Connect with us

Darbhanga

सीएम विधि कॉलेज के मुख्य द्वार पर उर्दू में लिखे नाम को हटाने के खिलाफ संयुक्त मोर्चा का धरना

Published

on

सीएम विधि कॉलेज के मुख्य द्वार पर उर्दू में लिखे नाम को हटाने के खिलाफ संयुक्त मोर्चा का धरना

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो। ललित नारायण मिथिला विवि अंतर्गत संचालित सीएम विधि महाविद्यालय का उर्दू में लिखे नाम को हटाए जाने और अविलंब पुनः उर्दू में नाम लिखे जाने की मांग को लेकर विभिन्न छात्र-संगठनों के संयुक्त आह्वान पर गुरुवार को धरना दिया। सीएम लॉ कॉलेज के मुख्य द्वार पर कॉलेज की ओर से हिंदी और उर्दू में कॉलेज का नाम लिखा गया था।

इसके बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समर्थित छात्र-संघ ने कॉलेज का नाम उर्दू में लिखे जाने का विरोध किया। फलस्वरूप आनन-फानन में सीएम लॉ कॉलेज के प्राचार्य की ओर से उर्दू में लिखे नाम को हटवा दिया गया। इसके बाद से इस बात को लेकर छात्रों के बीच काफी आक्रोश है। इस क्रम में आइसा की ओर से आइसा जिला कार्यालय पंडासराय में धरना दिया गया।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

एआईएसएफ के जिला सचिव शरद कुमार सिंह छोटाइपट्टी में, केवटी में इबरार व शहर में अरशद सिद्दीकी ने धरना दिया। छात्र राजद की ओर से विभिन्न जगहों पर धरना दिया गया। एसएफआई ने बहादुरपुर के बिरनिया गांव में एसएफआई राज्य सचिव मुकुल राज के नेतृत्व में धरना दिया। यूथ इंडिया डेवलपमेंट बोर्ड के प्रदेश प्रभारी मुकेश यादव भी धरना पर बैठे।

 छात्र- नेताओं ने कहा कि उर्दू में लिखे कॉलेज के नाम को हटाया जाना भारत के संविधान की मूल भावना के भी खिलाफ है। प्रधानाचार्य ने बिहार के द्वितीय राज भाषा को अपमानित करने का काम किया है। विद्यार्थी परिषद ने दबाब बनाकर बोर्ड को हटवाया है। लिहाजा पुनः सीएम लॉ कॉलेज का नाम उर्दू में लिखा जाए। विरोध करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। बाद में धरना के माध्यम से कुलाधिपति व कुलपति को एक मांग पत्र ईमेल के माध्यम से भेजा गया है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Darbhanga

दरभंगा में खुलेंगे 2 मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल, चालकों को मिलेगा प्रशिक्षण, निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन

Published

on

दरभंगा में खुलेंगे 2 मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल, चालकों को मिलेगा प्रशिक्षण, निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन
दरभंगा में खुलेंगे 2 मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल, चालकों को मिलेगा प्रशिक्षण, निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन

पटना,patna dehaj news । बिहार के सभी 38 जिलों में कुल 61 मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोले जाएंगे। ट्रेनिंग स्कूलों में नौसिखिया वाहन चालकों को प्रशिक्षण तो मिलेगा ही, निजी क्षेत्र के संस्थानों और व्यक्तियों को रोजगार का अवसर भी मिलेगा। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि मोटर वाहन चालन प्रशिक्षण संस्थान प्रोत्साहन योजना के तहत ट्रेनिंग स्कूल खोलने के लिए अनुदान मिलेगा।

जानकारी के अनुसार,वैशाली, सीवान, समस्तीपुर, रोहतास, मोतिहारी, दरभंगा, बेतिया, भोजपुर, औरंगाबाद, बेगुसराय, गोपालगंज, मधुबनी, नालंदा में 2-2 मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खुलेंगे। वहींं,अररिया, अरवल, बांका, बक्सर, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, लखीसराय, मधेपुरा, मुंगेर, नवादा, सहरसा, शेखपुरा, शिवहर, सीतामढ़ी, सुपौल, गोपालगंज में एक-एक मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खुलेंगे।

इसके लिए कुल प्राक्कलित राशि का 50 प्रतिशत या अधिकतम 20 लाख रुपये दोनों में जो न्यूनतम होगा, दिया जाएगा। इसका आवंटन बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् द्वारा जिला पदाधिकारी को उपलब्ध कराया जाएगा। परिवहन सचिव ने बताया कि प्रशिक्षण के अभाव में वाहन चलाने के दौरान वाहन चालक अक्सर गलतियां करते हैं और दुर्घटना के शिकार होते हैं।

सड़क सुरक्षा के दृष्टिकोण से वाहन चालकों को पूर्व से ही प्रशिक्षण दिया जाना आवश्यक है। इससे सड़क दुर्घटना में कमी आ सकेगी।मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने के लिए जिलों को तीन श्रेणी में बांटा गया है। बड़े जिले को ए श्रेणी में रखा गया है। यहां तीन ट्रेनिंग स्कूल खुलेंगे। मध्यम जिले को बी श्रेणी में रखा गया है, जिसमें दो और सी श्रेणी के जिले में एक मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोला जाएगा।

निजी क्षेत्र का कोई भी संस्थान या व्यक्ति मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोल सकता है। सुरक्षित यातायात को बढ़ावा देने के लिए आधुनिक तकनीक आधारित वाहन चालन प्रशिक्षण की सुविधा उन क्षेत्रों में भी उपलब्ध करायी जाएगी, जहां वर्तमान में पर्याप्त प्रशिक्षण केंद्र नहीं हैं।।

Continue Reading

Darbhanga

दरभंगा एयरपोर्ट से अब पुणे, गुवाहाटी, चेन्नई के अलावे अन्य शहरों के साथ अंतरराष्ट्रीय यात्रा शीघ्र

Published

on

दरभंगा एयरपोर्ट से अब पुणे, गुवाहाटी, चेन्नई के अलावे अन्य शहरों के साथ अंतरराष्ट्रीय यात्रा शीघ्र
दरभंगा एयरपोर्ट से अब पुणे, गुवाहाटी, चेन्नई के अलावे अन्य शहरों के साथ अंतरराष्ट्रीय यात्रा शीघ्र

दरभंगा, darbhanga/देशज टाइम्स ब्यूरो। दरभंगा एयरपोर्ट से अब कई और शहरों समेत विदेशों के यात्रा भी संभव हो सकेंगे। इसकी तैयारी दरभंगा एयरपोर्ट पर जनसुविधा बहाल करने की कवायद के साथ तेज है।

जानकारी के अनुसार, दरभंगा को अब देश के हर हिस्से से जोड़ने की योजना बन रही है। इसके तहत दर्जनभर महानगरों के अलावा दुबई dubai तक की विमान सेवा शुरू होने वाली है। विमान कंपनी स्पाइस जेट ने दरभंगा से दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू की अभी वाली उड़ानों को कई अन्य महानगरों तक विस्तार देने की तैयारी कर ली है।

स्पाइस जेट के अधिकारियों मुताबिक,  फिलहाल दरभंगा से दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू के लिए विमान सेवा सफलतापूर्वक चल रही है। इसके अलावे अब दरभंगा से जल्द ही दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू होते हुए अहमदाबाद, अमृतसर, देहरादून, गुवाहाटी, जयपुर, मैंगलोर, मदुरई, चेन्नई, पुणे, सूरत और उदयपुर तक की हवाई यात्रा हो सकेगी। इसके अलावा हवाई मार्ग से दुबई को भी दरभंगा से जोड़ने की कवायद चल रही है।

दरभंगा और दुबई के बीच विमान सेवा से खाड़ी देशों में रहने वालों को काफी फायदा होगा। साथ ही दुबई होते हुए अमेरिका और यूरोप में रहने वाले भी आसानी से मिथिलांचल से जुड़ जाएंगे। स्पाइस जेट ने यह फैसला दरभंगा एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या और इलाके के महत्व को देखते हुए किया है।

हालांकि, दरभंगा से उड़ने वाले यात्रियों की एक शिकायत रही है, यहां से अभी जिन तीन शहरों के लिए उड़ान है उसके लिए पटना की तुलना में हवाई किराया ढाई से तीन गुना तक अधिक लिया जा रहा है। ऐसे में बहुत लोगों को पटना होते हुए दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु जाना सस्ता पड़ रहा है।

टिकटों में स्पाइस जेट की मनमानी अन्य विमान कंपनियों की सेवा उपलब्ध नहीं रहने से है। ऐसा तब है, जबकि दीपावली और छठ जैसे पर्व समाप्त हुए अरसा हो गया।

एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक, यहां से शीघ्र ही कार्गो प्लेन की सेवा भी शुरू कर दी जाएगी। इसी तरह एयर एंबुलेंस की सेवा भी जल्द ही मिलने वाली है। जो सुविधा शीघ्र ही नहीं मिलने वाली है, वह है पार्किंग की। इस दिशा में अभी तक कोई ठोस काम शुरू नहीं किया गया है।

Continue Reading

Darbhanga

दरभंगा-बेनीपुर-बिरौल में लोक अदालत 12 को, पूर्व परामर्श 1 से 5,7 से 11 तक, बनाए गए तीन बेंच

Published

on

दरभंगा-बेनीपुर-बिरौल में लोक अदालत 12 को, पूर्व परामर्श 1 से 5,7 से 11 तक, बनाए गए तीन बेंच
दरभंगा-बेनीपुर-बिरौल में लोक अदालत 12 को, पूर्व परामर्श 1 से 5,7 से 11 तक, बनाए गए तीन बेंच

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।  दरभंगा जिला के व्यवहार न्यायालय दरभंगा, बेनीपुर, बिरौल के परिसर में 12 दिसंबर को वर्चुअल मोड में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत lok adalat  के लिए 01 दिसंबर से 05 दिसंबर 2020 एवं 07 दिसंबर से 11 दिसंबर तक चिन्हित मामलों(मुकदमों) के लिए पूर्व बैठक/पूर्व परामर्श का आयोजन दरभंगा व्यवहार न्यायालय के ए.डी.आर-सह-मेडिएशन (वैकल्पिक विवाद समाधान- सह- मध्यस्थता केंद्र) में 4:30 बजे अपराह्न से प्रतिदिन किया गया है।

बैंक/बीमा कंपनियों से संबंधित सभी प्रकार के प्रारंभिक स्टेज के मामलों के लिए पूर्व परामर्श दीपक कुमार, माननीय सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, दरभंगा के बेंच में, सी.जे.एम, दरभंगा और सभी ए.सी.जे.एम, दरभंगा के न्यायालय से संबंधित चिन्हित अपराधिक मामलों के लिए पूर्व परामर्श दीपांजन मिश्रा,  ए.सी.जे.एम. -vii, दरभंगा के बेंच में तथा प्रथम श्रेणी के न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय से संबंधित अपराधिक मामलों के लिए पूर्व परामर्श रोमी कुमारी, न्यायिक दंडाधिकारी, प्रथम श्रेणी, दरभंगा के बेंच में पूर्व परामर्श उक्त तिथियों को किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देशानुसार lok adalat  बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वाधान में 12 दिसंबर 2020 (शनिवार) को पूर्वाह्न 10:30 बजे से व्यवहार न्यायालय दरभंगा, बेनीपुर, बिरौल के परिसर में वर्चुअल मोड में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन जिला विधिक सेवा प्राधिकार, दरभंगा की ओर से किया जा रहा है।

इसमे विभिन्न प्रकार के मुकदमों जिनमें पूर्व एवं लंबित वाद(मुकदमा) यथा शमनीय (कम्पाउंडेबल) आपराधिक वाद, एन.आई.एक्ट धारा 138 वाद, बैंक ऋण वसूली वाद, मोटर दुर्घटना दावा वाद, श्रम विवाद, विद्युत तथा पानी बिल संबंधी विवाद, वैवाहिक विवाद, भूमि अधिग्रहण वाद, सेवा संबंधी (वेतन, भत्ता एवं सेवानिवृत्ति लाभ), राजस्व मामले (जिला न्यायालय में लंबित) एवं अन्य दीवानी मामले यथा (किराया, सुखाधिकार, निषेधाज्ञा वाद, संविदा के विनिर्दिष्ट पालन हेतु वाद), बीएसएनएल इत्यादि से संबंधित वाद का निष्पादन आपसी सुलह के आधार पर तत्काल lok adalat  किया जाएगा।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: