Connect with us

Darbhanga

अब पढ़ेंगी सिंहवाड़ा की बिटिया ज्योति,दरभंगा प्रशासन ने करवाया पिंडारुच हाई स्कूल में नामांकन

Published

on

अब पढ़ेंगी सिंहवाड़ा की बिटिया ज्योति,दरभंगा प्रशासन ने करवाया पिंडारुच हाई स्कूल में नामांकन

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। सिंहवाड़ा प्रखंड अंतर्गत सिरहुली गांव की रहने वाली पंद्रह वर्षीय ज्योति कुमारी का नामांकन कमतौल थाना के पिंडारूच + 2 उच्च विद्यालय में नवम वर्ग में  करा दिया गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी व डीपीओ, समग्र शिक्षा अभियान ने उसके स्कूल में जाकर उसे नवम वर्ग की एक सेट किताब, कापियां भी उपलब्ध करा दी है।  साथ ही मुख्यमंत्री साइकिल योजना के तहत एक नई साइकिल व मुख्यमंत्री पोषाक योजना के तहत दो सेट स्कूल ड्रेस, जूता मौजा भी उपलब्ध करा दिया गया है।

ज्योति कुमारी ने सरकारी सहायता प्राप्त होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते कहा है कि पारिवारिक कारणों से उसकी पढ़ाई बीच में रुक गयी थी लेकिन सरकार से सहायता मिल जाने पर आगे की पढ़ाई पूरी करने की उसकी इच्छा तीव्र हो गयी है। उसने बताया कि अब वह अपनी पढ़ाई पर ध्यान देगी और हर हाल में इसे पूरा करेगी।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

अब पढ़ेंगी सिंहवाड़ा की बिटिया ज्योति,दरभंगा प्रशासन ने करवाया पिंडारुच हाई स्कूल में नामांकनज्योति ने बताया कि लॉकडाउन में बिहार राज्य प्रवासी मजदूर विशेष सहायता योजना से एक हज़ार रूपए व जन धन खाते में दो बार पांच पांच सौ रूपए मिले थे। उसी राशि से उसने गुरुग्राम में एक साइकिल खरीदी और बीमार पिता को साइकिल पर बिठाकर घर आ गयी।

ज्योति ने बताया कि उसे साइकिल चलाना अच्छा लगता है। उसने छोटी उम्र से ही बड़ी बहन की साइकिल से इसे सीखना शुरू कर दी थी। उसकी बड़ी बहन पिंकी देवी ने बताया कि वर्ष 2013 में जब वह नवम वर्ग की छात्रा थी, तो उसे मुख्यमंत्री बालिका साइकिल योजना से एक साइकिल मिली थी। उसने 10 वीं तक पढ़ाई की है। उसकी इसी साइकिल से ज्योति ने भी साइकिल चलाना सीखी थी।

ज्योति के पिता मोहन पासवान ने बताया कि वे गुरुग्राम, हरियाना में ई-रिक्शा चलाते थे, लेकिन एक दुर्घटना में पैर में चोट लग जाने के कारण उनका काम बंद हो गया। वे रिक्शा नहीं चला पाते हैं। उनके जख्म में तेज़ी से सुधार हो रहा हैं। मोहन पासवान ने बताया हैं कि वे अपने राज्य में रहकर ही कोई रोज़गार करेंगे।

ज्योति की माता को इंदिरा आवास योजना के तहत एक पक्का आवास मिला हुआ हैं। उसकी माता फूलो देवी के नाम से एक पारिवारिक राशन कार्ड हैं। इसमें कुल 6 यूनिट हैं। फूलो देवी ने बताया कि उसे हर माह खाद्यान्न मिल रहा हैं। उसे माह अप्रैल के खाद्यान्न के साथ प्रति यूनिट 5 किलो चावल भी मिल चुका हैं।

साथ ही एक हज़ार रूपये नगद भी मिल गया हैं। उसे सरकार की अन्य योजनाओं का भी लाभ प्राप्त हैं। उसके घर में नल जल योजना से शुद्ध पानी , बिजली का लाइन, एल.पी.जी गैस का कनेक्शन भी मिला हुआ हैं। जनधन योजना के तहत बैंक में खाता खुला हुआ हैं । उसने बताया कि अपने घर आकर उसे इतनी ख़ुशी हुई कि उसे बयां नहीं कर सकती हैं।अब पढ़ेंगी सिंहवाड़ा की बिटिया ज्योति,दरभंगा प्रशासन ने करवाया पिंडारुच हाई स्कूल में नामांकन

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BIRAUL

बिरौल में किराए के मकान में रह रहे दंपती ने की खुदकुशी, दोनों की लाश फंदे पर मिली, सनसनी

Published

on

बिरौल में किराए के मकान में रह रहे दंपती ने की खुदकुशी, दोनों की लाश फंदे पर मिली, सनसनी
बिरौल देशज टाइम्स ब्यूरो। थाना क्षेत्र के डुमरी स्थित एक किराए के मकान में रहने वाले पति-पत्नी ने आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने रुम का दरवाजा तोड़ कर पंखे से लटक रहे दोनों के शव को उतार कर तहकीकात करने उपरांत परिजनों को बुलाया।
इसके बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया। सहायक थानाध्यक्ष किशोर कुणाल झा ने देशज टाइम्स को बताया, घनश्यामपुर थाना क्षेत्र के पुनहद निवासी गुड्डू उर्फ (biraul me kiraye ke makaan me) अभिजीत कुमार जो पेशे से मोबाइल की दुकान करता था। अपनी पत्नी पूनम देवी व सात वर्ष के एक बच्चे के साथ बिरौल के डुमरी स्थित रामनारायण पंडित के मकान में किराए पर रहता था।
वृहस्पतिवार को दोनों पति पत्नी एक ही साड़ी फंदा गले में (biraul me kiraye ke makaan me) लगा कर पंखे से लटक कर आत्महत्या कर लिया। इनका लड़का भी अंदर मे ही बंद था। माता पिता को लटकते देख बच्चे ने गैस सिलेंडर के सहारे दरबाजे का छिपकली खोल कर हल्का करने के बाद स्थानीय लोगों को इसकी जानकारी हुई।
इसकी पुष्टि मृतक के बच्चे ने की। बताया जाता है,ये अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने के उद्देश्य से बिरौल मे किराए का मकान ले रखा था। बिरौल में किराए के मकान में रह रहे दंपती ने की खुदकुशी, दोनों की लाश फंदे पर मिली, सनसनी
Continue Reading

Darbhanga

एनएच 57 से एसएच सोनकी तक की सड़क नहीं बनने से उबला भालपट्‌टी संघर्ष समिति

Published

on

एनएच 57 से एसएच सोनकी तक की सड़क नहीं बनने से उबला भालपट्‌टी संघर्ष समिति
एनएच 57 से एसएच सोनकी तक की सड़क नहीं बनने से उबला भालपट्‌टी संघर्ष समिति

दरभंगा,देशज टाइम्स ब्यूरो। एनएच 57 से एसएच सोनकी तक की सड़क को एस एच बनाने, भालपट्टी टोला खराज से नरपति नगर हाई स्कूल तक के सड़क को एमएमजीएसवाई से तत्काल निर्माण कार्य को लेकर भालपट्टी विकास संघर्ष समिति उग्र है। समिति ने इन समस्याओं के निदान में प्रशासन व सरकार की सुस्ती के खिलाफ (nh 57 se sh sonki tak ki shrkey)  गुरुवार को जिला समाहरणालय पर जमकर नारेबाजी की व बाद में धरना पर बैठ गए।

आंदोलन की अध्यक्षता डॉ. शिव कुमार झा कर रहे थे। (nh 57 se sh sonki tak ki shrkey)  डॉ. झा ने कहा, सरकार व प्रशासन का बहरापन आम लोगों की जिंदगी पर आफत के समान है। आम जरूरतों की चीजों पर कतई ध्यान नहीं दिया जा  रहा है।

मौके पर, आयोजित सभा को संबोधित करते  समिति के मुख्य संरक्षक वरुण कुमार झा ने कहा, बिहार सरकार विकास के नाम पर महज डपोरशंखी बातें कर रही है। इसका जीता जागता (nh 57 se sh sonki tak ki shrkey) प्रमाण भालपट्टी पंचायत की सड़कें हैं। एनएच 57 से एसएच सोनकी तक की सड़क को एस एच बनाया जाए।

कहा, भालपट्टी टोला खराज से नरपति नगर हाई स्कूल तक के सड़क को एमएमजीएसवाई (nh 57 se sh sonki tak ki shrkey) से अविलंब बनाया जाए।

इस अवसर पर संस्था के सचिव चंदन कुमार झा, सह सचिव शंभु चौपाल, पप्पू राम, सुशील साहू, उपाध्यक्ष राजेंद्र ठाकुर, गणित ठाकुर, हरलोखी पासवान, अर्जुन मंडल, ललित चौपाल आदि ने धरना को संबोधित किया। साथ ही डीएम डॉ.त्यागराजन एसएम को पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन भी सौंपा गया।

Continue Reading

Darbhanga

जब पैदल ही शहेरी तटबंध की दरार देखने निकल पड़े दरभंगा DM, जानिए रेन कट देख क्या कहा 

Published

on

जब पैदल ही शहेरी तटबंध की दरार देखने निकल पड़े दरभंगा DM, जानिए रेन कट देख क्या कहा 

तटबंध पर पैदल चलकर स्थानीय लोगों से लिया फिडबैक

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर डीएम डॉ. त्यागराजन एस.एम ने आपदा प्रबंधन प्रभारी व जल संसाधन विभाग के अभियंताओं के साथ अधवाड़ा समूह वाली नदी के शहेरी सुरक्षा तंटबंध का निरीक्षण किया।

उन्होंने स्लूइस गेट थलवारा तक चल रहे बांध मरम्मत कार्य (jab paidaal hi sahri tathbandh) का निरीक्षण किया। खराजपुर से विजयपुर तक पैदल भ्रमण कर बांध की स्थिति का जायजा लिया।स्थानीय लोगों से चल रहे तटबंध मरम्मत कार्य की जानकारी ली। इस दौरान संबंधित अभियंताओं से वस्तु स्थिति की जानकारी ली गई।

जब पैदल ही शहेरी तटबंध की दरार देखने निकल पड़े दरभंगा DM, जानिए रेन कट देख क्या कहा जब पैदल ही शहेरी तटबंध की दरार देखने निकल पड़े दरभंगा DM, जानिए रेन कट देख क्या कहा 
तटबंध के निरीक्षण के दौरान बांध पर बने रेन कट (दरार) की मरम्मत शीघ्र कराने (jab paidaal hi sahri tathbandh)  के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने एक-एक रेन कट को गंभीरता से देखा और उसकी मरम्मत करवाने का निर्देश दिए।

निरीक्षण के दौरान अंचलाधिकारी, बहादुरपुर, (jab paidaal hi sahri tathbandh)जल संसाधन विभाग के संबंधित अभियंतागण व आपदा प्रबंधन प्रभारी उपस्थित थे।जब पैदल ही शहेरी तटबंध की दरार देखने निकल पड़े दरभंगा DM, जानिए रेन कट देख क्या कहा 

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.