Connect with us

Begusarai

नहीं खुली जनप्रतिनिधि और सरकार की नींद तो ग्रामीणों ने चंदा कर बनाई नदी में सड़क

Published

on

नहीं खुली जनप्रतिनिधि और सरकार की नींद तो ग्रामीणों ने चंदा कर बनाई नदी में सड़क
बेगूसराय,देशज न्यूज । सरकार भले ही ग्रामीण क्षेत्रों तक विकास की रोशनी पहुंचाने का दावा कर लें। हर गांव को पक्की सड़क और पुल-पुलिया से जोड़ने का दावा कर ले। लेकिन सुदूर क्षेत्र के गांवों में आज भी सड़कों की व्यवस्था नहीं है, आज भी पिछड़े इलाके पिछड़े ही हैं। जिसके कारण मजबूर होकर लोगों को खुद ही सड़क की व्यवस्था करनी पड़ती है। छोटी नदियों पर पुल के अभाव में ग्रामीण आपस में चंदा कर सामूहिक श्रमदान से सड़़क और भंवरा पुल बना रहे हैं।
ऐसा ही एक कारनामा किया है बेगूसराय के सबसे पिछड़े इलाके बखरी विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने। जहां कि राटन पंचायत के बभाईन ब्रह्मदेव नगर स्थित चंद्रभागा नदी में पुल नहीं होने कारण दर्जनों गांव के लोगों को बखरी मुख्यालय जाने का रास्ता नहीं है। जब बारिश का महीना आता है तब और भी परेशानी बढ़ जाती है। यहां तक कि एक सरकारी नाव भी लोगों को मयस्सर नहीं हो पाता है। जिसके कारण अभिभावक अपने बच्चें को जान जोखिम में डालकर पढ़ने के लिए जलकुंभी का नाव पर भेजते हैं। नदी में पानी कम गया तो जनप्रतिनिधि और सरकारी उदासीनता से परेशान लोगों ने आपस में चंदा किया और जेसीबी एवं ट्रैक्टर से नदी में मिट्टी भरवा कर बीच में सीमेंट का भंवरा डालकर खुद से सड़़क बना लिया है।
ग्रामीण राजेश कुमार, रामविनय महतों, जय जय राम महतो, जठहु सदा, ज्ञानदेव सदा, राम सोगारथ यादव, रामचंद्र यादव, घोल्टन पासवान, कैलू महतो, बैजू महतो आदि ने बताया कि यह दो जिला को जोड़नेवाला मार्ग है। दलित इलाका चकचनरपत पंचायत और राटन पंचायत के गांव निशिहारा, चकचनरपत, सुग्गा, मुसहरी, बभाईन, ब्रह्मदेव नगर के 20 हजार से अधिक लोग इस होकर आते-जाते हैं। खगड़िया जिला के रानी सकरपुरा गांव के लोग भी इसी होकर बखरी बाजार जाते हैं। इस पुल के बनने से यहां के किसानों को तकदीर खुल जाएगी। यहां अधिकतर लोग सब्जी एवं नकदी फसल तैयार करते है।‌ लेकिन रास्ता के अभाव में बाजार पहुंचने में कठिनाई होती है, जिससे आमदनी नहीं बढ़ पा रही है।
2015 के विधानसभा चुनाव में चंद्रभागा नदी पर ‘पुल नहीं तो वोट नहीं’ का आह्वान कर मतदान का बहिष्कार करने वाले इस दलित बस्ती के ग्रामीणों की बहुप्रतीक्षित मांग पांच साल में भी नहीं पूरी हुई है। वोट का बहिष्कार किया था तो अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने शीघ्र पुल बनवाने का आश्वासन दिया था। चुनाव में आश्वासन के ढ़ेर पर जनता के वोट ग्रसने वाले नेताओं का क्षेत्र की समस्या को भुला देने का एक उदाहरण बन गया है। ग्रामीण निशिहारा और ब्रह्मदेव नगर के बीच चंद्रभागा नदी पर पुल बनने की मांग कर रहे हैं।
स्थानीय लोगों का कहना है कि अत्यंत पिछड़ा, गरीबों, मजदूरों, दलितों का यह इलाका आज भी विकास से दूर है। यहां की आवाज अंग्रेजी शासन की तरह दबा दी जाती है। चंद्रभागा नदी पर पुल का निर्माण सिर्फ मुद्दा बनकर रह जाता है। जनसहयोग से भंवरा पुल बनाया गया था, जो नदी में विलीन हो गया, चचरी पुल भी टूटकर खत्म हो गया। जिसके बाद फिर अब रास्ता बनाया गया है। बाढ़ के समय जीना दुर्लभ हो जाता है, रतजगा कर समय बिताते हैं। जनप्रतिनिधियों को गरीब जनता की समस्या से कोई लेना देना नहीं है।

145 साल पुराने दरभंगा से पहली बार खबरों का गरम भांप ...असंभव से आगे देशज टाइम्स हिंदी दैनिक। वेब पेज का संपूर्ण अखबार। दरभंगा खासकर मिथिलाक्षेत्रे, हमार प्रदेश, सारा जहां की ताजा खबरें। रोजाना नए कलेवर में। फिल्म-नौटंकी के साथ सरजमीं को समेटे। सिर्फ देशज टाइम्स में, पढि़ए, जाग जाइए।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Begusarai

बेगूसराय थाना से कुख्यात अपराधी को भगाने में दो सिपाही गिरफ्तार

Published

on

Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station

बेगूसराय, देशज न्यूज। थाना के हाजत से कुख्यात अपराधी को भगाने के मामले में बेगूसराय पुलिस ने अपने ही दो होमगार्ड जवानों को गिरफ्तार (Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station) किया है।

गिरफ्तार बिहार गृह रक्षा वाहिनी (होमगार्ड) का जवान (Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station) अरुण कुमार (482004) साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र के मल्हीपुर तथा बालेन्दु प्रसाद (480639) मटिहानी थाना क्षेत्र के लवहरचक रामदीरी का रहने वाला है। दोनों जवान रतनपुर ओपी में पदस्थापित था।

इस दोनों को नगर थाना की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि 12 जनवरी को गोलीबारी करने के आरोपी कुख्यात अपराधी रजनीकांत को रतनपुर ओपी की पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उसे इसी दोनों होमगार्ड जवान की अभिरक्षा में (Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station) रखा गया था। इसी दौरान रजनीकांत फरार हो गया।

इसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर गठित स्पेशल टीम ने जब मामले की जांच पड़ताल शुरू की गई तो होमगार्ड के जवान अरुण कुमार एवं बालेन्दु प्रसाद की (Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station) अपराधियों के साथ मिलीभगत के साक्ष्य मिले।

जांच में पता चला कि दोनों ने अपराधियों से सांठ-गांठ कर साजिश के तहत उसे फरार करवा दिया। जिसके बाद नगर थाना की पुलिस ने शनिवार की देर रात दोनों को (Two soldiers arrested for fleeing notorious criminal from Begusarai police station) गिरफ्तार कर लिया है तथा मामले की जांच पड़ताल चल रही है। वहीं, फरार बदमाश की गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है।

Continue Reading

Begusarai

बेगूसराय न्यायालय में छत से कूदी नवविवाहिता, प्रेमी ने कहा, सास ने मिलकर दिया धक्का

Published

on

Newlyweds jumped from roof in Begusarai court, lover said, mother-in-law pushed together

बेगूसराय, देशज न्यूज। बेगूसराय व्यवहार न्यायालय परिसर में छत से गिरकर एक नवविवाहित गंभीर रूप से घायल हो गई है। घायल की पहचान डंडारी थाना क्षेत्र के कटरमाला निवासी संगम कुमारी के रूप में (Newlyweds jumped from roof in Begusarai court, lover said, mother-in-law pushed together) की गई है। इस संबंध में घायल युवती के पति ने अपनी सास एवं वकील पर धक्का देने का आरोप लगाया है।

वहीं, पुलिस ने लड़की के द्वारा स्वयं छत से कूदने की बात कही है। घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि डंडारी थाना क्षेत्र के कटरमाला निवासी संगम कुमारी ने बगल के गांव राजोपुर के निवासी प्रणव कुमार के साथ फरवरी 2019 में घर से भागकर अंतरजातीय प्रेम विवाह किया था और तब से बाहर ही रह रहे थे। इस मामले में लड़की के परिजनों ने (Newlyweds jumped from roof in Begusarai court, lover said, mother-in-law pushed together)  प्रणव कुमार पर अपनी पुत्री के अपहरण का मामला दर्ज कराया था तथा फोन पर दोनों को बार-बार मिलने पर जान से मारने की धमकी देती थी।

इस बीच दोनों ने अपने को बालिग साबित करने तथा स्वेच्छा से शादी करने की बात कबूल करने के लिए मंगलवार को बेगूसराय पहुंचे। जहां से पुलिस ने लड़की को हिरासत में ले लिया (Newlyweds jumped from roof in Begusarai court, lover said, mother-in-law pushed together)  और मंगलवार को न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद मेडिकल कराने का प्रयास किया तो लड़की ने मेडिकल कराने से इंकार कर दिया।

इसके बाद बुधवार को उसे न्यायालय में धारा 164 के तहत बयान के लिए लाया गया था। न्यायालय में बयान के बाद वह न्यायालय परिसर में छत पर बैठी हुई थी, इसी दौरान अचानक उसके छत से गिरने से न्यायालय में अफरा-तफरी का माहौल उत्पन्न हो गया। पुलिस द्वारा आनन-फानन उसे सदर (Newlyweds jumped from roof in Begusarai court, lover said, mother-in-law pushed together)  अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां की देर शाम सात बजेे तक वह बेहोश पड़ी हुई है।

Continue Reading

Begusarai

Begusarai: भवन निर्माण और शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी को बेगूसराय में दिखाया काला झंडा

Published

on

Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai
बेगूसराय, देशज न्यूज । बिहार सरकार के भवन निर्माण और शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी को बुधवार को बेगूसराय में भारी विरोध का सामना करना पड़ा। शिक्षक नियोजन की मांग करने वालों ने जहां मुर्दाबाद का नारा लगाया। जिस पर शिक्षा मंत्री भड़क गए। वहीं, कॉलेज परिसर से निकलने (Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai) के बाद दर्जनों युवा ने शिक्षा मंत्री की गाड़ी को चारों ओर से घेरकर काफी दूर तक काला झंडा दिखाया।
जीडी कॉलेज के स्थापना दिवस समारोह में शामिल होने आए अशोक चौधरी ज्यों ही मंच पर पहुंचे की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर सीटीईटी-टीईटी पास अभ्यर्थियों ने (Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai) शिक्षा मंत्री मुर्दाबाद का नारा लगाते हुए जमकर पोस्टर लहराया। काफी देर तक शिक्षा मंत्री हाय-हाय करते रहे।
शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर विरोध कर रहे अभ्यर्थियों का कहना था कि 94 हजार प्रारंभिक शिक्षक बहाली प्रक्रिया जुलाई 2019 से चलकर 2021 तक (Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai) आ गई है। लेकिन विभिन्न कारणों से यह बहाली प्रक्रिया प्रभावित होती रही है। जिससे सभी शिक्षक अभ्यार्थी परेशान, हैरान और चिंतीत हैं। वे आज शारीरिक, मानसिक एवं आर्थिक कष्टों और पीड़ाओं के दौर से गुजर रहे है। यहां तक कि कई बार आत्महत्या करने का विचार आ रहा है।
भारी विरोध को देखते हुए अपने संबोधन के दौरान शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस तरीके से नौकरी नहीं मिलती है। मांगने के लिए झुकना पड़ता है, लेकिन आप लोग जो कर रहे हैं यह अनुशासनहीनता है। दूध का जला छाछ भी फूंक-फूंक कर पीता है। (Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai) ऐसे में सरकार नौकरी नहीं देगी, सर्टिफिकेट लेकर घूमते रहिएगा। नियोजित शिक्षकों ने बिहार के शिक्षा व्यवस्था की क्या दशा कर दी है यह किसी से छुपा हुआ नहीं है, इन लोगों ने बिहार के शिक्षा व्यवस्था को रसातल में पहुंचा दिया।
कार्यक्रम के बाद शिक्षा मंत्री के काफिले को कॉलेज गेट के बाहर काफी दूर तक दर्जनों छात्र और बेरोजगारों ने काला झंडा दिखाया। काला झंडा दिखा रहे छात्र राजद के कार्यकर्ताओं का कहना था कि चुनाव से पहले बेगूसराय में विश्वविद्यालय खोलने की घोषणा की गई थी। लेकिन अब सभी चुप हैं, शिक्षा मंत्री ने इस संबंध में कोई चर्चा तक नहीं की।
बेगूसराय दिनकर विश्वविद्यालय बनने की (Building Construction and Education Minister Dr. Ashok Chaudhary shown black flag in Begusarai) सभी अहर्ता पूरी करता है। जिला के गौरवशाली महाविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह जिले के चार विधायक को बुलाया नहीं गया। सिर्फ एनडीए के विधायकों को बुलाया गया, यह गलत परिपाटी है राजद और सीपीआई के विधायक को क्यों नहीं बुलाया गया।
Continue Reading

लोकप्रिय

Copyright © 2020 Deshaj Group of Print. All Rights Reserved Tingg Technology Solution LLP.

%d bloggers like this: