Connect with us

Darbhanga

Best Wishes Darbhanga: शिकायत निवारण में बिहार में दरभंगा बना अव्वल, मिला तीसरा स्थान

Published

on

Darbhanga topped in grievance redressal, got third place

दरभंगा, देशस टाइम्स ब्यूरो। बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के क्रियान्वयन में दरभंगा जिला की रैंकिंग लगातार ऊपर की और बढ़ती जा रही है। दिसंबर 2020 के लिए की गयी जिलावार रैंकिंग में दरभंगा जिला 69.56 अंक प्राप्त कर शिवहर व सुपौल के बाद बिहार में तीसरे स्थान पर (Darbhanga topped in grievance redressal, got third place) रहा।

जानकारी के अनुसार,  दिसंबर माह में निर्धारित समय सीमा के बाहर के मामले निष्पादन में यह शिवहर व सुपौल से भी ऊपर रहा, लेकिन कुल मिलाकर बिहार में दरभंगा तीसरा स्थान प्राप्त करने में (Darbhanga topped in grievance redressal, got third place) सफल रहा।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम ने जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी व सभी अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारियों को शुभकामनाएं दी है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bihar

दरभंगा में सांस्कृतिक धरोहरों के संरक्षण को बनेगा साइट लेबोरेटरी, भवनों का होगा डकूमेंटेशन

Published

on

Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। बिहार की सांस्कृतिक धरोहरों को संरक्षित करने के लिए बड़े स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाएगा तथा गंगा नदी के किनारे अवस्थित सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक धरोहर तथा धरोहर भवनों का डकूमेंटेशन कार्य दि इन्डियन नेशनल ट्रस्ट फार आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज (इन्टैक) की ओर से कराया (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented) जाएगा।

यह बात इन्टैक के राष्ट्रीय अध्यक्ष मेजर जनरल एल पी गुप्ता ने इन्टैक के बिहार के विभिन्न चैप्टरों के कन्वेनरों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए कही। मेजर गुप्ता ने दरभंगा में सांस्कृतिक धरोहरों के संरक्षण के लिए एक साइट लेबोरेटरी बनाने के लिए भी सहमति प्रदान की।

मेजर गुप्ता ने बिहार के सभी चैप्टरों के संयोजकों को निर्देशित किया कि जिलाधिकारियों को चैप्टर का संरक्षक बनाकर जागरूकता अभियान से जुड़ने का आग्रह किया जाए, जिससे इस अभियान को जमीन पर उतारने में सुविधा होगी। मेजर गुप्ता ने बिहार की प्राचीन लिपि मिथिलाक्षर एवं कैथी के संरक्षण एवं विकास के लिए प्रशिक्षण शिविर (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented) आयोजित करने के लिए भी सहायता प्रदान करने का आश्वासन के साथ ही बिहार के विभिन्न स्थानों पर बिखरे हुए प्राचीन मूर्तियों की सूचीबद्ध कराने पर भी बल दिया।

बिहार चैप्टर के संयोजक एवं भारतीय बन सेवा के अवकाश प्राप्त अधिकारी श्री प्रेम शरण ने बिहार के धरोहरों के संरक्षण के निमित्त अनेक चैप्टरों को स्थापित करने तथा उनके द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का लेखा जोखा प्रस्तुत किया गया। (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented) महाराजाधिराज लक्ष्मीश्वर सिंह संग्रहालय, दरभंगा के संग्रहालयाध्यक्ष डॉ. शिव कुमार मिश्र ने मिथिला की प्राचीन मूर्तियों की सूचीकरण, मिथिलाक्षर एवं कैथी लिपि के प्रशिक्षण के लिए दरभंगा, पटना, सीतामढी, पूर्णिया, बेतिया एवं मोतिहारी में प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने के लिए इन्टैक चेयरमैन से आग्रह किया।

डॉ. मिश्र ने दरभंगा के दोनों विश्वविद्यालय एवं मिथिला शोध संस्थान की पांडुलिपियों को संरक्षित एवं डिजिटाइजेशन के लिए मिथिला विश्वविद्यालय परिसर में एक कंजर्वेशन लैब स्थापित करने का भी आग्रह किया। इसके साथ ही गांधी जी से जुड़े हुए हेरीटेज स्थलों को सूचीबद्ध कराने की मांग की। डॉ. मिश्र ने आमलोगों को अपने धरोहर से जोड़ने के लिए (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented) जिलाधिकारी से मदद लेने की आवश्यकता पर बल दिया।

बिहार विधान परिषद के परियोजना पदाधिकारी एवं इन्टैक पटना चैप्टर के सदस्य भैरव लाल दास ने बिहार के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को धरोहर के विषय में जागरुक करने के लिए प्रशिक्षण देने की आवश्यकता पर बल दिया तथा अध्यक्ष से आग्रह किया कि बिहार के मुख्य सचिव से इस विषय पर विमर्श किया जाए।

दरभंगा चैप्टर के संयोजक प्रोफेसर एन के अग्रवाल ने दरभंगा चैप्टर की ओर से कैथी लिपि एवं मिथिलाक्षर के संरक्षण के लिए अनेक कार्यक्रमों , स्वतंत्रता सेनानियों के विषय में सेमिनार, बाढ एवं जलजीवन (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented)समस्याओं पर सेमिनार , बच्चों एवं आमलोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए किये जा रहे अनेक कार्यक्रमों के विषय में विस्तार से चर्चा की। जल संरक्षण , पर्यावरण संरक्षण, लोककला संरक्षण की आवश्यकता के लिये जन जागरण अभियान चलाये जाने की आवश्यकता जताई।

डॉ अग्रवाल ने बताया कि प्रशासन के सहयोग से लगातार कार्यक्रम किये जायेंगे। पूर्णिया चैप्टर के संयोजक राजेश चंद्र मिश्र ने अपने चैप्टर की ओर से किए गए कार्यो व प्रोफेसर रत्नेश्वर मिश्र की ओर से पूर्णिया के (Site laboratory will be made for conservation of cultural heritage in Darbhanga, buildings will be documented) इतिहास एवं धरोहर के विषय में प्रस्तुत व्याख्यान का उल्लेख किया। पटना चैप्टर के संयोजक जे के लाल, बेतिया चैप्टर के अरुण कुमार श्रीवास्तव, भागलपुर के  विभू कुमार राय, वैशाली के राम नरेश राय ने भी अपने चैप्टर द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम को प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संयोजन इन्टैक के सचिव वी सी श्रीवास्तव ने किया।

Continue Reading

Bihar

बिरौल:नल-जल योजना की साख ताक पर, कहते लोग, करोड़ों की राशि का खुल्लम-खुल्ला दुरूपयोग

Published

on

Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees

बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। सात निश्चय योजना  के तहत चलाए जा रहे हर घर नल जल योजना में अधिकांश जगहों पर सरकारी नियमों व उसके गुणवत्ता पर नजरअंदाज करते हुए अभिकर्ता अपने (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees) मनमाने तरीके से कार्य कर रहे हैं। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण खबर के साथ छपी तस्वीर खुद बयां कर रही है।

क्षेत्र में लोगों की ओर से अगर इस योजना का विरोध किया जा रहा है तो किसी भी दृष्टिकोण से लोगों का यह विरोध गलत नहीं है। आखिर इस योजना के नाम पर सरकारी खजाने से करोड़ों रुपये (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  का खुलम खुल्ला दुरुपयोग क्यों किया जा रहा है। इससे संबंधित शिकायत वरीय पदाधिकारी से किए जाने पर भी इसे देखने तथा सुनने वाला कोई नहीं है।

भाकपा माले के एरिया सचिव मनोज यादव,अमीत कुमार, अजीत झा सहित दर्जनों लोगों का कहना है कि बिरौल प्रखंड के कई ऐसे पंचायत हैं जहां नलजल के अलावा मनरेगा, स्वच्छता अभियान के तहत (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  शौचालय निर्माण योजना मे जबरदस्त गोलमाल है।

इन लोगों का कहना है कि  बीडीओ एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी (मनरेगा ) की मिली भगत ने विकास के नाम पर यहां लूटखसोट का व्यापार खोल रखा है। इससे आम लोगों को भले ही लाभ (Birol: On the credit of the tap-water scheme, people say, openly misappropriation of crores of rupees)  नहीं मिल रहा हो लेकिन इन दोनों विभागों के पदाधिकारी मालामाल अवश्य हो रहे हैं। इससे सरकार की छवि धुमिल हो रही है।

Continue Reading

Bihar

Darbhanga Local News: केवटी में पिकअप से कुचलकर बालक की मौत, चालक हिरासत में

Published

on

Darbhanga Local News (Road Accident): Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। केवटी प्रखंड मुख्यालय के नजदीक बुधवार की सुबह पिकअप ने केवटी थाना क्षेत्र के नयाटोला हुलास गांव निवासी मो. इसतेखार के बारह वर्षीय पुत्र मो. बरकत अली को कुचल दिया। इससे उसकी मौके पर ही मौत (Road Accident) हो गई। घटना दरभंगा-जयनगर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-527 बी पर ठीक केवटी (Darbhanga Local News: Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody) प्रखंड मुख्यालय के समीप हुुई है।

जानकारी के अनुसार, घटना के बाद स्थानीय लोग उग्र हो गए। हालांकि तत्काल सीओ अजीत कुमार झा व थानाध्यक्ष शिव कुमार यादव समेत पुलिस बल मौके पर पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त पिकअप वैन को (Road Accident) जब्त करतेे हुए चालक को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद लोग शांत हुए।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, बरकत अपनी मां नाजो खातून के साथ आधार कार्ड बनवाने प्रखंड मुख्यालय आया था। मगर प्रखंड मुख्यालय बंद रहने के कारण वह वापस घर लौटने के दौरान (Darbhanga Local News: Child dies after being crushed by pickup in Kewati, driver in custody) सड़क पार करने के दौरान पिकअप की चपेट में आ गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना से पूरे इलाके में शोक का माहौल है। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: