Connect with us

Bihar

कोरोना की दवा में आयुष मंत्रालय को झांसा देने पर बाबा रामदेव, बालकृष्णन पर बिहार में परिवाद

Published

on

कोरोना की दवा में आयुष मंत्रालय को झांसा देने पर बाबा रामदेव, बालकृष्णन पर बिहार में परिवाद

मुज़फ़्फ़रपुर,देशज न्यूज। ज़िले के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के कोर्ट में बुधवार को पतंजलि विश्विद्यालय के संयोजक स्वामी रामदेव व पतंजलि संस्था के चेयरमैन आचार्य बालकृष्णन के खिलाफ परिवाद दर्ज हुआ।

परिवादी समाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने यह आरोप लगाया है कि पतंजलि की ओर से कोरोना वायरस से निजात की दवा बनाने का दावा किया गया।इसका व्यापक प्रचार-प्रसार पूरे देश मे कराया गया जबकि इसकी जानकारी आयुष मंत्रालय को नही दी गयी।

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

कोरोना की दवा में आयुष मंत्रालय को झांसा देने पर बाबा रामदेव, बालकृष्णन पर बिहार में परिवादकोरोना की दवा में आयुष मंत्रालय को झांसा देने पर बाबा रामदेव, बालकृष्णन पर बिहार में परिवादआयुष मंत्रालय की ओर से पतंजलि के इस दवा संबंधित प्रचार-प्रसार पर रोक लगाया गया। इससे यह साबित होता है, एक साजिश के तहत आयुष मंत्रालय समेत पूरे देश को धोखा दिया गया।

आरोपी की ओर से जान बूझकर घातक नुकसानदेह कदम उठाया गया। इससे लाखों लोगों के जान पर भविष्य में खतरा हो सकता है । इसको लेकर परिवादी तमन्ना हाशमी द्वारा जुर्म दफा 420,120 (बी), 270,504/34 भादवि  के तहत दर्ज कराया गया है। कोर्ट परिवाद मामले में अगली सुनवाई 30 जून को न्यायालय ने निर्धारित की है।कोरोना की दवा में आयुष मंत्रालय को झांसा देने पर बाबा रामदेव, बालकृष्णन पर बिहार में परिवाद

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

मधुबनी में महिला को बीच चौराहे पर लाकर सेविका समेत अन्य महिलाओं ने जमकर पीटा,13 पर FIR

Published

on

मधुबनी में महिला को बीच चौराहे पर लाकर सेविका समेत अन्य महिलाओं ने जमकर पीटा,13 पर FIR
मधुबनी में महिला को बीच चौराहे पर लाकर सेविका समेत अन्य महिलाओं ने जमकर पीटा,13 पर FIR

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो।  जिले के अंधराठाढ़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में  एक महिला को बीच चौराहे पर जमकर पीटा गया है। यह कहर खुद महिलाओं ने बरपाते हुए आंगनबाड़ी सेविका की अगुवाई में पीड़िता को लाठी-डंडे से बुरी तरह पीटकर उसके कपड़े तक फाड़ दिए।

जानकारी के अनुसार, पिटाई से लहूलुहान महिला हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाती रहीं लेकिन सामने मौजूद पुरुषों ने उसे बचाने की तनिक भी कोशिश नहीं की। अब,  स्थानीय पुलिस पूरे मामले में एफआईआर दर्ज करते हुए कई महिलाओं को आरोपी बनाया है।

 

जानकारी के अनुसार, पीड़ित महिला का गांव की ही आंगनवाड़ी सेविका लीला देवी व उनके पति मोती महतो से विवाद चल रहा था।इसको लेकर अंधराठाढ़ी थाना में लिखित शिकायत भी दर्ज है।  इसी को लेकर घटना को अंजाम दिया गया।आरोपी  पीडि़ता को घर से घसीटते हुए गांव के चौक पर लाकर उसके साथ मारपीट की। मामले में तेरह लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है। जांच चल रही है।

Continue Reading

Patna

पीपीई किट, ग्लब्स, मास्क नहीं मिलने से नाराज PMCH के डॉक्टरों ने किया कार्य बहिष्कार

Published

on

पीपीई किट, ग्लब्स, मास्क नहीं मिलने से नाराज PMCH के डॉक्टरों ने किया कार्य बहिष्कार
पीपीई किट, ग्लब्स, मास्क नहीं मिलने से नाराज PMCH के डॉक्टरों ने किया कार्य बहिष्कार
पटना, देशज न्यूज। कोरोना विस्फोट के बाद पीएमसीएच में जूनियर डॉक्टरों ने सोमवार को अपने काम बहिष्कार कर दिया । इसके कारण   प्रदेश के  सबसे बड़े अस्पताल की स्वास्थ्य सेवा पूरी तरह से चरमा गई है।
कार्य का बहिष्कार कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि पीपीई किट, ग्लब्स और  मास्क की अस्पताल में भारी कमी है। इसकी सूचना देने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन इस दिशा में कोई काम नहीं कर रहा  है। पहले तो हमारे साथी संक्रमित होते थे, अब इससे मरने भी लगे हैं। जब तक हम लोगों को संसाधन उपलब्ध नहीं कराया जायेगा, हम काम नहीं करेंगे।
जेडीए अध्यक्ष डॉ. हरेन्द्र ने बताया, पीपीई किट, ग्लब्स , मास्क नहीं उपलब्ध रहने कारण लगातार अस्पतालकर्मी कोरोना संक्रमित होते जा रहे हैं । इसको लेकर कई दफा हमने अस्पताल प्रबंधन को भी जानकारी दी। लेकिन अभी तक इसका उपाय  नहीं किया गया। इससे डॉक्टरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
उन्होंने कहा कि कोरोना से पहले हम संक्रमित हो रहे थे, लेकिन अब डॉक्टरों की मौत भी हो रही है। बताते चलें कि  डॉ. अश्विनी कुमार की सोमवार को पटना एम्स में मौत हो गई। वे कोरोना से संक्रमित थे।
इससे हमारे अंदर भय की स्थिति उत्पन्न हो गई है। संघ ने अस्पताल प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को अल्टीमेटम भेज दिया है। उन्होंने  कहा कि समय रहते विभाग और सरकार ने इसका निदान नहीं किया तो स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से ठप कर दी जाएगी।
Continue Reading

Patna

कोरोना को लेकर बिहार से अच्छी खबर : पटना एम्स में वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू

Published

on

कोरोना को लेकर बिहार से अच्छी खबर :  पटना एम्स में वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू
कोरोना को लेकर बिहार से अच्छी खबर : पटना एम्स में वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू

मानव परीक्षण के लिए पटना एम्स में गठित की गई है पांच विशेषज्ञों की टीम, 14 दिनों बाद दिया जाएगा वैक्‍सीन का अगला डोज, आईसीएमआर और भारत बायोटेक ने बनाया है वैक्‍सीन

पटना, देशज न्यूज। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए पटना के अखिल (Corona: Vaccine human trial begins in Patna AIIMS) भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्स) में कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण (ह्यूमन ट्रायल) की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो गई। पटना एम्स के अध्यक्ष डॉ. सीएम सिंह ने बताया कि परीक्षण के लिए एम्‍स प्रशासन ने 18 से 55 साल तक के 18 लोगों को चुना है।

 

इन्हें आज पटना बुलाया गया और इनकी शारीरिक जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। शारीरिक जांच प्रक्रिया पूरी करने के बाद इनलोगों को आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार वैक्सीन का पहला (Corona: Vaccine human trial begins in Patna AIIMS)  डोज दिया जाएगा। यह वैक्‍सीन आइसीएमआर और भारत बायोटेक ने बनाया है।

 

इसके मानव परीक्षण के लिए पटना एम्स में पांच विशेषज्ञों की टीम गठित की गई है। डॉ. सिंह ने बताया कि ट्रायल में शामिल होने के लिए फोन नंबर 9471408832 जारी किया गया था, जिसपर 100 से ज्यादा लोगों ने (Corona: Vaccine human trial begins in Patna AIIMS)  संपर्क किया।

एम्‍स पटना के निदेशक डॉ. पीके सिंह ने बताया कि पहला डोज देकर मरीजों को निगरानी में रखा जाएगा, फिर घर भेज दिया गया। वैक्‍सीन का दूसरा डोज 14 दिनों बाद दिया जाएगा। इसके बाद फिर तीसरा डोज पड़ेगा। (Corona: Vaccine human trial begins in Patna AIIMS)  डॉ. सिंह ने कहा कि अगर यह परीक्षण सफल रहा तो कोरोना के इलाज में यह बड़ा कदम साबित होगा।

पटना एम्स में प्लाज्मा थेरेपी से भी कोरोना का इलाज

कोराना के इलाज के लिए पटना एम्स में प्लाज्मा थेरेपी भी शुरू की गई है। इसके माध्‍यम से पटना के 36 साल के एक मरीज का इलाज किया गया है। कोरोना की जंग जीत चुके लोग प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आने लगे हैं (Corona: Vaccine human trial begins in Patna AIIMS) पर जरूरत के अनुसार यह काफी कम है।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.