Connect with us

Darbhanga

कोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए दरभंगा में चलेगा अभियान

Published

on

कोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए दरभंगा में चलेगा अभियान

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो। अब दरभंगा में कोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए अभियान चलाया जाएगा। वहीं, ए केटोगरी सिटी से आए प्रवासी कामगारों को 14 दिनों तक प्रखंड क्वारंटाइन में रहना अनिवार्य कर दिया गया है।साथ ही, जिले में आइसोलेशन वार्ड की क्षमता बढ़ाई जाएगी। प्रखंड स्तर पर भी आइसोलेशन वार्ड क्रियाशील किए जाएंगें। सभी प्रवासी मजदूर राशन कार्ड व जॉब कार्ड से लैस  होंगे। सरकार व प्रशासन का मानना है कि प्रवासी मजदूरों को स्थानीय स्तर पर रोजगार प्रदान करना सबसे अहम है।

जानकारी के अनुसार, सरकार के मुख्य सचिव ने गुरुवार को  वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से राज्य के बाहर से आए प्रवासी कामगारों के लिए जिला में संचालित क्वारंटाइन केन्द्रों के स्थिति की समीक्षा करते हुए ए केटोगरी सिटी/रेड जोन से आए हुए सभी प्रवासी व्यक्तियों/ कामगारों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों तक प्रखंड स्तर पर क्वारंटाइन करने को कहा है। इसमें रेड जोन से आने वाली महिलाएं भी शामिल होंगी।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

कोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए दरभंगा में चलेगा अभियानउन्होंने कहा है कि क्वारंटाइन केन्द्रों में प्रवासी लोगो को सभी बुनियादी सुविधाएँ तुरंत उपलब्ध करा दी जाए, ताकि उन्हें वहां रहने में कोई कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े। उन्होंने कहा है कि रेड जोन सिटी से जो लोग आ गए हैं व आगे भी आने वाले होगें, उन सभी व्यक्तियों की गहन स्क्रीनिंग कराइ जाए। उनमें से किसी भी व्यक्ति में कोरोना का लक्षण दिखे तो तुरंत उसे आइसोलेट कर उसकी जांच कराई जाए। ताकि संक्रमण फैलने का खतरा न रहे।

कहा है कि बहुत से प्रवासी कामगारों को होम क्वारंटाइन में भेजा गया है। उन लोगों को भी पल्स पोलियो अभियान के तर्ज पर गहन स्क्रीनिंग कराई जाए व कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों को आइसोलेशन सेंटर में शिफ्ट कराकर उनके सैंपल लेकर जॉच कराई जाए।  उन्होंने कहा कि हाई रिस्क जोन से आने वाले अधिक से अधिक सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान कर जांच करा लिया जाना अत्यंत जरूरी है।

मुख्य सचिव ने जिले में आइसोलेशन वार्ड की क्षमता बढ़ाने व प्रखंड स्तर पर भी आइसालेशन वार्ड विकसित करने को कहा है। समीक्षा के क्रम में डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने बताया कि होम क्वारंटीन किए गए सभी प्रवासी कामगारों के स्वास्थ्य की स्क्रीनिंग कराने की कार्य योजना तैयार कर ली गयी हैं।

डीएम डॉ.एसएम ने बताया कि प्रखंड क्वारंटीन में ठहरे हुए सभी प्रवासी कामगारों की स्क्रीनिंग कराई जा रहीं हैं। सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों के सैंपल लेकर जांच भी कराई जा रहीं हैं। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय एवं प्रखंड मुख्यालयों में आइसोलेशन वार्ड की क्षमता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा हैं।

डीएम ने कहा कि जिले में वर्तमान में लगभग 750 बेड की क्षमता उपलब्ध हो गया हैं। इसमें डीएमसीएच परिसर अवश्थित बीएससी नर्सिंग हॉस्टल व कॉलेज में संस्थापित आइसोलेशन वार्ड में 410 बेड की क्षमता शामिल है। इसके अलावा विभिन्न होटल्स, एएनएम स्कूल बेनीपुर, बिरौल, जाले, जेएनवी में गठित आइसोलेशन वार्ड में बेड की पर्याप्त क्षमता मौजूद है।

मुख्य सचिव  ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों को रोजगार प्रदान करना सबसे जरूरी है। स्थानीय स्तर पर उन्हें उनके हुनर के हिसाब से रोजगार प्राप्त होने पर वे यहां स्थाई तौर पर रहने की सोंच सकते हैं, ऐसा होने से मजदूरों के पलायन पर रोक लग सकेगी।  उन्होने कहा है कि राज्य सरकार सभी छूटे हुए पात्र परिवारों को राशन कार्ड मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए जिला में अभियान चलाकर छूटे हुए प्रवासी/स्थाई पात्र परिवारों को राशन कार्ड उपलब्ध करा दी जाए।

इस वीसी में डीएम सहित एसएसपी बाबू राम, सिटी एसपी योगेंद्र कुमार, डीडीसी कारी प्रसाद महतो, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, आपदा प्रभारी पुष्पेश कुमार, डीआईओ राजीव झा समेत अन्य अधिकारी सम्मिलित हुए।कोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए दरभंगा में चलेगा अभियानकोरोना सिम्पटोमेटिक व्यक्तियों की पहचान के लिए दरभंगा में चलेगा अभियान

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Darbhanga

श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

Published

on

श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव
श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।  पुत्र वधु व समधी के व्यवहार से आहत सिविल कोर्ट दरभंगा के सप्तम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संपत कुमार ने सोमवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दरभंगा की अदालत में 39 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत एक सूचना आवेदन पत्र अर्पित किया है।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

न्यायाधीश के अधिवक्ता ललन कुमार ने बताया कि 16 अक्टूबर को श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर अरुण कुमार ने अपने मोबाइल से धमकी भरे लहजे में बात कर मानसिक तनाव दिया । उनके आक्रामक लहजे एक डॉक्टर के पद योग्य नहीं था। इससे पूर्व डॉक्टर कुमार एडीजे के पुत्र जो उनके दामाद हैं को भी झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दिया था ।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

पुत्र वधु और समधी के दुर्व्यवहार से न्यायिक कार्य प्रभावित होने की सूचना आवेदन में अंकित किया है।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

Continue Reading

Darbhanga

कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान

Published

on

कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान
कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। भक्ति का अनूठा हठयोग है। भाईचारे, धार्मिक आस्था, सदभाव का यह जीवंत उदाहरण है। मानवता की सेवा का साक्षात् वर्णन, उसका साकार रूप है। जी हां, यहां बात हो रही है। कमतौलके उदित कुमार की। उदित इन दिनों मां दुर्गा की भक्ति में लीन हैं। 

व्रत में हैं। रविवार को उदित ने जीवन रक्षक, दरभंगा के माध्यम से अपना बहुमूल्य रक्त लालबाग के मो. अनवर आलम खान की पत्नी शहनाज खातून को डीएमसीएच, ब्लड बैंक में दिया। लोग आज हिंदू मुस्लिम तुष्टीकरण के चक्कर में पड़े हुए हैं। लोग सामाजिक सौहार्द की बात करते हैं क्या इससे बड़ा उदाहरण हो सकता है।

जीवन रक्षक हमेशा असहाय लोगों की मददगार साबित होती है। हमेशा जिनके पास कोई रक्तदाता उपलब्ध नहीं होता वहां उनकी टीम खड़ी मिलती है। आज कमतौल के उदित राज ने माता की आराधना का बहुत ही सुखद अनुभव रक्तदान के माध्यम से दिया है। यह जीवन रक्षक दरभंगा के मयंक के साथ भी जुड़े हुए हैं।

मयंक समाज में शिक्षा देने का कार्य करते हैं। इनको प्रोत्साहित करने के लिए जीवन रक्षक सचिव धरम कुमार, विकास महासेठ, रक्त वीर सचिन कुमार विजय कुमार गौतम ,प्रशांत रवि, उमेश प्रसाद, संजीव सिंह, रोशन नायक ,सूरज कुमार निषाद ,सोनू कुमार उपस्थित हुए।

Continue Reading

Darbhanga

ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठ

Published

on

ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठ
ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठ

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। डीएमसीएच प्रेक्षागृह में ईवीएम रिसीविंग करने वाले कर्मियों व जिले के सभी दस विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के संबंधित निर्वाची पदाधिकारियों को जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने संबोधित करते कहा, पोल्ड ईवीएम रिसीव करना बहुत संवेदनशील कार्य होता है। इसलिए अच्छी तरह से प्रशिक्षण प्राप्त कर लें, सभी निर्देशों का सही तरीके से अनुपालन करावे ताकि मतगणना के दौरान किसी प्रकार की कोई कठिनाई उत्पन्न ना हो सके।

उन्होंने कहा कि 22 अक्टूबर 2020 को एमएलसी इलेक्शन, 25 व 26 अक्टूबर को नवरात्रा व दशहरा, 28 अक्टूबर को पीएम प्रोग्राम तथा 3 और 7 नवंबर 2020 को विधान सभा चुनाव है। इसलिए समय बहुत कम है।

मतगणना की तैयारी के लिए भी समय नहीं बचेगा। इसलिए सभी निर्वाची पदाधिकारी मतदान के साथ-साथ मतगणना की भी तैयारी करते रहें। मतदान तिथि के बाद एक दिन काउंटिंग पर्सनल को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मतदान कर्मियों का सही डिस्पैच बहुत आवश्यक है द्वितीय चरण के मतदान के लिए 31 तारीख को जोइनिंग दिया गया है। और तीसरे चरण के चुनाव के लिए 5 तारीख को जॉइनिंग दिया गया है। चुकी 50% कर्मी को दोबारा ड्यूटी मिल रही है। इसलिए बीच में प्रशिक्षण देने का समय उपलब्ध नहीं है।

उन्होंने कहा कि जिस ईभीएम में एक भी मत नहीं पड़ा हो, उस ईभीएम को सेक्टर ऑफिसर को वापस किया जाएगा। सेक्टर ऑफिसर उस ईवीएम को लेकर आएंगे जो वेअर हाउस में जमा होगा।

उन्होंने कहा कि वज्रगृह के रिसिविंग काउंटर पर ईवीएम रिसीव कर उसे निर्धारित स्थल पर रखा जाए तथा सभी पेपर की अच्छी तरह से जांच कर ली जाए। रिसीविंग सेंटर पर सभी कागजों की अच्छी तरह से संधारण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीठासीन पदाधिकारी के कागज में अगर कोई कमी हो तो उसे वहीं पर जांच कर दुरुस्त करवा लिया जाए। मतगणना के समय कोई कमी नजर नहीं आनी चाहिए। प्रपत्र 17A का मिलान ईवीएम से किया जाता है और वह सही होना चाहिए। उन्होंने आशा जताई कि उपस्थित लोगों में से अधिकतर लोग पूर्व में भी यह काम किए हुए हैं। इसलिए इसबार भी यह काम कर लेंगे।

उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित सभी निर्वाची पदाधिकारी को कहा कि कोविड-19 से सुरक्षा के लिए प्रयुक्त बायो मेडिकल वेस्ट (कचरा) के निष्पादन के संबंध में पूर्व में भी बताया गया है कि जो मतदान कर्मियों को सामग्री दी जाएगी उसमें एक बड़ा पॉलिथीन भी दिया जाएगा, जिसमें कोविड-19 का बायो मेडिकल वेस्ट को रखकर उसे डस्टबिन में रखना है। साथ ही इसके संग्रह के लिए गाड़ी एवं कर्मी रहेंगे।

उन्होंने सभी निर्वाची पदाधिकारी को कहा कि जब प्रेक्षक आपके क्षेत्र में भ्रमण करने जाएं तो उनके साथ स्थानीय पदाधिकारी भी रहें, ताकि वस्तुस्थिति को अच्छी तरह से समझा सकें। जिन मतदान भवनों में अधिक मतदान केंद्र हैं. वहां निरीक्षण के लिए जब प्रेक्षक जाए तो साथ में वहां के बी डी ओ भी रहें।मतदाताओं के लिए किस तरह कतार की व्यवस्था की गई है तथा मतदान के लिए जो व्यवस्था की गई है, उन्हें अवगत कराएं तथा उनके शंका का समाधान करें। उनके भ्रमण के दौरान स्थानीय पदाधिकारी उनके संपर्क में रहें।

वैसे अभ्यर्थी जिन पर अपराधिक मामले दर्ज हैं, उन्हें इसकी जानकारी निर्वाचन क्षेत्र की जनता को देने हेतु उन्हें इस आशय का विज्ञापन 03 बार प्रकाशित करवाना है। जब तक वे इस आशय का विज्ञापन प्रकाशित नहीं कराते हैं तब तक संबंधित निर्वाची पदाधिकारी उन्हें नोटिस करते रहें। ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठसभी निर्वाची पदाधिकारी यह रिपोर्ट करेंगे वैसे अभ्यर्थी द्वारा अपने ऊपर दर्ज मामले की जानकारी देने हेतु विज्ञापन का प्रकाशन तीन बार कराया गया कि नहीं, ताकि चुनाव आयोग को अवगत कराया जा सके। इस मामले पर भारत निर्वाचन आयोग अत्यंत गंभीर है।

उन्होंने सभी निर्वाची पदाधिकारी से कहा कि आदर्श आचार संहिता एवं कोविड-19 के गाईडलाईन के उल्लंघन मामले में कार्रवाई नहीं दिख रही है। जब भी कोविड-19 के गाईडलाईन व आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन होता है, तो निश्चित रूप से प्राथमिकी दर्ज कराई जाए।

उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को नए मतदाताओं का मतदाता फोटो पहचान पत्र( ईपिक) का वितरण तुरंत करवा देने का निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फोटो वोटर स्लिप(फोटो मतदाता पर्ची) का वितरण मतदान तिथि के पूर्व तक शत-प्रतिशत हो जाना चाहिए।

उन्होंने मतदान केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार कतार लगवाने के लिए सेविका एवं सहायिका की प्रतिनियुक्ति कर लेने को कहा। प्रतिनियुक्त सेविका/ सहायिका निष्पक्ष एवं विवाद रहित हो यह सुनिश्चित करने को कहा गया। उन्होंने कहा कि 850 मतदान केंद्रों पर कतार लगवाने के लिए होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति की जाएगी,शेष पर सेविका/ सहायिका रहेगी।

उन्होंने सभी निर्वाची पदाधिकारी से कहा की अब चुनावी रैली एवं मीटिंग प्रारंभ हो जाएगी। इसलिए रैली एवं मीटिंग के लिए मांगी गई अनुमति 24 घंटे के अंदर उपलब्ध करायी जाय। इसके लिए सारी व्यवस्था दुरुस्त रखें क्योंकि आवेदन अधिक संख्या में आना संभावित है और यदि ससमय अनुमति नहीं दी जाती है तो शिकायत सीधे निर्वाचन आयोग को किया जाता है।

उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र पर पर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था करवा ले तथा सभी मतदान केंद्रों पर रैम्प की व्यवस्था होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मतदाता के पास ई-पिक कार्ड नहीं रहने पर वह 11 वैकल्पिक दस्तावेज में से कोई एक दस्तावेज अपनी पहचान स्थापित करने के लिए फ़ोटो वोटर स्लिप के साथ ले जा सकता है। केवल फ़ोटो वोटर स्लिप से मतदान नहीं होगा। वोटर स्लिप के साथ ई-पिक या 11 वैकल्पिक दस्तावेज में से कोई एक दस्तावेज आवश्यक है।

उन्होंने सभो निर्वाची पदाधिकारी से कहा कि पोलिंग पार्टी को एक बार ब्रीफ कर दें कि मतदान तिथि को ई वी एम खराब होने पर उन्हें क्या करना है, सेक्टर ऑफिसर का नंबर उन्हें उपलब्ध करा दिया जाए।ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठ

उन्होंने कहा कि स्थानीय पदाधिकारी का नंबर एक पन्ने पर प्रिंट कर उन्हें उपलब्ध करा दिया जाए, ताकि समन्वय में कोई कमी ना रहे रह सके। सभी मतदान केंद्रों को सैनिटाइज कराने की व्यवस्था कर लिया जाए। सभी मतदान केंद्र सेनीटाइज हो जाने पर इसका रिपोर्ट भी करेंगे।

इसके उपरांत वज्रगृह के नोडल पदाधिकारी सह वरीय कोषागार पदाधिकारी द्वारा बताया गया की वज्रगृह में पोल्ड ईवीएम रखने के पूर्व निर्वाची पदाधिकारी, चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थी या उनके अभिकर्ता वज्रगृह के समक्ष रहेंगे और प्रेक्षक की उपस्थिति में खाली वज्रगृह का वीडियोग्राफी करवाया जाएगा। इस वीडियोग्राफी के उपरांत पोल्ड व शील्ड ईवीएम रखा जाएगा।

वज्रगृह में सारे ईवीएम रखने के बाद निर्वाची पदाधिकारी द्वारा प्रेक्षक व निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी तथा उनके अभिकर्ता की उपस्थिति में वज्रगृह को मुहर बंद किया जाएगा।

माइक्रो आब्जर्वर का प्रतिवेदन स्पेशल काउंटर पर प्रतिनियुक्ति कर्मियों की ओर से प्राप्त किया जाएगा।

सेक्टर पदाधिकारियों के प्रतिवेदन का संग्रहण समाहरणालय स्थित ईवीएम वेयरहाउस के संग्रहण काउंटर पर किया जाएगा। साथ ही उसी काउंटर पर वे सेक्टर पदाधिकारी का प्रतिवेदन भी जमा करेंगे। यह ईवीएम सुरक्षित रूप से नए ईवीएम वेयर हाउस में रखा जाएगा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में सहायक समाहर्ता प्रियंका रानी, अपर समाहर्ता विभूति रंजन चौधरी, अपर समाहर्ता विभागीय जांच अखिलेश प्रसाद सिंह व सभी निर्वाचित पदाधिकारी उपस्थित थे।ईवीएम कैसे करें रिसीव, दरभंगा डीएम ने निर्वाची पदाधिकारियों को पढ़़ाया पाठ

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: