक्षक 70.40, स्नातक 53.59 फीसद के साथ निष्पक्ष-शांतिपूर्ण मतदान
1.शिक्षक -75.83प्रतिशत,
2. स्नातक -53.44 प्रतिशत

वहीं, दरभंगा शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए मधुबनी में 23, दरभंगा में 32, समस्तीपुर में 24 व बेगूसराय में 20 कुल 99 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। दरभंगा स्नातक निर्वाचन क्षेत्र में कुल 141 मतदान केंद्र हैं, जिनमें 102 मुख्य मतदान केंद्र व 39 सहायक मतदान केंद्र शामिल हैं।

मधुबनी में 24 मुख्य मतदान केंद्र व 8 सहायक मतदान केंद्र, दरभंगा में 34 मुख्य मदान केंद्र व 10 सहायक मतदान केंद्र, समस्तीपुर में 24 मुख्य मतदान केंद्र व 9 सहायक मतदान केंद्र व बेगूसराय में 20 मुख्य मतदान केंद्र व 12 सहायक मतदान केंद्र हैं।दरभंगा शिक्षक 70.40, स्नातक 53.59 फीसद के साथ निष्पक्ष-शांतिपूर्ण मतदान

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: