Connect with us

Darbhanga

दरभंगा में फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का होगा इस्तेमाल,डीएम ने लिया दीवार निर्माण का जायजा

Published

on

दरभंगा में फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का होगा इस्तेमाल,डीएम ने लिया दीवार निर्माण का जायजा

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो। डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने बुधवार को सीएम आर्ट्स कॉलेज में नदी  किनारे दीवार निर्माण कार्य का स्पॉट निरीक्षण किया। यह दीवार बाढ़ के पानी को दरभंगा शहर में प्रवेश करने से रोकने के लिए खड़ी की जा रही है। डीएम डॉ.एसएम ने बताया कि कि इस बार फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।

डीएम डॉ.एसएम ने कहा कि कटाव को रोकने के लिए आयरन शीट पाइल ड्राइविंग तकनीक का पहली बार इस्तेमाल किया गया है। इस तकनीक के इस्तेमाल किए जाने से बांध में अतिरिक्त मजबूती प्राप्त होगी और पानी का रिसाव भी रूकेगा।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

मौके पर डीएम डॉ.एसएम ने कहा कि गत साल दरभंगा में छह जगहों पर कटाव हुआ था। जल संसाधन विभाग की ओर से सभी कटाव स्थलों की मरम्मति कार्य किया जा रहा है। समीक्षा में पाया गया कि अबतक औसतन 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है।

वहीं ककोढ़ा, कैथवार, कुमरौल, मंसा कटाव स्थलों पर अभी 50-70 प्रतिशत ही कार्य पूरा हुआ है। डीएम ने इस बचे हुए कार्य को तेज़ी से पूर्ण कराने का निर्देश दिया।

समीक्षा के दौरान डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता से  फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का इस्तेमाल के बारे में विस्तार से चर्चा की। कहा कि कटाव को रोकने के लिए आयरन शीट पाइल ड्राइविंग तकनीक का हम  पहली बार इस्तेमाल कर  रहे  हैं, इस तकनीक के इस्तेमाल किए जाने से बांध में अतिरिक्त मजबूती प्राप्त होगी और पानी का रिसाव भी रूकेगा, ऐसे में  इसपर गंभीरता से कार्य किया जाए। दरभंगा में फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का होगा इस्तेमाल,डीएम ने लिया दीवार निर्माण का जायजा
जिलाधिकारी द्वारा इसी क्रम में शहरी सुरक्षा तटबंध का निरीक्षण किया गया और कार्यपालक अभियंता को रेन कट का आक़ लन कर तुरंत मरम्मति कराने का निदेश दिया गया. जल संसाधन विभाग एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमण्डल के सभी कार्यपालक अभियंतागणों को 15 जून 2020 तक अनिवार्य रूप से फ्लड प्रोटेक्शन का कार्य पूरा करने, तटबंध के कमजोर बिन्दुओं को चिन्ह्ति कर वहां पर पर्याप्त संख्या में सैंड बैग संग्रहित रखने को कहा गया है।
उन्होंने कहा कि जून माह से ही सभी अभियंतागण पूरे एलर्ट मोड में रहेंगे। सभी कार्यपालक अभियंता सहायक अभियंता एवं कनीय अभियंताओं के साथ बांध पर ही कैप करेंगे। तटबंधों की निगरानी हेतु पर्याप्त संख्या में होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति करा लेंने को भी कहा गया है।
हिदायत दिया गया है कि सभी तटबंधों पर सतत् निगरानी रखी जाये, ताकि पिछले साल जैसी स्थिति उत्पन्न नहीं हो। जल संसाधन विभाग के सभी अभियंतागणों को पूरी क्षमता के साथ कटाव स्थल की मरम्मति एवं तटबंधों की मजबूतीकरण का कार्य पूरा करने को कहा गया है।दरभंगा में फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का होगा इस्तेमाल,डीएम ने लिया दीवार निर्माण का जायजा

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Darbhanga

दरभंगा-हनुमाननगर के गांवों में फैला बाढ़,सड़क किनारे लगा तंबू, 23 करोड़ का पुल बना बेकाम

Published

on

दरभंगा-हनुमाननगर के गांवों में फैला बाढ़,सड़क किनारे लगा तंबू, 23 करोड़ का पुल बना बेकाम

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। लगातार हो रही बारिश से कई नदियों में उफान है। इससे बागमती नदी के जलस्तर में लगातार बेतहाशा वृद्धि से हनुमाननगर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत तकरीबन आधे दर्जन गांव बाढ़ के  पानी से घिर गए हैं।

 

उधर तीन विधानसभा क्षेत्र को जोड़ने वाली नैयाम-छतौना पंचायत के भजनी, सरायहमीद व पंचफुटिया घाट पर 23 करोड़ की लागत से बना पुल भी पहुंच पथ नहीं बन पाने के कारण बेकार बना हुआ है। आसपास के (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) रहने वाले लोगों की आवाजाही के लिए यही एकमात्र सहारा है।

जानकारी के अनुसार, काली, रामपुर डीह, नैयाम, छतौना, डिहलाही, नरहरिया, वहपती समेत कई इलाकों में बाढ का पानी फैल गया है। निचले स्थान में बसे हुए लोगों ने सड़क  किनारे तंबू बनाकर रहने की व्यवस्था तो कर ली है लेकिन कहते हैं, बाढ की पानी का रफ्तार इसी तरह रहा, तो आनेवाले कुछ दिनों में कई गांवों का संपर्क मुख्य (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) सड़क से भंग हो जाएगा।

इसको लेकर बीडीओ सुधीर कुमार बताते हैं, अभी 30-35 नावों का परवाना बनाया गया है। (darbhanga -hanumaannagar ke gaoo me fela badh) परिस्थिति के मुताबिक और व्यवस्था की जाएगी।

Continue Reading

Darbhanga

घनश्यामपुर में घटा 1 फीट पानी, गौड़ाबौराम में NDRF, कुशेश्वरपूर्वी, किरतपुर, घनश्यामपुर को 73 नावें

Published

on

घनश्यामपुर में घटा 1 फीट पानी, गौड़ाबौराम में NDRF, कुशेश्वरपूर्वी, किरतपुर, घनश्यामपुर को 73 नावें

बिरौल/दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। जिले में बाढ़ की स्थिति में सुधार आई है। घनश्यामपुर के सीओ ने बताया, पानी लगभग एक फीट घट गया है। इसके साथ ही घनश्यामपुर, कुशेश्वरस्थान पूर्वी व किरतपुर अंचलों के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य में तेजी लाई गई है।

 

आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया, घनश्यामपुर में 04, किरतपुर में 02 व कुशेश्वरस्थान पूर्वी में 01 कुल – 07  स्थलों में सामुदायिक रसोई की घनश्यामपुर में घटा 1 फीट पानी, गौड़ाबौराम में NDRF, कुशेश्वरपूर्वी, किरतपुर, घनश्यामपुर को 73 नावेंव्यवस्था की गई है। जहां बाढ़ प्रभावित लोगों को सुबह-शाम भोजन कराया जा रहा है।

कुल 73 नाव का परिचालन उन क्षेत्रों के लोगों के आवागमन के लिए किया जा रहा है, जो निःशुल्क है। इसके अलावे वरीय पदाधिकारी, अंचलाधिकारी ने एनडीआरएफ की टीम गौड़ाबौराम के अखटवाड़ा गांव का व घनश्यामपुर के विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण कर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया।

संबंधित क्षेत्र में पदाधिकारियों की ओर से  बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का लगातार भ्रमण किया जा रहा है, तटबंधोंपर नजर रखी जा रही है।घनश्यामपुर में घटा 1 फीट पानी, गौड़ाबौराम में NDRF, कुशेश्वरपूर्वी, किरतपुर, घनश्यामपुर को 73 नावें

Continue Reading

BIRAUL

घनश्यामपुर में मछली मारने को लेकर दो पक्षों में जमकर विवाद, आपसी समझौते से बनी बात

Published

on

घनश्यामपुर में मछली मारने को लेकर दो पक्षों में जमकर विवाद, आपसी समझौते से बनी बात

बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। घनश्यामपुर थाना क्षेत्र के बौर गांव में मछली मारने को लेकर दो समुदायों के बीच विवाद हो गया। मौके पर जुटे समाज सेवी युवा नेता पप्पू सिंह ने निष्पक्ष पहल करते हुए मामले का पटाक्षेप कराया।

जानकारी के अनुसार, घनश्यामपुर के अंचलाधिकारी दीनानाथ रजक की मौजूदगी में दोनों समुदायों के गणमान्य लोगों ने नरमा निवासी व युवा समाजसेवी पप्पू सिंह के  प्रस्ताव पर लगभग एक घंटे तक मंथन करने व बाद में वार्ता के बाद सभी लोगों ने विवाद को समाप्त करते हुए गांव में आपसी भाईचारा बनाए रखने पर अपनी सहमति दे दी।

 

इस दौरान युवा समाजसेवी व सीओ के सम्क्ष दोनों पक्षों ने आपस में हाथ जोड़ कर हम एक थे और एक रहेंगे का वचन एक दूसरे को दिया। लोगों का कहना था, पप्पू सिंह भले ही कम उम्र के हैं लेकिन इनके अंदर के विचार काफी स्वच्छ हैं। तभी तो उन्होंने इस मामले को प्रशासन में नहीं जाने दिया। सामाजिक स्तर पर इस विवाद का पटाक्षेप कर दिया।

सीओ ने जहां इस युवा समाज सेवी को धन्यवाद दिया वहीं लोगों ने आशीर्वाद देकर मंगलवार का अमंगल होने से रोक दिया।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.