Connect with us

Bihar

चमकी बुखार से 10 मासूमोंं की मौत, बाढ़-कोरोना के बीच चमकी की गिरफ्त में#Muzaffarpur

Published

on

चमकी बुखार से 10 मासूमोंं की मौत, बाढ़-कोरोना के बीच चमकी की गिरफ्त में#Muzaffarpur

मुज़फ़्फ़रपुर,देशज न्यूज। मुजफ्फरपुर जिले में अब तक चमकी बुखार से 10 बच्चों की मौत  हो चुकी है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार चमकी बुखार से पीड़ित 69 बच्चों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था, जिसमें से 55 बच्चे ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किए गए। दो बच्चे अभी भी एसकेएमसीएच के पीछे वार्ड में भर्ती हैं। नौ बच्चों ने अपनी जान गंवा दी है।

 

वहीं, जिले के अन्य अस्पतालों में कुल 48 बच्चे भर्ती हुए थे, इसमें से 13 बच्चे को डिस्चार्ज किया गया। 34 बच्चों को बेहतर इलाज के लिए  बाहर रेफर कर दिया गया था। एक बच्चे की मौत केजरीवाल अस्पताल में हुई है।Chakki kills 10 peoplsचमकी बुखार से 10 मासूमोंं की मौत, बाढ़-कोरोना के बीच चमकी की गिरफ्त में#Muzaffarpurसिविल सर्जन डॉ. शैलेश प्रसाद सिंह

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

सरकारी आंकड़ों के अनुसार बीते एक सप्ताह में 5 बच्चों ने  इस रोग से दम तोड़ा है। अब तक इस बीमारी का कोई ठोस कारण या प्रमाण स्वास्थ्य विभाग को हाथ नहीं लगा है। इस बीमारी पर रोकथाम कैसे लगाया जाए इस बारे में पूछने  पर एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ. सुनील शाही ने कहा कि हमारे मेडिकल कॉलेज में चमकी बुखार के लक्षण वाले 69 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 55 बच्चे ठीक हो कर घर जा चुके हैं ।दो बच्चे अभी भी एसी वार्ड में भर्ती हैंं। वहीं, दुखद हिस्सा है कि यहां अब तक 9 बच्चे की मौत हो गई है।Chakki kills 10 peopls

 

सिविल सर्जन डॉ. शैलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि पीएचसी सहित सरकारी अस्पताल और केजरीवाल मिलाकर अब तक 48 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 13 बच्चों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है वही 34 बच्चे को बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया था। इसी दौरान केजरीवाल अस्पताल में एक बच्चे की मौत हुई थी।Chakki kills 10 peopls

कुल मिलाकर जिले में चमकी बुखार के लक्षण वाले 10 बच्चों की मौत अब तक हुई है ।स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी से हर जगह काम कर रहा है। Chakki kills 10 peopls

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

झंझारपुर के भखरौली में मुंह में कपड़ा ठूंस बनाया बंधक, जेवरात समेत लाखों की लूट

Published

on

झंझारपुर के भखरौली में मुंह में कपड़ा ठूंस बनाया बंधक, जेवरात समेत लाखों की लूट
झंझारपुर के भखरौली में मुंह में कपड़ा ठूंस बनाया बंधक, जेवरात समेत लाखों की लूट

मधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। झंझारपुर आरएस ओपी क्षेत्र के भखरौली गांव में जेवरात समेत एक लाखों रुपए की लूट हुई है। घटना के बाद बेखौफ अपराधी आराम से फरार हो गए।

मंगलवार की रात को भखरौली गांव के राजेन्द्र कामत के पुत्र अरुण कुमार के घर पांच नापाक पोस लुटेरे ने दीवार सहारे मकान की छत की सीढ़ी होकर आंगन आया। अरुण की पत्नी उर्मिला देवी को चाकू दिखा कर बंधक बनाते मुंह में कपड़ा कोंच दिया। 3 भरी सोना व 8 चांदी समेत गोदरेज में रखा हुआ 1 लाख 50 हजार लूट लिए।

गृह स्वामी ने बताया कि रात को करीब 12 बजे के आसपास उर्मिला देवी बाथ रूम जाने के लिये घर से बाहर निकली उसी दौरान नापाक पोस लुटेरे ने पकड़ कर दीवाल के खम्भा में बांध दिया और मुँह में कपड़ा डाल दिया। तथा घर में सो रहे पति अरुण कुमार चेहरा पर कोई केमिकल एस्प्रे मार दिया, जिससे वह बेहोश हो गया।

उसके बाद बेड के नीचे रखा गोदरेज का चाभी लेकर लूट का अंजाम दिया। इधर अरुण के पिता ने बताया कि दिन में ही अपने पुत्र अरुण को 1लाख 50 हजार रुपया रखने के लिये दिया था और रात में ये वारदात हो गया। इस मामले को लेकर सूचना पर आरएस ओपी थाना प्रभारी के0 पी0 सिंह घटना स्थल पर पहुँच लूट की मामला दर्ज करते हुए छानबीन में जुट गया है।

Continue Reading

Darbhanga

ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो

Published

on

ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो
ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। 78-कुशेश्वरस्थान (अजा), 79-गौड़ाबौराम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के ईवीएम का द्वितीय रेंडमाइजेशन प्रेक्षक  के हर्षवर्धन की उपस्थिति में व 80-बेनीपुर, 81-अलीनगर व 82-दरभंगा ग्रामीण विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के ईवीएम का द्वितीय रेंडमाइजेशन प्रेक्षक पाटिल राजेश प्रभाकर की उपस्थिति में बारी बारी से की गई।

विधान सभावार बारी-बारी से ईवीएम का रेंडमाइजेशन जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम के निर्देश पर जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी श्री राजीव कुमार झा द्वारा किया गया।  रेंडमाइजेशन करते समय दो-दो बार उपस्थित अभ्यर्थियों एवं उनके एजेंट को दिखलाया गया।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि ई.वी.एम का प्रथम रेंडमाइजेशन राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में की गई थी और आज द्वितीय रेंडमाइजेशन आपके उपस्थिति में की जा रही है, इसके बाद ई.वी.एम का कमिश्निंग किया जाएगा यानी ई.वी.एम. में बैलट पेपर सेट किया जाएगा तथा उसे चला कर देखा जाएगा, इसके लिए भी तिथि निर्धारित की जाएगी और आपको निर्धारित तिथि एवं निर्धारित स्थल पर बुलाया जाएगा और आपके सामने ई.वी.एम का कमिश्निंग किया जाएगा।ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो

उन्होंने सभी अभ्यर्थियों या उनके प्रतिनिधियों से परिचय प्राप्त किया। इस अवसर पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने अभ्यर्थियों/उनके एजेंट को संबोधित करते हुए कहा कि नामांकन के दौरान आपको सभी प्रकार के निर्देश, सभी प्रकार के प्रपत्र उपलब्ध कराए गए हैं, उन सबों को ध्यान से पढ़ ले और उनके अनुसार कार्य करें, आपको एक्सपेंडिचर रजिस्टर (व्यय पंजी)संधारित करना पड़ेगा और उसकी शैडो कॉपी अभ्यर्थी व्यय अनुश्रवण कोषांग में संधारित की जाएगी, जिसका मिलान व्यय प्रेक्षक की उपस्थिति में किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 को लेकर जारी किए गए गाइडलाइन का अनुपालन निर्वाचन के दौरान करने से संबंधित 28 अगस्त 2020 को निर्देश जारी किए गए हैं, उसका शत-प्रतिशत अनुपालन करना पड़ेगा। रैली ग्राउंड की क्षमता निर्धारित की गई है, क्षमता के अनुसार ही श्रोता या दर्शक होने चाहिए। रोड शो के लिए एक साथ 05 गाड़ी चलेगी, आधे घंटे के अंतराल पर पुनः 05 गाड़ी साथ चल सकती है, इसका उल्लंघन होने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51 से 60 एवं आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि अभी तक 18 प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है, जिनमें कई अभ्यर्थियों पर भी प्राथमिकी हुई है, इसलिए इसका शत-प्रतिशत अनुपालन करना होगा। वैसे अभ्यर्थी जिनके ऊपर अपराधिक मामले दर्ज हैं और उन्होंने नाम-निर्देशन के दौरान इसकी जानकारी भी दी है, उन्हें नाम-वापसी की तिथि से 4 दिनों के अंदर पहली बार, पुनः 8 दिनों के अंदर दूसरी बार और चुनाव प्रचार समाप्त होने के पहले तीसरी बार अपने व्यय पर समाचार पत्रों में इस आशय का विज्ञापन प्रसारित करवाना होगा और प्रसारित विज्ञापन का कटिंग अपने निर्वाची पदाधिकारी को उपलब्ध कराना होगा। यह सर्वोच्च न्यायालय का आदेश है।ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो

उन्होंने कहा कि विधान सभा निर्वाचन में अभ्यर्थी के लिए व्यय की सीमा बढ़ाकर 30 लाख 80 हजार  रुपए कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि विधानसभा आम निर्वाचन के लिए मतदान का समय सुबह 7:00 बजे से संध्या 6:00 बजे तक निर्धारित है, लेकिन 78 कुशेश्वरस्थान और 79 गौड़ाबौराम में अपराह्न 4:00 बजे तक ही मतदान होगा। क्योंकि वहाँ कई इलाकों में मतदान कर्मी एवं मतदाता नाव से जाते हैं और नाव का परिचालन रात्रि में प्रतिबंधित है, इसलिए मतदान का समय अपराह्न 4:00 बजे तक ही निर्धारित किया गया है, ताकि मतदाता एवं मतदान कर्मी संध्या के पहले वापस आ जाएं।

मतदान के लिए मतदाता को एपिक कार्ड या वैकल्पिक 11 दस्तावेज में से कोई एक अपने साथ लाना अनिवार्य होगा, अब केवल मतदाता पर्ची से मतदान नहीं कराया जाएगा।उन्होंने कहा कि कुशेश्वरस्थान गौड़ाबौराम, हायाघाट एवं बहादुरपुर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए मतगणना स्थल परिवर्तित कर दिया गया है। इन विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना महिला आई.टी.आई, रामनगर में किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मतदाताओं के सुरक्षा के लिए मतदान केंद्र पर सभी प्रकार की व्यवस्था की गई है और उनके लिए एक गाईडलाईन का भी 5 लाख प्रति मुद्रण कराया गया है, जो वोटर स्लिप के साथ प्रत्येक परिवार में वितरित कराया जाएगा। उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी, बिरौल से पानी वाले क्षेत्र में पर्याप्त संख्या में नाव की व्यवस्था करने के निर्देश दिए तथा कहा कि सभी नाव के लिए स्वच्छता प्रमाण पत्र निश्चित रूप से प्राप्त कर ली जाए, किसी भी परिस्थिति में नाव में ओवरलोडिंग नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में प्रत्येक मतदान केंद्र पर केंद्रीय अर्ध-सैनिक बल की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। उन्होंने अभ्यर्थियों के प्रश्न करने पर बताया कि पंजीकृत एवं मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के अभ्यर्थियों को मतदाता सूची का एक सेट नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। स्वतंत्र एवं गैर-मान्यता प्राप्त अभ्यर्थियों को अपने व्यय पर मतदाता सूची जिला निर्वाचन कार्यालय या अपने निर्वाची पदाधिकारी के यहां से लेनी पड़ेगी। मतदान केंद्रों की सूची का तीन सेट सभी अभ्यर्थियों को नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने अभ्यर्थियों से कहा कि चुनावी रैली, मीटिंग, रोड-शो से संबंधित अनुमति के लिए अपने निर्वाची पदाधिकारी के पास आवेदन दें, अनुमति 36 घंटे के अंदर प्राप्त हो जाएगी। अगर कोई बड़ा आयोजन होना है, तो इसकी सूचना पूर्व में दे, ताकि विधि-व्यवस्था का समुचित इंतजाम किया जा सके।

इस अवसर पर प्रेक्षक श्री पाटिल राजेश प्रभाकर ने अभ्यर्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव की गरिमा एवं निष्पक्षता बनाए रखनी है। कोविड-19 का दौर गुजर रहा है, इसलिए इससे संबंधित जो भी निर्देश जारी किए गए हैं, उनका शत-प्रतिशत अनुपालन किया जाना चाहिए। कभी-कभी एक छोटी सी गलती भी बहुत व्यापक दूरगामी परिणाम देती है, इसलिए किसी भी बात को छोटी ना समझा जाए। कोविड-19 के लिए जो निर्देश दिए गए हैं उनका अनुपालन करें चुनाव में स्वच्छता एवं निष्पक्षता बनाए रखें।

उन्होंने कहा कि आपके पास चुनाव की गरिमा बनाए रखने का अवसर प्राप्त है, अगर आपको कोई शिकायत हो तो सबसे पहले अपने निर्वाची पदाधिकारी से संपर्क कर उसका समाधान करावे, अगर किसी प्रकार की परेशानी होती है, तो जिला निर्वाचन पदाधिकारी या मुझ से संपर्क करें।

इस अवसर पर सहायक समाहर्त्ता सुश्री प्रियंका रानी, 78-कुशेश्वरस्थान(अ. जा.), 79-गौड़ाबौराम, 80-बेनीपुर, 81-अलीनगर एवं 82- दरभंगा ग्रामीण के निर्वाची पदाधिकारी उपस्थित थे।

ईवीएम-वीवी पैट का रेंडमाइजेशन, दरभंगा में कोरोना-19 का करना होगा हर हाल में फॉलो

Continue Reading

Madhubani

जयपुर से आजाद दो बाल मजदूर मधुबनी पहुंचा, परिजनों से मिल छलक पड़े आंसू

Published

on

जयपुर से आजाद दो बाल मजदूर मधुबनी पहुंचा, परिजनों से मिल छलक पड़े आंसू
जयपुर से आजाद दो बाल मजदूर मधुबनी पहुंचा, परिजनों से मिल छलक पड़े आंसू

जयपुर से आजाद दो बाल मजदूर मधुबनी पहुंचा, परिजनों से मिल छलक पड़े आंसूजयपुर से आजाद दो बाल मजदूर मधुबनी पहुंचा, परिजनों से मिल छलक पड़े आंसूमधुबनी, देशज टाइम्स ब्यूरो। दो नाबालिग बच्चों को बाल मजदूरी के चुंगल से छुड़ाकर बार-बार काउंसलिंग के उपरांत उनके परिजनों को सौंप दिया। बाल कल्याण समिति, मधुबनी बच्चों के हितों के लिए काम कर रही है। 2 नाबालिग बाल श्रमिक बच्चें जो बाल कल्याण समिति,जयपुर की ओर से मधुबनी बाल गृह में जयपुर से ट्रांसफर होकर आये दो नाबालिग बच्चे जो जयपुर से बाल मजदूरी करते हुए। वहां पकड़े गए थे।

उन बच्चों को आज उनके परिजनों को सौंप दिया गया है। परिजनों ने बाल कल्याण समिति को विश्वास दिलाया है कि वह बच्चों की आगे पूरी पढ़ाई लिखाई कराएंगे तथा उन्हें आत्मनिर्भर बनाने में मदद करेंगे मन्टू कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 5 महीनों में आज छुड़वाए गए।

दो बच्चों सहित लगभग 32 बच्चें बाल मजदूरी के चुंगल से छुड़वाए गए हैं। बाल मजदूरी को रोकने के लिए हमारे समाज के सभी वर्गों के लोगों को इकट्ठा होकर बाल मजदूरी के खिलाफ कार्य करना होगा। वह यह प्रण करना होगा कि वह घरेलू कार्यो व व्यवसायिक कार्यो में बाल मजदूरी नहीं होने देंगे 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों से मजदूरी करवाना पूरी तरह से गैर कानूनी कार्य है।

मन्टू कुमार ने जानकारी देते हुए बताया छोटे बच्चों का भविष्य संवारने के लिए उनकी पढ़ाई लिखाई का होना अति आवश्यक है ताकि छोटे बच्चों को उनके साथ हो रहे अच्छे बुरे कार्यों की पहचान हो सके। मौके पर बिंदु भूषण ठाकुर,मन्टू कुमार,आलिया खुर्शीद,राम भूषण पांडे एवं सुरेंद्र कुमार सिन्हा आदि उपस्थित थे।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: