Connect with us

Bihar

पटना में 120 बच्चे कोरोना पीड़ित, दरभंगा में 27 कोरोना पॉजिटिव, सहरसा में 88 मिले नए केस

coronavirus-update-negligence-of-elders-hits-children-120-sufferer

पटना। बिहार में कोरोना का खौफ बढ़ गया है।पांच महीने बाद अबतक के सबसे ज्यादा 1 हजार 80 नए कोरोना मरीज मिलने और काफी तादाद में बच्चों के कोरोना पॉजिटिव होने से स्थिति विस्फोटक हो गया है।  पटना में सबसे ज्यादा बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए। तीन दिन इनकी आंकड़ा दोगुनी हो गई। कोरोना की दूसरी लहर में नौजवान और बच्चे ज्यादा चपेट में आ रहे हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह लापरवाही है। पहले की तरह इस बार लोग सावधानी नहीं बरत रहे हैं।

 

 

 

बड़ों की लापरवाही का खामियाजा घर में रहने वाले बच्चे भुगत रहे हैं। वहीं, दरभंगा में 27 कोरोना पॉजिटिवि मिले हैं जबकि सहरसा में कोविड 19 का नया स्ट्रेन शुरू हो चुका है जो तेजी से जिले में पांव पसार रहा है। जिसको लेकर मास्क चेकिग अभियान चलाया जा रहा है। जिले में अब तक 88 पॉजिटिव मरीज मिले हैं जिसमें 80 मरीज नगर परिषद क्षेत्र के हैं। इसको लेकर शहर के गांधी पथ, डीबी रोड, न्यू कोलोनी एवं कायस्थ टोला में प्रोटोकॉल के तहत कंटेन्टमेंट जोन बनाया जाएगा।

 

 

 

जानकारी के अनुसार, पटना में पिछले 3 दिनों में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले बच्चों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। प्रशासनिक आंकड़ों पर गौर करें तो 3 दिन पहले 60 बच्चे बीमार थे, दूसरे दिन बीमार होने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 80 हो गई, जबकि मंगलवार को 40 और बच्चे पॉजिटिव पाए गए। इस तरह बीमार होने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 120 हो गई है।

 

 

 

बीमार होने वालों में अधिकांश बच्चे 6-14 साल के बीच के हैं।स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक पटना में सबसे ज्यादा 486 नए संक्रमितों की पहचान की गई। जबकि अररिया में 12, औरंगाबाद में 21, भागलपुर में 61, बक्सर में 12, दरभंगा में 27, पूर्वी चंपारण में 16, गया में 41, गोपालगंज और जमुई में 10-10, जहानाबाद में 54, किशनगंज में 14, मुंगेर में 18, मुजफ्फरपुर में 60, नालंदा में 20, नवादा में 13, पूर्णिया में 16, रोहतास में 23, सारण में 11, शेखपुरा में 14, सीवान में 11, वैशाली में 17, पश्चिमी चंपारण में 18 नए संक्रमित मिले। बाकी जिलों में 10 से कम कोरोना मरीज मिले हैं।

 

 

 

सहरसा के जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बुधवार को विकास भवन सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता कर कहा कि कोविड-19  का नया स्ट्रेन हो गया है जो काफी घातक है। ऐसी स्थिति में मास्क ही इसका एकमात्र उपाय है। उन्होंने कहा कि पिछले साल हुए कोरोना की शुरुआत में काफी बेहतर उपाय किए गए। जिस कारण स्थिति नियंत्रण में रही। लेकिन होली के दौरान हुए मोमेंट के कारण उससे एक्टिव केस में काफी वृद्धि देखने को मिल रही है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से चल रहा है।

 

 

 

टीका का दो डेज लेने के बाद ही सुरक्षित रह सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 59867 लोग वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं। जबकि 7253 लोग दूसरी डोज ले चुके हैं।  वैक्सेशन का काम तेज करने के लिए जिले में 46 केंद्र स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि फिलहाल वैक्सीन की कमी हुई है लेकिन कल से परसों तक पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी।

 

उन्होंने कहा कि कोरोना से एक महिला की भी मौत हो गई है। पूर्व में कोरोना मरीज के सिस्टम पाए जाने पर उसे चिन्हित किया जा रहा था लेकिन वर्तमान समय में बिना सिस्टम के ही लोगों में तेजी से फैलने की शक्ति ज्यादा है और यही कारण है कि यह तेजी से फैलता जा रहा है

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply