Connect with us

Bihar

#BiharNews- 50 की उम्र पार कर चुके अनफिट पुलिस कर्मी होंगे जबरन सेवानिवृत

Published

on

#BiharNews- 50 की उम्र पार कर चुके अनफिट पुलिस कर्मी होंगे जबरन सेवानिवृत

बिहार पुलिस एसोसिएशन ने सरकार के फैसले का किया विरोध,इसे सरकार का तुगलकी फरमान बताया, कहा, आत्महत्या करने पर मजबूर होंगे पुलिसकर्मी  

पटना, देशज न्यूज । बिहार पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए एक बुरी खबर है। 50 साल की अवस्था पार कर चुके बिहार पुलिस के अधिकारियों और जवानों को उनकी  सेहत की आधार पर छंटनी की जाएगी। छंटनी की यह गाज सिपाही से लेकर डीएसपी स्तर के अधिकारियों और कर्मचारियों पर गिर सकती है।

 

राज्य सरकार के इस आदेश के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। सरकार के इस आदेश का बिहार पुलिस एसोसिएशन ने जमकर विरोध करना शुरू कर दिया है।  

लगातार विश्वसनीय, असरदार, करेंट, ब्रेकिंग दरभंगा, मधुबनी से लेकर संपूर्ण मिथिलांचल, देश से विदेशों तक लगातार खबरों के लिए हमसें यहां जुड़ें,

बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने गुरुवार को कहा कि पुलिस विभाग में सरकार के आदेश के तहत पत्र निर्गत कर के 50 साल से अधिक उम्र के अनुभवी पुलिसकर्मियों को अयोग्य घोषित करके सेवा से हटाने की साज़िश हो रही है। इस तरह का आदेश तुगलकी आदेश की तरह है।

 

 मृत्युंजय सिंह का कहना है कि वरीय अधिकारी इस तरह के आदेश का नाजायज इस्तेमाल करेंगे। जब दिल करेगा या जब उनकी जरूरत की पूर्ति नहीं हो पाएगी तो वैसी स्थिति में अयोग्य साबित करके हमें सेवा से हटा देंगे। इस तरह के आदेश से किसी भी वरीय के अधीन कार्य कर रहे कर्मी का आर्थिक और मानसिक शोषण होगा। सरकार के  निर्णय के आलोक में समादेष्टा स्तर से इस तरह 50 साल से ज्यादा उम्र के कर्मियों की  छंटनी की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है, जो हमें कदापि स्वीकार्य नहीं है।

बीपीए के अध्यक्ष ने कहा कि काफी लंबी अवधि तक अपनी सेवा योग्यता, कर्मठता, अनुभव से कुशलता पूर्वक सेवा के निर्वहन के उपरांत पदोन्नति का अवसर इस उम्र में प्राप्त होता है। इस उम्र में कर्मियों की काफी परिवारिक जवाबदेही बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि बच्चों की शादी, उच्च शिक्षा के साथ बहुत सारी पारिवारिक जिम्मेवारी रहती है।

 

 इस तरह की   कार्रवाई  से  सभी स्तर के कर्मियों में काफी आक्रोश और भय का वातावरण व्याप्त हो चुका है। यदि इस तरह कर्मचारियों के साथ अन्याय होगा तो वे मानसिक पीड़ा से विचलित होकर आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एवं पुलिस मुख्यालय से  आग्रह  पूर्वक मांग करता हूं कि पुलिस विभाग में इस तरह की कार्रवाई पर अविलंब अंकुश लगाया जाए वरना हम इसका हर स्तर पर विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि इस तरह के आदेश को तत्काल निरस्त किया जाए। इसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Madhubani

नरेन्द्र मोदी के शासन में हुआ राम मंदिर निर्माण शुरूः रवि शंकर प्रसाद

Published

on

नरेन्द्र मोदी के शासन में हुआ राम मंदिर निर्माण शुरूः रवि शंकर प्रसाद
नरेन्द्र मोदी के शासन में हुआ राम मंदिर निर्माण शुरूः रवि शंकर प्रसाद

मधुबनी, देशज न्यूज डेस्क। केन्द्रीय कानून मंत्री रविषंकर प्रसाद ने कहा है कि वर्षो से राम मंदिर का विवाद उलझा हुआ था। मोदी जी के शासनकाल में अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कराया। उक्त बाते उन्होने बेनीपट्टी से भाजपा प्रत्याषी सह मंत्री बिनोद नारायण झा के नामांकन के बाद आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए कहा। श्री प्रसाद ने कहा कि राज्य में डबल इंजन की सरकार में बिहार का समुचित विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि बिहार में 15 वर्ष के शासनकाल में राज्य के सभी क्षेत्रों का विकास हुआ।

अपराध नियंत्रण से लेकर गांव को मुख्य सड़कों से जोड़ने का काम हुआ। कानून मंत्री ने भाजपा प्रत्याशी विनोद नारायण झा को अपार समर्थन देकर अपना कीमती मत देने की अपील की। जबकि भाजपा नेता सह सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि उन्होंने राजद में 30 वर्षो तक सेवा की। परंतु,अपने परिवार के लिए राजद ने उन्हें दूध में मक्खी की तरह उन्हें फेंक दिया। मौके पर प्रत्याशी विनोद नारायण झा,विमल झा,सांसद अशोक यादव,खुशबू कुमारी,किरण झा,शंकर झा सहित भाजपा व राजग के कई नेता उपस्थित थे।

 

Continue Reading

Darbhanga

श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

Published

on

श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव
श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो।  पुत्र वधु व समधी के व्यवहार से आहत सिविल कोर्ट दरभंगा के सप्तम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संपत कुमार ने सोमवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दरभंगा की अदालत में 39 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत एक सूचना आवेदन पत्र अर्पित किया है।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

न्यायाधीश के अधिवक्ता ललन कुमार ने बताया कि 16 अक्टूबर को श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर अरुण कुमार ने अपने मोबाइल से धमकी भरे लहजे में बात कर मानसिक तनाव दिया । उनके आक्रामक लहजे एक डॉक्टर के पद योग्य नहीं था। इससे पूर्व डॉक्टर कुमार एडीजे के पुत्र जो उनके दामाद हैं को भी झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दिया था ।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

पुत्र वधु और समधी के दुर्व्यवहार से न्यायिक कार्य प्रभावित होने की सूचना आवेदन में अंकित किया है।श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर के डॉक्टर ने मोबाइल पर दी धमकी, मानसिक तनाव

Continue Reading

Darbhanga

कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान

Published

on

कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान
कमतौल के उदित ने दुर्गा व्रत में रहकर भी शहनाज खातून को दो बूंद खून देकर बचाई जान

दरभंगा, देशज टाइम्स ब्यूरो। भक्ति का अनूठा हठयोग है। भाईचारे, धार्मिक आस्था, सदभाव का यह जीवंत उदाहरण है। मानवता की सेवा का साक्षात् वर्णन, उसका साकार रूप है। जी हां, यहां बात हो रही है। कमतौलके उदित कुमार की। उदित इन दिनों मां दुर्गा की भक्ति में लीन हैं। 

व्रत में हैं। रविवार को उदित ने जीवन रक्षक, दरभंगा के माध्यम से अपना बहुमूल्य रक्त लालबाग के मो. अनवर आलम खान की पत्नी शहनाज खातून को डीएमसीएच, ब्लड बैंक में दिया। लोग आज हिंदू मुस्लिम तुष्टीकरण के चक्कर में पड़े हुए हैं। लोग सामाजिक सौहार्द की बात करते हैं क्या इससे बड़ा उदाहरण हो सकता है।

जीवन रक्षक हमेशा असहाय लोगों की मददगार साबित होती है। हमेशा जिनके पास कोई रक्तदाता उपलब्ध नहीं होता वहां उनकी टीम खड़ी मिलती है। आज कमतौल के उदित राज ने माता की आराधना का बहुत ही सुखद अनुभव रक्तदान के माध्यम से दिया है। यह जीवन रक्षक दरभंगा के मयंक के साथ भी जुड़े हुए हैं।

मयंक समाज में शिक्षा देने का कार्य करते हैं। इनको प्रोत्साहित करने के लिए जीवन रक्षक सचिव धरम कुमार, विकास महासेठ, रक्त वीर सचिन कुमार विजय कुमार गौतम ,प्रशांत रवि, उमेश प्रसाद, संजीव सिंह, रोशन नायक ,सूरज कुमार निषाद ,सोनू कुमार उपस्थित हुए।

Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: